Pegasusproject, Europeanunion, Daphnecaruanagaliziaprize, Journalism, पेगाससप्रोजेक्ट, यूरोपीययूनियन, डाफ्नेकरुआनापुरस्कार, पत्रकारिता

Pegasusproject, Europeanunion

पेगासस प्रोजेक्ट को पत्रकारिता के लिए यूरोपीय संसद का 2021 डाफ्ने करुआना पुरस्कार मिला

पेगासस प्रोजेक्ट को पत्रकारिता के लिए यूरोपीय संसद का 2021 डाफ्ने करुआना पुरस्कार मिला #PegasusProject #EuropeanUnion #DaphneCaruanaGaliziaPrize #Journalism #पेगाससप्रोजेक्ट #यूरोपीययूनियन #डाफ्नेकरुआनापुरस्कार #पत्रकारिता

16-10-2021 20:30:00

पेगासस प्रोजेक्ट को पत्रकारिता के लिए यूरोपीय संसद का 2021 डाफ्ने करुआना पुरस्कार मिला PegasusProject EuropeanUnion DaphneCaruanaGaliziaPrize Journalism पेगाससप्रोजेक्ट यूरोपीययूनियन डाफ्नेकरुआनापुरस्कार पत्रकारिता

द वायर सहित एक अंतरराष्ट्रीय मीडिया कंसोर्टियम ने पेगासस प्रोजेक्ट के तहत यह खुलासा किया था कि इज़रायल की एनएसओ ग्रुप कंपनी के पेगासस स्पायवेयर के ज़रिये कई देशों के नेता, पत्रकार, कार्यकर्ताओं आदि के फोन कथित तौर पर हैक कर उनकी निगरानी की गई या फिर वे सर्विलांस के संभावित निशाने पर थे.

आधिकारिक प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक, यूरोपीय ज्यूरी के 29 सदस्यों का प्रतिनिधित्व करते हुए इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स के महासचिव एंथनी बेलांगर ने कंसोर्टियम के प्रतिनिधियों सैंड्रिन रिगॉड और लॉरेंट रिचर्ड को 20,000 यूरो की पुरस्कार राशि दी.बता दें कि 2017 में स्थापित फॉरबिडेन स्टोरीज इससे पहले दुनिया के दो प्रतिष्ठित पुरस्कार यूरोपीय प्रेस पुरस्कार और जॉर्जेस पोल्क पुरस्कार से भी सम्मानित हो चुके हैं.

टीवी पत्रकारिता का एक शानदार पन्ना आज अलग हो गया... विदेश से आने वाले लिखवा रहे गलत पते-नंबर: बेंगलुरु, मेरठ, पटना और छत्तीसगढ़ में विदेश से आए 556 लोग लापता, ये लापरवाही ला सकती है तीसरी लहर VIDEO : बंगाल में हजार बेरोजगारों का हुजूम हुआ बेकाबू, पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज

पेगासस प्रोजेक्ट के तहतद वायरसमेत 10 देशों के 17 मीडिया संगठनों के 80 से अधिक पत्रकारों ने ये रिपोर्टें लिखी थीं. ये रिपोर्टें जुलाई 2021 से प्रकाशित होना शुरू हुई थीं.गौरतलब है किद वायरसहित अंतरराष्ट्रीय मीडिया कंसोर्टियम ने पेगासस प्रोजेक्ट के तहत यह खुलासा किया था कि इजरायल की एनएसओ ग्रुप कंपनी के पेगासस स्पायवेयर के जरिये नेता, पत्रकार, कार्यकर्ता, सुप्रीम कोर्ट के अधिकारियों की के फोन कथित तौर पर हैक कर उनकी निगरानी की गई या फिर वे संभावित निशाने पर थे.

इस कड़ी में 18 जुलाई सेद वायरसहित विश्व के 17 मीडिया संगठनों ने 50,000 से ज्यादा लीक हुए मोबाइल नंबरों के डेटाबेस की जानकारियां प्रकाशित करनी शुरू की थी, जिनकी पेगासस स्पायवेयर के जरिये निगरानी की जा रही थी या वे संभावित सर्विलांस के दायरे में थे.बता दें कि इस अंतरराष्ट्रीय मीडिया कंसोर्टियम ने लगातार पेगासस सर्विलांस को लेकर रिपोर्ट प्रकाशित की, जिनमें बताया गया कि केंद्रीय मंत्रियों, 40 से अधिक headtopics.com

पत्रकारों, विपक्षी नेताओं,एक मौजूदा जज, कई कारोबारियों और कार्यकर्ताओं सहित 300 से अधिक भारतीयों के मोबाइल नंबर उस लीक किए गए डेटाबेस में शामिल थे जिनकी पेगासस से हैकिंग की गई या वे संभावित रूप से निशाने पर थे.द वायरने फ्रांस की गैर-लाभकारी फॉरबिडेन स्टोरीज और अधिकार समूह एमनेस्टी इंटरनेशनल सहित द वॉशिंगटन पोस्ट, द गार्जियन और ल मोंद जैसे 16 अन्य अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठनों के साथ मिलकर ये रिपोर्ट्स प्रकाशित की.

यह जांच दुनियाभर के 50,000 से ज्यादा लीक हुए मोबाइल नंबरों की एक सूची पर केंद्रित थी, जिनकी इजरायल के एनएसओ समूह के पेगासस स्पायवेयर के जरिये सर्विलांस की जा रही थी. इसमें से कुछ नंबरों की एमनेस्टी इंटरनेशनल ने फॉरेंसिक जांच की है, जिसमें ये साबित हुआ है कि उन पर पेगासस स्पायवेयर से हमला हुआ था.

