Coronaviurs, Delhi, Coronavaccin, Delhi News, Corona İn İndia, Delhi Government, Corona Vaccine, Vaccination Data İn Delhi, Exclusive, दिल्ली समाचार, Delhi News İn Hindi, Latest Delhi News İn Hindi, Delhi Hindi Samachar

Coronaviurs, Delhi

माथापच्ची : वैक्सीन पर केंद्र और दिल्ली सरकार के आंकड़ों ने उलझाया, बाकी जगह भी यही हालात

कोरोना महामारी में अब वैक्सीन पर केंद्र और राज्य के सरकारी आंकड़ें किसी माथापच्ची से कम नहीं है।

13-05-2021 02:47:00

माथापच्ची : वैक्सीन पर केंद्र और दिल्ली सरकार के आंकड़ों ने उलझाया, बाकी जगह भी यही हालात Coronaviurs Delhi coronavaccin ArvindKejriwal PMOIndia MoHFW_INDIA

कोरोना महामारी में अब वैक्सीन पर केंद्र और राज्य के सरकारी आंकड़ें किसी माथापच्ची से कम नहीं है।

डाटा समीक्षक जेम्स विलियन्स का कहना है कि कोरोना महामारी की शुरूआत से ही सरकारी और गैर सरकारी दो तरह का आंकड़ा सार्वजनिक हो रहा है। यहां बात दिल्ली या केंद्र की नहीं, बल्कि सभी सरकारों की है। इनके आंकड़े किसी माथापच्ची से कम भी नहीं। कोरोना की जांच, मरीजों की पहचान, मौत इत्यादि से जुड़े लगभग सभी आंकड़े गणितीय आकलन से भी बाहर रहते हैं।

कोरोना वैक्सीन की खरीद व कीमत का मुद्दा संसदीय समिति की बैठक में उठा तो भड़के BJP सांसद : सूत्र अमरिंदर सिंह ने दिया पंजाब कांग्रेस में सुलह का फार्मूला, गांधी परिवार से मुलाकात नहीं हिमाचल में गडकरी के सामने बवाल: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सिक्योरिटी ऑफिसर और कुल्लू SP के बीच जमकर चले लात-घूंसे

बुधवार को जारी दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के अनुसार 43,20,490 खुराक केंद्र सरकार से प्राप्त हुई हैं जिनमें से 40,00,970 खुराकें स्वास्थ्य कर्मचारी, फ्रंटलाइन वर्कर और 45 या उससे अधिक आयु वालों को दी गई हैं।ठीक इसी तरह 18 से 44 वर्ष की आयु वालों के लिए दिल्ली सरकार ने 817690 खुराकें ली हैं जिनमें से 3,82,620 खर्च हो चुकी हैं। दोनों ही आंकड़ों को मिलाकर देखें तो दिल्ली में अब तक 51,38,180 खुराकें आई हैं जिनमें से 43,83,590 खर्च हुई हैं। इसमें वैक्सीन लगने और बर्बाद होने दोनों का आंकड़ा शामिल होता है। इसी रिपोर्ट में दिल्ली सरकार ने 11 मई तक 41,64,612 लोगों को वैक्सीन मिलने की पुष्टि की है जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि यहां 2,18,978 वैक्सीन की खुराक बर्बाद हुई हैं। यानि कुल खर्च खुराक का पांच फीसदी हिस्सा बेकार हो गया।

एक ही रिपोर्ट में दो अलग अलग आंकड़ेअब एक ही रिपोर्ट में दो अलग अलग आंकड़े भी समझ से परे हैं। दिल्ली सरकार की इसी रिपोर्ट में बताया गया है कि अब तक 32,12,034 लोगों को पहली और 9,52,578 को दूसरी खुराक दी गई है। इसमें आयुवार सरकार ने बताया कि 18 से 44 वर्ष की आयु के 4,20,023 लोगों को पहली खुराक दी गई है। जबकि इससे ऊपर वाले कॉलम में यह आंकड़ा 3,82,620 है। headtopics.com

