मिल्खा सिंह के निधन पर फ़रहान अख़्तर ने लिखी भावुक पोस्ट - BBC News हिंदी

मिल्खा सिंह के निधन पर फ़रहान अख़्तर ने लिखी भावुक पोस्ट

19-06-2021 09:19:00

मिल्खा सिंह के निधन पर फ़रहान अख़्तर ने लिखी भावुक पोस्ट

भारत के मशहूर एथलीट मिल्खा सिंह के निधन पर फ़िल्म, राजनीति और खेल जगत की हस्तियों ने दुख जताया है.

समाप्तप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया है, "मिल्खा सिंह जी के चले जाने से हमने उस महान खिलाड़ी को खो दिया है जो देश की कल्पनाओं में समाए हुए थे और अनगिनत भारतीयों के दिल में ख़ास स्थान पर थे. उनके प्रेरक व्यक्तित्व ने करोड़ों लोगों को उनका मुरीद बना दिया. उनके निधन से आहत हूं."

केंद्र सरकार का ऐतिहासिक फैसला: मेडिकल कोर्सेस में OBC कैंडिडेट्स को 27% और आर्थिक रूप से पिछड़े कैंडिडेट्स को 10% आरक्षण मिलेगा 30% तक बढ़ सकती हैं दरें: एयरटेल और वोडाफोन आइडिया बढ़ाएंगी फोन कॉल की कीमत, एयरटेल का 49 रुपए का प्लान खत्म टोक्यो ओलिंपिक LIVE: मेरीकॉम कड़े मुकाबले में कोलंबिया की मुक्केबाज से हारकर बाहर, पांच में से 2 जजों ने ही मेरीकॉम को बेहतर माना

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है, ''मिल्खा सिंह न केवल स्पोर्ट्स स्टार थे बल्कि अपने समर्पण के कारण लाखों भारतीयों के लिए प्रेरणास्रोत थे. उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना है.''भारत के जाने-माने क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर ने भी ट्वीट कर मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि दी है. सचिन ने अपने ट्वीट में लिखा है, ''आपके निधन से हर भारतीय के मन में ख़ालीपन घर कर गया है. लेकिन आप आने वाली कई पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे.''

कैसे हुआ निधनकोरोना संक्रमित होने के बाद 91 साल के मिल्खा सिंह को चंडीगढ़ के पीजीआईएमईआर में भर्ती कराया गया था, जहां शुक्रवार की शाम उनकी तबियत काफ़ी बिगड़ गई और काफ़ी कोशिशों के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका.चंडीगढ़ में बीबीसी के सहयोगी पत्रकार रविंदर सिंह रॉबिन से अस्पताल के प्रवक्ता अशोक कुमार ने बताया है कि मिल्खा सिंह का निधन रात 11.30 बजे हुआ है. headtopics.com

मिल्खा सिंह 20 मई को कोविड सककरण को कोविड संक्रमण के चलते तीन जून को पीजीआईएमईआर के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. वे 13 जून तक आईसीयू में भर्ती रहे और इस दौरान उन्होंने कोविड संक्रमण को हरा दिया. 13 जून को कोविड टेस्ट में निगेटिव होने के बाद कोविड संबंधी मुश्किलों के चलते उन्हें फिर से आईसीयू में दाख़िल कराना पड़ा. लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी चिकित्सकों की टीम उन्हें बचा नहीं सकी.

पांच दिन पहले मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह का निधन भी कोरोना संक्रमण से हो गया था.फ़्लाइंग सिख के नाम से थे मशहूरफ़्लाइंग सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह भारत के इकलौते ऐसे एथलीट हैं जिन्होंने 400 मीटर की दौड़ में एशियाई खेलों के साथ साथ कॉमनवेल्थ खेलों में भी गोल्ड मेडल जीता हुआ था.

1958 के टोक्यो एशियाई खेलों में मिल्खा सिंह ने 200 मीटर और 400 मीटर की दौड़ में गोल्ड मेडल हासिल किया था जबकि 1962 के जकार्ता एशियाई खेलों में मिल्खा सिंह ने 400 मीटर और चार गुना 400 मीटर रिले दौड़ में गोल्ड मेडल हासिल किया था.1958 के कार्डिफ़ कॉमनवेल्थ खेलों में मिल्खा सिंह ने 440 गग दौड़ में गोल्ड मेडल हासिल किया था. लेकिन मिल्खा सिंह को सबसे ज़्यादा मशहूरी 1960 को रोम ओलंपिक ने दिलाई जिसमें वे 400 मीटर दौड़ में कांस्य पदक मामूली अंतर से चूक गए थे.