एमनेस्टी इंटरनेशनल के सिक्योरीटी लैब की विस्तृत जांच से पता चला था किद वायरके कुछ पत्रकारों के फोन की भी जासूसी की गई थी.इन रिपोर्टों को लेकर भारतीय संसद में भी काफी हंगामा हुआ था.मौजूदा समय में कुछ पत्रकारों और कार्यकर्ताओं की जनहित याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है, जिनके फोन पेगासस के जरिये टैप किए गए थे.

और पढो: द वायर हिंदी »

1971 की सबसे खूनी जंग #VandeMatram #ATLivestream

1971 \u0915\u0940 \u0938\u092c\u0938\u0947 \u0916\u0942\u0928\u0940 \u091c\u0902\u0917 \n#VandeMatram #ATLivestream\nSweta Singh

ईमानदारी की सराहना केवल विदेश में ही हो सकती है , भारत में तो पतलचाट वालों को रोज रुपए देकर सत्कार किया जाता है।

''उद्धव को मुख्यमंत्री बनाने के लिए मैंने जोर दिया था'', शरद पवार का फडणवीस को जवाबदेवेंद्र फडणवीस कहा, “मुझे लगता है कि आदरणीय उद्धव जी को अब यह मान लेना चाहिए कि मुख्यमंत्री बनने की उनकी महत्वाकांक्षा थी, जो उन्होंने पूरी की. अनिल देशमुख को भी तो पवार ने ही गृहमंत्री बनाने पर जोर दिया था 😅😅 आज वही उद्धव बचकाना बयान दे रहा है और कह रहा है कि ड्रग लेने वाले बालीवुड के सुपरस्टार को अरेस्ट कर लोग फेमस होना चाह रहे हैं। महाराष्ट्र को ड्रग के मामले में बदनाम किया जा रहा है जबकि गुजरात में करोड़ों का ड्रग सीज किया गया है 🤔 Faddu ki kitni fatti hai

आधे कारोबार को पूरा बनाने की जुगत में लगे फिल्मों के निर्माताआज से ठीक एक साल पहले 15 अक्तूबर 2020 से कोरोना महामारी के कारण बंद सिनेमाघरों का फिर से खुलना शुरू हुआ था।

अमेरिका: बाइडन ने भारतीय अमेरिकी को पेंटागन में एक प्रमुख पद के लिए नामित कियाराष्ट्रपति जो बाइडन ने गुरुवार को भारतीय अमेरिकी रवि चौधरी को पेंटागन में एक महत्वपूर्ण पद पर नामित करने की घोषणा ASHWANI38588803 Shubh kamnaye Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITCofficial AITC4Gujarat AITC4Goa AITC4Tripura AITC4Jharkhand AITC4Assam AITC4Bihar AITC4UP AITC4Delhi BanglarGorboMB AITC_Parliament ANewDawnForGoa

कर्नाटक: प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता व मीडिया समन्वयक ने प्रदेशाध्यक्ष को घोटाले से जोड़ाकर्नाटक में कांग्रेस के मीडिया समन्वयक एमए सलीम और पूर्व लोकसभा सदस्य वीएस उग्रप्पा के बीच उस बातचीत का वीडियो सामने आया है, जिसमें एक घोटाले में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डीके शिवकुमार की कथित संलिप्तता का ज़िक्र किया गया है. इसे लेकर पार्टी ने सलीम को छह साल के लिए निष्कासित कर दिया और पार्टी प्रवक्ता उग्रप्पा को ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी किया है.

जम्मू-कश्मीर: सईद अली शाह गिलानी के पोते को सरकारी नौकरी से निकाला गयाअब जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने बड़ा फैसला लेते हुए सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस उल इस्लाम को उसकी सरकारी नौकरी से बर्खास्त कर दिया है. sunilJbhat इस पर बोलने की औकात है क्या ?mc चैनल? sunilJbhat Bhut sahi kiya, jitne atankwaadi hain sabke pariwar ka full boycott hona chaiye sunilJbhat पोते पर एक्शन है तो इस नालायक की फोटो क्यों दी । ये तो नर पिशाच है ।।।

जैकलीन फर्नांडीज ED के तीसरे समन पर भी नहीं हुईं पेश, सोमवार को फिर बुलाया गयाफोर्टिस हेल्थकेयर के प्रमोटर शिविंदर सिंह के परिवार से करीब 200 करोड़ रुपये ठगने के आरोप में चंद्रशेखर और पॉल को दिल्ली पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. सैया है कोतवाल तो फिर काहे का डर selemon भाई Ab Lanka wapas palatne ka waqt hua chahta hai 🙃 𝚆𝚑𝚢 𝚃𝚑𝚎 𝙴𝙳 𝚁𝚊𝚒𝚍 𝙰𝚛𝚎 𝙲𝚘𝚖𝚖𝚘𝚗 𝙵𝚘𝚛 𝚃𝚑𝚒𝚜 𝙶𝚘𝚟𝚝 . 𝙱𝚞𝚝 𝚁𝚎𝚜𝚞𝚕𝚝 𝙰𝚛𝚎 𝙽𝚘𝚗 . 𝚆𝚎 𝚁𝚎𝚖𝚎𝚖𝚋𝚎𝚛𝚒𝚗𝚐 𝙲𝚊𝚜𝚎 𝚘𝚏 𝚁𝙸𝚈𝙰 𝙲𝙷𝙰𝙺𝚁𝙰𝚆𝙾𝚁𝚃𝚈 . 𝙰 𝙸𝚗𝚗𝚘𝚌𝚎𝚗𝚝 𝙶𝚒𝚛𝚕 𝚆𝚑𝚘 𝚃𝚊𝚛𝚐𝚎𝚝𝚎𝚍 𝚃𝚘 𝙵𝚊𝚕𝚜𝚎 𝙼𝚎𝚍𝚒𝚊