Jamalkhashoggi, Jamal Khashoggi, Jamal Khashoggi Famil, Salah Khashoggi, Saudi Arab, Jamal Khashoggi Murder, Crown Prince, जमाल खशोगी, सलाहा खशोगी, सऊदी अरब, World News İn Hindi, World Hindi News

Jamalkhashoggi, Jamal Khashoggi

सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी के बेटे ने पिता के कातिलों को किया माफ

सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी के बेटे ने पिता के कातिलों को किया माफ #JamalKhashoggi

22-05-2020 19:57:00

सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी के बेटे ने पिता के कातिलों को किया माफ JamalKhashoggi

सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी के बेटे सलाहा खशोगी ने शुक्रवार को अपने पिता के कातिलों को माफ करने का एलान किया।

सलाहा ने ट्विटर पर लिखा, 'हम शहीद जमाल खशोगी के बेटे, हम उन लोगों को माफ करने का एलान करते हैं, जिन्होंने हमारे पिता को मार दिया।' बता दें कि तुर्की के सऊदी दूतावास में पत्रकार खशोगी की दो अक्तूबर 2018 को हत्या कर दी गई थी जिसकी उंगली सीधे क्राउन प्रिंस मोहम्मब बिन सलमान पर उठी थी। हत्याकांड में 11 लोग दोषी पाए गए थे, जिनमें से पांच को फांसी की सजा सुनाई गई थी। कभी सऊदी के शाही परिवार का हिस्सा रहे जमाल खशोगी उसी के आलोचक हो गए थे।

अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की मौत, वजह पता नहीं अहमदाबाद से बिहार लौटी महिला की स्टेशन पर मौत, बच्चे की कोशिश देखिए नक्‍शा विवाद: नेपाल ने पहले दिखाई आंख, फिर खींचे कदम, ये है वजह - trending clicks AajTak

इस्तांबुल की राजधानी में स्थित सऊदी के दूतावास में हुई थी हत्यासऊदी अरब के जाने-माने पत्रकार और क्राउन प्रिंस के आलोचक जमाल खशोगी जो अक्तूबर 2018 को तुर्की की राजधानी इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के दूतावास गए थे। यहां वह अपनी मंगेतर हैटिस कैंगिज से शादी करने के लिए कुछ कागजी कार्रवाई करने गए थे। इसके बाद उनका कुछ पता नहीं चला। इस मामले में सऊदी ने पहले यह कहा था कि वह दूतावास से जिंदा बाहर निकले थे लेकिन बाद में माना था कि उनकी हत्या कर दी गई थी और 11 लोगों पर इसका आरोप लगाया था।

वाशिंगटन पोस्ट ने प्रकाशित किया था खशोगी का अंतिम कॉलमवाशिंगटन पोस्ट ने खशोगी का अंतिम कॉलम प्रकाशित किया था। इसमें खशोगी ने लिखा, ‘अरब जगत एक प्रकार से अपनी ही बनाई लोहे की दीवार का सामना कर रहा है जो किसी बाहरी ने नहीं बल्कि सत्ता की लालसा रखने वाली आंतरिक ताकतों ने बनाई है। अरब जगत को पुराने अंतरराष्ट्रीय मीडिया के नए संस्करण की आवश्यकता है ताकि नागरिकों को वैश्विक घटनाक्रमों की जानकारी मिल सके। हमें अरब की आवाजों को मंच उपलब्ध कराने की आवश्यकता है।’

इस मामले में मौत की सजा पाए पांच लोगों को अब सजा में कुछ ढील दी जा सकती है, हालांकि अभी इस पर संशय बरकरार है। खशोगी के परिवार ने शुक्रवार को इसकी घोषणा की कि उन्होंने कातिलों को माफ कर दिया है। सलाहा ने पिता की हत्या के दोषी पांच सरकारी एजेंटों को कानूनी तौर पर माफी दी है। इन पांचों को फांसी की सजा सुनाई गई है।

विज्ञापनसलाहा ने ट्विटर पर लिखा, 'हम शहीद जमाल खशोगी के बेटे, हम उन लोगों को माफ करने का एलान करते हैं, जिन्होंने हमारे पिता को मार दिया।' बता दें कि तुर्की के सऊदी दूतावास में पत्रकार खशोगी की दो अक्तूबर 2018 को हत्या कर दी गई थी जिसकी उंगली सीधे क्राउन प्रिंस मोहम्मब बिन सलमान पर उठी थी। हत्याकांड में 11 लोग दोषी पाए गए थे, जिनमें से पांच को फांसी की सजा सुनाई गई थी। कभी सऊदी के शाही परिवार का हिस्सा रहे जमाल खशोगी उसी के आलोचक हो गए थे।

इस्तांबुल की राजधानी में स्थित सऊदी के दूतावास में हुई थी हत्यासऊदी अरब के जाने-माने पत्रकार और क्राउन प्रिंस के आलोचक जमाल खशोगी जो अक्तूबर 2018 को तुर्की की राजधानी इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के दूतावास गए थे। यहां वह अपनी मंगेतर हैटिस कैंगिज से शादी करने के लिए कुछ कागजी कार्रवाई करने गए थे। इसके बाद उनका कुछ पता नहीं चला। इस मामले में सऊदी ने पहले यह कहा था कि वह दूतावास से जिंदा बाहर निकले थे लेकिन बाद में माना था कि उनकी हत्या कर दी गई थी और 11 लोगों पर इसका आरोप लगाया था।

वाशिंगटन पोस्ट ने प्रकाशित किया था खशोगी का अंतिम कॉलम और पढो: Amar Ujala »

कमजोर व्यक्ति तो 1 दिन हारना ही पड़ता है इस समय इस पत्रकार का बेटा एक कमजोर व्यक्ति है वह चाह कर भी बदला नहीं ले सकता इसलिए वह तस्वीर का दूसरा पहलू यानी माफ करने के विचार पर ना सहमत होते हुए भी सहमत हैं किसी इनसान के हत्यारों को माफ़ करने का अधिकार बेटे के पास होता है या पत्नी के पास? 🤔🤔🤔 फटता क्या न करता !!