रोम ओलंपिक में मिल्खा सिंह ने 400 मीटर की दौड़ 45.73 सेकेंड में पूरी की थी, वे जर्मनी के एथलीट कार्ल कूफमैन से सेकेंड के सौवें हिस्से से पिछड़ गए थे लेकिन यह टाइमिंग अगले 40 सालों तक नेशनल रिकॉर्ड रहा. और पढो: BBC News Hindi »

जिंदा बकरी निगल गया अजगर, VIDEO: जंगल से गांव में आए 12 फीट के अजगर से फैली दहशत, झपट्टा मार बकरी खा गया; टीम ने पकड़ा तो वापस उगला

चित्तौड़गढ़ के बेगूं क्षेत्र में खाने की तलाश में एक 12 फिट का अजगर गांव में घुस गया। अजगर एक बकरी को निगल गया। बकरी चरा रहा ग्रामीण अजगर को देखकर बुरी तरह डर गया। उसने अपने साथी को जानकारी दी। दोनों ने ग्रामीणों को बुलाया। ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना दी। मौके पर काफी भीड़ जमा हो गई। | The goat was hunted alive, the forest department team did this rescue and left it in the forest, due to fear, the python spewed the goat in the sack.

we lost a gem of India. RIP MILKHA SIR बहुत ही दुखद समाचार है आज के लिए

मिल्खा सिंह: 'फ्लाइंग सिख' के निधन पर भावुक हुए सितारे, नम आंखों से दी श्रद्धांजलिमिल्खा सिंह: 'फ्लाइंग सिख' के निधन पर भावुक हुए सितारे, नम आंखों से दी श्रद्धांजलि MilkhaSingh RIPMilkhaSingh BollywoodCelebsCondole

दुखद: महान धावक मिल्खा सिंह का कोरोना से निधन, पीजीआई चंडीगढ़ में ली अंतिम सांसदुखद: महान धावन मिल्खा सिंह का कोरोना से निधन, पीजीआई चंडीगढ़ में ली अंतिम सांस MilkhaSingh CoronaVirus MilkhaSinghDies PGIchandigarh drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI Rip 🙏 drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI Rip🙏🙏🙏 drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia ICMRDELHI ॐ शान्ति

मिल्खा सिंह का कोविड संक्रमण से निधन - BBC News हिंदीभारत के मशहूर एथलीट मिल्खा सिंह का चंडीगढ़ के अस्पताल में निधन हो गया है RIP बहुत ही दुखद विनम्र श्रद्धांजलि भगवान उनकी आत्मा को अपने चरणों में स्थान दे So sad.

फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह का 91 साल की उम्र में निधनफ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह (Milkha Singh) का शुक्रवार देर रात निधन हो गया. 91 वर्ष की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने मिल्खा सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है. कुछ देर पहले उन्होंने ट्वीट किया, श्री मिल्खा सिंह जी के निधन से हमने एक महान खिलाड़ी खो दिया है, जिसने देश की कल्पना पर अपनी छाप छोड़ी थी और अनगिनत भारतीयों के दिलों में एक विशेष स्थान बना लिया था. उनके प्रेरक व्यक्तित्व ने खुद को लाखों लोगों का प्रिय बना दिया था. उनके निधन से आहत हूं. He was the first Indian athlete to win an individual athletics gold medal at the Commonwealth Games, a title. ‘’The FLYING SIKH IS NO MORE ‘’ Great loss 🇮🇳 Om Shanti 🙏 MilkhaSingh नाम का नही कोई सानी ऐसे धुरंधर थे जो झूजते रहे आखिरी सांस तक हार न माने जो मिल के पत्थर ऐसे जिन्हे नाप न पाये कोई कूच कर गये जहाँ से रोता छोङ गये आज वो है मालूम किवदंती है और किवदंती अमर रहती सदा श्रद्धा सुमन अर्पित उन्हे नमन सदा-सदा ॐ_शांति 🙏🙏 R.I.P. 💐😭😭😭😭😭😢 So sad 😭

मिल्खा सिंह : आजाद भारत के लिए पहला गोल्ड जीतने से 'फ्लाइंग सिख' बनने तक का सफरउड़न सिख के नाम से मशहूर पद्मश्री पूर्व एथलीट मिल्खा सिंह ने भारत को कई पदक दिलाए लेकिन 1960 रोम ओलंपिक में पदक से चूकने की कहानी आज भी लोगों के जेहन में ताजा है। वह चंडीगढ़ पीजीआइ के कोविड आइसीयू वार्ड में भर्ती हैं। कोयला काला है चट्टानों पे पाला अन्दर काला बाहर काला पर सच्चा है साला RIP Rip

यादें...यूं ही नहीं फ्लाइंग सिख कहलाते थे मिल्खा सिंहआजाद भारत का पहला गोल्ड मेडल जीतने वाले मिल्खा सिंह के 'फ्लाइंग सिख' कहलाने की कहानी... ॐ शांति ॐ शांति ॐ शांति विनम्र श्रद्धांजलि Bhagwan aapki ki aatma ko shanti de 😭 legends Milkha singh