Heavyrain, Monsoon, Riverflood, Odisha, Gujarat, Flood India, Flood Assam, Flood Gujarat, बाढ़ असम, गुजरात बाढ़

Heavyrain, Monsoon

मानसून की बारिश से बाढ़ की आफत, ओडिशा और गुजरात समेत कई राज्यों की हालत खराब

मानसून की बारिश से बाढ़ की आफत, ओडिशा और गुजरात समेत कई राज्यों की हालत खराब #HeavyRain #Monsoon #RiverFlood #Odisha #Gujarat

16-09-2021 07:22:00

मानसून की बारिश से बाढ़ की आफत, ओडिशा और गुजरात समेत कई राज्यों की हालत खराब HeavyRain Monsoon RiverFlood Odisha Gujarat

इस बार मानसून जाने का नाम नहीं ले रहा और तो और अंतिम समय में भी देश के कई इलाकों में भारी बारिश करवा रहा है। इससे देश के कई राज्यों में बाढ़ आ गई है। वहीं हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भूस्खलन हुआ है।

देश के कई राज्यों में मानसून के कारण भारी बारिश का सिलसिला जारी है। इस बारिश के कारण बने बाढ़ से अनेकों लोगों की मौत हो गई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से ताजा अपडेट में इस बारे में जानकारी दी गई है। 1 जून को देश में मानसून आने के बाद से कई राज्य बाढ़ के गिरफ्त में हैं। असम, बिहार और पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में भारी बारिश के कारण आए बाढ़ से हजारों लोगों को विस्थापित होना पड़ा। वहीं बारिश के कारण उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में भी भूस्खलन जैसी घटनाएं सामने आई।

मन की बात LIVE: मोदी बोले- मुझे सत्ता में रहने का आशीर्वाद मत दीजिए, मैं हमेशा सेवा में जुटा रहना चाहता हूं एप्पल का पेगासस के ख़िलाफ़ अदालत जाना भारत सरकार के लिए शर्मिंदगी का सबब बन सकता है हिंदू जहां कमज़ोर वहां भारत की अखंडता ख़तरे में: आरएसएस प्रमुख - BBC News हिंदी

गुजरात के कुछ इलाकों में तो भारी बारिश के कारण पानी ही पानी नजर आ रहा है। रेलवे ट्रैक तक पानी में डूब गया है। वहीं महाराष्ट्र के पालघर और पुणे समेत कई बड़े जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।मानसून की बारिश के कारण गंगा, कोसी, भागमती, गंडक सहित अनेकों नदियों का जल स्तर बढ़ गया। इससे असम के 22 जिले, बिहार के 36, उत्तर प्रदेश के 12 और पश्चिम बंगाल और झारखंड के भी जिले प्रभावित हुए। वहीं ओडिशा में भारी बारिश के कारण महानदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है। इससे राज्य के 21 जिलों से 21 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। वहीं चार लोगों की मौत भी दर्ज हुई है और दो लोग लापता हैं। यह जानकारी बुधवार को विशेष राहत आयुक्त प्रदीप कुमार जेना ने दी। मानसून की भारी बारिश से कटक, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, खुर्दा, पुरी, जयपुर, भद्रक और बालेश्वर जिले में बाढ़ के हालात बन गए हैं।

यह भी पढ़ेंबता दें कि असम में अब बाढ़ के हालात में सुधार है। राज्य में बाढ़ प्रभावित जिलों की संख्या में कमी हो रही है।केंद्रीय जल आयोग ने अपने बयान में कहा कि ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियां पूरे राज्य में खतरे के निशान से नीचे बह रही हैं। और पढो: Dainik jagran »

जरूरत की खबर: कब नहीं पीनी चाहिए चाय और कब नहीं पीना चाहिए जूस; सुबह खाली पेट क्या पीना है फायदेमंद

चाय और जूस ये ऐसे दो ड्रिंक्स हैं, जो ज्यादातर लोगों के डेली रूटीन में शामिल होते हैं। कई लोगों के दिन की शुरुआत गर्मागर्म चाय से होती है। बिना चाय पीएं लोग फ्रेश और एक्टिव महसूस नहीं करते हैं। जबकि कई लोग जूस अपने डाइट में शामिल करना पसंद करते हैं। जूस सेहत के लिए फायदेमंद है जो कई तरह के विटामिन और न्यूट्रीएंट्स की पूर्ति करता है। | Best Drink On Empty Stomach | Health Benefits Of Drinking Water On An Empty Stomach जानते हैं चाय, जूस या दूसरे नेचुरल ड्रिंक्स पीने का सही समय और तरीका क्या है? खाली पेट क्या पीना आपके लिए सबसे फायदेमंद हो सकता है

यूएनएचआरसी प्रमुख ने यूएपीए और जम्मू कश्मीर में संचार सेवाओं पर अस्थायी पाबंदी की आलोचना कीसंयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बेशलेट ने कहा कि जम्मू कश्मीर में भारतीय अधिकारियों द्वारा सार्वजनिक सभाओं और संचार सेवाओं पर बार-बार पाबंदी लगाए जाने का सिलसिला जारी है, जबकि सैकड़ों लोग अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अपने अधिकार का प्रयोग करने के लिए हिरासत में हैं. साथ ही पत्रकारों को लगातार बढ़ते दबाव का सामना करना पड़ता है.

