China, Australia, America, Britain, ऑकुस, चीन, नया सैन्य समझौता, परमाणु पनडुब्बी, ऑस्ट्रेलिया अमेरिका, सैन्य ताकत, हथियारों की होड़, परमाणु हथियार, लोकतंत्र

China, Australia

'अमेरिका ने पीठ में छुरा भोंका': ऑकुस समझौते पर बोला फ्रांस | DW | 17.09.2021

अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य समझौते को चीन से ही नहीं, पश्चिमी देशों से भी आलोचना झेलनी पड़ रही है.

17-09-2021 10:00:00

चीन का ऑकुस समझौते पर कहना है कि ऐसी साझीदारियां किसी अन्य देश के खिलाफ नहीं होनी चाहिए. ऐसे समझौते इलाके में हथियारों की होड़ को बढ़ावा दे सकते हैं. China Australia America Britain

अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के नए सैन्य समझौते को चीन से ही नहीं, पश्चिमी देशों से भी आलोचना झेलनी पड़ रही है.

चीन ने कहा कि ऐसी साझीदारियां किसी अन्य देश के खिलाफ नहीं होनी चाहिए. उसने कहा कि ऐसे समझौते इलाके में हथियारों की होड़ को बढ़ावा दे सकते हैं.क्या है नया समझौता?इस समझौते के कारण फ्रांस का ऑस्ट्रेलिया के साथ संभावित पनडुब्बी खरीद समझौता भी खतरे में पड़ गया है. फ्रांस ने इस समझौते को क्रूर और अप्रत्याशित बताया.

Petrol-Diesel Price : तीन हफ्ते में पेट्रोल लगभग 5 रुपये और डीजल 6 रुपये तक हुआ है महंगा, देखें ताजा रेट आगरा के थाने से 25 लाख रुपये की चोरी, चाय पीने गया था ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी बांग्लादेश में पूजा मंडपों पर हमला: हिन्दुओं में विश्वास का कितना संकट पैदा कर रहा है? - BBC News हिंदी

अमेरिका और उसके सहयोगी चीन के बढ़ते प्रभाव का मुकाबला करने के लिए विभिन्न कदम उठा रहे हैं. चीन की बढ़ती सैन्य ताकत, ताईवान पर उसका प्रभाव और दक्षिणी चीन सागर में उसकी सैन्य तैनाती इन कदमों के केंद्र में हैं.अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और युनाइटेड किंग्डम ने मिलकर एक नया रक्षा समूह बनाया है जो विशेषकर हिंद-प्रशांत क्षेत्र पर केंद्रित होगा. इस समूह के समझौते के तहत अमेरिका और ब्रिटेन अपनी परमाणु शक्तिसंपन्न पनडुब्बियों की तकनीक ऑस्ट्रेलिया के साथ साझा करेंगे. इस कदम को क्षेत्र में चीन की बढ़ती सक्रियता के बरअक्स देखा जा रहा है.

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ ऑनलाइन बैठक की. बैठक के बाद तीनों नेताओं ने नए गठबंधन का ऐलान एक वीडियो के जरिए किया.चीन का विरोधवैसे तीने नेताओं ने ऐलान के वक्त चीन का नाम नहीं लिया लेकिन चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जाओ लीजियांग ने कहा कि ये तीनों देश"क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को गंभीर नुकसान पहुंचा रहे हैं, हथियारों की होड़ बढ़ा रहे हैं और परमाणु हथियार अप्रसार की अंतरराष्ट्रीय कोशिशों को नुकसान पहुंचा रहे हैं.” headtopics.com

तस्वीरेंः बढ़ रहे हैं परमाणु हथियारबढ़ रही है दुनिया में परमाणु हथियारों की संख्याशीत युद्ध के बादशोधकर्ताओं ने कहा है कि शीत युद्ध के अंत के बाद से 1990 के बाद के दशकों में परमाणु हथियारों की संख्या में लगातार कमी आ रही थी, लेकिन अब यह स्थिति बदल रही है. यह कहना है स्वीडन के संस्थान सिपरी में एसोसिएट सीनियर फेलो हांस क्रिस्टेनसेन का.

