Omg2, Shooting, Mahakal, विश्वप्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर में 23 अक्टूबर से शुरू हुई ओह माय गॉड के सिक्वल की फिल्म की शूटिंग क

Omg2, Shooting

OMG-2 की शूटिंग का विरोध: 10 दिन का किराया 51 हजार रु., महाकाल से जुड़े पंडित बोले- किराया कम है, प्रोटोकॉल राशि नहीं जोड़ी

OMG-2 शूटिंग के लिए किराए पर आपत्ति: 10 दिन का किराया 51 हजार रु., महाकाल से जुड़े पंडित बोले- किराया कम है, प्रोटोकॉल राशि नहीं जोड़ी #OMG2 #shooting #mahakal

25-10-2021 17:01:00

OMG-2 शूटिंग के लिए किराए पर आपत्ति: 10 दिन का किराया 51 हजार रु., महाकाल से जुड़े पंडित बोले- किराया कम है, प्रोटोकॉल राशि नहीं जोड़ी OMG2 shooting mahakal

मंदिर के व्यवसायीकरण को प्रतिबंधित करने की मांग भी उठी | विश्व प्रसिद्ध महाकालेश्वर मंदिर में 23 अक्टूबर से शुरू हुई ओह माय गॉड के सिक्वल की फिल्म की शूटिंग के लिए महाकालेश्वर मंदिर समिति को मात्र 51 हजार रुपए किराया मिला है।

OMG-2 की शूटिंग का विरोध:10 दिन का किराया 51 हजार रु., महाकाल से जुड़े पंडित बोले- किराया कम है, प्रोटोकॉल राशि नहीं जोड़ीउज्जैनकॉपी लिंकमहाकाल मंदिर में लगा मंदिर फिल्म का सेट।मंदिर के व्यवसायीकरण को प्रतिबंधित करने की मांग भी उठीमहाकालेश्वर मंदिर में 23 अक्टूबर से शुरू हुई OMG-2 की शूटिंग को लेकर विरोध शुरू हो गया है। मंदिर समिति द्वारा फिल्म निर्देशक से लिए गए किराया पर भी सवाल उठाया जा रहा है। OMG-2 की शूटिंग के लिए समिति को 51 हजार रुपए किराया मिला है। इसे लेकर मंदिर के वरिष्ठ पुजारी पंडित महेश पुजारी ने कहा कि किराया नियमानुसार लिया जाना चाहिए।

लखनऊ में बेरोजगारी के मुद्दे पर छात्र संगठनों ने निकाला मार्च, पुलिस ने NDTV के कैमरे को बंद करने के लिए कहा पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था का संकट और गहराया - BBC Hindi रूस ने अगर यूक्रेन पर हमला किया तो हम चुप नहीं बैठेंगे: अमेरिका - BBC Hindi

यदि 51 हजार रुपए में पुजारियों और पुरोहितों के यजमान परिसर को किराए पर मांगेंगे, तो क्या प्रशासन देगा? उनका कहना है कि मूवी का बजट करोड़ों रुपए है, फिर भी किराए की ये राशि बहुत कम है। प्रोटोकॉल के रुपए भी नहीं लिए जा रहे। मैं इस मामले में मंदिर समिति के सामने आपत्ति जताते हुए विरोध करूंगा।

इधर, शूटिंग पर अखाड़ा परिषद के पूर्व महामंत्री डॉ. अवधेश पुरी ने भी विरोध जताया है। उन्होंने कहा कि मठ मंदिर आस्था के केंद्र है। इसका व्यवसायीकरण नहीं किया जाना चाहिए।परमहंस अवधेश पुरी ने कहा कि जिस दिन अक्षय कुमार आए थे। उस दिन मीडिया के साथ हुई अभद्रता की भी निंदा करता हूं। यह अभिव्यक्ति की आजादी और धार्मिक स्वतंत्रता की हत्या है। headtopics.com

परमहंस अवधेशपुरी महाराज ने शूटिंग का विरोध जताया है।फिल्म स्टार अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म की शूटिंग 23 अक्टूबर से शुरू की गई है। मंदिर परिसर में 21 अक्टूबर से ही सेट लगाना शुरू कर दिया था। फिल्म यूनिट करीब 7 दिनों तक मंदिर परिसर और गर्भ गृह समेत नंदी हॉल और गणेश मंडपम समेत कार्तिक मंडपम में शूटिंग करेगी।

