Madhyapradesh, Jyotiradityascindia, Scindia Reviewed Plans İn Gwalior, Former Union Minister Jyotiraditya Scindia, Bjp Leader Lokendra Parashar Says That Madhya Pradesh Has Democracy, But Gwalior Has Monarchy, Scindia Reviewed Plans Bjp Asked İn What Capacity Did Meeting Take Place

Madhyapradesh, Jyotiradityascindia

सिंधिया ने की योजनाओं की समीक्षा, भाजपा ने पूछा-किस हैसियत से ली बैठक

सिंधिया ने की योजनाओं की समीक्षा, भाजपा ने पूछा-किस हैसियत से ली बैठक #MadhyaPradesh #JyotiradityaScindia

20.11.2019

सिंधिया ने की योजनाओं की समीक्षा, भाजपा ने पूछा-किस हैसियत से ली बैठक MadhyaPradesh JyotiradityaScindia

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शहर में चल रहे विकास कार्यो प्रस्तावित और लंबित योजनाओं की समीक्षा की।

बुधवार को कलेक्ट्रेट में बैठक का आयोजन किया गया था, जिसमें खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रघुम्न सिंह तोमर, महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी, विधायक मुन्नालाल गोयल, विधायक प्रवीण पाठक, कलेक्टर अनुराग चौधरी, एसपी नवनीत भसीन, निगमायुक्त संदीप माकिन आदि मौजूद रहे। इस बैठक में सिंधिया भी शामिल हुए।

भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि भारत में प्रजातंत्र है, शायद मध्य प्रदेश में भी प्रजातंत्र है, लेकिन ग्वालियर में आज भी राजतंत्र है। इसीलिए महाराजा (ज्योतिरादित्य सिंधिया) जिले के कलेक्टर, एसपी सहित अधिकारियों और सूबे के वजीरों को हुक्म फरमा रहे हैं। पाराशर ने कहा कि जब वह न सांसद है, न विधायक, न पार्षद तो किस हैसियत से बैठक ले रहे।

और पढो: Dainik jagran

जिस हैसियत से आर एस एस केन्द्रीय कैबिनेट द्वारा लिया गया निर्णय का समीक्षा करता है। olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe olachorhe

गृह मंत्रालय ने MLA की भारतीय नागरिकता की रद्द, भाजपा सांसद ने साधा निशानातेलंगाना के जिस विधायक की भारतीय नागरिकता छीनी गई है, उनका नाम रमेश चेन्नामनेनी है और वह तेलंगाना राष्ट्र समिति के टिकट पर विधायक चुने गए थे।

Railway | MP : रेलवे की बड़ी लापरवाही, गायब की ट्रेन की बोगी, यात्रियों ने किया हंगामाकटनी। मध्यप्रदेश के कटनी में रेलवे की एक लापरवाही का बड़ा मामला सामने आया है। इसमें जबलपुर से चलकर दिल्ली की ओर जाने वाली महाकोशल एक्सप्रेस ट्रेन की बोगियों में से एस-11 बोगी गायब हो गई। इतना ही नहीं, रेलवे द्वारा यात्रियों को एस-11 बोगी की रिजर्वेशन की टिकट भी दी गई थी। रिजर्वेशन की टिकट लेकर यात्री परेशान होते रहे। परेशान यात्रियों ने कटनी स्टेशन पर हंगामा किया। करीब 20 मिनट तक चेन पुलिंग कर ट्रेन रुकी रही।

TMC सांसद नुसरत की हालत में सुधार, परिवार ने खारिज की ड्रग्स ओवरडोज की अफवाहबांग्ला एक्ट्रेस और तृणमूल कांग्रेस (TMC) की सांसद नुसरत जहां (Nusrat Jahan) के भर्ती होने के बाद कई अफवाहें चल पड़ी थीं. कुछ लोगों का कहना था कि ड्रग्स ओवरडोज के चलते उन्हें अस्पताल ले जाया गया है, तो वहीं कुछ कह रहे थे अधिक मात्रा में नींद की गोलियां खाने से उनकी हालत खराब हुई. | entertainment News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

छह महीने में बाबा रामदेव की पतंजलि ने की ₹3,562 करोड़ की बंपर कमाई!उत्तराखंड के हरिद्वार में स्थित पतंजलि आयुर्वेद (Baba Ramdev Patanjali Ayurved) को वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही यानी अप्रैल-जून के दौरान 1,793 करोड़ रुपये की आय हुई है.वहीं, जुलाई-सितंबर तिमाही में कंपनी की आमदनी 1769 करोड़ रुपये रही है.पिछले साल 2018 की अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी की आमदनी 937 करोड़ रुपये थी. | business News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी और अगले छह महीनों में इसका डब्बा गोल हो जाएगा। बधाई हो बाबा Very good , its better than foreign companies

राज्यसभा में कांग्रेस ने की गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा बहाल करने की मांगभाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि ऐसे फैसले गृह मंत्रालय की एक विशेष समिति खतरों की आशंका पर गौर करते हुए करती है। उन्होंने कहा कि लोगों को लिट्टे से खतरा था लेकिन अब लिट्टे समाप्त हो गया है।

BHU विवाद: इन मुस्लिम विद्वानों ने खूब बढ़-चढ़कर की संस्कृत की सेवाबनारस हिंदू विश्वविद्यालय (Banaras Hindu University) के संस्कृत विभाग (Sanskrit Department) के एक मुस्लिम प्रोफेसर (Muslim Professor) को लेकर बवाल मचा हुआ है. डिपार्टमेंट के छात्रों का तर्क है हमारा धर्मविज्ञान किसी दूसरे धर्म का व्यक्ति कैसे पढ़ा सकता है? बीएचयू के इन छात्रों के तर्कों से अलग हटकर देखा जाए तो पता चलता है कि मुस्लिम धर्म ने कई ऐसे विद्वान दिए हैं जिन्होंने संस्कृत की सेवा बड़े मन से की है. | knowledge News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी संस्कृत कोई भी पढ़ा सकता है,पंरतु वेद और कर्म काण्ड व पूजा पद्धति का ज्ञान सिर्फ हिंदू ही दे सकता है। बात भाषा को पडाने की नही है। मीडिया झूठ फैला रहा है। कृपया ये पडने के बाद सोचे की सही क्या है और गलत क्या है अन्यथा, संस्कृत का सामान्य अध्ययन ही उद्देश्य होता तो एक ही विश्वविद्यालय मे धर्म-विज्ञान संकाय से पृथक् कला संकाय मे भी संस्कृत विभाग की स्थापना मालवीयजी द्वारा क्यों होती? अतः जिनको धर्म-विज्ञान (Theology) संकाय की वास्तविकता का ज्ञान नहीं है,

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

21 नवम्बर 2019, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

रात में परमाणु आयुध ले जाने में सक्षम पृथ्वी-2 का परीक्षण, भारत की बढ़ी मारक क्षमता

अगली खबर

अब तक के सबसे बड़े निजीकरण को मंजूरी, भारत पेट्रोलियम सहित पांच कंपनियों की हिस्सेदारी बेचेगी सरकार