लेफ्टि. जनरल एसए हसनैन का कॉलम: थियेटर कमांड उनका सबसे बड़ा सपना था, इसके लिए वे जल्द कई बड़े सुधार लाने वाले थे

लेफ्टि. जनरल एसए हसनैन का कॉलम: थियेटर कमांड उनका सबसे बड़ा सपना था, इसके लिए वे जल्द कई बड़े सुधार लाने वाले थे #CDSRawat @atahasnain53 #columnist

Cdsrawat, Columnist

09-12-2021 07:10:00

लेफ्टि. जनरल एसए हसनैन का कॉलम: थियेटर कमांड उनका सबसे बड़ा सपना था, इसके लिए वे जल्द कई बड़े सुधार लाने वाले थे CDSRawat atahasnain53 columnist

सैन्य परिवार में जन्म लेने वाले जनरल बिपिन रावत और मुझमें कई समानताएं रहीं, जिसके चलते हम एक-दूसरे से काफी जुड़ाव महसूस करते थे। उन्होंने मिलिट्री सेक्रेटरी (एमएस) की शाखा में बतौर कर्नल मेरी जगह ली थी। मेरी अनुशंसा थी कि उन्हें ही यह पद दिया जाए। इसके बाद जनरल बिपिन ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। कुछ साल बाद जब मैं डैगर डिविजन की कमान संभालने के लिए बारामुला पहुंचा तो पाया कि मेरे पास ही मेरे दोस्त बि... | Theater command was his biggest dream, for this he was going to bring many big reforms soon.

लेफ्टि. जनरल एसए हसनैन का कॉलम:थियेटर कमांड उनका सबसे बड़ा सपना था, इसके लिए वे जल्द कई बड़े सुधार लाने वाले थे5 घंटे पहलेकॉपी लिंकलेफ्टि. जनरल एसए हसनैन, कश्मीर में 15वीं कोर के पूर्व कमांडरसैन्य परिवार में जन्म लेने वाले जनरल बिपिन रावत और मुझमें कई समानताएं रहीं, जिसके चलते हम एक-दूसरे से काफी जुड़ाव महसूस करते थे। उन्होंने मिलिट्री सेक्रेटरी (एमएस) की शाखा में बतौर कर्नल मेरी जगह ली थी। मेरी अनुशंसा थी कि उन्हें ही यह पद दिया जाए। इसके बाद जनरल बिपिन ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। कुछ साल बाद जब मैं डैगर डिविजन की कमान संभालने के लिए बारामुला पहुंचा तो पाया कि मेरे पास ही मेरे दोस्त बिपिन हैं, जो तब सोपोर में राष्ट्रीय राइफल्स सेक्टर के कमांडर थे। सोपोर आरआर सेक्टर को हमेशा ही मुश्किल कमांड माना जाता था। उन दिनों सभी जगह आतंकियों की मौजूदगी थी।

'सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी हो सकती है', CM केजरीवाल केंद्र से बोले- आप एजेंसियां भेजिए, हम तैयार हैं

बाद में उन्हें मेजर जनरल बनाया गया। मुझे यह सौभाग्य प्राप्त हुआ कि 15 कॉर्प्स (कश्मीर) के जीओसी रहते हुए मैंने सेना प्रमुख से निवेदन किया कि जनरल बिपिन रावत को बारामुला की उस डिविजन की कमान दी जाए, जिसे मैं संभालता था। डैगर डिविजन के जीओसी रहते हुए उनका कार्यकाल यादगार रहा, उन्होंने स्थानीय आबादी को बहुत अच्छे से संभाला। प्रतिष्ठित 3 कोर की कमान संभालने के दौरान वे दीमापुर में एक हेलिकॉप्टर दुर्घटना में बाल-बाल बचे।

उन्होंने मणिपुर में हमारे जवानों को शहीद करने वाले एनएससीएन (के) के खिलाफ योजना बनाई और समन्वय किया। उप-प्रमुख बनने से पहले उन्होंने सदर्न कमांड को भी संभाला। जनरल दलबीर सुहाग के बाद उन्हें सेना प्रमुख बनाया गया। बतौर प्रमुख बिपिन ने कार्यकाल के दौरान कश्मीर में पाकिस्तान प्रायोजित अशांति पर प्रतिक्रिया देने में कोई कसर नहीं छोड़ी। डोकलाम में 72 दिनों तक चीन के खिलाफ डटे रहने के बाद उन्होंने सुनिश्चित किया कि 2019 में अनुच्छेद 370 के संशोधन से जुड़े जोखिम भरे समय में जम्मू-कश्मीर की सुरक्षा बनी रहे। headtopics.com

जब सरकार ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति शुरू करने का फैसला किया, तब जनरल बिपिन स्वाभाविक पसंद थे। सैन्य मामलों का विभाग (डीएमए) और सशस्त्र बलों के थियेटर कमांड की स्थापना का कार्य मिलने के बाद, जनरल रावत ने तीनों सर्विसों का सम्मान जीतते हुए सही मायने में संयुक्त कमांडर की भूमिका निभाई। उनकी इच्छा, थियेटर कमांड की स्थापना का काम पूरा करना था। यह उनकी असीम बुद्धिमत्ता थी, उन्होंने इस अनूठी चुनौती को अपनाया, जिसका सामना आजतक किसी भी सैन्य अधिकारी ने नहीं किया था। इसके लिए वे जल्द कई बड़े सुधार लाने वाले थे।

India vs south africa का तीसरा वनडे मैच ऐसे देखें लाइव

खुलकर कहते थेनेतृत्व के दृष्टिकोण से जनरल बिपिन रावत काम से काम रखने वाले व्यक्ति थे। वे बिना डरे खुलकर अपनी बात कहते थे। वे अब तक सबसे ज्यादा उम्र तक (64 वर्ष की आयु तक) सेवा देने वाले अधिकारी थे। काश जनरल बिपिन अपना कार्यकाल पूरा कर पाते और जनरल (4 स्टार) के पद पर 6 वर्ष रह पाते।

और पढो: Dainik Bhaskar »

सरकार: 2017 में BJP के भारी बहुमत से जीत के बाद Yogi Adityanath कैसे चुने गए CM?

