Jaiprakashchowksey, Columnist

Jaiprakashchowksey, Columnist

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम: किसी भी देश की आर्थिक दशा इस बात से भी जानी जाती है कि वहां कार का व्यवसाय कैसा चल रहा है

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम: किसी भी देश की आर्थिक दशा इस बात से भी जानी जाती है कि वहां कार का व्यवसाय कैसा चल रहा है #Jaiprakashchowksey #columnist

25-07-2021 07:50:00

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम: किसी भी देश की आर्थिक दशा इस बात से भी जानी जाती है कि वहां कार का व्यवसाय कैसा चल रहा है Jaiprakashchowksey columnist

अमेरिका में महंगी कारों को खरीदने के लिए इतनी बेसब्री है कि कार की पूरी कीमत लोग अग्रिम राशि के रूप में जमा कर देते हैं। पुरानी कारों को बेचने या खरीदने का व्यवसाय वहां होता ही नहीं, पुरानी कार या बिगड़ी हुई कार को हटाने के लिए पैसे देने होते हैं। मुंबई में पुरानी या दुर्घटना हुई कारों का मलबा एक जगह लगा होता था। कार या ट्रक के टायरों को दुरुस्त करके री-मोल्डिंग विधि द्वारा पुनः काम में लाया जाता ... | The economic condition of any country is also known from the fact that how the car business is doing there.

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम:किसी भी देश की आर्थिक दशा इस बात से भी जानी जाती है कि वहां कार का व्यवसाय कैसा चल रहा है3 घंटे पहलेकॉपी लिंकजयप्रकाश चौकसे, फिल्म समीक्षकअमेरिका में महंगी कारों को खरीदने के लिए इतनी बेसब्री है कि कार की पूरी कीमत लोग अग्रिम राशि के रूप में जमा कर देते हैं। पुरानी कारों को बेचने या खरीदने का व्यवसाय वहां होता ही नहीं, पुरानी कार या बिगड़ी हुई कार को हटाने के लिए पैसे देने होते हैं। मुंबई में पुरानी या दुर्घटना हुई कारों का मलबा एक जगह लगा होता था। कार या ट्रक के टायरों को दुरुस्त करके री-मोल्डिंग विधि द्वारा पुनः काम में लाया जाता है।

PM Modi: महंत नरेंद्र गिरि का देहावसान अत्यंत दुखद, संत समाज को जोड़ने में बड़ी भूमिका निभाई थी चन्नी तो बने पंजाब के सीएम, पर यूपी में हलचल क्यों है भला - BBC News हिंदी मेरे संगठन का एक-एक रुपया किसी जीवन को बचाने के लिए अपनी बारी का इंतज़ार कर रहा है: सोनू सूद

देश की आर्थिक दशा इस बात से भी जानी जाती है कि वहां कार का व्यवसाय कैसा चल रहा है। भारत में एम्बेसडर नामक कार पहले बाजार में आई। दूसरी कार फिएट रही। परंतु जापान के सहयोग से मारुति कार बनते ही मध्यम आय वर्ग कार खरीदने लगा। इस विषय पर ऋषि कपूर नीतू सिंह अभिनीत हबीब फैसल की फिल्म ‘दो दूनी चार’ बहुत पसंद की गई।

किशोर कुमार और मधुबाला की ‘चलती का नाम गाड़ी’ हमारी श्रेष्ठ हास्य फिल्म मानी जाती है। मजरूह सुल्तानपुरी का गीत ‘एक लड़की भीगी भागी सी...सोती रातों में जागी सी...मिली एक अजनबी से’ की मधुर धुन सचिन देव बर्मन ने रची थी। ज्ञातव्य है कि 1904 में एक भारतीय उद्योगपति ने लंदन से कार आयात की परन्तु किसी को कार चलाना नहीं आता था। अतः उस कार को घोड़े खींचते थे। लंदन से ड्राइवर को आने में लंबा समय लगा। कार के लिए मनचाहा नंबर लेने के लिए रीजनल ट्रांसपोर्ट दफ्तर में अतिरिक्त पैसा जमा करना होता है। यह आधिकारिक ढंग से किया हुआ काम है। यही विभाग कार चलाने का लाइसेंस जारी करता है। headtopics.com

