पंजाब का अगला मुख्यमंत्री कौन, सिद्धू, बाजवा या फिर रंधावा? - BBC News हिंदी

पंजाब का अगला मुख्यमंत्री कौन, सिद्धू, बाजवा या फिर रंधावा? - प्रेस रिव्यू

19-09-2021 05:54:00

पंजाब का अगला मुख्यमंत्री कौन, सिद्धू, बाजवा या फिर रंधावा? - प्रेस रिव्यू

अमरिंदर सिंह ने ख़ुद पद से इस्तीफ़ा दिया या वह हटने पर मजबूर हो गए थे? और अब कौन संभालेगा पंजाब के सीएम का पद? प्रमुख समाचार पत्रों ने देश की सबसे चर्चित ख़बर पर क्या कुछ प्रकाशित किया.

समाप्तजाखड़ अबोहर के जाने-माने ज़मींदार हैं और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बलराम जाखड़ के बेटे हैं. 67 वर्षीय कांग्रेस नेता अबोहर निर्वाचन क्षेत्र (2002-2017) से तीन बार विधायक रहे हैं और उन्होंने गुरदासपुर लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व भी किया है.सुनील जाखड़ के राजनीतिक करियर को झटका तब लगा जब वह 2017 के विधानसभा चुनाव में अबोहर से भाजपा उम्मीदवार से हार गए.

आजादी के नायकों नेताजी और सरदार पटेल के साथ नहीं हुआ न्याय: अमित शाह ‘लापता’ पोस्टर्स पर फूटा प्रज्ञा ठाकुर का गुस्सा, बोलीं- देशद्रोहियों के लिए कोई जगह नहीं है T20 WC से पहले विराट बोले- धोनी का साथ बढ़ाएगा जोश, Ind-Pak मैच पर दिया ये बयान

हालांकि 2017 में उन्हें राज्य कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त किया गया लेकिन 2019 में उन्हें एक और चुनावी हार का सामना करना पड़ा जब वह भाजपा के उम्मीदवार सनी देओल से गुरदासपुर लोकसभा सीट हार गए.इमेज स्रोत,62 साल केसुखजिंदर सिंह रंधावा, कैप्टन अमरिंदर सिंह की कैबिनेट में जेल और सहकारिता मंत्री हैं.

पंजाब के माझा क्षेत्र के गुरदासपुर ज़िले के रहने वाले रंधावा तीन बार के कांग्रेस विधायक रहे हैं और 2002, 2007 और 2017 में निर्वाचित हुए हैं. वह राज्य कांग्रेस के उपाध्यक्ष और एक जनरल सेक्रेटरी के पद पर रह चुके हैं. वह एक कांग्रेस परिवार से आते हैं. उनके पिता संतोख सिंह दो बार राज्य कांग्रेस अध्यक्ष थे और माझा क्षेत्र में मशहूर शख्सियत भी. headtopics.com

सुखजिंदर सिंह रंधावा, बादल परिवार के ख़िलाफ़ बहुत आक्रामक रहे हैं. रंधावा ने 2015 में पंजाब में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और उसके बाद पुलिस फ़ायरिंग में दो युवकों की मौत के मामलों में आरोपियों पर मुक़दमा न चलने का मुद्दा उठाया था.बाद में नवजोत सिंह सिद्धू के सुर में सुर मिलाते हुए उन्होंने चुनावी वादों को पूरा ना कर पाने का आरोप लगाते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह के ख़िलाफ़ खुला विद्रोह भी किया.

गुरदासपुर ज़िले के 64 वर्षीयप्रताप सिंह बाजवाभी सीएम पद के संभावित उम्मीदवारों में से हैं. वह राज्य के सबसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं में से एक हैं और वर्तमान में पंजाब से राज्यसभा सांसद भी हैं.इमेज स्रोत,Hindustan Timesप्रताप सिंह बाजवा के पिता सतनाम सिंह बाजवा भी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता थे और मंत्री रह चुके थे.

