Hathras, Hathrasgangrape, Uppolice, Society, हाथरस, हाथरसगैंगरेप, यूपीपुलिस, समाज

Hathras, Hathrasgangrape

हाथरस पीड़िता के नाम ख़त: अच्छा किया तुम चली गईं क्योंकि इस देश में कुछ नहीं बदलने वाला...

हाथरस पीड़िता के नाम ख़त: अच्छा किया तुम चली गईं क्योंकि इस देश में कुछ नहीं बदलने वाला... #Hathras #HathrasGangrape #UPPolice #Society #हाथरस #हाथरसगैंगरेप #यूपीपुलिस #समाज

01-10-2020 23:30:00

हाथरस पीड़िता के नाम ख़त: अच्छा किया तुम चली गईं क्योंकि इस देश में कुछ नहीं बदलने वाला... Hathras Hathras Gangrape UPPolice Society हाथरस हाथरस गैंगरेप यूपीपुलिस समाज

आज फिर एक लड़की के साथ वही हुआ, जो तुम्हारे साथ हुआ, शायद उससे भी भयावह. ऐसा लगातार इसलिए हो रहा है क्योंकि गैंगरेप करने वालों को किसी भी क़ानून, किसी भी सरकार या किसी भी प्रशासन का डर नहीं रह गया है.

प्यारी बहन…कैसी हो… माफ करना ये सवाल पूछने का मुझे कोई हक़ नहीं. ये सब अब जानकर क्या कर लूंगी!तुम्हें जब चिट्ठी लिख रही हूं तो लगा जैसे किसी ऐसे को लिख रही हूं जहां सामने से कोई जवाब आएगा और औपचारिकता के लिए कैसी हो से शुरूआत कर बैठी.जब से तुम्हारे साथ हुई हैवानियत की खबर मिली तब से मन बैचेन था, बस मन कर रहा था कि ऐसा क्या करूं कि सब ठीक हो जाए, ऐसा कौन-सा जादू करूं कि जो तुम्हें झेलना पड़ा वो किसी और को ना झेलना पड़े.

DRDO ने बनाई पहली स्वदेशी 9 mm मशीन पिस्टल, नजदीकी लड़ाई में कहर बनकर टूटेगी राम मंदिर के लिए राष्ट्रपति ने शुभकामनाओं के साथ दिया 5 लाख रुपये का दान, 'निधि समर्पण कार्यक्रम' की हुई शुरुआत रेप के आरोपी धनंजय मुंडे बने रहेंगे मंत्री, एनसीपी कोर कमिटी की बैठक में फैसला

सवालों के भंवर में फंसती ही जा रही थी. इसी बीच तुमसे मिलना चाह रही थी, एक बार गले लगाना चाह रही थी. लेकिन नहीं पता था कि तुम इस सिस्टम से लड़ते-लड़ते थक जाओगी!थक जाओगी तुम उन चारों से लड़ते-लड़ते, थक जाओगी तुम खुद को इंसाफ़ दिलाते-दिलाते, थक जाओगी तुम इस सिस्टम से, थक जाओगी तुम इस समाज से, थक जाओगी इनकी मर्दवादी सोच से, थक जाओगी इनके जातिवाद से… और थक गईं तुम उस दिन… एक तरफ सूरज की पहली किरन निकल रही थी और दूसरी तरफ तुम्हारी सांसे थम रही थी.

अच्छा किया तुम चली गई क्योंकि इस देश में कुछ नहीं बदलने वाला…तुम्हारे साथ हुआ उसके लिए कुछ चंद लोग आवाज़ उठा तो रहे हैं लेकिन वो आवाज़ अभी संसद नहीं पहुंची. वो आवाज़ उस कुर्सी तक नहीं पहुंची, जिसे बरकरार रखने के लिए तुम्हारी कुर्बानी दी गई.आज फिर एक और बहन के साथ वही हुआ जो तुम्हारे साथ हुआ, शायद उस से भी भयावह. ये लगातार इसलिए हो रहा है क्योंकि गैंगरेप करने वालों को डर नहीं था किसी भी कानून का, किसी भी सरकार का, किसी भी प्रशासन का. headtopics.com

उन्हें घमंड है अपनी मर्दानगी पर और उन्हें घमंड है अपनी जाति का. तुम उनके आगे कल भी कमजोर थी और आज भी कमजोर, यही बताना चाह रहे थे तुम्हें और इतनी सी बात नहीं समझ पाई!क्या तुम भूल गई थी कि तुम एक महिला हो! क्या तुम ये भी भूल गई थी कि तुम गरीब परिवार से आती थी! तुम्हें ये तो याद होगा ही ना कि तुम दलित थी!