अब केंद्र-दिल्ली की रिपोर्ट पर स्थिति18 से 44 वर्ष की आयु वालों को लेकर अब दिल्ली और केंद्र सरकार के बीच आंकड़ों की तुलना करते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार 11 मई तक दिल्ली में 18 से 44 वर्ष के 421487 लोगों को वैक्सीन दी है। जबकि दिल्ली के पास दो आंकड़ें हैं जिनमें से एक 3.82 और दूसरा 4.20 लाख है। दोनों ही आंकड़े केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट से एकदम अलग हैं। दोनों के ही जिम्मेदार अधिकारियों से जबाव नहीं मिल सका।

विस्तार 18 से 44 वर्ष की आयु को लेकर दोनों ही सरकारों के आंकड़ों में न सिर्फ काफी अंतर है बल्कि दिल्ली सरकार के एक ही बुलेटिन में इस आयुवर्ग के दो-दो आंकड़ें दिए हैं। इनमें से अगर कम संख्या वाले आंकड़ें पर भी भरोसा करें तो राजधानी में 16 जनवरी से 11 मई तक 116 दिन में दो लाख से भी ज्यादा वैक्सीन खुराक बर्बाद हुई हैं। यानी कुल टीकाकरण की तुलना में करीब पांच फीसदी वैक्सीन की खुराकें नष्ट हो गईं।

विज्ञापनडाटा समीक्षक जेम्स विलियन्स का कहना है कि कोरोना महामारी की शुरूआत से ही सरकारी और गैर सरकारी दो तरह का आंकड़ा सार्वजनिक हो रहा है। यहां बात दिल्ली या केंद्र की नहीं, बल्कि सभी सरकारों की है। इनके आंकड़े किसी माथापच्ची से कम भी नहीं। कोरोना की जांच, मरीजों की पहचान, मौत इत्यादि से जुड़े लगभग सभी आंकड़े गणितीय आकलन से भी बाहर रहते हैं।

बुधवार को जारी दिल्ली सरकार की रिपोर्ट के अनुसार 43,20,490 खुराक केंद्र सरकार से प्राप्त हुई हैं जिनमें से 40,00,970 खुराकें स्वास्थ्य कर्मचारी, फ्रंटलाइन वर्कर और 45 या उससे अधिक आयु वालों को दी गई हैं।ठीक इसी तरह 18 से 44 वर्ष की आयु वालों के लिए दिल्ली सरकार ने 817690 खुराकें ली हैं जिनमें से 3,82,620 खर्च हो चुकी हैं। दोनों ही आंकड़ों को मिलाकर देखें तो दिल्ली में अब तक 51,38,180 खुराकें आई हैं जिनमें से 43,83,590 खर्च हुई हैं। इसमें वैक्सीन लगने और बर्बाद होने दोनों का आंकड़ा शामिल होता है। इसी रिपोर्ट में दिल्ली सरकार ने 11 मई तक 41,64,612 लोगों को वैक्सीन मिलने की पुष्टि की है जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि यहां 2,18,978 वैक्सीन की खुराक बर्बाद हुई हैं। यानि कुल खर्च खुराक का पांच फीसदी हिस्सा बेकार हो गया। headtopics.com

कोरोना: डेल्टा+ से MP में पहली मौत की पुष्टि, अब तक सामने आए 5 मामले इससे बड़ी लापरवाही नहीं हो सकती: मुंबई के सरकारी हॉस्पिटल के ICU में भर्ती मरीज की आंख कुतर गया चूहा, इलाज के दौरान मौत हुई योगी संग लंच के बाद केशव का यू-टर्न: UP के डिप्टी CM मौर्य बोले- CM के साथ थे, हैं और रहेंगे; 11 दिन पहले कहा था- CM का फेस दिल्ली तय करेगा