प्रताप सिंह बाजवा के छोटे भाई फ़तेह जंग सिंह बाजवा भी मौजूदा कांग्रेस विधायक हैं. जबकि उनकी पत्नी चरणजीत कौर बाजवा भी पिछली विधानसभा में विधायक रही हैं.बाजवा राज्य कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रहे हैं और 1994 से 2007 के बीच राज्य की विभिन्न कांग्रेस सरकारों में तीन बार विधायक और मंत्री रह चुके हैं.

वह गुरदासपुर से लोकसभा सांसद भी रहे हैं.नवजोत सिंह सिद्धूके कांग्रेस में आने के बाद से जिस तरह घटनाक्रम बदले हैं वो किसी से छिपा नहीं है.इमेज स्रोत,Hindustan Timesनवजोत सिंह सिद्धू प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वर्तमान अध्यक्ष हैं. वह कैप्टन अमरिंदर सिंह की कैबिनेट में मंत्री पद पर भी थे लेकिन बाद में उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया था. बाद में उन्होंने कैप्टन अमरिंदर सिंह के ख़िलाफ़ मोर्चा खोल दिया था और कई सार्वजनिक मंचों पर उनके और उनकी सरकार के ख़िलाफ़ बयानबाज़ी भी की थी. headtopics.com

शेख हसीना हिंदुओं की दोस्त, भारत सरकार करे उनकी मदद: तथागत रॉय कश्मीर: पंपोर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, लश्कर का टॉप कमांडर उमर मुश्ताक साथी समेत ढेर Prem Shukla बोले- बाबरी मस्ज‍िद व‍िध्वंस में शाम‍िल 5 श‍िवसैनिकों का नाम बता दें श‍िवसेना प्रवक्ता

एक पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर और एक टेलीविजन कॉमेडी शो के मेज़बान रह चुके सिद्धू, अमरिंदर सिंह के विरोध के बावजूद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बने और अब उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटाने में भी कामयाब रहे हैं. यह सबकुछ महज़ पांच महीने के भीतर हुआ है.अमृतसर लोकसभा क्षेत्र से तीन बार के सांसद रह चुके और भाजपा के राज्यसभा के लिए मनोनीत सदस्य रह चुके सिद्धू इन नामों की फ़ेहरिश्त में भले ही सबसे कम उम्र के हों लेकिन उनके नाम की चर्चा सबसे अधिक है

2017 के विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सिद्धू बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए. बाकी तीन संभावित उम्मीदवारों की तरह वह भी एक कांग्रेस परिवार से आते हैं.इमेज स्रोत,Hindustan Timesकैसे हुआ ये परिवर्तनपंजाब के नेतृत्व को लेकर काफी लंबे समय से सुगबुगाहट शुरू हो गई थी लेकिन बीते दिन सबकुछ साफ़ हो गया. अमरिंदर सिंह ने यह कहते हुए राज्यपाल को अपना इस्तीफ़ा सौंप दिया कि वह अपमानित महसूस कर रहे हैं.

लेकिन इस परिणाम का अंदाज़ा काफी हद तक शुक्रवार को लग गया था जब शुक्रवार दोपहर को पार्टी महासचिव अजय माकन के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने गए. उनके पास राज्य के कम से कम 60 कांग्रेस विधायकों के हस्ताक्षर वाला एक दस्तावेज़ भी था.हिंदुस्तान टाइम्सने जानकारों के हवाले से लिखा है कि शुक्रवार सुबह लिए गए हस्ताक्षरों से पता चल गया था कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को अपने ही विधायक दल का समर्थन नहीं मिला.

