Uttarpradesh, Lucknow, Covıd 19, Coronavirus Cases İn Uttar Pradesh, Oxygen Crisis, Lucknow, Coronavirus, Uttar Pradesh, Oxygen

Uttarpradesh, Lucknow

लखनऊः ऑक्सीजन के लिए एजेंसी के बाहर लंबी लाइन, अस्पताल को भी नहीं मिल रहा सिलेंडर

लखनऊः घंटों लाइन में लगने के बाद भी नहीं मिल रहा ऑक्सीजन सिलेंडर #UttarPradesh #Lucknow #COVID19

15-04-2021 06:42:00

लखनऊः घंटों लाइन में लगने के बाद भी नहीं मिल रहा ऑक्सीजन सिलेंडर UttarPradesh Lucknow COVID19

कोरोना की दूसरी लहर बेहद खतरनाक साबित हो रही है. मरीजों को ऑक्सीजन तक नहीं मिल पा रही है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में तो ये आलम है कि ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए एजेंसी के बाहर लंबी लाइन लग गई है. ऑक्सीजन की डिमांड तो बढ़ रही है, लेकिन सप्लाई नहीं हो रही, इस वजह से लोगों को लंबा इंतजार भी करना पड़ रहा है.

आशीष श्रीवास्तवलखनऊ,(अपडेटेड 15 अप्रैल 2021, 7:24 AM IST)स्टोरी हाइलाइट्सऑक्सीजन सिलेंडर के लिए लगी लंबी लाइनअस्पताल वालों को भी नहीं मिल पा रहा सिलेंडरदेश में कोरोना की दूसरी लहर बहुत बुरे दिन दिखा रही है. इतने बुरे कि मरीजों को ऑक्सीजन तक नहीं मिल पा रही है. उनके परिजन ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए एजेंसी के चक्कर काट रहे हैं, लेकिन हाथ में निराशा ही लग रही है. कुछ ऐसा ही हाल उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी देखने को मिला. यहां ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए एजेंसी के बाहर लंबी लाइन लग गई. लेकिन डिमांड ज्यादा और सप्लाई कम होने की वजह से एजेंसी भी सिलेंडर मुहैया नहीं करा पा रही है.

इसराइली मंत्री ने कहा- ग़ज़ा में हमारे और भी हज़ारों टारगेट - BBC Hindi लिव-इन रिश्ते 'नैतिक और सामाजिक रूप से अस्वीकार्य': पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट - BBC News हिंदी कोरोना 'मददगारों' को दिल्ली पुलिस की क्लीन चिट पर अदालत क्यों हुई गंभीर - BBC News हिंदी

लखनऊ में ऑक्सीजन एजेंसी के मैनेजर राहुल बताते हैं कि उनके पास ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग बहुत ज्यादा है, लेकिन सप्लाई नहीं हो रही है. वहीं, हैदरगंज में ऑक्सीजन प्लांट के मालिक अजय मिश्रा बताते हैं कि पहले रोजाना 500 से 600 सिलेंडर लगते थे, लेकिन अब रोज 1900 सिलेंडर दे रहे हैं, जिसमें पीजीआई, चंदन, मेयो जैसे बड़े कोविड अस्पताल शामिल हैं. वो बताते हैं कि पहले सिलेंडर देने हमें जाना होता था, लेकिन अब लोग खुद लेने आ रहे हैं.

घंटों लाइन में लगने के बाद भी नहीं मिल रहा सिलेंडरऑक्सीजन सिलेंडर लेने आए श्याम कहते हैं,"मुझे अपने घर के लिए दो सिलेंडर चाहिए. घर में दो लोग बीमार हैं. मैं यहां खड़ा हूं लाइन में, लेकिन अभी तक मुझे सिलेंडर नहीं मिला. पता नहीं कब तक मिलेगा. ऑक्सीजन की बहुत जरूरत है. अस्पताल नहीं गया हूं घर पर ही हूं. यहां भी अगर नहीं मिला, तो पता नहीं क्या होगा." headtopics.com

वहीं, एक दूसरे व्यक्ति बताते हैं,"हम सुबह से यहां पर लाइन लगाए हुए हैं. 4 से 5 घंटे हो गए, लेकिन अभी तक हमें ऑक्सीजन नहीं मिली है. और पता नहीं कब मिल पाएगी. पहले ऐसा कभी नहीं होता था. अभी ये हो रहा है. काफी दिक्कत है."अस्पताल वालों को भी नहीं मिल रही ऑक्सीजन

मांग इतनी बढ़ गई है कि अस्पताल वालों को भी ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है. एजेंसी के बाहर लाइन में खड़े एक अस्पताल के कर्मचारी बताते हैं,"हमको लाइन में लगे काफी समय हो गया है. हमारा नंबर अभी नहीं आया. अब देखिए जब लोड हो पाएगा, तब मिल पाएगा. इतना समय तो कभी नहीं लगा." वहीं एक दूसरे अस्पताल के कर्मचारी भी इसी तरह की बात कहते हैं. वो बताते हैं,"पिछले 4 घंटों से हम इंतजार कर रहे हैं. हम हॉस्पिटल से आए हैं. हमें 50 सिलेंडर चाहिए, लेकिन हमको सिलेंडर नहीं मिले हैं. पहले ऐसा कभी नहीं हुआ."

