Supremecourt, Madrasamissionaryeducation, Supreme Court, सुप्रीम कोर्ट, Uniform Education Code, Madrasa Missionary Education, Gurukul And Vedic School, समान शिक्षा संहिता

Supremecourt, Madrasamissionaryeducation

गुरुकुल, मदरसा, मिशनरी और वैदिक स्कूल के लिए समान शिक्षा संहिता की मांग, सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल

गुरुकुल, मदरसा, मिशनरी और वैदिक स्कूल के लिए समान शिक्षा संहिता की मांग, सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल #SupremeCourt #MadrasaMissionaryEducation

25-09-2021 19:35:00

गुरुकुल, मदरसा, मिशनरी और वैदिक स्कूल के लिए समान शिक्षा संहिता की मांग, सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल SupremeCourt MadrasaMissionaryEducation

सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल हुई है जिसमें गुरुकुल मदरसा मिशनरी और वैदिक स्कूल के लिए समान शिक्षा संहिता लागू करने की मांग की गई है। याचिका में अनुरोध किया गया है कि गुरुकुल और वैदिक स्कूलों को मदरसा और मिशनरी स्कूलों के समान मान्यता दी जाए।

सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दाखिल हुई है, जिसमें गुरुकुल, मदरसा, मिशनरी और वैदिक स्कूल के लिए समान शिक्षा संहिता लागू करने की मांग की गई है। याचिका में अनुरोध किया गया है कि गुरुकुल और वैदिक स्कूलों को मदरसा और मिशनरी स्कूलों के समान मान्यता दी जाए। समान शिक्षा संहिता लागू करने की मांग वाली यह याचिका वकील और भाजपा नेता अश्वनी कुमार उपाध्याय ने दाखिल की है। याचिका में केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय, कानून मंत्रालय, शिक्षा मंत्रालय, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्रालय और विधि आयोग को पक्षकार बनाया गया है।

आर्यन खान ड्रग्स केसः आरोपों के बीच एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े पहुंचे दिल्ली - BBC Hindi क्रिकेटर शमी के खिलाफ अपशब्दों को हटाने के लिए कदम उठाए गए हैं: फेसबुक क्रूज पर जाने से पहले गोसावी ने भेजी थी तस्वीरें, कहा था नजर रखना : NCB के गवाह नंबर-1 ने NDTV से कहा

गुरुकुल और वैदिक स्कूलों को मदरसा और मिशनरी स्कूलों के समान मान्यता देने का अनुरोधइसमें मांग है कि सुप्रीम कोर्ट घोषित करे कि संविधान के अनुच्छेद 29, 30 के अंतर्गत जिस तरह मुस्लिमों को मदरसा और ईसाइयों को मिशनरी स्कूल खोलने का अधिकार है, उसी तरह हिंदुओं को गुरुकुल और वैदिक स्कूल खोलने का अधिकार प्राप्त है। कहा गया कि वर्तमान समय में मदरसा और मिशनरी स्कूल के शैक्षणिक प्रमाणपत्र को सरकारी नौकरियों में मान्यता प्राप्त है, लेकिन गुरुकुल और वैदिक स्कूल के छात्रों को योग्य नहीं माना जाता। मदरसा और मिशनरी स्कूल धार्मिक शिक्षा भी देते हैं। फिर भी उन्हें सरकार मान्यता और फंड भी देती है। जबकि गुरुकुल और वैदिक स्कूलों को न ही मान्यता दी जाती है और न ही फंड दिया जाता है।

यह भी पढ़ेंभेदभाव की ओर दिलाया गया अदालत का ध्यानइसमें कहा गया है कि संविधान के अनुच्छेद 29 में सिर्फ अल्पसंख्यकों को ही नहीं बल्कि देश के सभी नागरिकों को अपनी संस्कृति, भाषा और स्कि्रप्ट को संरक्षित करने का अधिकार है। इसी तरह अनुच्छेद 30 में केवल अल्पसंख्यकों को नहीं बल्कि बहुसंख्यकों को भी अपनी पसंद के शैक्षणिक संस्थान स्थापित करने और प्रबंधन का अधिकार मिला हुआ है। इसलिए केंद्र सरकार का दायित्व है कि वह गुरुकुल, वैदिक स्कूल, मदरसा और मिशनरी स्कूल के लिए अनुच्छेद 14, 15, 16, 19, 29 और 30 की भावना के अनुकूल समग्र और समान शिक्षा संहिता बनाए। headtopics.com

यह भी पढ़ेंगुरुकुल और वैदिक स्कूल वैज्ञानिक और पंथनिरपेक्ष शिक्षा दे रहे हैं। फिर भी उन्हें मदरसा और मिशनरी स्कूलों के समान नहीं माना जाता। याचिका में कहा गया है कि लगातार संविधान के अनुच्छेद 29 और 30 की गलत व्याख्या की जा रही है, जिसके कारण बहुसंख्यक समुदाय अपने सांस्कृतिक और शैक्षणिक अधिकारों से वंचित है। अनुच्छेद 29 और 30 में जो अल्पसंख्यक शब्द का उपयोग किया गया है, वह केवल देश के धार्मिक आधार पर हुए विभाजन के बाद भारत में रह रहे अल्पसंख्यकों को एक अतिरिक्त सुरक्षा देने के लिए किया गया था।