तुम कैसे भूल सकती थी ये सब जबकि तुम्हें ये सब इस समाज ने पग-पग याद दिलाया होगा. तुम्हारे हंसने पर, तुम्हारे खाने, तुम्हारे चलने पर, तुम्हारे बोलने, तुम्हारे पढ़ने पर, तुम्हारे कपड़ों से.बचपन में तुम्हारे खेलने-कूदने पर क्या तुम्हें ये बिल्कुल याद नहीं दिलाया गया थी कि तुम एक गरीब लड़की हो और ऊपर से दलित. फिर कैसे तुमने इनके ख़िलाफ़ लड़ने की सोची, कैसे तुम्हारे मन में अपने लिए इंसाफ़ पाने का ख्यालभर भी आ गया.

काश तुम्हें पता होता कि महिलाओं के खिलाफ अपराध होने वाले आंकड़े क्या कहते हैं… तब तुम्हें पता चल जाता कि तुम गरीब और दलित महिला की पहचान के साथ एक ऐसे राज्य में रह रही थीं, जहां हाल के दिनों मेंमहिलाओं के खिलाफ़ सबसे ज्यादा अपराध दर्जकिए गए. उसमें भी दलितों के साथ सबसे अधिक. शायद तब ही तुम्हें समझ आ जाता!

अगर तब भी नहीं समझना चाह रही थी, तो तुम फूलन देवी को याद करना था. उन्हें तो जानती ही होगी! फूलन देवी के साथ भी वही हुआ था जो तुम्हारे साथ हुआ.उनके साथ सिर्फ चार सवर्णों ने ही नहीं बल्कि कई सवर्णों और अधिकारियों ने बलात्कार किया था, सिस्टम ने गैंगरेप किया था. छोटी जाति से होने की कीमत उन्होंने भी चुकाई. headtopics.com

रूपेश मर्डर: तेजस्वी का फिर नीतीश पर हमला, बोले- CM से संभल नहीं रहा बिहार Black money की जानकारी देकर आप पा सकते हैं 5 करोड़ तक का ईनाम 'सीमा पर Pakistan की साजिश नहीं चलेगी', देखें सेना दिवस पर Army Chief की स्पीच

लेकिन एक काम फूलन ने वो कर दिखाया था जो हर महिला को करना चाहिए क्योंकि उसे अब सिस्टम से कोई उम्मीद नहीं रखनी चाहिए. उन्होंने आखिर में तंग आकर फैसला किया कि ब्राह्मणवादी/जातिवादी पितृसत्ता के हमलों का वाजिब जवाब मिलना चाहिए.आज उन्हें याद किया जाता है तो सिर्फ उनके इसी साहस की वजह से, उनके इसी गुस्से की वजह से.

ये गुस्सा अपने भीतर हर महिला को भर लेना चाहिए नहीं, तो तुम्हारी ‘औकात’ ये समाज ऐसे ही दिखाता रहेगा और तुम कुछ नहीं कर पाओगी. परिवार इंसाफ़ की भीख मांगता रह जाएगा.अब चली गई हो तो देख रही हो ना तुम्हारी ‘औकात’ तुम्हारे मरने के बाद भी दिखाई जा रही है. आख़िरी बार भी तुम्हें अपने भाई-पिता और मां से मिलने नहीं दिया.

भाई और पिता की तो तुम हंसी ले ही गई हो, लेकिन क्या तुमने अपनी मां की हालत देखी. वो तुम्हें एक बार देखने के लिए उन्हीं ‘दबंगों’ के आगे भीख मांग रही थीं, जिनके घमंड को तुम चकनाचूर करना चाहती थीं.मैं आज एक दलित बेटी, महिला के साथ-साथ मां भी हूं. हां शायद मैं तुम्हारा दर्द पूरी तरह महसूस न कर पा रही हूं लेकिन कोशिश पूरी कर रही हूं तुम्हारी जगह अपने आप को रखने की, तुम्हारी मां के साथ अपने आप को रखने की.