झारखंड में बड़ा हादसा, बस और कार में सीधी टक्कर, 5 लोगों की जिंदा जलकर मौतझारखंड में बुधवार सुबह बड़ा सड़क हादसा हो गया. हादसा बस और कार की टक्कर से हुआ. टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि बस में आग लग गई. आग की वजह से कार में सवार सभी पांचों लोग जिंदा जल गए, जिससे उनकी मौत हो गई.

Time Magazine की 100 'सबसे प्रभावशाली लोगों' की सूची में मोदी-ममता और अदार पूनावालापीएम मोदी के अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला को भी टाइम ने सबसे प्रभावशाली लोगों की लिस्ट में जगह दी है. अगर देश SonuSood साथ नहीं देगा तो समझ लीजिये हम बहुत ज्यादा स्वार्थी है जिसने लोगों की मदद की उस पर Income tax छापा, लज्जा नहीं आती 😡😡😡😡 सोनू सूद का साथ दो IStandswithSonusood SonuSood हाहा दीदी ओ दीदी MamataBanerjee 👌 Listen in earphones, sung by me

Gujarat में बारिश की मार, जामनगर, राजकोट और जूनागढ़ के 22 गांवों में बिजली ठपगुजरात के जामनगर, जूनागढ़ और राजकोट में कुदरत का कोप बरस रहा है. चार दिन की मूसलाधार बारिश और नदियों के उफान ने जामनगर और जूनागढ़ की हालत खस्ता कर दी है. बारिश थम गई है, लेकिन यहां गांव के गांव डूबे हैं. शहर में भी कई मुहल्लों के घरों का पहला मंजिला जलमग्न है. सैलाब ने यहां की जिंदगी को जहन्नुम बना दिया है. गांव के गांव डूबे हुए हैं, खेत खलिहान डूबे हुए हैं और फसलें पानी में समा गई हैं. जूनागढ़ में ओजत, भादर और उबेन नदियों के भीषण सैलाब में आसपास के इलाके जलमग्न हो गए हैं. बारिश की मार से जामनगर, राजकोट और जूनागढ़ के 22 गांवों में बिजली ठप पड़ी है. देखें ये वीडियो. Mai

झारखंड में बड़ा हादसा: रामगढ़ में बस और वैगन आर में टक्कर, पांच लोग जिंदा जलेझारखंड में बड़ा हादसा: रामगढ़ में बस और वैगन आर में टक्कर, पांच लोग जिंदा जले jharkhand HemantSorenJMM

Aligarh का ताला और सीतापुर की यादें, PM Modi ने याद की बचपन की वो कहानीआज प्रधानमंत्री मोदी ने अलीगढ़ का दौरा किया है और राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी का तोहफा राज्य को दिया. प्रधानमंत्री मोदी ने राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया. इस अवसर पर उन्होंने जनता को संबोधित भी किया. अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने बचपन की वो कहानी याद की जहां उनके घर एक मुस्लिम ताले वाले आया करते थे और वो उनके पिताजी के अच्छे दोस्त भी थे. अलीगढ़ में अपने बचपन का किस्सा सुनाते हुए पीएम मोदी बोले, 'अलीगढ़ से ताले के मुस्लिम सेल्समैन हर तीन महीने में हमारे गांव आते थे. अभी भी मुझे याद है कि वह काली जैकेट पहनकर आते थे. उनकी मेरे पिताजी से अच्छी दोस्ती थी. आते थे तो दो-चार दिन गांव में रुकते भी थे. आसपास के गांव में भी व्यापार करते थे. वो जो पैसे दूसरे दुकानदारों से वसूल करके लाते थे उनको मेरे पिता के पास छोड़ देते थे. मेरे पिताजी उनके पैसों को संभालते थे. फिर जब वो गांव छोड़कर जाते थे तब अपने पैसे ले जाते थे. देखें आगे क्या बोले पीएम मोदी. Chacha ne ab taj Afghanistan se bachpan ka rishta nahin nikala In short, PM's Verbal Diahorrea.