वैक्सीन नीति पर हरदीप पुरी और थरूर के बीच चले शब्दों के तीर, एक-दूसरे ने लगाए गंभीर आरोप

कोरोना की वैक्सीन को लेकर केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के बीच जमकर शब्दों के चले तीर, एक-दूसरे ने लगाए गंभीर आरोप ! #CoronaVaccine

14-05-2021 06:10:00

कोरोना की वैक्सीन को लेकर केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के बीच जमकर शब्दों के चले तीर, एक-दूसरे ने लगाए गंभीर आरोप ! CoronaVaccine

दोनों नेताओं के बीच ट्विटर पर छिड़ी जंग में पुरी ने बुधवार को सिलसिलेवार ट्वीट किए थे। उन्होंने कहा था कि शशि थरूर जैसे कांग्रेस के नेता भारत की टीकाकरण नीति के संबंध में अपनी गलती स्वीकार करने को लेकर बच्चों जैसा हठ कर रहे हैं।

कोरोना की वैक्सीन को लेकर केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के बीच जमकर शब्दों के तीर चले। भाजपा नेता पुरी ने जहां आरोप लगाया कि कांग्रेस के नेता टीका लगवाने को लेकर लोगों के मन में संदेह पैदा कर रहे हैं वहीं थरूर ने पलटवार करते हुए कहा कि केंद्र सरकार विपक्ष पर उंगली उठाने के बजाए नीति की विफलता की जिम्मेदारी कब लेगी।

उत्तर कोरिया में इतना महँगा क्यों मिल रहा मक्का? - BBC News हिंदी केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- कोविड-19 से हुईं प्रत्येक मौत पर नहीं दे सकते चार लाख का मुआवज़ा All 15 Kashmir Valley Railway Stations, including Srinagar now integrated with Rail Wi-Fi Network

दोनों नेताओं के बीच ट्विटर पर छिड़ी जंग में, पुरी ने बुधवार को सिलसिलेवार ट्वीट किए थे। उन्होंने कहा था कि शशि थरूर जैसे कांग्रेस के नेता भारत की टीकाकरण नीति के संबंध में अपनी गलती स्वीकार करने को लेकर बच्चों जैसा हठ कर रहे हैं।पुरी ने कहा कि टीके को लेकर कांग्रेस पार्टी का रुख दिनों-दिन और अजीबो-गरीब होता जा रहा है। नागर विमानन, हाउसिंग और शहरी मामलों के मंत्री पुरी ने आरोप लगाया कि (कांग्रेस नेताओं के) पूरे समूह ने बयानों और ट्वीट के जरिए लोगों के बीच टीका लगवाने को लेकर संदेह पैदा किया है।

उन्होंने कहा कि वे खुलकर टीके के प्रभावी होने, उत्पादकों के चयन और टीकाकरण पर संदेह जताकर लोगों के मन में शक पैदा करते हैं। पुरी ने कहा कि थरूर के 2021 में किए गए अंतर्विरोधी ट्वीट पर किताब छापी जा सकती है।केन्द्रीय मंत्री ने कहा टीके के प्रभावी होने पर लगातार संदेह जताने के बाद उन्होंने 28 अप्रैल, 2021 को अपना रुख बदला, लेकिन उन्होंने यह नहीं माना कि वे गलत थे। headtopics.com

उन्होंने सवाल किया कि उस स्थिति की कल्पना करे, अगर भारत सरकार ने उनकी सलाह सुनी होती और टीके का उत्पादन शुरू करने के लिए और दो सप्ताह का इंतजार किया होता।यह भी पढ़ेंपुरी ने कहा कि अब जबकि देश कोविड संकट से जूझ रहा है, ये नेता अगर कोरोना से जंग में हाथ नहीं बटा सकते तो अवसरवाद की राजनीति छोड़कर कम से कम अपने ही अंतíवरोधी बयानों और ट्वीट का अध्ययन कर लें।

पुरी के एक ट्वीट को टैग करते हुए थरूर ने गुरुवार को कहा कि सरल तरीके से बताता हूं, क्या कांग्रेस के ट्वीट के कारण टीके की कमी हुई है, क्या भारत सरकार मेरे ट्वीट के कारण पर्याप्त मात्रा में टीके का ऑर्डर देने में असफल रही, क्या मई में कीमतों में असमानता तीन जनवरी को मेरे बयान से जुड़ी है कि कोवैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण पूरा नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें और पढो: Dainik jagran »

WTC फाइनल के दूसरे दिन का एनालिसिस: 300 रन बनाना होगा टीम इंडिया का टारगेट, पहली पारी में इतने रन बनाकर न्यूजीलैंड के खिलाफ कभी हारा नहीं है भारत

टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के दूसरे दिन 3 विकेट खोकर 146 रन बनाए। मैच का पहला दिन बारिश में धुल गया था, लेकिन रिजर्व डे सहित मुकाबले में अभी भी 4 दिन का खेल बाकी है। भारतीय टीम स्विंग और सीम गेंदबाजी के लिए मददगार परिस्थितियों में टॉस गंवाकर पहले बल्लेबाजी कर रही है। अगले चार दिनों तक भी कंडीशंस इसी तरह रहने के अनुमान हैं। ऐसे में तीन विकेट खोकर 150 रन के आस... | WTC final Team Indias target will be to score 300 runs India has never lost against New Zealand after scoring so many runs in the first innings

Don't fight each other ..fight only corona शशि थरूर तो गुलाम है जो मालकिन बोलेंगी वही तो कहेगा उसे देश या जनता के हित से कोई लेना देना नहीं है। थरूर 😛 ओर वेक्सीन ?

माथापच्ची : वैक्सीन पर केंद्र और दिल्ली सरकार के आंकड़ों ने उलझाया, बाकी जगह भी यही हालातमाथापच्ची : वैक्सीन पर केंद्र और दिल्ली सरकार के आंकड़ों ने उलझाया, बाकी जगह भी यही हालात Coronaviurs Delhi coronavaccin ArvindKejriwal PMOIndia MoHFW_INDIA

Explainer: कोविड वैक्सीन के लिए क्या है ग्लोबल टेंडर और इससे क्या होगा फायदा?भारत कोविड वैक्सीन के मामले में दुनिया के सबसे बड़े बाजार में से है. इसलिए यहां वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों के लिए कारोबार का अच्छा मौका है. यहां के करीब 130 करोड़ जनसंख्या को टीका लगाने के लिए 260 करोड़ से ज्यादा डोज की जरूरत होगी. Kya chutiyapa hai...foreign companies khud over booked hai pehle ke liye orders complete nai kar pa rahi...naye orders yeh sochte hai inko turant mil jayegi 😁😁😁 हे रे धिमरा केने मेंक दओ जाल फस गई जल मछरी, ग्लोबल टेंडर से कुछ ना होगा रेट मैच ना होंगे, कंडीशंस मैच ना होंगी, politics has a golden rule u shud have to keep ur eyes straight n save ur ass by hand... पर भूखे विपक्षियों को कौन समझाए कैसे भी हो जलद से जलद लोगो तक पॉच जाना चाहिए। IndiaNeedsVaccines 🙏

सरकारी पैनल ने बताया कोविड मरीज़ ठीक होने के बाद कब लगाएं वैक्सीन - BBC Hindiभारत सरकार के एक पैनल ने कहा है कि कोरोना संक्रमित होने के वाले व्यक्ति को ठीक होने के छह महीने बाद वैक्सीन लगानी चाहिए. इस तरह की सिफ़ारिशें तब आई हैं, जब पूरे देश में वैक्सीन की कमी है. लाइव अपडेट्स- Corona संक्रमण से ठीक होने के 6 महीने बाद 🙄 Actually we all are in trial process or Government experts are giving the statement as per Government order.

कोरोना: भारत के वैक्सीन निर्यात कम करने से कई देशों में हुई किल्लत - BBC News हिंदीभारत ने मार्च महीने के मध्य में कोविड-19 वैक्सीन के निर्यात को कम करने का फ़ैसला लिया जिसके कारण एशिया और अफ्रीका के कई देशों में वैक्सीन की कमी हो गई है. भारत अभी भी अपने पड़ोसी देशो की मदद कर रहा है। मैंने बोला था जी वैक्सीन का एक्सपोर्ट रोक दो- ब्रम्हांड के मुख्यमंत्री अपनो के साथ दुसरों को भी फंसाया।

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के निर्माण स्थल पर फोटोग्राफी और वीडियो रिकॉर्डिंग पर लगाया गया बैनपरियोजना को क्रियान्वित करने वाले सीपीडब्ल्यूडी के एक अधिकारी ने संपर्क करने पर इस पर कोई टिप्पणी नहीं की. Sahi kiye Kya pata Kon Bam Etc Lag de to , waise hi desh k dushman kam nahi hai, Bahar Se 80% jyada to desh k andar Baithe hai ,mouke ke intezaar m. 😡😡😡😡 Chinese virus NDTV की नजर ना लग जाए Central Vista projects become an eyesore for the opposition; have they applauded anything so far? anything, that Modi has done? they suffer from an unprecedented inferiority complex! NDTV is a compulsive Modi-hater!😡