Jammu Kashmir, Terror Funding Case, Nıa Raid, Ngo, Sri Nagar, Delhi

Jammu Kashmir, Terror Funding Case

NGO के जरिए टेरर फंडिंग: श्रीनगर और दिल्ली में 9 ठिकानों पर NIA की छापेमारी

श्रीनगर और दिल्ली में NIA की छापेमारी | @aajtakjitendra

29-10-2020 06:50:00

श्रीनगर और दिल्ली में NIA की छापेमारी | aajtakjitendra

जम्मू-कश्मीर में टेरर फंडिंग को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की छापेमारी आज भी जारी है. एनजीओ के जरिए टेरर फंडिंग के आरोपों के बाद श्रीनगर और दिल्ली में 9 ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है.

जितेंद्र बहादुर सिंहनई दिल्ली,(अपडेटेड 29 अक्टूबर 2020, 8:50 AM IST)स्टोरी हाइलाइट्सNGO के जरिए टेरर फंडिंग का खुलासाश्रीनगर और दिल्ली में NIA की छापेमारीकल कश्मीर से लेकर बेंगलुरु तक मारे गए थे छापे इससे पहले बुधवार को भी एनआईए की टीम ने छापेमारी की थी.

किसान आंदोलन: दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार को किसानों की 'दो टूक' - BBC News हिंदी कंगना को 'बेवजह अहमियत' दी गई: उर्मिला - BBC News हिंदी फ्रांस में मुसलमानों पर बढ़ता दबाव, इस्लाम को राजनीतिक आंदोलन के तौर पर ख़ारिज करें - BBC News हिंदी

आतंक की फंडिंग करने वाले एनजीओ पर एनआईए ने आईपीसी की धारा 124A यानी राष्ट्रद्रोह के तहत मुकदमा दर्ज किया है. साथ ही एनआईए ने इस पूरे मामले में यूएपीए के तहत भी मामला दर्ज किया है. इसमें यूएपीए कानून की धारा 17,18,22A,22C,38,39 और 40 लगाई गई है.सूत्रों के मुताबिक, एनआईए ने कल जिन एनजीओ पर छापा मारा है, उसमें पाकिस्तान और यूरोपीय देशों से पैसा आया है. एनआईए सूत्रों के मुताबिक, 26/11 के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के एनजीओ फलाह ए इंसानियत (एफआईएफ) के जरिये जम्मू कश्मीर में आए पैसे से स्थानीय लोगों ने देश के कई शहरों में प्रॉपर्टीज भी खरीदीं.

अब एनआईए इन लोगों से पूछताछ करेगी. एनआईए सूत्रों ने जानकारी दी कि देश -विदेशों से बिजनेस,धार्मिक कार्यो और दूसरे सोशल वर्क के नाम पर फंड लेकर टेरर फंडिंग हो रही थी. पाकिस्तान और यूरोपियन देशों से आने वाले पैसे को हवाला चैनल के जरिये कश्मीर में आतंक फैलाने के लिए बड़ी फंडिंग की गई.

देखें: आजतक LIVE TVआपको बता दें कि एनआईए ने बुधवार को जम्मू कश्मीर और बेंगलुरु में 10 जगहों पर एनजीओ के जरिये टेरर फंडिंग के मामले में बड़ा क्रैक डाउन किया था. जिन एनजीओ पर कल छापेमारी हुई थी, वह जेकेसीसीएस, एपीडीपीके, अथरोट और जीके ट्रस्ट शामिल है.एनआईए ने अथरोट नामक एनजीओ के कार्यालय से उसके वित्तीय लेनदेन और गतिविधियों से संबंधित दस्तावेजों को जब्त किया है. जेकेसीसीएस के कोऑर्डिनेटर खुर्रम परवेज के कार्यालय और घर की भी तलाशी ली गई. साथ ही इनके सहयोगी परवेज अहमद बुखारी, परवेज अहमद मटका और बंगलुरु बेस्ट सहयोगी स्वाति सहयाद्री, जो कि कथित मानवाधिकार कार्यकर्ता हैं, उनके ठिकानों पर भी छापेमारी हुई.

और पढो: आज तक »

खबरदार: किसानों का डेरा, दिल्ली पर चौतरफा घेरा

दिल्ली के चारों तरफ किसानों ने डेरा जमा दिया है. किसान संगठन टस से मस नहीं हो रहे. उन्होंने सरकार के ऑफर को भी रिजेक्ट कर दिया है. सरकार चाहती थी कि दिल्ली के बॉर्डर से हटकर किसान संगठन बुराड़ी के ग्राउंड में चले जाएं और वहां पर प्रदर्शन करें, फिर उनकी मांगों पर बातचीत होगी. लेकिन किसान संगठनों ने आज अपनी मीटिंग के बाद सरकार की कोई शर्त मानने से इनकार कर दिया. अगर बातचीत का कोई रास्ता नहीं निकला तो ये सरकार के लिए बड़ी परेशानी भी बन सकता है. देखें खबरदार.

jitendra Ek baar obaisi ke yahan bhi NIA ki jaanch honi chahiye..

