Sonbhadra, Varanasi, Uttarpradesh, Varanasi-City-Jagran-Special, Geo Mapping Of Gold, Geo Mapping Of Andalusite Mine, Jagran Special, Geo Mapping İn Sonbhadra, Auction Of Mines İn Sonbhadra, Gold Mines İn Sonbhadra, सोनभद्र में सोना, सोनभद्र में एंडालुसाइट खदान, खदान की जीओ मैपिंग, खदानों की नीलामी, Uttar Pradesh News

Sonbhadra, Varanasi

सोनभद्र में सोना और एंडालुसाइट खदान की शुरू हुई जीओ मैपिंग, खदानों के नीलामी की तैयारी

सोनभद्र में सोना और एंडालुसाइट खदान की शुरू हुई जीओ मैपिंग, खदानों के नीलामी की तैयारी #Sonbhadra #varanasi #UttarPradesh

24-10-2021 14:30:00

सोनभद्र में सोना और एंडालुसाइट खदान की शुरू हुई जीओ मैपिंग, खदानों के नीलामी की तैयारी Sonbhadra varanasi UttarPradesh

सर्वे की रिपोर्ट लगभग स्‍पष्‍ट होने के बाद अब उन खदानों को बेचने की तैयारी की जा रही है। इसे निकालने के लिए खदानों को सरकार बेचने की तैयारी भी कर रही है। इस बाबत जिला प्रशासन रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेजने जा रही है।

खनन मंत्रालय के पत्र के बाद सोनभद्र जिला प्रशासन दोबारा सक्रिय हुआ है। अब सोने की खदान की तलाश के लिए जिला प्रशासन ने टीम गठित की है। इसके तहत ओबरा और दुद्धी तहसील क्षेत्र में स्थित खदानों की रिपोर्ट तैयार कर एक सप्ताह के अंदर खनन मंत्रालय को भेजनी है। दरअसल दो साल पूर्व दैनिक जागरण की ओर से इस बात को उजागर किया गया था कि जिले में सोने की मात्रा कुछ इलाकों में है। हालांकि, सरकार ने कम सोने की मात्रा बताकर मामले को ठंडे बस्‍ते में डालने की कोशिश की थी। इस दौरान सर्वे की रिपोर्ट लगभग स्‍पष्‍ट होने के बाद अब उन खदानों को बेचने की तैयारी की जा रही है। जी हां, सोनभद्र जिले में सोना मौजूद है। इस लिहाज से इसे निकालने के लिए खदानों को सरकार बेचने की तैयारी भी कर रही है। इस बाबत जिला प्रशासन रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेजने जा रही है।

कैटरीना कैफ और विक्की कौशल की 'शाही शादी' की तैयारी में जुटा राजस्थान - BBC News हिंदी पाकिस्तान से आती है प्रदूषित हवा : SC में प्रदूषण पर सुनवाई के दौरान यूपी सरकार ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर WHO ने दी ये चेतावनी - BBC Hindi

यह भी पढ़ेंसोनांचल की कोख खनिज संपदा से भरा पड़ा है। सोने व एंडालुसाइड को लेकर चल रहे सभी कयासों पर खनन मंत्रालय नई दिल्ली के पत्र के बाद पूर्ण विराम लग गया है। मंत्रालय ने जनपद के चिन्हित स्वर्ण व एंडालुसाइड खदान की भूमि को चिन्हित करने व उसकी जीओ मैपिंग कराने का निर्देश दिया है। मंत्रालय से पत्र आने के बाद जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने विभिन्न विभागों की संयुक्त टीम बनाकर एक सप्ताह के अंदर रिपोर्ट प्रेषित करने का निर्देश दिया है। इसके क्रम में शनिवार को एसडीएम दुद्धी की अगुवाई में संयुक्त टीम ने डूमरा में चिन्हित खनन क्षेत्र का जीपीएस सीमांकन किया। दुद्धी तहसील के चक डूमरा गांव के भुइयां टोला में शनिवार को एंडालुसाइट खनिज के दो ब्लाकों का जीपीएस सीमांकन किया गया। इस दौरान दुद्धी उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में वन भूमि, निजी भूमि तथा सरकारी भूमि का विवरण तैयार करने के लिए संयुक्त टीम द्वारा स्थलीय निरीक्षण भी किया गया। सीमांकन प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद यहां पर खनन के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