मार्च 2017 की बात है. फागुन की पूरनमासी से पहले ही यूपी में बीजेपी की पूरनमासी हो गई. यूपी के बड़े बड़े लड़ैया मोदी के आगे ढेर हो गए. प्रचंड बहुमत से बीजेपी को जीत मिली थी, जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी. लेकिन इसके बाद चुनना था एक ऐसा चेहरा जो इस भारी भरकम जनादेश के साथ न्याय कर सकता था, उत्तर प्रदेश का नया मुख्यमंत्री. चर्चा थी तीन नामों की - यूपी के सीएम रह चुके राजनाथ सिंह, गाज़ीपुर से तत्कालीन सांसद मनोज सिंहा और तब के यूपी बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य. लेकिन जो फैसला लिया गया वो कयासों से बिलकुल उलट था. घोषणा हो गई एक ऐसे नाम की जिनकी किसी ने चर्चा ही नहीं की थी. बाकि तो छोड़िए, खुद योगी आदित्यनाथ को नहीं मालूम था कि उनकी बारी ऐसे आ जाएगी. देखें सरकार.

atahasnain53 😢😭

जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश, कई की मौत | DW | 08.12.2021वायुसेना के हेलिकॉप्टर में सीडीएस जनरल बिपिन रावत समेत 14 लोग सवार थे. रावत बुधवार को सुलूर एयरबेस से वेलिंगटन के लिए हेलिकॉप्टर से यात्रा कर रहे थे. हादसे में कम से कम पांच लोगों के मारे जाने की खबरें हैं. bipinrawat HelicopterCrash

एक नजर में जानें- सीडीएस जनरल बिपिन रावत का शानदार करियर, देश कर रहा उन्‍हें सलामजनरल रावत का सैन्‍य करियर बेहद शानदार रहा है। यही वजह थी कि उन्‍हें दूसरे सीनियर अधिकारियों से वरियता देकर सेनाध्‍यक्ष बनाया गया था। आतंक को खत्‍म करने के लिए चलाए जाने वाले आपरेशन का उन्‍हें जबरदस्‍त अनुभव था।

Updates : CDS जनरल बिपिन रावत सहित 14 लोगों को ले जा रहा हेलीकॉप्टर क्रैशArmy Chopper Crash Live Updates : तमिलनाडु के नीलगिरि जिले में बुधवार की दोपहर आर्मी का एक हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया है. चीफ डिफेंस ऑफ स्टाफ जनरल बिपिन रावत भी इस चॉपर में सवार थे. जानकारी है कि उनके साथ उनकी पत्नी मधुलिका रावत सहित कई अन्य सैन्य अधिकारी थे. Desh ki sena ke ek bade adhikari ka plan crash Hona hadsa nahi..sajish ho sakta he.... Ham Sabhi deshvasiyo ki savedhnae vayusena ke sath he.....🇮🇳 🙏🙏 किसी प्रकार का कोई जानी नुकसान तो नहीं हुआ,,, Such accidents are well planned Hope Indian Government and army will check and tell to Indian people how and why this happendd ANI IndiaToday PTI_News IndianExpress IAF_MCC

जनरल बिपिन रावत का चॉपर क्रैश : जानें उनकी पत्नी सहित और कौन-कौन था सवारभारतीय वायु सेना ने ट्विटर पर पुष्टि की है कि जनरल रावत उसमें सवार थे. उन्होंने आज दिल्ली से सुलूर के लिए उड़ान भरी थी. रसिया से हथियारों की डील हुई थी कल। दुखद घटना। देश सारा शुभ प्रार्थना करें।

जनरल बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश, अब तक हमें जो पता है - BBC News हिंदीतमिलनाडु के कुन्नूर में भारतीय वायु सेना के Mi-17V5 हेलिकॉप्टर क्रैश कर गया है. इसमें चीफ़ डिफेंस ऑफ स्टाफ़ जनरल बिपिन रावत भी सवार थे. भारतीय वायुसेना ने कहा है कि इस दुर्घटना के कारण जानने के लिए जाँच का आदेश दे दिया गया है. कोई साज़िश या हादसा..? सच से कोताही बरतने वाली सरकार हैं..! कौन बतायेगा सत्य..? Itna late news dete ho. Koi or kaam krlo bbc walo. Ye tumse na ho payega. जुमले सुनकर अंध भक्तों को खुशी मिलती हैं 😁😁😆😆😆

जनरल रावत के निधन पर बोले पीएम मोदी- दुखी हूं, सोनिया गांधी नहीं मनाएंगी जन्मदिनइजराइल के पूर्व पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने भी जनरल रावक के निधन पर शोक जताया है। साथ ही भूटान के पीएम ने भी ट्वीट कर संवेदनाएं प्रकट की हैं।