बिहार के मुंगेर में दुर्गा विसर्जन के दौरान फायरिंग में एक की मौत, कई घायललिस ने घटनास्थल से तीन हथियार, गोलियां और खोखा भी बरामद किए हैं. घटना के बाद जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक द्वारा घटनास्थल और मुंगेर सदर क्षेत्र का दौरा किया गया. फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण है. दोषियों की पहचान की जा रही है. Many Innocent Children were gunned down, Still 20 young Children are missing by the massacres carried out Till 1am by Bihar Police under a highly corrupt Police Lady Lippi. अगर यही फायरिंग किसी मुसलमानों के तयोहर पर होती तो तुम पर स्टूडियो लगा देते दिन रात एक कर देते हम इतने बड़े सेक्यूलर है, कि दुर्गा माता का नाम तक लिखने से मिलावट हो जाती सेक्यूलरिस्म मे। इतना भी मजबूरी है, बिहार मे चुनाव न होते, देखते भी न। AKTKadmin आप से भी ज़्यादा। shambhav15

सीमा पार से टेरर फंडिंग: कश्‍मीर में स्‍थानीय अखबार और एनजीओ के दफ्तर समेत कई ठिकानों पर NIA का छापाश्रीनगर न्यूज़: एनआईए ने बुधवार सुबह कश्‍मीर में कई ठिकानों पर एक साथ छापे मारे। सीमा पार से होने वाली टेरर फंडिंग (nia terror funding) सिलसिले में यह छापामारी की गई है। अगर आतंकवादी का धर्म नहीं होता तो उसके मरने पर क्यों लाखों की भीड़ याकूब मेमन जैसे अतंकवादी को दफनाने जाती है क्यों कलमा पढ़ा जाता है क्यों नहीं उसको कुत्तों को खिला दिया जाता और पेट्रोल डालकर आग लगा दिया जाता है दोस्तो मुझे फॉलो करके मेरा सच को लड़ाई में साथ दे जय हिन्द

कोरोना के दैनिक मामलों में आई सबसे अधिक गिरावट, एक दिन में सामने आए 36469 मामलेकेंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 36,469 नए मामले सामने

खड़से के एनसीपी में एंट्री के बाद अब पंकजा मुंडे ने की पवार की तारीफमहाराष्ट्र में एकनाथ खड़से के बीजेपी छोड़ने और एनसीपी का दामन थामने के एक सप्ताह के बाद अब पंकजा मुंडे ने शरद पवार की तारीफ की है. पंकजा मुंडे और फडणवीस के बीच सियासी रिश्ते जगजाहिर हैं. ऐसे में पंकजा मुंडे के एनसीपी प्रमुख शरद पवार की तारीफ करने के राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं? Jao झूठ की मियाद ज्यादा दिन नही होती । Accha h bjp ka kachda saaf ho rha . Ye waise v chikki ghotala me aropi h munde

बिहार के इस गांव में लड़कों को बचपन में पहनाते थे फ्रॉक ताकि बची रहे जानचुनाव यात्रा में अकबरपुर पहुंची दी लल्‍लनटॉप की टीम को यहां के युवा और पेशे से टेक्‍निकल कंसल्‍टेंट नीतीश कुमार ने बताया कि बचपन में हमें फ्रॉक पहना कर रखा जाता था, इसलिए हम आज जिंदा है. हम छोटे थे लेकिन आज भी उन दिनों की हल्‍की यादें जेहन में मौजूद हैं. फ्रॉक पहनने से तो और भी ज्यादा खतरा है । Ye sab story bakwas hai pura india gulam tha abhi ap 2020 ki batt kara, Jdu ka motive kya hai Rjd ka ab motive kya hai. Election between yadavtejashwi vs nitish kumar Dont be miss guide.

कतर में 10 विमानों के महिला यात्रियों के प्राइवेट पार्ट की सघन जांच, भड़का ऑस्‍ट्रेलियायूएई न्यूज़: दोहा एयरपोर्ट पर महिला यात्रियों के प्राइवेट पार्ट की जांच से ऑस्‍ट्रेल‍िया भड़क उठा है। ऑस्‍ट्रेल‍िया ने कहा है क‍ि महिला यात्रियों को इसके ल‍िए जबरन मजबूर क‍िया गया है। What the hell UNWomenWatch is doing then? Qatar is a worst country for women safety इसका मूल कारण है इस्लामिक जेहादी ख़्वातीन