पहले लर्निंग लाइसेंस दिया जाता है। केवल बालिग व्यक्ति ही ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त कर सकता है। कहते हैं कि मोटरबाइक आने के बाद अपहरण की घटनाएं बढ़ी हैं। बाइकर अपने आप में हॉर्स पावर को महसूस करता प्रतीत होता है। अपहरण के कई कारण होते हैं। लंपटता ने अनगिनत सामाजिक बीमारियों को जन्म दिया है। मोटरबाइक निर्माण में रॉयल एनफील्ड कंपनी अपनी गुणवत्ता के लिए जानी जाती है।

एक दौर में अमेरिका का शहर डेट्रॉयट कार निर्माण की राजधानी माना जाता था। वर्तमान में डेट्रॉयट अपने विश्वविद्यालय के लिए प्रसिद्ध है। अच्छे शिक्षकों की कमी सभी जगह महसूस की जा रही है। एक बार एक उद्योगपति ने एक छोटे परिवार के सदस्यों को वर्षा के समय वृक्ष के साए में खड़ा हुआ देखा। उन्हें विचार आया कि ऐसी सस्ती कार बनाएं कि तीन या चार सदस्य वाला परिवार उसे उपयोग कर सकें।

यह कार बनाई गई परंतु बाजार में इसकी बिक्री बहुत कम हुई। अतः कार का निर्माण बंद कर दिया गया। वर्तमान में सभी कारों में यह व्यवस्था है कि जरा सा धक्का लगता है कि सुरक्षा के लिए बना तकिया नुमा वस्तु ड्राइवर और साथी के सीने के ऊपर लग जाता है। ताकि उन्हें चोट न लगे।

एक मानव सेवा संस्था ने सड़क पर जगह-जगह बिलबोर्ड लगा दिए गए हैं कि दुर्घटना होने पर फोन करें। सहायता दल तुरंत ही वहां पहुंच जाता है। कार की प्रायोजित दौड़ पर कुछ फिल्में बनी हैं। फिल्म ‘रेस’ के तीन भाग बन चुके हैं। वैश्विक आर्थिक मंदी हर 90 वर्ष में आती है। बचत और किफायत की जीवन शैली ही रक्षा कर सकती है। headtopics.com

कन्हैया कुमार, गुजरात विधायक जिग्नेश मेवाणी कांग्रेस में होंगे शामिल: सूत्र भारत के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र पहुंचा बांग्लादेश, ये है वजह हैदराबाद: 19 लाख रुपये में बिका भगवान गणेश को चढ़ाया हुआ एक लड्डू और पढो: Dainik Bhaskar »

Delhi में बड़े Terror Module का पर्दाफाश, जांच एजेंसियों ने 6 को दबोचा, देखें स्पेशल रिपोर्ट

दिल्ली में पाकिस्तान की बड़ी साजिश का खुलासा करते हुए एजेंसी ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक इस पाकिस्तानी आतंकी मॉड्यूल के लिए काम करने वाले 6 लोगों में से दो ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग हासिल की थी. जांच एजेंसियों ने पाकिस्तान द्वारा पोषित एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. इस मामले में जांच एजेंसियों ने 6 लोगों को गिरफ़्तार किया है. पकड़े गए संदिग्ध भारत में इस आतंकी मॉड्यूल को ऑपरेट कर रहे थे. इन सभी से लगातार पूछताछ की जा रही है. एजेंसी का दावा है कि पकड़े गए इन संदिग्ध आतंकियों के पास से बड़ी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद हुए हैं. देखिए स्पेशल रिपोर्ट का ये एपिसोड.

'संसद नहीं चलने देने का Rahul Gandhi का पुराना रिकॉर्ड', BJP का Congress पर पलटवारइजरायली स्पाईवेयर पेगासस से भारत में जासूसी के मामले पर देश में राजनीति गरमा गई है. जासूसी कांड को लेकर संसद में आज फिर घमासान हुआ. टीएमसी के राज्यसभा सांसद शांतनु सेन को संसद सत्र के बाकी हिस्से के लिए निलंबित कर दिया गया. शांतनु सेन ने गुरुवार को आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव से सदन में कागजात छीनकर फाड़ दिए थे. आज हंगामे के चलते राज्यसभा को दोपहर ढाई बजे तक और लोकसभा को सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया. जासूसी के आरोपों पर बीजेपी ने विपक्ष पर पलटवार किया है. सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कहा है कि संसद नहीं चलने देने का राहुल गांधी का पुराना रिकॉर्ड है. इस Video में देखिए और क्या बोले राज्यवर्धन सिंह राठौर. RahulGandhi &पालतू लॉबी सदन में मुद्दे नही उठाती..!☺️☺️ सदन से वाकआउट करते है सदन में हंगामा खड़ा करते है RahulGandhi को अच्छी तरह पता है सदन में बहस होगी तो बाड्रा कांग्रेस का झुट का गुब्बारा फूटने में 02 मिनट नही लगेगा Rahul Gandhi always become an obstacle and not a decision maker or taker. Ab to Sarkar bhi chali gayi ab toh sudhar jao. दलाली और मुखबिरी तुम्हारा पुराना धनदा है