फिल्म यूनिट इन सब के लिए मंदिर समिति से बाकायदा परमिशन लेकर अग्रिम 51 हजार रुपए भुगतान कर दिया है। फिल्म में अक्षय कुमार के होने के चलते मंदिर समिति यूनिट के लिए हर तरह के इंतजाम कर रही है। यहां तक कि अपने कर्मचारियों को भी शूटिंग का हिस्सा बना दिया है। हालांकि इसका अतिरिक्त किराया या राशि अथवा प्रोटोकॉल राशि नहीं ली जा रही है।

100 से ज्यादा लोग वीआईपी गेट से आ-जा रहेशूटिंग के दौरान मंदिर परिसर में आने-जाने के लिए 100 से ज्यादा कर्मचारियों की यूनिट और सहायक कलाकारों को मंदिर में आने-जाने की अनुमति है। यूनिट से प्रोटोकॉल दर्शन के नाम पर एक भी रुपया नहीं लिया गया है, जबकि पूरी यूनिट रोजाना महाकाल के दर्शन करने वीआईपी गेट से आ-जा रही है।

17 लाख का सोना दान देने वाले संजीव कुमार को घंटों इंतजार करायाशनिवार को झारखंड बोकारो से आए श्रद्धालु 17 लाख का सोना मंदिर को दान देने आए थे, लेकिन मंदिर प्रशासन अक्षय कुमार के साथ शूटिंग व फोटो खिंचवाने में व्यस्त था। उन्हें महाकाल मंदिर के बाहर ही बैठकर कई घंटे तक इंतजार करना पड़ा। जब मंदिर प्रबंध समिति को उनके बारे में पता चला तो संजीव कुमार को महाकाल मंदिर के प्रशासनिक भवन भेज दिया गया। वहां भी करीब एक घंटे तक संजीव कुमार को इंतजार करना पड़ा। headtopics.com

'एक विशेष व्‍यक्ति का दैवीय हक नहीं..' : प्रशांत किशोर ने राहुल गांधी पर कसा तंज प्रशांत किशोर ने फिर कांग्रेस नेतृत्व को निशाने पर लिया - BBC Hindi भारत में भी ओमिक्रॉन की दस्तक, पहली बार मिले दो मामले - BBC News हिंदी

5100 रुपए प्रतिदिन किरायामहाकाल मंदिर समिति मंदिर परिसर में शूटिंग के लिए किसी भी फिल्म यूनिट से 5100 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से चार्ज करती है। ऐसे में अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म की शूटिंग करीब 7 दिन मंदिर परिसर में चलेगी। फिल्म यूनिट ने खाना बनाने के लिए प्रवचन हॉल भी ले रखा है। उसका अलग से चार्ज नहीं लिया गया, जबकि प्रवचन हॉल में केवल धार्मिक कार्यक्रम की अनुमति है। इसके लिए नियमानुसार अलग से किराया लिया जाता है। इसे लेकर भी पंडे-पुजारी आपत्ति जता चुके हैं कि प्रवचन हॉल में भोजन बनाने की अनुमति नहीं है, फिर भी फिल्म यूनिट नियम कायदे से बाहर जाकर इसकी अनुमति दी है।

देखकर ही बता सकूंगा, किस मद में कितना शुल्कमहाकाल मंदिर प्रबंध समिति के प्रशासक गणेश धाकड़ ने कहा कि फिल्म की यूनिट की ओर से कितना किराया दिया गया है। यह दस्तावेज देखकर ही बता सकूंगा। और पढो: Dainik Bhaskar »

रिटायरमेंट के दिन जूते की माला भेंट!: रीवा में यूनिवर्सिटी के डिप्टी रजिस्ट्रार से कर्मचारी यूनियन ने की हरकत; थैंक्यू कहकर दिया जवाब

रीवा में अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के डिप्टी रजिस्ट्रार लाल साहब सिंह से रिटायरमेंट के दिन विदाई समारोह में बदसलूकी का मामला सामने आया है। यूनिवर्सिटी के कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों ने डिप्टी रजिस्ट्रार को जूते की माला भेंटकर मुर्दाबाद के नारे लगाए। जवाब में अफसर ने कहा-धन्यवाद, थैंक्यू। | Viral Video: Employees unions misbehaved with Deputy Registrar at Rewa APS University

सत्ता के साथ रहने का यही तो फायदा है कई नियम कानून जो आम जनता पर सख्ती से लागू किया जाता है वही नियम कानून रागदरबारियों पर लागू नहीं होता है हे भगवान ये लोग आपको भी नहीं छोड़ते हैं तो आम जनता का क्या हाल होगा क्या 51 हजार महाकाल खायेगे ?