इस बात पर यक़ीन करने की एक वजह यह भी है कि अमरिंदर सिंह ने खुद स्वीकार किया कि ज्यादातर विधायक आमतौर पर वही करते हैं जो पार्टी आलाकमान उनसे चाहता है.राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि चुनाव से पहले यह पार्टी ही तय करती है कि कौन चुनाव लड़ेगा और कौन नहीं. इसलिए ऐसा होना कोई आश्चर्य की बात नहीं. headtopics.com

राहुल गांधी और माकन की मुलाक़ात के बाद पंजाब में राजनीति तेज़ी से बदली.राहुल गांधी ने माकन को पार्टी के कानून विशेषज्ञ अभिषेक मनु सिंघवी से परामर्श करने के लिए कहा. डर ये था कि अमरिंदर सिंह पंजाब विधानसभा को भंग करने की सिफारिश कर सकते हैं. साथ ही राज्य के प्रभारी पार्टी महासचिव हरीश रावत को सीएलपी की बैठक बुलाने के लिए कहा गया था.

इमेज स्रोत,Hindustan Timesकांग्रेस शासित दूसरे राज्यों में भी नेतृत्व को लेकर संशय और उथल-पुथलपंजाब में हुए राजनीतिक बदलाव के बाद कांग्रेस शासित अन्य राज्यों में भी उथल-पुथल मच गई है.द हिंदू केअनुसार, नेतृत्व को लेकर पंजाब में मची हलचल के बाद कांग्रेस के हलकों में यह सवाल पूछा जाने लगा है कि क्या आने वाले समय में छत्तीसगढ़ में भी नेतृत्व परिवर्तन देखने को मिल सकता है.

जम्मू-कश्मीरः अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का पोता सरकारी नौकरी से बर्खास्त अफगानिस्तान के मुद्दे पर भारत ने पाकिस्तान NSA को दिया न्योता, नवंबर में दिल्ली में होनी है बैठक कांग्रेस के दोबारा अध्यक्ष बनेंगे राहुल गांधी? CWC बैठक में बोले- करूंगा विचार

17 सितंबर को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से यह सवाल भी पूछा गया था. हालांकि उन्होंने इसका कोई जवाब नहीं दिया और इसे टाल दिया.उन्होंने सिर्फ़ इतना कहा था, "हमारे प्रभारी पी.एल. पुनिया ने इस संबंध में एक बयान दिया था और वह बयान अंतिम है."

सिद्धू के दोस्त हैं पाक पीएम, सीएम पद के लिए उनके नाम का विरोध करूंगा- कैप्टन अमरिंदर सिंहलेकिन राहुल गांधी ने भूपेश बघेल के साथी और स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव के साथ अपने किये गए वादे को पूरा करने के इच्छुक हैं, जिसमें उन्होंने ढाई साल बाद मुख्यमंत्री बदलने की बात कही थी.

बदलाव की समयसीमा 16 जून ही थी लेकिन ना तो आलाकमान फैसला कर पाया है और न ही बघेल ने पद छोड़ने की बात कही.कई लोगों का मानना है कि राहुल गांधी की छत्तीसगढ़ की प्रस्तावित यात्रा में देरी भी इसीलिए हुई क्योंकि आलाकमान नेतृत्व को लेकर फ़ैसला नहीं कर पाया है.

वहीं राजस्थान में भी अशोक गहलोत सरकार में कैबिनेट विस्तार के मामले पर फिलहाल कोई फ़ैसला होता नहीं दिख रहा है. और पढो: BBC News Hindi »

दुर्गा पंडाल- इस्कॉन मंदिर पर अटैक, देखें बांग्लादेश में हिंदुओं पर हमलों का विश्लेषण

बांग्लादेश में पिछले चार दिनों में हिंदू मंदिरों पर लगातार हमले हो रहे हैं. शुक्रवार को बांग्लादेश के नोआखाली इलाके में इस्कॉन मंदिर में भीड़ ने हमला कर दिया. मूर्तियों को तोड़ा गया और एक हिंदू श्रद्धालु की जान ले ली गई. इससे पहले वहां कई दुर्गा पूजा पंडालों पर बहुसंख्यक मुस्लिम कट्टरपंथियों की भीड़ ने अटैक किया था और तोड़फोड़ मचाई थी. जिसके बाद बांग्लादेश के हिंदू समुदाय दावा कर रहा है कि 1971 के बाद पहली बार बांग्लादेश में हिंदुओं पर इतने बड़े हमले हो रहे हैं. देखें खबरदार.