यह भी पढ़ेंजिलाधिकारी ने बताया कि जिले के तीन ब्लाक नीलामी प्रक्रिया के लिए उपलब्ध हैं। इसके लिए ज्वाइंट वर्किंग ग्रुप का गठन भी किया गया है। खदान के आसपास भूमि चयन के दौरान यह देखा जाएगा कि वन भूमि, राजस्व भूमि व निजी भूमि कितनी है। इसके लिए टीम काे एक सप्ताह का समय दिया गया है। टीम में डीएफओ रेणुकूट, डीएफओ ओबरा, उप जिलाधिकारी दुद्धी, उप जिलाधिकारी ओबरा व खान अधिकारी हैं। बताया कि टीम से रिपोर्ट मिलने के बाद इसकी जानकारी खनन निदेशालय को उपलब्ध कराई जाएगी। headtopics.com

यह भी पढ़ेंक्या है सिलीमैनाइट व एंडालुसाइट : सिलीमैनाइट एक अनुमिनी-सिलिकेट खनिज है। इसका नाम अमेरिका के रसायन शास्त्री बेंजामिन सिलीमैन के नाम पर रखा गया है। तापरोधक सामग्री के अतिरिक्त इसका उपयोग अन्य कार्यों में होता है। एंडालुसाइट का प्रयोग स्पार्क प्लग और पोर्सलेन बनाने में होता है। उत्तर प्रदेश में यह मीरजापुर समेत कई स्थानों पर मिलता है।

12 साल बाद शुरू हुई प्रक्रिया : जीएसआइ की टीम ने वर्ष 2005 से 2012 तक इस दिशा में काम किया था। सोने के भंडार की पुष्टि वर्ष 2012 में हुई थी, लेकिन इस दिशा में काम अब शुरू हो रहा है। बीस माह पूर्व दैनिक जागरण ने ही इसको लेकर खबर दी थी, लेकिन मात्रा को लेकर मंत्रालयों में सामन्जस्य नहीं होने के कारण यह मामला ठंडे बस्ते में चला गया था। एक बार फिर से यह प्रक्रिया शुरू हो गई है। देरी के पीछे सोने की गुणवत्ता व सरकार के आदेश का इंतजार का हवाला दिया गया।

यह भी पढ़ेंखनिकर्म विभाग व जीएसआइ में चला था आंकड़ों का खेल :फरवरी 2020 में दैनिक जागरण ने खनिकर्म विभाग के आंकड़ों के हिसाब से खबर प्रकाशित की थी कि जनपद में तीन हजार टन सोने का भंडार मिला है। जिस पर बाद में जीएसआइ (भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण) ने यह कहते हुए इंकार कर दिया कि सोनांचल में महज 160 किलो सोना मिलने की उम्मीद है। अब जब एक बार फिर से सोना खनन को लेकर केंद्र सरकार कवायद शुरू कर रही है, तो यह प्रश्न उठना लाजिमी है कि महज 160 किलो सोने के लिए खनन तो होगा नहीं। इस विषय पर जनपद स्तर का कोई भी अधिकारी कुछ बोलने से साफ इंकार कर रहा है। उनका कहना है कि यह मामला अत्यंत गंभीर है, इस पर कुछ नहीं कह सकते।

और पढो: Dainik jagran »

जरूरत की खबर: मोबाइल पर ज्यादा समय बिताने से बच्चे हो रहे ओवर डेवलपमेंट का शिकार ; जानिए क्या हैं इससे बचने के तरीके

आजकल बच्चे क्लास के अलावा असाइनमेंट, रिसर्च और एंटरटेनमेंट के लिए मोबाइल या लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं। इससे उनका स्क्रीन टाइम कहीं ज्यादा बढ़ गया है। बच्चों का मोबाइल के साथ ज्यादा वक्त बिताने से उन पर नेगेटिव असर हो रहा है। | Children are becoming victims of over development due to spending more time on mobile. Know what are the ways to avoid it

