नए आईपीएस अधिकारियों से बोले पीएम मोदी- नेशन फर्स्ट, ऑलवेज़ फर्स्ट - BBC Hindi

नए आईपीएस अधिकारियों से बोले पीएम मोदी- नेशन फर्स्ट, ऑलवेज़ फर्स्ट लाइव अपडेट:

31-07-2021 11:13:00

नए आईपीएस अधिकारियों से बोले पीएम मोदी- नेशन फर्स्ट, ऑलवेज़ फर्स्ट लाइव अपडेट:

प्रोबेशनर आईपीएस ऑफ़िसर्स को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेआज कहा कि बीते 75 सालों में भारत ने एक बेहतर पुलिस सेवा के निर्माण का प्रयास किया है.पुलिस ट्रेनिंग से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर में भी हाल के वर्षों में बहुत सुधार हुआ है.

3:58कोरोना: स्कूल खोलने के लिए 50 विशेषज्ञों ने लिखी राज्य सरकारों को चिट्ठीNOAH SEELAM/AFP via Getty ImagesCopyright: NOAH SEELAM/AFP via Getty Imagesदुनिया को कोरोना वायरस महामारी की चपेट में आए डेढ़ साल से ज़्यादा हो चुके हैं और भारत भी इससे बुरी तरह प्रभावित हुआ है.

आकाशवाणी के रामानुज प्रसाद सिंह का निधन, 86 साल की उम्र में ली आखिरी सांस ग्लोबल कोविड समिट में PM मोदी ने दिया विश्व संदेश- 150 से ज्यादा देशों की भारत ने मदद की कार्टून: इस ड्रग्स में वो बॉलीवुड वाली बात कहाँ? - BBC News हिंदी

महामारी की पाबंदियों की वजह से देश में अब तक प्राइमरी और प्री प्राइमरी स्कूल नहीं खुले हैं.इस बारे में कई विशेषज्ञों की राय है कि बच्चों में कोविड-19 संक्रमण का ख़तरा वयस्कों के मुकाबले कम है इसलिए स्कूल खोल दिए जाने चाहिए.अब 50 से ज़्यादा डॉक्टरों, बाल रोग विशेषज्ञों, सार्वजनिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों, आईआईटी के प्रोफ़ेसरों और अर्थशास्त्रियों ने कुछ राज्य सरकारों को खुली चिट्ठी लिखकर स्कूल खोलने की अपील की है.

यह चिट्ठी लिखने वालों में संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉक्टर चंद्रकांत लहरिया, आईआईटी बॉम्बे के प्रोफ़ेसर भास्करन रमन, अर्थशास्त्री ज्याँ द्रेज और रितिका खेड़ा जैसे लोग शामिल हैं.इन विशेषज्ञों ने अपनी चिट्ठी में स्कूल खोले जाने के पक्ष में बाक़ायदा वैज्ञानिक साक्ष्य और सुझाव दिए हैं. headtopics.com

यह चिट्ठी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कर्नाटक के मुख्यमंत्री कार्यालय को सम्बोधित करके लिखी गई है.ThinkstockCopyright: Thinkstockचिट्ठी का सार कुछ इस तरह है:·भारत में पिछले 16 महीने से ज़्यादा वक़्त से स्कूल बंद हैं जबकि वैज्ञानिक साक्ष्यों से यह साबित हो चुका है कि सावधानी और बचाव के साथ स्कूलों का चलना संभव है.

·स्कूलों के बंद होने से शिक्षा और करियर से सम्बन्धित गतिविधियों को भारी नुक़सान हो रहा है.·इस समय दुनिया के 170 देशों में स्कूल या तो पूर्ण या आंशिक रूप से खुले हुए हैं. स्वीडन और फ़्रांस जैसे कुछ देशों ने तो महामारी के दौरान स्कूल बंद ही नहीं किए.

·संयुक्त राष्ट्र से जुड़ी बच्चों के लिए काम करने वाली संस्था यूनिसेफ़ ने कहा था कि स्कूलों को सबसे आख़िर में बंद होना चाहिए और सबसे पहले खुलना चाहिए.·वयस्कों के टीकाकरण में अभी समय लगेगा. दिल्ली में अब तक सिर्फ़ 13 फ़ीसदी और महाराष्ट्र-कर्नाटक में सिर्फ़ सात फ़ीसदी लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज़ लगी है. ऐसे में पूरी आबादी के टीकाकरण तक स्कूलों के खोलने का इंतज़ार करने में बहुत देर हो जाएगी.