तभी तो जब से तुम्हारे गुजर जाने की खबर मिली सही से सो नहीं पा रही हूं. बार-बार अपनी बेटी को ताकने का मन करता है. उसे खरोंच भी आ जाती है तो खुद को कोसती हूं कि मैं कहां थी उस वक्त जब उसे चोट लगी, मैं क्यों ख्याल नहीं रख पाई, अपने ममतत्व पर सवाल करने लगती हूं. headtopics.com

फिर तुम्हारी मां ने तो तुम्हें खून से लथपथ नग्न अवस्था में देखा और जिन्होंने ये सब किया उनके बारे में जानते हुए भी कुछ नहीं कर पा रही हैं.जब-जब पुलिस की वर्दी पहने जातिवादी मर्दो और ‘गुंडों’ के आगे उनकी भीख मांगने वाली वीडियो देख रही हूं, न चाहते हुए भी आंखों में आंसू आ जाते हैं.…और तुम चलीं ऐसे लोगों का घमंड तोड़ने!

टूट गई ना खुद ही! बस यही तो चाहते थे ये सब! तुम्हें क्या लगा तुम्हारा बलात्कार सिर्फ उन चार सवर्णों ने किया है और उन्हें तुम अब सबक सिखाकर ही रहोगी, तो नहीं बहन, तुम यहां पूरी तरह से गलत थी.तुम्हारा बलात्कार भले ही उन चारों ने किया हो लेकिन जैसी ही तुमने उन्हें सबक सिखाने की सोची, अपने लिए इंसाफ़ की उम्मीद की वैसे ही प्रशासन, पुलिस, सरकार, मर्दवादी-जातिवादी सोच से भरे इस पूरे समाज ने तुम्हारा बलात्कार किया है.

कुछ देर में किसानों-सरकार में बात, कमेटी गठन के बाद पहली मीटिंग Mission Bengal पर BJP की बड़ी बैठक आज, Amit Shah भी हो सकते हैं शामिल सुप्रीम कोर्ट कहे तो 26 जनवरी को नहीं निकालेंगे ट्रैक्टर रैली: किसान नेता राकेश टिकैत

ये तुम्हारे जीते-जी ही नहीं बल्कि तुम्हारे मरने के बाद तुम्हारे शव से भी किया गया! शर्म आ रही है मुझे कि मैं भी इसी समाज का हिस्सा हूं, मैं भी उस धर्म का हिस्सा हूं, जिसने हम महिलाओं को कमजोर साबित किया और कमजोर बनाया.चिंता न करना अब तुम जहां गई हो वहां तुम सुरक्षित हो. तुम वहां अकेली नहीं रहोगी तुम्हारे साथ तुम्हारी जैसी कई मिलेंगी. कुछ तुम्हारे बराबर की होंगी, तो कुछ उम्रदराज और कुछ तो कुछ महीनों की बच्चियां भी मिल जाएंगी.

इनके बीच में फूलन देवी से मिलना न भूलना, उनसे हिम्मत लेना न भूलना और अगर कभी फिर इस रास्ते आना तो उसी हिम्मत के साथ आना, नहीं तो यह सिलसिला इसी तरह बदस्तूर जारी रहेगा.तुम वहां खुश रहना. वहां ना कोई तुम्हारी जाति पूछेगा ना किसी को ये मतलब होगा कि तुम अमीर हो या गरीब या एक औरत हो.

वहां बैठकर थूकना हम पर, इस समाज पर, यहां की जातिवादी व्यवस्था पर, यहां के मर्दों पर… कि कहां रह रही थी तुम अब तक! बस एक काम और करना, जब तुम्हारे हत्यारे और बलात्कारी वहां पहुंचे उन्हें ‘एक जोर का थप्पड़ लगाना, उनके मुंह पर थूक देना और दिखा देना उन्हें उनकी ‘औकात.’

तुम्हारी बड़ी बहन जैसी,मीना(लेखक स्वतंत्र पत्रकार हैं.) और पढो: द वायर हिंदी »

सस्ती एसयूवी: 10 लाख से कम है बजट! तो जल्द आ रही हैं रेनो किगर से लेकर सिट्रोएन C3 तक ये पांच छोटी एसयूवी, देखें लिस्ट

मैग्नाइट की तरह किगर भी CMF-A+ मॉड्यूलर प्लेटफॉर्म पर बेस्ड होगी,टाटा HBX को कंपनी पिछले साल ऑटो एक्सपो 2020 में शोकेस कर चुकी है | 10 लाख से कम है बजट! तो जल्द आ रही हैं रेनो किगर से लेकर सिट्रोएन C3 तक ये पांच छोटी एसयूवी, देखें लिस्ट, From Renault Kiger To Citroen C3, 5 Upcoming SUVs Under Rs 10 Lakh In India, Check list

