18 कैरेट गोल्ड में सिर्फ 75% होती है शुद्धता, जानें- कौन सा होता है सबसे 'दमदार'?

काम की खबर-

Gold, 18 Carat Gold

26-10-2021 10:36:00

काम की खबर-

सोने के दाम बढ़ते और घटते रहते हैं। इसकी सही कीमत जानने के लिए इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) की वेबसाइट पर जाया जा सकता है।

हैं, जिन्हें जानना और समझना एक जागरुक ग्राहक के नाते हर किसी को मालूम होनी चाहिए। ऐसे में अगर इस धनतेरस या दिवाली पर आप भी गोल्ड खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तब आपको ये अहम बातें जाननी चाहिए:सोने की शुद्धताःप्योरिटी के हिसाब से सबसे दमदार 24 कैरेट गोल्ड होता है। इसमें 99.9 फीसदी सोना रहता है। 22 कैरेट में 91.6 फीसदी, 18 कैरेट में 75 फीसदी और 14 कैरेट में 58.5 फीसदी गोल्ड होता है।

'सपा वाशिंग मशीन है, जिसमें संघी सेक्युलर बन जाते हैं, हम पर तो B टीम का ठप्पा...' : ओवैसी का तंज

किस चीज के लिए कौन सा बेहतर?:24 कैरेट सोने को सिक्के और बार (बिस्कुट) बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह इसके अलावा कुछ इलेक्ट्रॉनिक्स और मेडिकल डिवाइस में भी यूज किया जाता है। वहीं, 22 कैरेट गोल्ड आमतौर पर आभूषण बनाने में लगता है। 18 कैरेट गोल्ड को स्टोन स्टडेड (पत्थर/रत्न से जड़ी जूलरी) या अन्य डायमंड जुड़े गहनों के लिए इस्तेमाल में लाया जाता है। यह 24 और 22 कैरेट से सस्ता पड़ता है।

रोज में पहनने के लिए यह गोल्ड कैरेट है बढ़ियाःरोजमर्रा में पहनने के लिए थोड़ी ड्यूरेबल जूलरी होनी चाहिए। इस लिहाज से 22 कैरेट गोल्ड सही रहता है, क्योंकि इसमें 91.6 फीसदी सोना होता है, जबकि सिल्वर, कॉपर और जिंक भी रहता है। इन मेटल अलॉयज की वजह से जूलरी में मजबूती आ जाती है। headtopics.com

हॉलमार्क जूलरी ही लेंःगोल्ड आपके लिए एक असेट (संपत्ति/कीमती चीज) है, इसलिए जब भी इसे लें तो हॉलमार्क वाला लें। दरअसल, जिन गहनों में हॉलमार्किंग होती है, उनमें शुद्धता को लेकर चिंता नहीं करनी पड़ती। मान लीजिए कि आपने 18 कैरेट गोल्ड का कुछ सामान लिया और वह हॉलमार्किंग वाला है, तब आप को सोने की शुद्धता को लेकर परेशान (चुकाए पैसों के हिसाब से) नहीं होना पड़ेगा।

बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा बनीं मां, सोशल मीडिया पर शेयर की खुशी - BBC Hindi

तौल से वजन क्रॉस चेक करा लेंःचूंकि, सोना काफी महंगा होता है और आप उसे खरीदने के लिए अपनी गाढ़ी कमाई लगाते हैं, इसलिए यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि आपने जितने सोने के लिए पैसे चुकाए हैं, उतना आपको असल में मिले भी। यह काम इस तरह से किया जा सकता है- आप ने जिस दुकान से सोने का सामान या आभूषण लिए हैं, वहां तो उनका वजन चेक कराएं और बिल से उसे क्रॉस चेक करें। कोशिश करें कि उन आभूषणों का कहीं और भी वजन चेक करा लें।

