अमेरिका-ब्रिटेन-ऑस्ट्रेलिया के रक्षा समझौते से क्यों है यूरोप में नाराज़गी? - BBC Hindi

अमेरिका-ब्रिटेन-ऑस्ट्रेलिया के रक्षा समझौते से क्यों है यूरोप में नाराज़गी?

17-09-2021 11:09:00

अमेरिका-ब्रिटेन-ऑस्ट्रेलिया के रक्षा समझौते से क्यों है यूरोप में नाराज़गी?

अमेरिका-ब्रिटेन-ऑस्ट्रेलिया रक्षा समझौते से सिर्फ़ चीन ही नाराज़ नहीं है. फ्रांस और यूरोपीय संघ ने भी इस सैन्य-गठबंधन को लेकर नाराज़गी जतायी है.

4:42भारत में सरकार के निशाने पर आलोचक, कार्यकर्ता और पत्रकार: ह्यूमन राइट्स वॉचGetty ImagesCopyright: Getty Imagesमानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा है कि भारतीय अधिकारी मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, पत्रकारों और सरकार के आलोचकों को चुप कराने के लिए कर चोरी और वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों का इस्तेमाल कर रहे हैं.

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा स्थल पर क़ुरान रखने वाले की पहचान हुई - BBC News हिंदी भारत से मैच से पहले अपनों के ही निशाने पर आई पाकिस्तानी टीम - BBC News हिंदी इसराइली पीएम बेनेट नेफ़्टाली ने कहा- 'वी लव इंडिया' तो जयशंकर ने दिया ये जवाब - BBC News हिंदी

सितंबर 2021 में सरकारी वित्तीय अधिकारियों ने श्रीनगर, दिल्ली और मुंबई में कई जगहों पर छापेमारी की. जिसमें पत्रकार, एक अभिनेता और एक मानवाधिकार कार्यकर्ता के घर और कार्यालय पर छापेमारी शामिल है.ह्यूमन राइट्स वॉच का कहना है कि छापेमारी की ये कार्रवाई राजनीति से प्रेरित हैं. ये छापेमारी भी केंद्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद से अभिव्यक्ति की आज़ादी, शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर की जा रही कार्यवाही का ही एक हिस्सा है.

"इस क्रम में राजनीति से प्रेरित कई आपराधिक मामले भी शामिल हैं जिसमें कार्यकर्ताओं, पत्रकारों, शिक्षाविदों, छात्रों और अन्य के ख़िलाफ़ राजद्रोह तक का मुक़दमा दर्ज किया गया है. आलोचकों और मुखर समूहों को निशाना बनाने के लिए विदेशी फंडिंग नियमों और वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों का भी इस्तेमाल किया गया है." headtopics.com

ह्यूमन राइट्स वॉच की दक्षिण एशिया निदेशक मीनाक्षी गांगुली ने कहा,"भारत सरकार की छापेमारी आलोचकों को परेशान करने और डराने-धमकाने के इरादे से की गई लगती है. यह आलोचकों को चुप कराने की कोशिश के एक पैटर्न को दर्शाती है."वह कहती हैं"ये भारत के मूल लोकतांत्रिक संस्थानों को कमज़ोर करती हैं और मौलिक स्वतंत्रता को भी."

Getty ImagesCopyright: Getty Imagesएडिटर्स गिल्ड और प्रेस क्लब ऑफ इंडिया जैसे पत्रकार संगठनों ने बार-बार मीडिया की स्वतंत्रता पर हमले ना करने का आह्वान करते हुए कहा है कि यह प्रेस की स्वतंत्रता पर एक खुला हमला है.सबसे हालिया घटना में 16 सितंबर को प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने वित्तीय और प्रशासनिक अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए दिल्ली में एक कार्यकर्ता हर्ष मंदर के घर और कार्यालय पर छापेमारी की.

छापेमारी के समय मंदर एक फेलोशिप के लिए जर्मनी में थे. कार्यकर्ताओं, शिक्षाविदों और पूर्व सिविल सेवकों ने छापे की निंदा की है.इससे पूर्व 16 सितंबर को अभिनेता सोनू सूद से जुड़े मुंबई के परिसर और कुछ अन्य जगहों पर इनकम टैक्स के अधिकारी पहुंचे थे.facebook

Copyright: facebookपीटीआई ने अधिकारियों के हवाले से बताया था कि आयकर विभाग 'एक रियल एस्टेट सौदे की जांच कर रहा है.'इससे पूर्व 8 सितंबर को जम्मू और कश्मीर में पुलिस ने चार कश्मीरी पत्रकारों - हिलाल मीर, शाह अब्बास, शौकत मोट्टा और अज़हर कादरी के घरों पर छापा मारा था और उनके फोन और लैपटॉप जब्त कर लिए थे. headtopics.com

भारत की नई उपलब्धि, कोरोना वैक्सीन का 100 करोड़ का आंकड़ा पार Prime Time With Ravish Kumar: किसान आंदोलन -Court में सुनवाई, सरकार कहां गई? लाइफ में पहली बार असली जेल पहुंचे शाहरुख: कांच की दीवार के पीछे खड़े बेटे से शाहरुख खान की हुई बात, दोनों हुए भावुक

10 सितंबर को आयकर विभाग ने कथित कर चोरी की जांच के तहत न्यूज़लॉन्ड्री और न्यूज़क्लिक के कार्यालयों पर छापा मारा था.मानवाधिकारों के लिए संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त और विभिन्न संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने पिछले कुछ सालों में नागरिकों के कम होते अधिकार क्षेत्र और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, आलोचकों के बढ़ते उत्पीड़न पर चिंता ज़ाहिर की है.

