Roadaccidents, Onlineclaim, Online Platform, Road Accident, İnsurance Company, Supreme Court, Central Government, सड़क हादसे, सुप्रीम कोर्ट

Roadaccidents, Onlineclaim

काम की बात: सड़क हादसों में शीघ्र मुआवजे के लिए जल्द बनेगा ऑनलाइन प्लेटफार्म

काम की बात: सड़क हादसों में शीघ्र मुआवजे के लिए जल्द बनेगा ऑनलाइन प्लेटफार्म #RoadAccidents #OnlineClaim

05-08-2021 23:26:00

काम की बात: सड़क हादसों में शीघ्र मुआवजे के लिए जल्द बनेगा ऑनलाइन प्लेटफार्म RoadAccidents OnlineClaim

सड़क हादसों में पीड़ितों के मुआवजे के मामलों के त्वरित निपटान को सुनिश्चित करने के लिए जल्द ही ऑनलाइन प्लेटफार्म शुरू

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद केंद्र सरकार एक ऑनलाइन एप विकसित करने की प्रक्रिया में है जहां सड़क हादसों के शिकार हुए लोग अपने दावे दर्ज करा सकेंगे। जबकि पुलिस, दुर्घटना की रिपोर्ट अपलोड कर सकती है। बीमा कंपनियों को इस प्लेटफॉर्म पर दावा याचिकाओं और दुर्घटना की रिपोर्ट का जवाब देना होगा।

आनंद गिरि कौन हैं और महंत नरेंद्र गिरि के साथ उनके कैसे रिश्ते थे? - BBC News हिंदी पीएम मोदी और बाइडेन की मुलाकात पर टिकी निगाहें, तालिबान-चीन पर बनेगी रणनीति : विशेषज्ञ भास्कर LIVE अपडेट्स: PM मोदी आज सुबह 11 बजे अमेरिका रवाना होंगे, 24 सितंबर को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात होगी

जस्टिस संजय किशन कौल की अध्यक्षता वाली दो सदस्यीय पीठ के समक्ष केंद्र की ओर से एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) जयंत सूद ने कहा, सार्वजनिक और निजी बीमा कंपनियां ने इसके लिए हामी भर दी है।एएसजी ने इसे बेहद सकारात्मक कदम बताया। सरकार इस एप को जल्द से जल्द शुरू करने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि वाहन दुर्घटना के मामलों में सभी अथॉरिटी द्वारा मुआवजे के मामले को जल्द निपटारा किया जा सके।

साथ ही अथॉरिटी की जवाबदेही भी तय की जा सके। पीठ ने ने एप को विकसित करने को लेकर जारी कवायद पर संतोष व्यक्त करते हुए केंद्र सरकार को इसे तैयार करने के लिए दो महीने का और समय दे दिया।15 साल बाद मिली आर्थिक मदद किस काम कीशीर्ष अदालत ने दुख जताया था कि मोटर दुर्घटना के मामले कई वर्षों तक लंबित रहते हैं जबकि पीड़ित परिवार को तुरंत वित्तीय सहायता की आवश्यकता होती है। अदालत का मानना है कि अगर किसी व्यक्ति को 10 या 15 बर्ष बाद 10 लाख रुपये मिले तो उसका क्या फायदा। जब उसे रकम की सख्त जरूरत थी तब उसे नहीं मिले तो उसका मतलब नहीं रह जाता। headtopics.com

विस्तार किया जाएगा। इसमें पीड़ितों, पंचाटों, पुलिस और बीमा कंपनियों को एकसाथ जोड़ा जाएगा। देश की सभी 26 बीमा कंपनियों ने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के विचार पर सहमति व्यक्त की है।विज्ञापनसुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद केंद्र सरकार एक ऑनलाइन एप विकसित करने की प्रक्रिया में है जहां सड़क हादसों के शिकार हुए लोग अपने दावे दर्ज करा सकेंगे। जबकि पुलिस, दुर्घटना की रिपोर्ट अपलोड कर सकती है। बीमा कंपनियों को इस प्लेटफॉर्म पर दावा याचिकाओं और दुर्घटना की रिपोर्ट का जवाब देना होगा।

जस्टिस संजय किशन कौल की अध्यक्षता वाली दो सदस्यीय पीठ के समक्ष केंद्र की ओर से एडिशनल सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) जयंत सूद ने कहा, सार्वजनिक और निजी बीमा कंपनियां ने इसके लिए हामी भर दी है।एएसजी ने इसे बेहद सकारात्मक कदम बताया। सरकार इस एप को जल्द से जल्द शुरू करने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि वाहन दुर्घटना के मामलों में सभी अथॉरिटी द्वारा मुआवजे के मामले को जल्द निपटारा किया जा सके।

साथ ही अथॉरिटी की जवाबदेही भी तय की जा सके। पीठ ने ने एप को विकसित करने को लेकर जारी कवायद पर संतोष व्यक्त करते हुए केंद्र सरकार को इसे तैयार करने के लिए दो महीने का और समय दे दिया।15 साल बाद मिली आर्थिक मदद किस काम कीशीर्ष अदालत ने दुख जताया था कि मोटर दुर्घटना के मामले कई वर्षों तक लंबित रहते हैं जबकि पीड़ित परिवार को तुरंत वित्तीय सहायता की आवश्यकता होती है। अदालत का मानना है कि अगर किसी व्यक्ति को 10 या 15 बर्ष बाद 10 लाख रुपये मिले तो उसका क्या फायदा। जब उसे रकम की सख्त जरूरत थी तब उसे नहीं मिले तो उसका मतलब नहीं रह जाता।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

कौन है Anand Giri, जो कर रहा था Narendra Giri को ब्लैकमेल!