यूपी में 20 हजार से ज्यादा नए मामलेयूपी में बुधवार को 20 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए. बीते 24 घंटों में यहां कोरोना के 20,510 नए संक्रमित मिले हैं. 68 लोगों की मौत हुई है. सबसे ज्यादा 5,433 नए मामले राजधानी लखनऊ में सामने आए हैं. यहां 14 लोगों की मौत हुई है. फिलहाल यूपी में 1,11,835 कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है.

Live TV और पढो: आज तक »

देश में बेकाबू Coronavirus संक्रमण, क्या संपूर्ण Lockdown ही विकल्प? देखें शंखनाद

दिल्ली में कोरोना बेकाबू है. मामले बढ रहे हैं. मौत का आंकडा बढ़ रहा है. उस पर से ऑक्सीजन की कमी. ऑक्सीजन के मसले को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को जोरदार फटकार लगाई. कोर्ट ने यहां तक कह दिया कि आप आंखें मूंद सकते हैं हम नहीं. दिल्ली में लॉकडाउन की मियाद बढ़ रही है. कोरोना के नए केस में भी मामूली कमी दिख रही है लेकिन ये कहना मुश्किल है कि दिल्ली में संक्रमण की चेन टूट रही है. आखिर तमाम दावों के बीच भी कोरोना संक्रमण की दिल्ली और देश के तमाम हिस्सों में क्यों नहीं थम रही है रफ्तार, देखें शंखनाद.

क्या होती है मेडिकल ऑक्सीजन जिसको लेकर मची है देश में मारामारीMedical Oxygen . ऑक्सीजन के बारे में सुना तो सभी ने होगा मगर बहुत ही कम लोगों को पता होगा कि ये मेडिकल ऑक्सीजन होती क्या है। आखिर गंभीर होने पर इसे मरीजों को क्यों देना पड़ता है जबकि वो पहले से ऑक्सीजन ले रहे होते हैं। लोकतंत्र के दरवाजे कितने लाचार होकर इस गुजराती फ्राड के सामने सबके सब घुटने टेक दिए।

Covid 19: क्या होता है ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर, कैसे करता है काम, सबकुछ जानेंऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर वायुमंडल से वायु को लेते हैं और उसमें से नाइट्रोजन को छानकर फेंक देते हैं तथा ऑक्सीजन को घना

दिल्ली में बच्चों के एक अस्पताल की ऑक्सीजन की गुहार, क्या है मामला - BBC News हिंदीदिल्ली में बच्चों के एक अस्पताल की ऑक्सीजन के लिए गुहार लगाने के बाद आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा ने बताया कि पाँच ऑक्सीजन सिलेंडर अस्पताल भेजे गए हैं. मैं पूछना चाहता हूं बीबीसी हिंदी के माध्यम से क्या-क्या इतने बड़े हॉस्पिटल बनाने बनाने मैं लाखों-करोड़ों पर खर्च हुए क्या हॉस्पिटल प्रबंधन के पास इतना बजट नहीं था कि वह बच्चों के हॉस्पिटल के लिए ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण कर पाते यह बड़ी सोचने वाली बात है कि देश में भारत TMC win in Bengal confirm India don't care Hindu- Muslim politics Mandir- Masjid politics Godi Media marketing of Modi BJP has lost trust of their vote bank i.e. Middle class. BJP need new parliament, more taxes, but no Hospital, Govt School... shame on BJP Jumlebaji 😕🙄☹️☹️☹️☹️☹️☹️☹️☹️☹️💔

कंगना रनौत के ऑक्सीजन वाले बयान पर बोले करण पटेल, स्टैंडअप कॉमेडियन है ये महिलासीरियल ये है मोहब्बतें के एक्टर करण पटेल ने बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत के ट्वीट को लेकर अपनी टिप्पणी दी है. एक्ट्रेस ने अपने ट्वीट में लिखा था कि हर कोई ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण करे' उनके इस ट्वीट को पढ़ने के बाद करण पटेल ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट इंस्टाग्राम पर एक स्टोरी शेयर कर कंगना को स्टैंड-अप कॉमेडियन बताया है. Haha 🤣🤣

LIVE: 'ऑक्सीजन टैंकरों को जल्दी पहुंचाने के लिए रेलवे, एयरफोर्स की मदद ली जा रही है' Coronavirus in India LIVE Updates: संगीत निदेशक नदीम-श्रवण की जोड़ी बॉलीवुड में खासी मशहूर रही। नदीम-श्रवण ने 90 के दशक में ''आशिकी'', ''साजन'', ''परदेस'' और ''राजा हिंदुस्तानी'' जैसी फिल्मों में शानदार संगीत दिया। प्रीतम और अदनान सामी जैसी हस्तियों ने श्रवण के निधन को हिंदी फिल्म उद्योग के लिए अपूरणीय क्षति करार दिया है और संगीतकार को श्रद्धांजलि दी है।

#LadengeCoronaSe : हिमाचल में हर दिन तैयार हो रही है 115 टन तरल ऑक्सीजन और 3500 सिलिंडरLadengeCoronaSe : हिमाचल में हर दिन तैयार हो रही है 115 टन तरल ऑक्सीजन और 3500 सिलिंडर HimachalPradesh coronavirus Oxygen Cylinder jairamthakurbjp