मेकिंग चार्ज और बिलःइन दिनों बड़े ब्रांड्स से लेकर छोटे और मंझले दुकानदार और रीटेल चेन्स सोने के गहनों पर मेकिंग चार्जेज लेने लगे हैं। ये रकम मेटल्स के हिसाब से 10 से 35 फीसदी तक हो सकती है। ऐसे में अगर आप इन पर छूट पा जाते हैं, तब आप काफी फायदे में रह सकते हैं। प्रयास करें कि आप त्यौहार के दौरान खरीदारी करें क्योंकि उस दौरान ये आउटलेट्स और दुकानदार मेकिंग चार्जेज पर छूट के साथ अन्य ऑफर्स भी देते हैं। साथ ही आपकी जूलरी का बिल भी बहुत जरूरी होता है। उस जूलरी से जुड़े किसी विवाद की स्थिति में यह आपको आर्थिक नुकसान से बचा सकता है।

और पढो: Jansatta »

सिद्धू से कितना नुक़सान ? चरणजीत सिंह चन्नी EXCLUSIVE, देखिए #DNAWeekendEdition LIVE Sudhir Chaudhary के साथ

मध्य प्रदेश: भिंड-मुरैना के किसानों के लिए डीएपी खाद पाना चुनौती क्यों बन गया हैमध्य प्रदेश में सर्वाधिक सरसों उत्पादन भिंड और मुरैना ज़िलों में होता है. अक्टूबर में रबी सीज़न आते ही सरसों की बुवाई शुरू हो चुकी है, जिसके लिए किसानों को बड़े पैमाने पर डीएपी खाद की ज़रूरत है. लेकिन सरकारी मंडियों से लेकर, सहकारी समितियों और निजी विक्रेताओं के यहां बार-बार चक्कर काटने के बावजूद भी किसानों को खाद नहीं मिल रही है.

क्या किसान आंदोलन को ‘आहत भावनाओं’ की सियासत कर कमज़ोर करने की कोशिश चल रही हैक्या सिंघू बॉर्डर पर हुई हत्या का समूचा प्रसंग निहित स्वार्थी तबकों की बड़ी साज़िश का हिस्सा था ताकि काले कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ खड़े हुए ऐतिहासिक किसान आंदोलन को बदनाम किया जा सके या तोड़ा जा सके? क्या निहंग नेता का केंद्रीय मंत्री से पूर्व पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में मिलना इस उद्देश्य के लिए चल रही क़वायद का इशारा तो नहीं है?

152 रनों के लक्ष्य के जवाब में पाकिस्तान की सधी शुरुआत - BBC News हिंदीपाकिस्तान के टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही लेकिन कप्तान कोहली ने ज़िम्मेदारी वाली पारी खेली और टीम का कुल स्कोर 20 ओवर में 151/7 रहा.

मझधार में फंसी पीएम मोदी की संसदीय क्षेत्र वाराणसी के नाविकों की ज़िंदगीवीडियो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के मल्लाह रोज़गार को लेकर बेहद परेशान हैं. कोरोना वायरस महामारी ने उनकी ज़िंदगी को तबाह कर दिया है. घर चलाना मुश्किल होता जा रहा है और किसी प्रकार की कोई सरकारी सहायता न मिलने से वे बेहद हताश और निराश हैं. Desh bachane ke leye jaan jati h to jane do modi h to desh h 🤣🤣🤣🤣 vote for nota

सोनभद्र में सोना और एंडालुसाइट खदान की शुरू हुई जीओ मैपिंग, खदानों के नीलामी की तैयारीसर्वे की रिपोर्ट लगभग स्‍पष्‍ट होने के बाद अब उन खदानों को बेचने की तैयारी की जा रही है। इसे निकालने के लिए खदानों को सरकार बेचने की तैयारी भी कर रही है। इस बाबत जिला प्रशासन रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेजने जा रही है।

भारत-पाकिस्तान की भिड़ंत और मैदान के बाहर के कुछ अनसुने क़िस्से - BBC News हिंदीएक पत्रकार के लिए भारत पाकिस्तान के मैच को कवर करना आसान नहीं है, लेकिन इस दौरान ऐसे कई लम्हे आते हैं, जो उसकी ज़िंदगी का हिस्सा बन जाते हैं. अरे BBC एसी तसवीरें ना डाला करो एक तो ये लोग लव जिहाद से परेशान हैं फिर एसी तसवीरें डाल कर इनको और क्यों जला रहे हो It will be a boring game BBC walo ko lagta hai pata nhi unhone yeh kya Photo Attached ki .... Right wing wale ab BBC ko gali bakenge .......