उत्तराखंड चुनाव: BJP का मोदी कार्ड, कांग्रेस का युवा चेहरा और AAP का कर्नल पर दांव!एक तरफ बीजेपी अपने तमाम बड़े चेहरों की रैलियां करवाने जा रही है तो वहीं कांग्रेस भी इस बार युवा चेहरों पर भरोसा जता रही है. अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी भी इस राज्य में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाने को तैयार दिख रही है.

राकेश टिकैत की हुंकार: 35 महीने चलेगा किसान आंदोलन, हरियाणा सरकार की सख्ती का भी इंतजारदिल्ली जयपुर हाईवे स्थित खेड़ा बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में शनिवार को भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत मतलब कि किसान के मुद्दे पर नहीं मोदी विरोध मे और 2024 की लोकसभा के चुनाव के लिए चल रहा है आंदोलन...!!? लगता है किसी राजनीतिक पार्टी की रणनीति के आधार पर काम कर रहे हैं RakeshTikaitBKU किसी पार्टी का एजेंडा चला रहे हैं किसानो से कोई वास्ता नहीं दिख रहा... अगर किसान हार गया, समझना देश गर्क | अन्धभक्तों के सहारे वतन न छोडो़ ? जागो देश के नौनिहाल जागो | RakeshTikait

दिल्ली में प्लास्टिक प्रदूषण का खतरा बढ़ा, तीनों निगमों में एक भी प्लास्टिक ट्रीटमेंट प्लांट नहींनॉर्थ एमसीडी के मेयर रहे जय प्रकाश ने बताया कि नॉर्थ एमसीडी से निकलने वाले प्लास्टिक वेस्ट को भलस्वा लैंडफिल साइट पर ट्रामलिन मशीनो के जरिए आम कूड़े से अलग करके एनर्जी प्लांट में भेजा जाता है. वक्त के साथ प्लास्टिक वेस्ट में बढ़ोतरी हुई है. इसलिए एनर्जी प्लांट भी बढ़ना चाहिए. Ramkinkarsingh Chhattisgarh शासन कोरोना वॉरियर के परिवार पर नही दे रही है ध्यान, आकस्मिक निधन नियम के तहत दे रही है अनुकंपा, पुलिसकर्मी स्व. श्री_गोरेलाल_देवदास अपनी ड्यूटी करते हुए कोरोना_संक्रमित हुए, उनके निधन के 11महीने बाद भी उसका 27 साल का विकलांग_बेटे को अब तक नही_मिली_अनुकंपा Ramkinkarsingh नालायक सरकार Ramkinkarsingh दिल्ली सरकार को ध्यान देनी चाहिए.पैसे नहीं है ? मदरसे,मौलवियों-इमामों को वेतन देने के लिए पैसे कहां से आते हैं? फ्री सफर कराने का पैसा कहां से आता है? फ्री बिजली ,पानी देने का पैसा कहां से आता है?

स्वदेशी का संदेश दे रही संगम नगरी की मिठाई, योग के प्रति भी प्रेरित करने का दे रही है संदेशमिठाई व्‍यापारी अमित बताते हैं कि फरवरी 2015 में उनकी बहन की शादी हुई थी। उस शादी के कार्ड में यह लिखाया गया था कि 21 जून को लोग योग दिवस मनाएं और योग अवश्य करें। उनका दावा है कि अब लोग इसको लेकर जागरूक भी हो रहे हैं। 10 rupaye ki cheej 100 rupaye me khareedo 200 rupee litre mustard oil hai aur tum kh rhe ho Swadeshi apnao

Tokyo Olympics 2020: तीसरे दिन ऐसा है भारत का शेड्यूल, निशाने पर हैं ये मेडलटोक्यो ओलंपिक -2020 में भारत के लिए रविवार का दिन अहम होने वाला है. निशानेबाजी में मेडल बटोरने का मौका है. हॉकी, टेबल टेनिस जैसे खेलों में भी भारतीय खिलाड़ी किस्मत आजमाते दिखेंगे.