समय पर आरोपी को सजा नही सुनाई जाती हैं इसलिए अपना देश पिछड़ा है Wire the Liar, as usual. ज़िंदा रहती परिवार वालो की भी गाड़ी एक दिन लुढक़ थी इस रावण राज में..!! 🤔 Agle janam muhi bitiya na kijio. अजमेर का बल्तकारी टीपू सुल्तान गैंग बारां राजस्थान में भी M बल्तकारी बुलन्दशहर का मोहम्मद रिजवान अहमद बलरामपुर शाहील और शाहिद आजमगढ़ में दानिश मोहम्मद अधिकांश बलात्कारी 'हम 5 - हमारे 50 वाले '

कल से मुसलमान कह रहे कि हमारे साथ अन्याय हुआ यहां न्याय हुआ किसके साथ है आपको तो न्याय के लिए इंतजार 28 साल करना पड़ा यह देखो रातो रात अंतिम संस्कार कर दिया सबूत मिटा दिए अब कह रहे है की रेप नहीं हुआ यह New_India या न्याय किसी के साथ नहीं होता अन्याय सबके साथ होता है शर्मनाक . हमने निर्भया के गुनाहगारों को फाँसी देकर सिर्फ बदला लिया था, लेकिन डर कैसे पैदा किया जाए, मंथन करना चाहिए..

मध्यप्रदेश उपचुनाव: भाजपा के लिए सरकार के साथ साख बचाने का भी सवालमध्यप्रदेश उपचुनाव: भाजपा के लिए सरकार के साथ साख बचाने का भी सवाल MadhyaPradesh MPByPolls byelection ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 JM_Scindia

यूपी के हाथरस-बलरामपुर-बुलंदशहर के बाद MP के खरगौन और राजस्थान के बारां में भी गैंगरेपउत्तर प्रदेश के हाथरस में दरिंदगी का शिकार हुई युवती की चिता अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि देश के अलग-अलग हिस्सों से ऐसी कई घटनाएं सामने आ गईं. हर घटना में अलग दर्द है जो हर किसी की रूह को कंपा सकता है. वैसे जो भी हो रहा है बच्चियों के साथ बहुत गलत हो रहा.....लेकिन क्या यह कोई साजिश तो नहीं कि सिर्फ दलित समाज को टारगेट कर बीजेपी को बदनाम कर Good morning friends. Govt. will not punished openly to the reipists till they will not controlled in society's. जब न्याय के ऊपर धर्म की आस्था बढ जाती है,तब न्याय शब्द का मतलब मिला मुश्कील नहीं ना मुकीन होता है।

अभी तो 142 दागियन के बहार बा, करोड़पतियन के आंकड़ा 162 के पार बा, क्या इस बार भी ऐसी ही विधानसभा बनावे के बिचार बा?2015 के विधानसभा चुनाव में 142 दागी विधायक चुनकर आए थे, 2010 में ऐसे विधायकों की संख्या 141 थी,2005 में 8 और 2010 में 48 विधायक करोड़पति थे, जबकि 2015 में 162 विधायकों की संपत्ति करोड़ों में थी | Bihar Criminal MLA, Bihar MLAs With Criminal Cases, Bihar MLAs With Criminal Cases, Bihar Vidhan Sabha News, Bihar News, Bihar Election Results 2020, Bihar Assembly Election Latest News फिर एक बार नितिश बा...... दागी विधायक के कारण ही अपराध होता है। दागी को टिकट मत दिया करे पार्टी

पाकिस्तान द्वारा तोपों से गोलाबारी के बाद LOC पर भारी तनाव, भारत ने भी दिया जवाबपाकिस्तान द्वारा तोपों से गोलाबारी के बाद LOC पर भारी तनाव, भारत ने भी दिया जवाब चुनावों की डेट के साथ ही तनाव ,ये तो होना ही था🤐🤐 Uske liye Sena he ye btaow balatkariyo ka Kya huwa बिहार में चुनाव तो नहीं है़ 🤔

Sensex Nifty Today: सेंसेक्स-निफ्टी में जोरदार उछाल, डॉलर के मुकाबले रुपये में भी मजबूतीसेंसेक्स-निफ्टी में जोरदार उछाल, डॉलर के मुकाबले रुपये में भी मजबूती StockMarket Nifty sensex sharemarket sharemarketnews rupee Dollar

Hathras केस पर बोले कैलाश, योगीजी के राज में कभी भी गाड़ी 'पलट' जाती है...भोपाल। भाजपा में दूसरी बार राष्ट्रीय महासचिव बने मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने उत्तर प्रदेश के हाथरस सामूहिक दुष्कर्म मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि योगी जी के राज में तो कभी भी गाड़ी पलट जाती है।