बढ़ रही है दुनिया में परमाणु हथियारों की संख्याहथियारों का खतरा कामक्रिस्टेनसेन के अनुसार यह स्थिति शीत युद्ध के समय कहीं ज्यादा गंभीर थी. 1986 में दुनिया में 70,000 से भी ज्यादा परमाणु हथियारों के होने का अनुमान था.बढ़ रही है दुनिया में परमाणु हथियारों की संख्या

आज कितने हैं हथियारइस समय परमाणु हथियारों वाले नौ देश हैं - अमेरिका, रूस, यूके, फ्रांस, चीन, भारत, पाकिस्तान और उत्तर कोरिया. सिपरी के मुताबिक 2021 में इनके पास कुल मिलाकर 13,080 हथियार हैं. संस्थान के मुताबिक पिछले साल इन देशों के पास कुल 13,400 हथियार थे.

बढ़ रही है दुनिया में परमाणु हथियारों की संख्याअसल में गिरावट नहींसिपरी का कहना है कि यह असल में संख्या में गिरावट नहीं है, क्योंकि इन हथियारों में पुराने वॉरहेड भी हैं जिन्हें नष्ट कर दिया जाना है. अगर इन्हें गिनती से बाहर कर दिया जाए, तो परमाणु हथियारों की कुल संख्या एक साल में 9,380 से बढ़ कर 9,620 हो गई है. headtopics.com

रोटी, कपड़ा और 'काम तमाम'! गरीबी जीने नहीं देती... आतंकवाद रहने नहीं देता वारदात: अब जेल में ही कटेगी Ram Rahim की सारी जिंदगी, तीसरी बार उम्र कैद आतंकियों की खैर नहीं! J-K जा रहे अमित शाह, हालात पर गृह मंत्रालय की पैनी नजर

बढ़ रही है दुनिया में परमाणु हथियारों की संख्यातैनात हथियार भी बढ़ेसिपरी के मुताबिक अलग अलग सेनाओं के पास तैनात परमाणु हथियारों की संख्या भी एक साल में 3,720 से बढ़ कर 3,825 हो गई. इनमें से करीब 2,000 हथियार"इस्तेमाल किए जाने की उच्च अवस्था" में रखे गए हैं, यानी ऐसी अवस्था में कि जरूरत पड़ने पर उन्हें कुछ ही मिनटों में चलाया जा सके.

बढ़ रही है दुनिया में परमाणु हथियारों की संख्याआधुनिकीकरणहांस क्रिस्टेनसेन का कहना है कि इस समय पूरी दुनिया में काफी महत्वपूर्ण पैमाने पर परमाणु कार्यक्रमों का आधुनिकीकरण हो रहा है और परमाणु हथियारों वाले देश अपनी सैन्य रणनीतियों में परमाणु हथियारों का महत्व बढ़ा रहे हैं.

बढ़ रही है दुनिया में परमाणु हथियारों की संख्यारूस और अमेरिका की भूमिकारूस और अमेरिका के पास दुनिया के कुल परमाणु हथियारों का 90 प्रतिशत से भी ज्यादा भंडार है. क्रिस्टेनसेन का कहना है दोनों ही देश परमाणु हथियारों को ज्यादा महत्व दे रहे हैं. उनका मानना है कि पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप इसी रणनीति को आगे बढ़ा रहे थे और नए राष्ट्रपति जो बाइडेन भी काफी स्पष्ट रूप से संदेश दे रहे हैं कि वो भी इसे जारी रखेंगे.