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरि की मौत मामला लगातार उलझता ही जा रहा है. महंत नरेंद्र गिरि के अंतिम संस्कार की तैयारियां की जा रही हैं, उधर महंत नरेंद्र गिरि के सुसाइड नोट से हड़कंप मच गया है. 23 सितंबर को महंत नरेंद्र गिरि को बाघंबरी मठ में ही भू समाधि दी जाएगी. लेकिन नरेंद्र गिरि के सुसाइड नोट में जो सच बाहर आया है, वो बेहद ही चौंकाने वाला है. सुसाइड नोट में नरेंद्र गिरि ने आनंद गिरि, आद्या प्रसाद तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी का तीन बार जिक्र किया और पूरे होश में उन्हें अपनी आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है. सुसाइड नोट में ये भी लिखा है कि एक महिला से जोड़कर उनका वीडियो वायरल करने की धमकी दी जा रही थी. अब सवाल ये भी खड़ा हो गया है कि आखिर वो महिला कौन है? देखें स्पेशल रिपोर्ट.

If You Want To Learn How To Defend The Government , how to mislead people with real issues then watch these Anchors debates AMISHDEVGAN AmanChopra_ DChaurasia2312 anjanaomkashyap RubikaLiyaquat RajatSharmaLive navikakumar sudhirchaudhary rahulkanwal ArnabGoswami

केरल में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच नई गाइडलाइन जारी, लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढीलदेश में एक तरफ कोरोना की दूसरी लहर कम होती दिख रही है तो वहीं केरल में कोरोना संक्रमण के नए मामलों से चिंता बढ़ा रही हैं। बढ़ते मामलों को देखते हुए केरल सरकार ने बुधवार को 5 अगस्त की सुबह 12 बजे से कोविड-19 नए दिशानिर्देश जारी किया है। आदरणीय प्रधानमंत्री जी से मिलने के पश्चात संभव है 64 लाख दलित एवं आदिवासी किसान को रोजगार मिल पाना

पाक: मंदिर में तोड़फोड़ के विरोध में हिंदुओं ने किया प्रदर्शन, लगे जय श्रीराम के नारेपाकिस्तान के रहीमयारखान के खानपुर में पाकिस्तानी हिंदुओं ने बीते दिन भोग शरीफ में भीड़ द्वारा गणेश मंदिर तोड़े जाने और आग लगाने के विरोध में जबरदस्त प्रदर्शन किया.

42GB डाटा के साथ मिलेगा ZEE5 सब्सक्रिप्शन Free, जानें Airtel के इस प्लान के बारे में...आज हम आपको Airtel के एक ऐसे रीचार्ज प्लान की जानकारी देने वाले हैं, जिसमें आपको अन्य बेनेफिट के साथ ZEE5 प्रीमियम का सब्सक्रिप्शन फ्री में प्राप्त होगा। खास बात यह है कि एयरटेल के इस प्लान की कीमत 300 रुपये से भी कम है।

IPL 2021: कोलकाता के लिए बड़ी खुशखबरी, यूएई में दूसरे हाफ में खेलेगा यह स्टार खिलाड़ीआइपीएल 2021 का दूसरा हाफ 19 सितंबर से यूएई में खेला जाएगा। इससे पहले कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) के लिए अच्छी खबर सामने आई है। कप्तान इयोन मोर्गन ने पुष्टि कर दी है कि वह टूर्नामेंट के 14वें सत्र के दूसरे हाफ में हिस्सा लेंगे।

विपक्ष की नारेबाज़ी के बीच बिना चर्चा के ही लोकसभा में दो विधेयक पारितइसमें से एक आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक, 2021 है, जिसमें आयुध कारखानों के कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने से रोकने का प्रावधान किया गया है. विपक्ष ने आरोप लगाया कि इस क़ानून के ज़रिये सरकार श्रमिकों के मौलिक अधिकार छीनना चाहती है. सही कदम, विपक्ष को संसद के बाहर ही रखने का फैसला किया था जनता ने जनता की जीत भारत की जीत विपक्ष Hetler shahi chal rahi hai BJP4India PMOIndia ab. loktantr ki dhajjiyaan urarahe hai aap log. Dear rashtrapatibhvn if bjp is not working and control india please declared Emergency 🆘. संसद का महत्व मोदी सरकार ने खत्म कर दिया अब लोकतंत्र नहीं तानाशाही चल रही है। BanEVM_SaveDemocracy

सीमा विवाद सुलह की कोशिश: असम और मिजोरम के मंत्रियों के बीच आइजोल में बैठक आज26 जुलाई की घटना की पुनरावृत्ति रोकने और सौहार्दपूर्ण माहौल तैयार करने के लिए बृहस्पतिवार को दोनों ही राज्यों के मंत्रियों अच्छी बात है मामला मिल बैठ कर सूलझना चाहिए जी