महाराष्ट्र के देवेंद्र फडणवीस को बना दो क्योंकि वह मुख्यमंत्री बनने के लिए बहुत आतुर हो रहा है सिद्धू को अभी लंबा रास्ता तय करना होगा। मुझे लगता है कि पार्टी को किसी अन्य नाम की घोषणा कर अटकलों पर विराम लगाना चाहिए। पंजाब के नए मुख्यमंत्री सुनील जाखड़ हो सकते हैं क्योंकि सिद्धू बाजवा की मुखालफत हो सकती है और सुनील जाखड़ की कहीं कोई मुखालफत नहीं और जमीनी लीडर है

सिर्फ़ 3 राज्यों में बची है कांग्रेस ओर तीनो में ही सीएम पद को लेकर झगड़ा है पंजाब हो राजस्थान हो या छत्तीसगढ़ हो Every Sikh should remember what balram jhaker(father of Sunil jhaker) said about panjab……then cast your vote…… मेरे हिसाब से इनमे से कोई नहीं,अम्बिका सोनी जी बन सकती है. जब भी जी चाहे नई दुनिया बस लेते है लोग। एक चेहरे पर कई चेहरे लगा लेते है लोग।। नाम है सिद्धू😅🤣😂

Navjot singh Sidduji ❤ Tom Dick Harry Sherry ~ Randwa he banega desh ka pm bhi to wo he hai सुनील जाखड़ का भी नाम हो सकता है अगले मुख्यमंत्री के तौर पर। वो क्यूं नहीं दिखाते तुम.? क्यूंकि वो हिन्दू है और हिन्दू को भी मुख्यमंत्री बना सकती है कांग्रेस इसीलिए नहीं दिखाते। ये खबरों के साथ भेदभाव करने की ठान ली है ने।

नवजोत सिद्धू या सुनील जाखड़, अब किसके सिर सजेगा पंजाब के CM का ताज?पंजाब (Punjab) में कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu)और अमरिंदर सिंह (Amrinder Singh) के बीच लंबे अरसे से चल रही कलह की परिणति में केप्टन अमरिंदर सिंह का मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे हो गया. पंजाब कांग्रेस में चला घमासान क्या अब समाप्त हो जाएगा? पंजाब सरकार का नेतृत्व अब किसके हाथ में जाएगा, यह एक बड़ा सवाल है जिसका जवाब कांग्रेस आलाकमान ही दे सकता है. सूत्रों के मुताबिक अमरिंदर सिंह की जगह लेने वालों में प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ (Sunil Jakhar), पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख प्रताप सिंह बाजवा और बेअंत सिंह के पोते और सांसद रवनीत सिंह बिट्टू तो दावेदार हैं ही, नवजोत सिंह सिद्धू भी इस दौड़ में शामिल हैं. दोस्तो एक बार video जरूर देखें और पसंद आए तो like share subscribe jarur करे बहुत मेहनत की है 🙏 बेशर्म लोग सत्ता की खिंचातानी में व्यस्त हैं और खुश हो रहे हैं और बात देश हित और देशभक्ति की करते हैं। 😎 जीनके पती सेकंड हैंड,जिनके नेता सेंकड हैंड,जीनकी ULLU MEDIA सेंकड हैंड,जीनकी प्रेमिका सेंकड हैंड जो खुद सेंकड हैंड,उनके नशीब मै सिल पैक कांहा!