और कर भी क्या सकता था😂 सेवा में , संवाददाता महोदय, आपसे आग्रह है संपूर्ण देश में संचार व्यवस्था बद से बदतर स्थिति में हो गई है नेटवर्क ना होने के कारण समाचार का आदान-प्रदान व अन्य कार्य में कठिनाई हो रही है , अतः आपसे आग्रह है संचार मंत्री भारत सरकार से वार्ता कर नेटवर्क दुरुस्त कराने की कृपा करें He is not left with any other option.

पत्रकार खशोगी के परिवार ने रमजान में कातिलों को माफ किया | DW | 22.05.2020वॉशिंगटन पोस्ट के मृतक सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी के परिवार ने कहा है कि उसने उनके कातिलों को माफ कर दिया है. हत्या को लेकर सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान तक पर उंगली उठी थी. JamalKhashoggi Saudi MohammedBinSalman ये भी किसी दवाब में हो मुमकिन है या लड़ते-लड़ते हार गये होंगे......

वॉशिंगटन पोस्ट के पत्रकार जमाल खशोगी के बेटे ने कहा- हमने अपने पिता के हत्यारों को माफ किया, मंगेतर बोलीं- माफी का अधिकार किसी को नहींअक्टूबर 2018 में इस्तांबुल के सऊदी दूतावास में जमाल खशोगी की हत्या हुई थीहत्या में दोषी पाए गए 11 में से पांच लोगों को मौत की सजा सुनाई गई | Jamal Khashoggi Murder | Saudi Journalist Jamal Khashoggi Son Salah Khashoggi News Updates, सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी के बेटे ने शुक्रवार को कहा है कि वे अपने पिता के हत्यारों को माफ करते हैं।

जमाल खशोगी हत्या: बेटे ने हत्यारों को किया माफ, फांसी पर संशय बरकरार

अमेरिकी बाजारों से चीन की कंपनियों को निकालने के लिए विधेयक पास, अलीबाबा ग्रुप को खतराअमेरिकी बाजारों से चीन की कंपनियों को निकालने के लिए विधेयक पास, अलीबाबा ग्रुप को खतरा USSenatePhoto POTUS AlibabaGroup SenateBillPassed USSenatePhoto POTUS AlibabaGroup क्या देशवासियों को तिब्बत पर अपनी दावेदारी प्रस्तुत करने का दबाव नहीं बनाना चाहिए। जैसे चीन जब चाहे तब भारत के किसी भी भाग पर अपना दावा पेश कर देता है। USSenatePhoto POTUS AlibabaGroup Well done America to show the exit gate to China ..rest of the nation should take the same step as America did...China has to payoff for spreading this Corona. USSenatePhoto POTUS AlibabaGroup बहुत बढ़िया। भ्रष्टाचार में लिपा-पुता मेरा भारत कब ऐसी हिम्मत जुटा पाएगा

अमेरिका ने अल कायदा के बड़े आतंकवादी इब्राहिम जुबैर को भारत को सौंपा, अमृतसर लाया गयाIndia News: मोहम्मद इब्राहिम जुबैर मूल रूप से हैदराबाद का रहने वाला है। उसने वहीं से शुरुआती पढ़ाई की और बाद में अमेरिका चला गया और वहां की नागरिकता भी हासिल कर ली। अमेरिकी कोर्ट ने उसे आतंकवादी गतिविधियों में लिप्त होने का दोषी ठहराया है। अब होगा न्याय.. 300+ ka kamal hai

कोरोना संकट के बीच डॉक्टरों और नर्सों के संगठन ने केंद्र सरकार के खिलाफ खोला मोर्चाकेन्द्र सरकार ने अपने एक आदेश में मेडिकल कर्मचारियों के लिए क्वारंटीन रहने की अनिवार्यता खत्म कर दी है। जिसके खिलाफ डॉक्टरों और नर्सों के संगठन ने अपना विरोध दर्ज कराया है।

'2021 की शुरुआत में मिलेगा कोविड-19 का टीका', राहुल गांधी से चर्चा में हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर का दावा - BBC Hindi कोरोना अपटडेटः भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या डेढ़ लाख के क़रीब, अकेले महाराष्ट्र में 52 हज़ार से ज़्यादा मामले - BBC Hindi राहुल गांधी का वार- पीएम ने पहले फ्रंटफुट पर खेला, लेकिन अब बैकफुट पर हैं ‘कोरोना आपदा को बदला लेने का अवसर मान रही मोदी सरकार’: छात्र नेताओं ने लगाया आरोप युद्ध की तैयारी में चीन! राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को तैयार रहने के दिए आदेश ट्विटर ने पहली बार राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट को झूठा बताया यूपी, बिहार में क्यों घंटों की देरी से पहुंच रही श्रमिक स्पेशल ट्रेनें? कोविड-19: तीन ख़तरनाक चरमपंथी संगठनों पर कितना असर? नेपाल ने कहा, भारत के सेना प्रमुख ने हमारे इतिहास का अपमान किया डोनाल्ड ट्रंप भारत-चीन सीमा विवाद पर मध्यस्थता के लिए तैयार कांग्रेस का आरोप- यूपी में दलितों-पिछड़ों को निशाना बना रही योगी सरकार