दिल्ली में प्रदूषण, दिल्ली प्रदूषण की खबरें, Delhi Weather News, Delhi Pollution, Delhi Ncr Pollution News Today, Delhi Ncr Pollution, Delhi Aqi, Delhi Air Quality Level, Central Ordinance On Delhi Ncr Pollution, भारत Samachar

दिल्ली में प्रदूषण, दिल्ली प्रदूषण की खबरें

Pollution News : एयर पॉल्यूशन रोकने के लिए सख्त कानून, पांच साल तक कैद और एक करोड़ जुर्माना

प्रदूषण रोकने के लिए सख्त कानून, 5 साल तक कैद और एक करोड़ जुर्माना via @NavbharatTimes

29-10-2020 12:27:00

प्रदूषण रोकने के लिए सख्त कानून, 5 साल तक कैद और एक करोड़ जुर्माना via NavbharatTimes

भारत न्यूज़: केंद्र सरकार ने दिल्ली और आसपास के इलाकों में प्रदूषण पर नियंत्रण की दिशा में कड़ी और बड़ी पहल की है। सरकार ने नया अध्यादेश लाया है जिसके तहत प्रदूषण फैलाने का दोषी पाए जाने पर पांच साल तक की जेल की सजा का प्रावधान किया गया है।

29 Oct 2020, 02:51:00 PMकेंद्र सरकार ने दिल्ली और आसपास के इलाकों में प्रदूषण पर नियंत्रण की दिशा में कड़ी और बड़ी पहल की है। सरकार ने नया अध्यादेश लाया है जिसके तहत प्रदूषण फैलाने का दोषी पाए जाने पर पांच साल तक की जेल की सजा का प्रावधान किया गया है।

किसान यूनियन: दिल्ली में हुई हिंसा के लिए पुलिस प्रशासन जिम्मेदार RJD नेता मनोज झा ने कहा- जो हुआ वो दुर्भाग्यपूर्ण, लेकिन एक घटना से आप पूरे आंदोलन को गलत नहीं बता सकते आज तक @aajtak

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई के लिए आया अध्यादेश।हाइलाइट्स:कोरोना काल में वायु प्रदूषण की स्थिति पर केंद्र सरकार ने गंभीरता दिखाई हैसरकार ने एक अध्यादेश लाकर प्रदूषण फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई का प्रावधान किया हैदोषी पाए जाने पर पांच साल तक कैद और एक करोड़ तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है

नई दिल्लीकेंद्र सरकार ने ऑर्डिनेंस जारी कर प्रदूषण फैलाने वालों के लिए सख्त सजा का प्रावधान किया है। केंद्र सरकार ने नए अध्यादेश के जरिये प्रावधान किया है कि जो भी प्रदूषण के लिए जिम्मेदार होगा, वह दोषी पाए जाने पर पांच साल तक कैद की सजा भुगतेगा और उस पर एक करोड़ तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। राष्ट्रपति ने बुधवार रात ऑर्डिनेंस को मंजूरी दी। इसके तहत कमिशन फॉर एयर क्वॉलिटी मैनेजमेंट भी बनाया गया है जो दिल्ली, एनसीआर और आसपास के इलाके को देखेगा। headtopics.com

ऑर्डिनेंस के तहत 18 सदस्यीय कमिशन का भी गठन18 सदस्यों का कमिशन बनाया गया है जिसका एक चेयरपर्सन होगा जो पूर्ण कालीन होगा। ये चेयरपर्सन भारत सरकार के सेक्रेटरी या राज्य सरकार के चीफ सेक्रेटरी रैंक के अधिकारी होंगे। इन 18 सदस्यों में ब्यूरोक्रेट, एक्टिविस्ट और अन्य एक्सपर्ट होंगे। कमिशन के सदस्यों का कार्यकाल तीन साल का होगा। कमिशन एयर पोल्यूशन को मॉनिटरिंग करेगा और पर्यावरण कानून से संबंधित मामले देखेगा। साथ ही रिसर्च और नई तकनीक ईजाद करेगा।

कमिशन इन तीनों एरिया में काम करने के लिए सब कमिटी का गठन कर सकेगा। कमिशन पराली जलाने के मसले को देखेगा। साथ ही वाहन प्रदूषण, धूलकण प्रदूषण और अन्य तमाम कारकों को देखेगा जिससे कि दिल्ली और एनसीआर में एयर क्वॉलिटी खराब होती रही है।संसद को वार्षिक रिपोर्ट देगा कमिशन