एक ही रिपोर्ट में दो अलग अलग आंकड़ेअब एक ही रिपोर्ट में दो अलग अलग आंकड़े भी समझ से परे हैं। दिल्ली सरकार की इसी रिपोर्ट में बताया गया है कि अब तक 32,12,034 लोगों को पहली और 9,52,578 को दूसरी खुराक दी गई है। इसमें आयुवार सरकार ने बताया कि 18 से 44 वर्ष की आयु के 4,20,023 लोगों को पहली खुराक दी गई है। जबकि इससे ऊपर वाले कॉलम में यह आंकड़ा 3,82,620 है।

अब केंद्र-दिल्ली की रिपोर्ट पर स्थिति18 से 44 वर्ष की आयु वालों को लेकर अब दिल्ली और केंद्र सरकार के बीच आंकड़ों की तुलना करते हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार 11 मई तक दिल्ली में 18 से 44 वर्ष के 421487 लोगों को वैक्सीन दी है। जबकि दिल्ली के पास दो आंकड़ें हैं जिनमें से एक 3.82 और दूसरा 4.20 लाख है। दोनों ही आंकड़े केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट से एकदम अलग हैं। दोनों के ही जिम्मेदार अधिकारियों से जबाव नहीं मिल सका।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

MP की 'डरपोक' पुलिस का VIDEO: युवती को जवानों के सामने बाल खींचकर युवकों ने पीटा, कपड़े फाड़े; वर्दीधारी देखते रहे

सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत मुख्यारगंज की घटना, सोशल मीडिया पर बवाल मचने के बाद युवकों पर दर्ज हुआ मामला | पुलिस के सामने युवती के बाल पकड़कर सरहंगों ने पीटा, पीड़िता थाने पहुंची तो पुलिस करने लगी आरोपियों का बचाव

केजरीवाल की मोदी सरकार से गुज़ारिश, वैक्सीन का फ़ॉर्मूला शेयर करें - BBC Hindiदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार से अनुरोध किया है कि वैक्सीन की कमी दूर करने के लिए इसका फ़ॉर्मूला अन्य कंपनियों के साथ साझा करें. कोन है ये WHO

Vaccine: राज्य मई में 18+ वालों के लिए खरीद सकते हैं सिर्फ दो करोड़ डोज, केंद्र ने तय किया कोटाकेंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष वैक्सीन वितरण का फॉर्मूला शेयर किया है। इसके तहत राज्य सरकारों को 18-44 आयु वर्ग

Coronavirus India Live Updates: कोरोना का डर यहां नहीं है.. गाजियाबाद में शराब की दुकानें खुलते ही लग गई लंबी लाइनदेश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus 2nd Wave in India) के खिलाफ जंग जारी है। इस बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि दिल्ली के पास अब वैक्सीन का स्टॉक काफी कम बचा है। दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कोरोना वैक्सीन की कमी पर ( Corona Vaccine Shortage) केंद्र सराकर को सुझाव देते हुए कहा कि वैक्सीन बनाने का फॉर्म्युला ( Corona Vaccine Formula) सब कंपनियों को दे देना चाहिए। इससे ज्यादा वैक्सीन का उत्पादन (Large Production of Vaccine) होगा और किल्लत दूर होगी। पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए हमारे साथ.... देश के बड़े लोग 5 स्टार होटल रूपी हॉस्पिटल में मदिरा सेवन कर रहे हैं।आम आदमी पार्टी के नेताओं ने सब को खरीद लिया है मीडिया को पहले ही खरीद लिया था।आप के लोग norco टेस्ट के लिए तैयार नहीं हो रहे हैं इसलियर आप नेताओ को चोर कह कर पुकारना चाहिए। जिस देश मे दारू की दुकान खुली हों और किताबो की बन्द हो वो देश कहा जायेगा साफ देख सकते है. bas yahi sab ho sakta hai india me.