कर्नाटक: भगत सिंह की किताब के चलते यूएपीए के तहत गिरफ़्तार आदिवासी पिता-पुत्र बरीमामला मंगलुरु का है, जहां साल 2012 में पत्रकारिता के छात्र विट्टला मेलेकुडिया और उनके पिता को गिरफ़्तार करते हुए उनके पास मिली किताबों आदि के आधार पर उन पर यूएपीए के तहत राजद्रोह और आतंकवाद के आरोप लगाए गए थे. एक ज़िला अदालत ने उन्हें बरी करते हुए कहा कि पुलिस कोई भी सबूत देने में विफल रही. भगत सिंह की किताबें या अख़बार पढ़ना क़ानून के तहत वर्जित नहीं हैं. girijeshadams इन्हें डर भगत सिंह के सितारों से ही तो है जिनका नारा था हर तरह के शोषण के खिलाफ तब तक संघर्ष रहे जब तक कि आदमी से आदमी का भेद ना खत्म हो जाती।

बाबा के दरबार में CM योगी ने लगाई हाजिरी, मंत्रों के बीच की पूजा-अर्चनामुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ शनिवार को वाराणसी में थे। यहां उन्‍होंने सबसे पहले काशी विश्‍वनाथ के मंदिर में हाजिरी लगाई। पुजारियों के मंत्रोच्‍चार के बीच उन्‍होंने अर्चना की। इसके बाद बीजेपी पदाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक से निकलने के बाद मुख्यमंत्री सास्कृतिक संकुल का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान सर्किट हाउस अंडर ग्राउंड पार्किंग स्‍थल का हाल भी जाना। फिर शहर में भ्रमण करते हुए मुख्‍यमंत्री ने नगरीय व्‍यवस्‍थाओं का हाल अपनी आंखों से देखा। सीएम के आगमन को देखते हुए शहर भर में सुरक्षा व्‍यवस्‍था काफी कड़ी कर दी गई थी। narendramodi जी के दौरे की तैयारी का जायजा भी तो लेना है अंधविश्वास पाखण्ड फैलाना ही बाबाजी कामुख्य कार्य है क्योंकि वोट उसीसे मिलता है

सोनभद्र में सोना और एंडालुसाइट खदान की शुरू हुई जीओ मैपिंग, खदानों के नीलामी की तैयारीसर्वे की रिपोर्ट लगभग स्‍पष्‍ट होने के बाद अब उन खदानों को बेचने की तैयारी की जा रही है। इसे निकालने के लिए खदानों को सरकार बेचने की तैयारी भी कर रही है। इस बाबत जिला प्रशासन रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेजने जा रही है।

भारत-पाकिस्तान की भिड़ंत और मैदान के बाहर के कुछ अनसुने क़िस्से - BBC News हिंदीएक पत्रकार के लिए भारत पाकिस्तान के मैच को कवर करना आसान नहीं है, लेकिन इस दौरान ऐसे कई लम्हे आते हैं, जो उसकी ज़िंदगी का हिस्सा बन जाते हैं. अरे BBC एसी तसवीरें ना डाला करो एक तो ये लोग लव जिहाद से परेशान हैं फिर एसी तसवीरें डाल कर इनको और क्यों जला रहे हो It will be a boring game BBC walo ko lagta hai pata nhi unhone yeh kya Photo Attached ki .... Right wing wale ab BBC ko gali bakenge .......

152 रनों के लक्ष्य के जवाब में पाकिस्तान की सधी शुरुआत - BBC News हिंदीपाकिस्तान के टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही लेकिन कप्तान कोहली ने ज़िम्मेदारी वाली पारी खेली और टीम का कुल स्कोर 20 ओवर में 151/7 रहा.

मझधार में फंसी पीएम मोदी की संसदीय क्षेत्र वाराणसी के नाविकों की ज़िंदगीवीडियो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के मल्लाह रोज़गार को लेकर बेहद परेशान हैं. कोरोना वायरस महामारी ने उनकी ज़िंदगी को तबाह कर दिया है. घर चलाना मुश्किल होता जा रहा है और किसी प्रकार की कोई सरकारी सहायता न मिलने से वे बेहद हताश और निराश हैं. Desh bachane ke leye jaan jati h to jane do modi h to desh h 🤣🤣🤣🤣 vote for nota