कमिशन अपनी वार्षिक रिपोर्ट संसद को सौंपेगा। साथ ही प्रस्ताव किया गया है कि ये कमिशन सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त ईपीसीए को स्थानांतरित करे। कमिशन के तहत काम करने वाली तमाम बॉडी दिल्ली और एनसीआर के एयर क्वॉलिटी मैनेजमेंट को देखेगी। साथ ही कहा गया है कि राज्यों की एजेंसी और कमिशन की तरफ से जारी निर्देश में अगर टकराव हुआ तो कमिशन का आदेश मान्य होगा।

प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ कमिशन शिकायत करेगी और शिकायत कोर्ट में किया जाएगा। शिकायत के आधार पर कार्रवाई होगी। कमिशन के आदेश के खिलाफ कोई भी अपील एनजीटी में की जा सकेगी। कोई अन्य बॉडी और अथॉरिटी आदेश पारित नहीं करेगी।केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को दी थी जानकारी headtopics.com

Republic Day Tractor Rally Delhi Live Updates: किसानों की ट्रैक्टर परेड हिंसा में 83 पुलिसकर्मी घायल, 45 ट्रॉमा सेंटर में भर्ती किसानों के उग्र हुए प्रदर्शन पर आया AAP का बयान, कहा - हिंसा ने आंदोलन को कमजोर किया अमरिंदर सिंह ने किसानों से राजधानी खाली करने को कहा, ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा को अस्वीकार्य बताया

सुप्रीम कोर्ट ने 26 अक्टूबर को पराली जलाने पर रोक के लिए उठाए गए कदमों की निगरानी के लिए रिटायर जस्टिस की कमिटी बनाने के आदेश को फिलहाल स्थगित कर दी थी। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट को केंद्र सरकार ने बताया था कि पराली जलाने से रोकने और एयर पॉल्यूशन की समस्या से निपटने के लिए सरकार एक समग्र कानून लाने जा रही है। केंद्र सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट को उक्त जानकारी दी थी जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 16 अक्टूबर को पारित अपने उस आदेश को स्थगित कर दी थी जिसमें पराली मामले को देखने के लिए सुप्रीम कोर्ट के रिटायर जस्टिस मदन बी लोकूर की कमिटी का गठन का आदेश दिया था।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि मुद्दा एक ही है कि प्रदूषण के कारण लोग परेशान हैं, ऐसे में वायु प्रदूषण रोकने के लिए कारगर कदम उठाए जाएं। सॉलिसिटर जनरल ने कहा था कि केंद्र सरकार ने इस मामले में समग्र नीति बनाई है और सुप्रीम कोर्ट के सामने चार दिनों में वायु प्रदूषण को रोकने के लिए बनाए जा रहे कानून का ड्राफ्ट पेश कर दिया जाएगा।

Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

किसानों का दिल्ली कूच: फरीदाबाद में पुलिस ने लाठीचार्ज से रोका आंदोलनकारियों को, 2 दर्जन से अधिक लोग हिरासत में; धारा-144 लागू

सीकरी में भी बैरिकेड लगाकर नेशनल हाईवे को एक लाइन खोला था पुलिस ने | Tension in Faridabad; Police lathi-charge on farmers moving towards Delhi; many injured; More than 2 dozen people in custody गणतंत्र दिवस पर किसान आंदोलन फरीदाबाद में उग्र हो गया। यहां दिल्ली की ओर बढ़ रहे किसानों को पुलिस ने सीकरी में बैरिकेड लगाकर रोकने की कोशिश की, लेकिन किसान ट्रैक्टर लेकर जबरन आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे थे तो पुलिस ने लाठियां बरसानी शुरू कर दी

सिर्फ आम प्रजा के लिए। बड़े लोग तो दलीलों को मैनेज कर के बीच जाएंगे। और बड़े लोगों पर तो कार्रवाई भी शायद ही होती है। यह समझ में नहीं आ रहा कि क्या अगर कोई बाहर कूड़ा जलाता हुआ पकड़ा गया तो उसे भी एक करोड़ तक जुर्माना होगा। मतलब सरकार खुद कुछ नहीं करेगी। अरे महाज्ञानियों जुर्माना अपनी जगह ठीक है सिवाय इल्ज़ाम लगाने के तुम भी तो कुछ करो। हरियाली बढ़ाओ, उद्योगों से निकलते हुए प्रदूषण पर नकेल कसो, सिर्फ़ जुर्माने से प्रदूषण कम नहीं होगा