यह भी पढ़ेंयाचिकाकर्ता का कहना है कि यह कोई विशेष अधिकार नहीं है, बल्कि एक अतिरिक्त सुरक्षा दी गई है। अल्पसंख्यक मंत्रालय 25,000 मदरसों को मान्यता देता है। इसके अलावा जमीयत उलमा-ए- हिंद के भी पूरे देश में करीब 20,000 मदरसे हैं जो कि शिक्षा मंत्रालय के दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करते। इसके बावजूद उनके छात्रों को सरकारी नौकरियों में राज्य शिक्षा बोर्डों और सीबीएसई बोर्ड से पास छात्रों के बराबर माना जाता है। लेकिन गुरुकुल और वैदिक स्कूल के छात्रों को यह मान्यता नहीं है।

और पढो: Dainik jagran »

10 तक: हत्यारों ने दी महिला को दर्दनाक मौत, जमवारामगढ़ हत्याकांड को लेकर गेहलोत सरकार घिरी

राजस्थान के जयुपर में 55-वर्षीय महिल गीता देवी की निर्मम हत्या से सनसनी मच गई है. हत्यारों ने महिला को कुल्हाड़ी से हमला भी किया. साथ में महिला के पैर कांट दिए. जांच के लिए पुलिस ने 30 टीमें लगा दी हैं. यानि 300 पुलिसवाले लगा दिए हैं. लेकिन तीन दिन बाद भी अब तक ना पैर काटकर जयपुर में महिला की पायल लूटने वाले अपराधियों की पता चला ना ही इस परिवार के पास किसी सक्षम मंत्री-अधिकारी के पहुंचने का पता चला. बीजेपी के नेता राज्यवर्धन सिंह राठौड़ परिवार से मिलने के बाद गेहलोत सरकार को घेरा है. देखें वीडियो.

महत्वपूर्ण पहल। start_MP_teachers_transfer_portal हजारों शिक्षक स्वैच्छिक ट्रांसफर से सिफारिशी पत्र के अभाव वंचित हो गये जबकि मान. मोदी जी का संकल्प है सबका साथ सबका विकास और आप सिर्फ सिफारिश वालों का विकास कर रहे ये कैसी नीति ? narendramodi ChouhanShivraj RahulGandhi OfficeOfKNath . Very long awaited demand. It should done.

MI vs KKR: वेंकटेश और त्रिपाठी के अर्धशतक, कोलकाता ने मुंबई को सात विकेट से हरायाMI vs KKR: वेंकटेश और त्रिपाठी के अर्धशतक, कोलकाता ने मुंबई को सात विकेट से हराया MIvKKR IPL2021

LIVE: व्हाइट हाउस में PM मोदी और कमला हैरिस की मुलाकात जारी, कोविड वैक्सीनेशन पर बातPM Modi US Live Updates: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन दिवसीय अमेरिका के दौरे पर गए हुए हैं. इस दौरे पर पीएम मोदी कई ग्लोबल सीईओ के साथ मुलाकात करेंगे. वहीं, कई देशों के नेताओं के साथ भी मुलाकात होगी. KING 👑 OF THE BHARAT MODI JI 🙏🙏🙏 Asal villain Anjana ka.......

‘खो गए हम कहां’ में नजर आएगी सिद्धांत चतुर्वेदी और अनन्या पांडे की जोड़ीफरहान अख्तर की नई फिल्म ‘खो गए हम कहां’ में सिद्धांत चतुर्वेदी और अनन्या पांडे की जोड़ी नजर आएगी।

बेजुबान और इंसानआकाश सूरज, चांद का स्थायी निवास है और बादल, कोहरा या बर्फ कभी-कभार आने-जाने वाले मेहमान।

अतिक्रमण...पुलिस की गोली और फोटोग्राफर, जानिए असम में कैसे मचा बवालअसम के दरांग जिले में पुलिस और लोगों के बीच ऐसी हिंसक झड़प हुई कि दो ने अपनी जान गंवा दी, वहीं 9 पुलिसकर्मी भी घायल हो गए. इस घटना के बाद एक फोटोग्राफर का वीडियो भी वायरल रहा जहां पर वो एक मृत के शव के साथ बर्बरता करता दिख गया.

PM Narendra Modi और Joe Biden की मुलाकात आज, देखें किन मुद्दों पर करेंगे चर्चाभारत-अमेरिका के रिश्तों को लेकर आज का दिन बेहद अहम है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मिल रहे हैं. ये मुलाकात भारतीय समय के मुताबिक रात 8.30 बजे तय है. लेकिन उससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की है. ऑस्ट्रेलिया और जापान के प्रधानमंत्री से भी मिले हैं और भारत के साथ मजबूत रिश्ते की पहल की है. अब सभी की नजरें अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन और पीएम मोदी की मुलाकात पर टिकी हैं, जिसमें आतंकवाद समेत कई अहम मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो. 'अबकी बार ट्रंप सरकार' एक पागल आदमी की सनक का नतीजा सौ करोड़ भुगतेंगे।