और पढो: BBC News Hindi »

क्या कैप्टन अमरिंदर किसानों के साथ सरकार की ओर से मध्यस्थता करेंगे? देखें हल्ला बोल

कैप्टन का प्लान किसान! पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी सियासत को किसानों के रास्ते आगे बढ़ाने का मन बनाया है. कैप्टन ने अपनी नई पार्टी बनाने का ऐलान किया है लेकिन लिखा है कि अगर किसानों की समस्या का हल निकलता है तो वो बीजेपी के साथ गंठबंधन करेंगे. माना जा रहा है कि वो किसान समस्या को लेकर सरकार और किसानों के बीच मध्यस्थता करेंगे. कैप्टन ने अपनी नई पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है. साथ ही किसानों की समस्या का समाधान ढूंढने और बीजेपी के साथ गठबंधन की कवायद भी शुरु कर दी है. पंजाब के पूर्व सीएम ने ट्वीट किया कि अगर किसानों के हित में किसान आंदोलन का हल निकाला जाता है तो 2022 में पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए सिटिंग अरेंजमेंट को लेकर उम्मीद की जा सकती है. तो क्या बीजेपी कैप्टन अमरिंदर सिंह की मदद से किसान आंदोलन का हल ढूंढने की कोशिश कर रही है. क्या कैप्टन अमरिंदर किसानों के साथ सरकार की ओर से मध्यस्थता करेंगे. देखें हल्ला बोल का ये एपिसोड.

योरोप हो रहा भारत तरह दिनदिन असुरक्षित! और ताकत दूर शिफ्ट हो रही!! 😂😂😂😂😂 Afgan pe ab taliban ka kabza hai ab bolke kya faida aur taliban ke sath chin pak hai rus se baat kar hi chuka hai taliban ab kuch nahi ho sakta ha taliban ko sahi rashte pe lane ki koshis ho sakti hai baat chit se मेरा PM मेरा अभिमान 🚩🚩

ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका पर बुरा भड़का फ्रांस, कहा- पीठ में छुरा भोंका हैऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा है कि उन्होंने अमेरिकी परमाणु सबमरीन में निवेश करने और फ्रांस के साथ हुए डीजल-इलेक्ट्रिक सबमरीन्स अनुबंध से अलग होने का फैसला किया है. मॉरिसन ने कहा कि उन्होंने यह फैसला बदले रणनीतिक माहौल के कारण लिया है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने बुधवार को ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन के साथ नए सुरक्षा समझौते की घोषणा की है. उत्तर प्रदेश सरकार से रिक्वेस्ट है कृपया करके इंटरनेशनल फ्लाइट चालू करवाएं बनारस में पर्यटक ना आने की वजह से काफी ज्यादा घाटा हो रहा है जनता को कृपया करके इस मुद्दे को सॉल्व करें मेरे उत्तर प्रदेश सरकार पीएम सर विश्व में भारत जैसा देश नहीं जो मानवता, जनतंत्र, शांति चाहता है। फितरत ही ऐसी ही

अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ ऑकस समझौता क्या है, जिसे लेकर चीन नाराज़ है - BBC News हिंदीअमेरिका-ब्रिटेन-ऑस्ट्रेलिया के गठबंधन के बाद जहां चीन ने ऑस्ट्रेलिया को 'विरोधी' की श्रेणी में रख दिया है वहीं फ्रांस ने भी नाराज़गी ज़ाहिर है.

अंतरराष्ट्रीय यात्रा का नया सिस्टम बना रहा है अमेरिका | DW | 16.09.2021अमेरिका अंतरराष्ट्रीय यात्राओं की नई व्यवस्था तैयार कर रहा है. इस व्यवस्था में लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग को संभव बनाया जाएगा. फिलहाल ज्यादातर देशों के साथ अमेरिका ने सीमाएं बंद कर रखी हैं.

Weight Gain With Age: कभी सोचा है, उम्र बढ़ने के साथ क्यों बढ़ने लगता है वज़न?Weight Gain With Age आप चाहे अब भी उतना ही खा रहे हों या उतना ही वर्कआउट कर रहे हों लेकिन फिर भी पहले के मुकाबले आपका वज़न तेज़ी से और आसानी से बढ़ता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ऐसा क्यों होता है?

पुतिन का पाकिस्तान प्रेम वाक़ई बढ़ रहा है या मुद्दा भारत है? - BBC News हिंदीव्लादिमीर पुतिन पिछले 20 सालों से रूस की सत्ता पर क़ाबिज हैं, लेकिन वो कभी पाकिस्तान नहीं गए. रूस का कोई भी राष्ट्रपति आज तक पाकिस्तान नहीं गया. रूस जब सोवियत संघ का हिस्सा था तब भी किसी राष्ट्रपति का पाकिस्तान दौरा नहीं हुआ. साहब का अमेरिका इज़राइल प्रेम है !!

असदुद्दीन ओवैसी की PM Modi को ‘ललकारा’, बोले- दम है तो तालिबान को आतंकी घोषित करेंOwaisi on Taliban and PM Modi: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि नरेंद्र मोदी की सरकार में दम है, तो तालि...