बढ़ रही है दुनिया में परमाणु हथियारों की संख्यातैयार हथियारअमेरिका और रूस दोनों पुराने वॉरहेड को लगातार हटा रहे हैं लेकिन दोनों के पास पिछले साल के मुकाबले करीब 50 और हथियार हैं जो 2021 की शुरुआत में"क्रियाशील तैनाती" की अवस्था में थे. - एएफपी headtopics.com

लीजियांग ने बीजिंग में एक प्रेस वार्ता में कहा,"चीन का हमेशा यह मानना है कि किसी भी क्षेत्रीय रचनातंत्र को शांति और विकास की स्थिति को आगे बढ़ाने वाला होना चाहिए. उसे ऐसा होना चाहिए आपसी सहयोग और भरोसा बढ़ाए. इसे किसी तीसरे पक्ष को निशाना नहीं बनाना चाहिए और उसके हितों के लिए नुकसानदायक नहीं होना चाहिए.”

ब्रिटेन ने ऐसी चिंताओं को बेवजह बताते हुए कहा है कि यह समझौता किसी के खिलाफ नहीं है और ब्रिटेन की अगली पीढ़ी की परमाणु पनडुब्बियों के निर्माण की कीमत कम करेगा.ब्रिटिश संसद में प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा,"अब जबकि हमने आकुस (AUKUS) बना लिया है, तो हम उम्मीद कर सकते हैं कि अन्य आधुनिक रक्षा प्रणालियां जैसे साइबर, आर्टिफिशल इंटेलिजेंस, क्वॉन्टम कंप्यूटिंग और समुद्र के भीतर की क्षमताओं का विकास करने के काम में तेजी आएगी.”

स्पेशल रिपोर्ट: आखिर आतंकियों ने क्यो बदल ली Kashmir में 'Terror-Toolkit'? जम्मू-कश्मीर में भारी निवेश करेगा दुबई, भारत के साथ मेगा डील साइन बचाव: आर्यन खान के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए शिवसेना पहुंची सुप्रीम कोर्ट

फ्रांस को नुकसाननए समझौते के तहत अमेरिका परमाणु ऊर्जा से चलने वाली पनडुब्बी बनाने की तकनीक ऑस्ट्रेलिया को देगा जिसके आधार पर ऐडिलेड में नई पनडुब्बियों का निर्माण होगा. ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के एक प्रवक्ता ने बताया कि नए समझौते के चलते फ्रांस की जहाज बनाने वाली कंपनी नेवल ग्रुप का ऑस्ट्रेलिया के साथ हुआ समझौता खत्म हो गया है.

नेवल ग्रुप ने 2016 में ऑस्ट्रेलिया के साथ समझौता किया था जिसके तहत 40 अरब डॉलर की कीमत की पनडुब्बियों का निर्माण होना था, जो ऑस्ट्रेलिया की दो दशक पुरानी कॉलिन्स पनडुब्बियों की जगह लेतीं. और पढो: DW Hindi »

सियासी बवाल के बीच राहुल गांधी का दिल्ली से लखीमपुर का सफर, देखें टाइमलाइन

लखीमपुर खीरी में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत के बाद का विवाद अबतक शांत नहीं हुआ है. लखनऊ एयरपोर्ट पर धरने के बाद आखिरकार राहुल गांधी को वहां से बाहर निकलने दिया गया है. एयरपोर्ट पर राहुल अपनी गाड़ी से जाएंगे या प्रशासन की गाड़ियों से इस पर विवाद हुआ था. अब राहुल गांधी और प्रियंका गांधी सीतापुर से लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हुए और लखीमपुर में मृतक किसानों के परिवार से मिलने पहुंच चुके हैं. देखें राहुल गांधी के दिल्ली से लखीमपुर के सफर की पूरी टाइमलाइन.

चीन ने अमेरिका-ब्रिटेन-ऑस्ट्रेलिया के ऑकस समझौते को बताया ग़ैर-ज़िम्मेदाराना - BBC Hindiऑकस यानी ऑस्टेलिया, यूके और यूएस. इन तीनों देशों के बीच हुए इस रक्षा समझौते को 'ऑकस' नाम दिया गया है. इसमें आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस, क्वांटम टेक्नोलॉजी और साइबर साझेदारी भी शामिल है.