दूसरा डोज, नई डेटलाइन हर रोज?: कोवीशील्ड का दूसरा डोज कितने दिन में लगना जरूरी? इंदौर में अधिकतम 56 तो उज्जैन-रीवा में 60 दिन बताए; सरकारी वेबसाइट पर भी दो जवाबवैक्सीन की कमी के बाद पहला डोज लगवा चुके लोगों के दूसरे डोज को लेकर टाइमिंग बढ़ाए की चर्चाओं से पसोपेश बढ़ गया है। दिल्ली से देहात तक यही हाल है। केंद्र सरकार की वेबसाइट ही दो तरह के जवाब दे रही है, तो अंचल तक अफसरों भी अलग-अलग जवाब दे रहे हैं। केंद्र सरकार की वेबसाइट पर सवाल-जवाब फॉर्मेट आज तक बदला नहीं गया है। | कोवीशील्ड का दूसरा डोज कितने दिन में लगना जरूरी? इंदौर में अधिकतम 56 तो उज्जैन-रीवा में 60 दिन बताए; सरकारी वेबसाइट पर भी दो जवाब Bohot confusion h Pehle 28 din bola ...ab 42 din bol rhe h lekin website pr 28 din hi hai

कोरोना: नए वेरिएंट को 'भारतीय' कहने पर सरकार ने जताई आपत्ति, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी नहीं दिया यह नामकोरोना: नए वेरिएंट को 'भारतीय' कहने पर सरकार ने जताई आपत्ति, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी नहीं दिया यह नाम LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI वयापार और विदेश नीति की समझ विदेसी दलालो को नही होती है, पहले बोले बरह्मोश मिसाइल का फार्मूला दे दो, फिर राफेल को लेकर उड़ने लगे उसके बाद भारत की वैक्सीन खराब है, फिर वैक्सीन का फार्मूला दे दो। अबे कांग्रेसियो हम लोग तुम्हारे तरह चरण चाटु नही है। तुम्हारी नियत, मनोवृत्ति पता है। PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI Only one name ' Chinese Virus ' PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI That's why we were calling COVID 19 as Chinese virus. let's start calling COVID 19 as Chinese virus.

वैक्सीन पर दिल्ली सरकार फिक्रमंद: ​​​​​​​सिसोदिया बोले- भारत बायोटेक ने अतिरिक्त वैक्सीन देने से इनकार किया, 100 सेंटर बंद करने पड़ेदिल्ली में ऑक्सीजन की समस्या सुलझती दिख रही है, पर अब वैक्सीन को लेकर यहां की सरकार लगातार फिक्रमंद दिख रही है। CM अरविंद केजरीवाल के बाद अब डिप्टी CM मनीष सिसोदिया ने वैक्सीन की कमी के चलते सेंटर्स बंद होने की बात कही है। सिसोदिया ने मंगलवार को कहा कि भारत बायोटेक ने दिल्ली के लिए अतिरिक्त वैक्सीन देने से इंकार कर दिया है। ऐसे में उन्होंने 100 वैक्सीनेशन सेंटर्स बंद करने को मजबूर होना पड़ रहा है। | Delhi Coronavirus, DElhi Deputy Chief Minister Manish Sisodia, Bharatr Biotech Covaxin Doses, दिल्ली में ऑक्सीजन की समस्या सुलझती दिख रही है, पर अब वैक्सीन को लेकर यहां की सरकार लगातार फिक्रमंद दिख रही है। सीएम अरविंद केजरीवाल के बाद अब डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने वैक्सीन की कमी के चलते सेंटर्स बंद होने की बात कही है। msisodia BharatBiotech एक तरफ दिल्ली सरकार वैक्सीन की कमी का रोना रो रही है तो वहीं दूसरी तरफ दिल्ली में वैक्सीन सेंटर हब के इंचार्ज का कहना है कि वैक्सीन की कोई दिक्कत नहीं ही है अभी 22 हजार से ज्यादा वैक्सीन डोज स्टोर्स में हैं. CoronaVaccine MoHFW_INDIA ArvindKejriwal msisodia BharatBiotech फ्री का vaccine चाहिए या सेंटर पैसा दे भिखमंगों msisodia BharatBiotech Soreading lie if delhi govt had placed an orderly why don't they made it public showing inttest us nothing which delhi govt had done