·दुनिया के किसी भी देश में अभी 12 साल से कम उम्र के बच्चों को कोरोना का टीका नहीं लगाया जा रहा है. वहीं, भारत समेत कई देशों में 18 साल से कम उम्र वालों के लिए टीका अभी बनने की प्रक्रिया में है.·कोविड-19 अभी इतनी जल्दी ख़त्म नहीं होने वाला है. ऐसे में ज़रूरी ऐहतियात बरतते हुए स्कूल खोले जाने चाहिए. headtopics.com

मीडिया में उत्कृष्ट योगदान के लिए कली पुरी को AIMA का प्रतिष्ठित अवॉर्ड IPL 2021, DC Vs SRH: चोट के बाद लौटे अय्यर का कमाल, Delhi को छक्का जड़ दिलाई जीत DC vs SRH Live Score: हैदराबाद का स्कोर 100 के पार, समद-राशिद क्रीज पर

BBCCopyright: BBCविशेषज्ञों की टीम ने सरकारों को चरणबद्ध और सुरक्षित तरीके से स्कूल खोलने के कुछ सुझाव भी दिए हैं. जैसे:·अपने इलाके में अभी के लिए आंशिक और भविष्य में पूर्ण रूप से स्कूल खोलने की योजना के मद्देनज़र तत्काल रूप से एक टास्क फ़ोर्स गठित किया जाए.

·जिन इलाकों में पॉज़िटिविटी दर कम है वहाँ धीरे-धीरे स्कूल खोलने की योजना बनाई जाए.·स्कूल के स्टाफ़ का प्राथमिकता से टीकाकरण किया दिया जाए. उनमें वैक्सीन की दो ख़ुराकों के बीच का गैप भी कम किया जाए.·शुरुआत में छात्रों का एक छोटा समूह हफ़्ते के एक या दो दिन स्कूल आए.

·ऑनलाइन लर्निंग को जारी रखा जाए.·मास्क पहनने, हाथ धोने और शारीरिक दूरी बनाने की आदतों को अनिवार्यता से लागू किया.·स्कूलों में खुली हवा का पर्याप्त इंतज़ाम हो.दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कह चुके हैं कि जब तक राज्य में पूरी आबादी को वैक्सीन नहीं लग जाती, तब तक स्कूल नहीं खुलेंगे. लेकिन राज्य सरकारों के स्कूल न खोलने के फ़ैसले को स्वास्थ्य विशेषज्ञ चुनौती दे रहे हैं.

पिछले हफ़्ते चौथे देशव्यापी सीरो सर्वे में पता चला है कि 6 से 9 साल के 57 फ़ीसदी बच्चों में एंटीबॉडी मिली है. वहीं 10 से 17 साल के 62 फ़ीसदी बच्चों में एंटीबॉडी मिली है.इस आधार पर भी तर्क दिया जा रहा है कि अब भारत में प्राइमरी क्लास के बच्चों के लिए स्कूल खोले जा सकते हैं. headtopics.com

और पढो: BBC News Hindi »

धर्म के नाम पर धर्मांतरण का धंधा? देखें क्या है मौलाना कलीम सिद्दीकी का सच

धर्म एक ऐसा शब्द है जो लोगों के विश्वास से जुड़ा हुआ है, समाज के सौहार्द से जुड़ा हुआ है, इतिहास से जुड़ा हुआ है. बड़े-बड़े आंदोलनों को खड़ा करने के लिए धर्म का इस्तेमाल किया गया है. दुनियाभर में अपने-अपने धर्म को लेकर लोग बहुत संवेदनशील रहते हैं. आज उसी धर्मके नाम पर हुए अधर्म का खुलासा उत्तर प्रदेश में हुआ है. एक धर्मगुरु, जिसका काम नैतिक दायित्वों का प्रचार और प्रसार करना था, वही अनैतिक सोच के कृत्य में लिप्त हो गया. आज हम उसी मौलाना कलीम सिद्दीकी पर लगे आरोपों की पड़ताल करेंगे और मौलाना का सनसनीखेज टेप सुनवाएंगे. देखें

हॉं । जैसे अस्थाना जी ने हमेशा किया । Advice to achhi h *कथनी और करनी * में अंतर नहीं हो ऐसे कर्म करे, गुड नही खाने का ज्ञान देने से पहले खुद गुड नही खाएं राकेश अस्थाना जो पहले से विवादित है उसकी पोस्टिग सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के खिलाफ किया ,देश से माफी मांगे ब्रह्माण्ड के सबसे बड़े विचारक मोदी जी हैं जो 18 घंटे विचार करतें है काम कुछ नहीं करते

Jumlebaaj mc bhosadiwala नेशन फर्स्ट कि 'हमारे दो' फर्स्ट!!! कहने वाले पहले इस पर अमल करें। बातों के जादूगरी के अलावे और कुछ है हीं नहीं ? Now it’s changed state first Assam mizoram. Our jobs are on stake anyway, we need to run a campaign to highlight this issue. Government is taking this issue lightly. Start biobubble or fly with 50% capacity or pre quarantine in india. UmangGu11237083 liftflightban umang_gupta support help