वार : असद्दुदीन ओवैसी बोले- सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद केंद्र ने टीका की नीति बदलीवार : असद्दुदीन ओवैसी बोले- सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद केंद्र ने टीका की नीति बदली LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine asadowaisi RahulGandhi asadowaisi RahulGandhi ओवैसी के बाप का क्या जाता है, जो मुंह में आया सो बक दिया, परिवार में भी जो जिम्मेदारी निभाता है, उसके खिलाफ सबसे अधिक नुक्ता-चीनी करने वाले गैर-जिम्मेदार ही होते हैं! asadowaisi RahulGandhi save_our_job_in_hp

बाबा के दरबार में CM योगी ने लगाई हाजिरी, मंत्रों के बीच की पूजा-अर्चनामुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ शनिवार को वाराणसी में थे। यहां उन्‍होंने सबसे पहले काशी विश्‍वनाथ के मंदिर में हाजिरी लगाई। पुजारियों के मंत्रोच्‍चार के बीच उन्‍होंने अर्चना की। इसके बाद बीजेपी पदाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक से निकलने के बाद मुख्यमंत्री सास्कृतिक संकुल का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान सर्किट हाउस अंडर ग्राउंड पार्किंग स्‍थल का हाल भी जाना। फिर शहर में भ्रमण करते हुए मुख्‍यमंत्री ने नगरीय व्‍यवस्‍थाओं का हाल अपनी आंखों से देखा। सीएम के आगमन को देखते हुए शहर भर में सुरक्षा व्‍यवस्‍था काफी कड़ी कर दी गई थी। narendramodi जी के दौरे की तैयारी का जायजा भी तो लेना है अंधविश्वास पाखण्ड फैलाना ही बाबाजी कामुख्य कार्य है क्योंकि वोट उसीसे मिलता है

IND vs PAK: महामुकाबले के लिए पाकिस्तान ने टीम की घोषणा की, बाबर-रिजवान करेंगे ओपनिंगIND vs PAK: भारत के खिलाफ महामुकाबले के लिए पाकिस्तान की प्लेइंग-XI की घोषणा, बाबर-रिजवान करेंगे ओपनिंग INDvPAK T20WorldCupsquad T20WorldCup2021 PakistanCricket indiaVsPakistan

'कृषि नीति पर पुनर्चिंतन की जरूरत' : किसान के फसल जलाने के VIDEO पर बोले वरुण गांधीवरूण गांधी ने शनिवार को एक किसान का वीडियो ट्वीट किया. जिसमें किसान ने 15 दिन तक भी धान की फसल नहीं खरीदे जाने पर उसमें आग लगा दी. आपका पत्ता साफ करने पर चिंतन और मंथन सब हो रहा है 😂 मोदी भक्त अब इन्हें गद्दार और देशद्रोही करार दे देंगे! इन का आवाज उठाने और किसान का साथ देने के लिए धन्यवाद! FarmersProtest_Martyrs PetrolDieselPriceHike lakhimpur_farmer_massacre कृषि नीति पर पुनर्चिंतन आज की सबसे बड़ी ज़रूरत है.

कर्नाटक: भगत सिंह की किताब के चलते यूएपीए के तहत गिरफ़्तार आदिवासी पिता-पुत्र बरीमामला मंगलुरु का है, जहां साल 2012 में पत्रकारिता के छात्र विट्टला मेलेकुडिया और उनके पिता को गिरफ़्तार करते हुए उनके पास मिली किताबों आदि के आधार पर उन पर यूएपीए के तहत राजद्रोह और आतंकवाद के आरोप लगाए गए थे. एक ज़िला अदालत ने उन्हें बरी करते हुए कहा कि पुलिस कोई भी सबूत देने में विफल रही. भगत सिंह की किताबें या अख़बार पढ़ना क़ानून के तहत वर्जित नहीं हैं. girijeshadams इन्हें डर भगत सिंह के सितारों से ही तो है जिनका नारा था हर तरह के शोषण के खिलाफ तब तक संघर्ष रहे जब तक कि आदमी से आदमी का भेद ना खत्म हो जाती।

वाराणसी: शाम 5 बजे के बाद थाने न जाएं महिलाएं, भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की 'नसीहत'बेबी रानी मौर्य वाराणसी में भाजपा के वाल्मीकि महोत्सव के तहत मलिन बस्ती में महिलाओं को संबोधित कर रही थीं. इस दौरान उन्होंने महिलाओं को शाम 5 बजे के थाने ना जाने की सलाह दी.