अमेरिका-ब्रिटेन-ऑस्ट्रेलिया के रक्षा समझौते से क्यों है यूरोप में नाराज़गी? - BBC Hindiअमेरिका-ब्रिटेन-ऑस्ट्रेलिया रक्षा समझौते से सिर्फ़ चीन ही नाराज़ नहीं है. फ्रांस और यूरोपीय संघ ने भी इस सैन्य-गठबंधन को लेकर नाराज़गी जतायी है. मेरा PM मेरा अभिमान 🚩🚩 Afgan pe ab taliban ka kabza hai ab bolke kya faida aur taliban ke sath chin pak hai rus se baat kar hi chuka hai taliban ab kuch nahi ho sakta ha taliban ko sahi rashte pe lane ki koshis ho sakti hai baat chit se 😂😂😂😂😂

ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका पर बुरा भड़का फ्रांस, कहा- पीठ में छुरा भोंका हैऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा है कि उन्होंने अमेरिकी परमाणु सबमरीन में निवेश करने और फ्रांस के साथ हुए डीजल-इलेक्ट्रिक सबमरीन्स अनुबंध से अलग होने का फैसला किया है. मॉरिसन ने कहा कि उन्होंने यह फैसला बदले रणनीतिक माहौल के कारण लिया है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने बुधवार को ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन के साथ नए सुरक्षा समझौते की घोषणा की है. उत्तर प्रदेश सरकार से रिक्वेस्ट है कृपया करके इंटरनेशनल फ्लाइट चालू करवाएं बनारस में पर्यटक ना आने की वजह से काफी ज्यादा घाटा हो रहा है जनता को कृपया करके इस मुद्दे को सॉल्व करें मेरे उत्तर प्रदेश सरकार पीएम सर विश्व में भारत जैसा देश नहीं जो मानवता, जनतंत्र, शांति चाहता है। फितरत ही ऐसी ही

France Australia Tension: 'ऑस्ट्रेलिया ने पीठ में छुरा घोंपा', अमेरिका से परमाणु पनडुब्बी डील पर भड़का फ्रांस, बोला- ट्रंप की याद आईफ्रांस के विदेश मंत्री जीन-यवेस ले ड्रियन ने गुरुवार सुबह फ्रांसइन्फो को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि यह हमारी पीठ में छुरा घोंपने की तरह है। हमने ऑस्ट्रेलिया के साथ एक भरोसेमंद संबंध स्थापित किया था और उन्होंने हमारे विश्वास के साथ विश्वासघात किया। The Australians just laughed at the French.Although France itself has not always fulfilled its obligations.Everything in this world comes back like a boomerang.

‘लोगों की जानें बचाने को’ दिल्ली ने लगाया पटाखों पर प्रतिबंध | DW | 17.09.2021दिल्ली सरकार ने पटाखों के भंडारण, इस्तेमाल और बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है. दीवाली के त्योहार के दौरान प्रदूषण को बढ़ने से रोकने के मद्देनजर यह फैसला किया गया है. मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर यह जानकारी दी. सराहनीय निर्णय CM श्री ArvindKejriwal का ,वैसे भी पटाखे दिवाली उत्सव के लिए मूल-भूत आवश्यकता नही हैं लेकिन पटाखों से रोज़िरोटी कमाने वालों के जीविका का उचित भी प्रबंधन करे सरकार,साथ ही पटाखों के अन्य उत्सवों एवं उत्साहों में भी प्रयोग पर प्रतिबंध सुनिश्चित करें 🙏🏻 🇮🇳

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन ने किया नया सैन्य समझौता | DW | 16.09.2021अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन ने एक नया समझौता किया है जिसके तहत ऑस्ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्बी बनाने की तकनीक मिलेगी. अपने पड़ोस में हुए इस समझौते को चीन ने 'शीत युद्ध वाली सोच' बताया है.