देवेंद्र फडणवीस इतने ऑप्शन तो कौन बनेगा करोड़पति में भी नहीं देता है बिग बी “ Indians removed the neck shake & hand clap respect virtualbox… F… you we are free” सुनील जाखड़ का नाम लिखते हुए बीबीसी न्यूज़ को शर्म आ रही है क्या जाखड़ रवनीत सिंह बिट्टू

खबरदार: मुख्यमंत्री ने दिया इस्तीफा, पंजाब कांग्रेस में विवाद सुलझा या उलझा?पंजाब में अगामी विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. राज्‍यपाल ने उनका इस्‍तीफा मंजूर कर लिया है. कैप्टन ने इस्तीफा देने के बाद मीडिया के साथ वार्ता के दौरान कहा- वो अपमानित महसूस कर रहे थे. हालांकि, कैप्टन ने अपने अगले कदम को लेकर सस्पेंस रखा है. लेकिन, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को डेंट लगना लगभग तय है. क्योंकि कैप्टन कांग्रेस के दिग्गज नेता हैं. और करीब कुल साढ़े नौ साल पंजाब में मुख्यमंत्री रह चुके हैं. देखें वीडियो. chitraaum

कुरुक्षेत्र: पंजाब में कांग्रेस की सियासी जोखिम, नेताओं का दिग्गज होना जीत की गारंटी नहींकुरुक्षेत्र: पंजाब में कांग्रेस की सियासी जोखिम, नेताओं का दिग्गज होना जीत की गारंटी नहीं Punjab Politics Risk Kurukshetra INCIndia AmrinderSingh CongressCrisis INCIndia Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITC4Assam AITC4Delhi AITC4Bihar AITC4Jharkhand AITC4Tripura AITC4UP AITC4Gujarat AITCofficial AITC_Parliament BanglarGorboMB

स्वतंत्रता द‍िवस हो या व‍िदेश दौरा, जनता से जुड़ने का मौका नहीं चूकते PM Modiपीएम मोदी की लोकप्रियता की सबसे बड़ी वजह ये भी है कि वो जनता से जुड़ने का कोई मौका नहीं छोड़ते. खास त्योहारों पर सेना के जवानों के बीच जाना हो, या दिल्ली की हुनर हाट में जाकर लिट्टी चोखा खाना हो, ओलिंपिक और पैरालिंपिक के खिलाड़ियों से मिलना हो या फिर उनका कोई विदेश दौरा हो, पीएम मोदी समय समय पर जनता के बीच आते रहे हैं और लोग भी अपने प्रधानमंत्री को अपने बीच पाकर खुश हो गए हैं. इस स्वतंत्रता दिवस पर पीएम ने सभी ओलिंपिक में भाग लिए खिलाड़ियों को दिल्ली के कार्यक्रम में आमंत्रित किया और अपने संबोधन के बाद सबसे मिले. इसके बाद उन्होंने सभी पदक विजेताओं को अपने आवास पर बुला कर उनके साथ भोजन भी किया. देखें कैसे जुड़ते हैं पीएम जनता से. फर्जी झूटलर मोदी एंड यू अरे गोदिया Press se kab judenge press conference karke🤣🤣 तो ये बेरोजगारी नही होती ...

पंजाब के CM अमरिंदर सिंह का इस्तीफा, दिखाए 'बागी' तेवर, कहा- मेरी बेइज्जती की गईमैंने सुबह सोनिया गांधी को बता दिया था कि मैं इस्तीफा दे रहा हूं : अमरिंदर सिंह Congress PunjabCM PunjabPolitics PunjabCongressCrisis AmarinderSingh Sidhu MLAS NavjotSinghSidhu Punjab PunjabCabinet INCIndia sherryontopp capt_amarinder CMOPb

कैप्‍टन का इस्‍तीफा: पंजाब में जो हुआ तय था, आगे क्या होगा अनिश्चित है?अभी पंजाब जरूर चर्चाओं में है लेकिन इस घटनाक्रम के पहले थोड़ा पीछे जाना होगा... Congress PunjabCM PunjabPolitics PunjabCongressCrisis AmarinderSingh Sidhu MLAS NavjotSinghSidhu Punjab PunjabCabinet INCIndia sherryontopp capt_amarinder CMOPb