सख्त कानून से ज्यादा जागरूकता चाहिए.हमने सारे अच्छे काम जनहित के लिए दूसरों को सौंप रखे हैं. Nobody thinking about School uniform shopkeeper We didn't earn single penny from March2020 All our Family depends on the shop

देश की सुरक्षा संभालने के अंदाज से रक्षा मंत्री प्रभावित, सेना की तारीफ कीदेश की सुरक्षा संभालने के अंदाज से रक्षा मंत्री प्रभावित, सेना की तारीफ की India IndianArmy DefenceMinIndia adgpi IAF_MCC indiannavy PMOIndia DefenceMinIndia adgpi IAF_MCC indiannavy PMOIndia DefenceMinIndia adgpi IAF_MCC indiannavy PMOIndia Or ardh sainikon ke liye kya kaha DefenceMinIndia rajnathsingh ji ne SSCGD_SEAT_INCREASE_2018 SSCGD_WAITING_LIST_2018 SSCGD_2018_JOINING SSCGD_12Nov_RajghatRally

खड़से के एनसीपी में एंट्री के बाद अब पंकजा मुंडे ने की पवार की तारीफमहाराष्ट्र में एकनाथ खड़से के बीजेपी छोड़ने और एनसीपी का दामन थामने के एक सप्ताह के बाद अब पंकजा मुंडे ने शरद पवार की तारीफ की है. पंकजा मुंडे और फडणवीस के बीच सियासी रिश्ते जगजाहिर हैं. ऐसे में पंकजा मुंडे के एनसीपी प्रमुख शरद पवार की तारीफ करने के राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं? Jao झूठ की मियाद ज्यादा दिन नही होती । Accha h bjp ka kachda saaf ho rha . Ye waise v chikki ghotala me aropi h munde

बिहार चुनाव: वो पांच सीटें, जहां एनडीए और महागठबंधन की महिला प्रत्याशी आमने-सामनेबिहार चुनाव में एनडीए और महागठबंधन ने जिन-जिन महिलाओं को टिकट दिया है, उनमें से महज पांच सीटें ऐसी हैं, जहां दोनों ही गठबंधनों से महिलाएं आमने-सामने हैं. ऐसे में महिला बनाम महिला के बीच होने वाला सियासी संग्राम काफी दिलचस्प हो गया है.

अमेरिका में पुलिस की गोली से एक और अश्वेत व्यक्ति की मौत, हिंसक प्रदर्शन शुरूअमेरिका में पुलिस की गोली से एक और अश्वेत व्यक्ति की मौत, हिंसक प्रदर्शन शुरू realDonaldTrump JoeBiden blackman America realDonaldTrump JoeBiden 😡😩 My Biggest Wish For 2021 Is No Corona No China Products No rape No Murder No Terrorism No Smuggling No Kidnapping No Corruption No Money laundering No Religious violence No Human trafficking No Riots No Fights BAN FAKE NEWS CHANNEL realDonaldTrump JoeBiden इस दौर की सबसे बुरी ख़बर यही है कि बुरा वक़्त अभी अपने शुरूआती दौर में है। realDonaldTrump JoeBiden Kill them

NGO के जरिए टेरर फंडिंग: श्रीनगर और दिल्ली में 9 ठिकानों पर NIA की छापेमारीजम्मू-कश्मीर में टेरर फंडिंग को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की छापेमारी आज भी जारी है. एनजीओ के जरिए टेरर फंडिंग के आरोपों के बाद श्रीनगर और दिल्ली में 9 ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है. jitendra Ek baar obaisi ke yahan bhi NIA ki jaanch honi chahiye..

अमरीका: फ़िलाडेल्फ़िया में काले शख़्स की मौत के बाद आगज़नी और लूटपाट - BBC News हिंदीउग्र प्रदर्शनों को देखते हुए फ़िलाडेल्फ़िया शहर में अतिरिक्त पुलिस बल और नेशनल गार्ड तैनात करने पड़े हैं. Kaale shaks..ye hai BBC Hindi ka standard...Ashwet hota hai. अश्वेत.. काले ही क्यों वहा निशाने बनते हैं,