'द एम्पायर' से डिजिटल डेब्यू करने जा रहीं दृष्टि धामी, फर्स्ट लुक आया सामने

और आपके लिए 2 businessman first nation गया भाड़ में मोदी जी। साहब को ये कहना चाहिए था हिंदू फर्स्ट क्यूंकि यही तो इनकी पार्टी की पॉलिसी है Hahahahaa नेशन फर्स्ट तभी तो देश की सम्पति पहले बिक रही है बाद मैं आपका नम्बर आयेगा। लोगों को नसीहत देते हो तुम क्या करते हो गजब है महोदय जी...! नेशनल शैल। आल इज वेल।।😂😂

माननीय प्रधानमंत्री जी इन आईपीएस ऑफिसर को यह भी समझाएं कि अपने अपने शहर में कानून व्यवस्था को स्ट्रांग करें सभी पुलिस कर्मी इमानदारी से अपनी ड्यूटी और आम नागरिक के साथ इज्जत से पेश आएं जैसे आम नागरिक इन की इज्जत करते हैं इन सब पुलिसकर्मियों को भी उनकी इज्जत 😂🤣. Jiske apne pass koi dur dur tak ki koi digri nhi who.ips.Oficsir ko sawal kar rha ha,,,

MP बोर्ड 12th का रिजल्ट घोषित: हर दूसरा स्टूडेंट फर्स्ट क्लास पास, किसी को सप्लीमेंट्री नहीं; नतीजे से नाखुश छात्र 1 सितंबर से शुरू होने वाले एग्जाम में शामिल हो सकते हैंMP बोर्ड का 12वीं का रिजल्ट गुरुवार दोपहर 12 बजे शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने घोषित किया। इसमें हर दूसरा स्टूडेंट फर्स्ट डिवीजन से पास हुआ है। फर्स्ट डिवीजन से 52.28%, सेकेंड डिवीजन से 40.28% और थर्ड डिविजन से 7.44% छात्र पास हुए हैं। इस बार सप्लीमेंट्री की व्यवस्था नहीं दी गई है। अपने रिजल्ट से जो बच्चे खुश नहीं है, वे 1 सितंबर से शुरू होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। इसके लिए उन्हें 1 ... | MP बोर्ड क्लास 12th का रिजल्ट आज दोपहर 12 बजे आएगा। ​​​​​​​रिजल्ट मध्यप्रदेश के शिक्षामंत्री इंदर सिंह परमार घोषित करेंगे।

तमिलनाडु: महिला आईपीएस दुष्कर्म मामले में विशेष डीजीपी त्रिपाठी के खिलाफ 400 पेज की चार्जशीट की दाखिलतमिलनाडु: महिला आईपीएस दुष्कर्म मामले में विशेष डीजीपी त्रिपाठी के खिलाफ 400 पेज की चार्जशीट की दाखिल Tamilnadu DGP_Tamilnadu Chargesheet

'द एम्पायर' से डिजिटल डेब्यू करने जा रहीं दृष्टि धामी, फर्स्ट लुक आया सामने

MP बोर्ड 12th का रिजल्ट घोषित: हर दूसरा स्टूडेंट फर्स्ट क्लास पास, किसी को सप्लीमेंट्री नहीं; नतीजे से नाखुश छात्र 1 सितंबर से शुरू होने वाले एग्जाम में शामिल हो सकते हैंMP बोर्ड का 12वीं का रिजल्ट गुरुवार दोपहर 12 बजे शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने घोषित किया। इसमें हर दूसरा स्टूडेंट फर्स्ट डिवीजन से पास हुआ है। फर्स्ट डिवीजन से 52.28%, सेकेंड डिवीजन से 40.28% और थर्ड डिविजन से 7.44% छात्र पास हुए हैं। इस बार सप्लीमेंट्री की व्यवस्था नहीं दी गई है। अपने रिजल्ट से जो बच्चे खुश नहीं है, वे 1 सितंबर से शुरू होने वाली परीक्षा में शामिल हो सकेंगे। इसके लिए उन्हें 1 ... | MP बोर्ड क्लास 12th का रिजल्ट आज दोपहर 12 बजे आएगा। ​​​​​​​रिजल्ट मध्यप्रदेश के शिक्षामंत्री इंदर सिंह परमार घोषित करेंगे।

तालिबान के डर से अफ़ग़ानिस्तान से मददगारों को अपने यहाँ ले जा रहा अमेरिका - BBC Hindiये सभी वो लोग हैं जिन्होंने तालिबान की आक्रामकता और युद्ध के बीच अमेरिकी सेना की मदद की थी. अमेरिकी सेना के वतन वापसी के ऐलान के साथ ही इन्हें तालिबान से मिलने वाली धकमियाँ और ख़तरे भी बढ़ गए हैं. Inspiring