Gurupurnima, Haridwar, Haridwar News, Guru Purnima, Guru Purnima 2021, Guru Purnima Snan, Uru Purnima 2021 Snan, Ganga Snan, Coronavirus, Covid 19, Dehradun News İn Hindi, Latest Dehradun News İn Hindi, Dehradun Hindi Samachar

Gurupurnima, Haridwar

गुरु पूर्णिमा 2021: स्नान पर्व को लेकर आज हरिद्वार बॉर्डर पर सख्ती, दूसरे जिलों से पहुंची फोर्स

गुरु पूर्णिमा 2021: स्नान पर्व को लेकर आज हरिद्वार बॉर्डर पर सख्ती, दूसरे जिलों से पहुंची फोर्स #GuruPurnima #Haridwar

24-07-2021 01:30:00

गुरु पूर्णिमा 2021: स्नान पर्व को लेकर आज हरिद्वार बॉर्डर पर सख्ती, दूसरे जिलों से पहुंची फोर्स GuruPurnima Haridwar

25 जुलाई से श्रावण मास शुरू हो जाएगा। प्रदेश सरकार कांवड़ यात्रा को स्थगित कर चुकी है। जिले में कांविड़यों की आमद न हो।

ख़बर सुनेंकल से श्रावण मास शुरू हो जाएगा। प्रदेश सरकार कांवड़ यात्रा स्थगित कर ही चुकी है। जिले में कांविड़यों की आमद न हो इसको लेकर पुलिस ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है। आज शनिवार से जिले के सभी बॉर्डर पर सख्ती हो गई है। वहीं आज होने वाले गुरु पूर्णिमा स्नान पर्व को लेकर भी सख्ती की जा रही है।

नाकाबिल नवजोत सिंह सिद्धू को बतौर CM नहीं करूंगा कबूल : अमरिंदर सिंह सोनू सूद ने 20 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी की: आयकर विभाग - BBC News हिंदी कैप्टन अमरिंदर सिंह ने NDTV से कहा- सिद्धू पाकिस्तान समर्थक, उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता

गुरु पूर्णिमा 2021: हरिद्वार में श्रद्धालुओं के गंगा स्नान पर रोक, गुरु के दर्शन के लिए लानी होगी कोविड निगेटिव रिपोर्टकोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कांवड़ यात्रा को प्रतिबंधित कर दिया है। ऐसे में कांविडए जिले में प्रवेश न करें। उनके लिए रणनीति तैयार की गई है। कांवड़ियों को बॉर्डर से ही वापस लौटाया जाएगा। वहीं ट्रेनों व बसों में भी सख्ती की जाएगी। इसके अलावा जिले के सभी बॉर्डर को आज से सील कर दिया गया है।

धर्मनगरी में आने वाले लोगों को आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथलि अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि 900 से अधिक पुलिसकर्मी जिले के बॉर्डर, गंगा घाटों व अन्य सार्वजनिक जगहों पर तैनात किए गए हैं। इसमें पीएसी की भी 10 कंपनी हैं। headtopics.com

उन्होंने बताया कि हरिद्वार-नजीबाबाद चिड़ियापुर बॉर्डर पर एसआई 1, आरक्षी 8 व एक प्लाटून पीएसी की लगाई गई है। वहीं नारसन बॉर्डर पर दिन-रात में 4 एसआई, 21 पुलिसकर्मी, व एक प्लाटून पीएसी की तैनात की गई है। इसके साथ ही मंडावर में 4 एसआई, 13 पुलिसकर्मी, व पीएसी का डेढ़ प्लाटून तैनात है।

काली नदी पुल पर 2 एसआई, 14 पुलिसकर्मी, व डेढ़ प्लाटून पीएसी लगाई गई है। भूपतवाला में 4 एसआई, 9 पुलिसकर्मी, व एक प्लाटून पीएसी लगाई गई है। वहीं पुरकाजी में खानपुर बॉर्डर पर 2 एसआई, 8 पुलिसकर्मी व पीएसी की एक प्लाटून तैनात है।बॉर्डर से लौटाए गए कांवड़िए

शुक्रवार को श्यामपुर बॉर्डर से कांवड़ियों के पांच वाहन लौटाए गए हैं। नारसन, चिड़ियापुर, श्यामपुर, भगवानपुर से 120 वाहनों को वापस लौटाया गया। ये लोग हरिद्वार आ रहे थे और इनके पास आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट नहीं थी। बॉर्डर पर जब वाहन स्वामियों से टेस्ट करवाने के लिए कहा गया तो उन लोगों ने मना कर दिया। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि कांवड़ियों के सीमा पर प्रवेश करने पर उनके खिलाफ आपदा अधिनियम का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

विस्तारकल से श्रावण मास शुरू हो जाएगा। प्रदेश सरकार कांवड़ यात्रा स्थगित कर ही चुकी है। जिले में कांविड़यों की आमद न हो इसको लेकर पुलिस ने अपनी पूरी तैयारी कर ली है। आज शनिवार से जिले के सभी बॉर्डर पर सख्ती हो गई है। वहीं आज होने वाले गुरु पूर्णिमा स्नान पर्व को लेकर भी सख्ती की जा रही है। headtopics.com

कैप्टन अमरिंदर सिंह क्या पंजाब कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन सकते हैं - BBC News हिंदी कानूनी ढांचे पर छलका CJI का दर्द: चीफ जस्टिस रमना बोले- देश में अब भी गुलामी के दौर की न्याय व्यवस्था, यह भारत के हिसाब से ठीक नहीं कैप्टन के इस्तीफे के बाद Punjab में कितनी बढ़ गईं Congress की मुश्किलें, समझिए

विज्ञापनगुरु पूर्णिमा 2021: हरिद्वार में श्रद्धालुओं के गंगा स्नान पर रोक, गुरु के दर्शन के लिए लानी होगी कोविड निगेटिव रिपोर्टकोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने कांवड़ यात्रा को प्रतिबंधित कर दिया है। ऐसे में कांविडए जिले में प्रवेश न करें। उनके लिए रणनीति तैयार की गई है। कांवड़ियों को बॉर्डर से ही वापस लौटाया जाएगा। वहीं ट्रेनों व बसों में भी सख्ती की जाएगी। इसके अलावा जिले के सभी बॉर्डर को आज से सील कर दिया गया है।

धर्मनगरी में आने वाले लोगों को आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथलि अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि 900 से अधिक पुलिसकर्मी जिले के बॉर्डर, गंगा घाटों व अन्य सार्वजनिक जगहों पर तैनात किए गए हैं। इसमें पीएसी की भी 10 कंपनी हैं।

उन्होंने बताया कि हरिद्वार-नजीबाबाद चिड़ियापुर बॉर्डर पर एसआई 1, आरक्षी 8 व एक प्लाटून पीएसी की लगाई गई है। वहीं नारसन बॉर्डर पर दिन-रात में 4 एसआई, 21 पुलिसकर्मी, व एक प्लाटून पीएसी की तैनात की गई है। इसके साथ ही मंडावर में 4 एसआई, 13 पुलिसकर्मी, व पीएसी का डेढ़ प्लाटून तैनात है।

काली नदी पुल पर 2 एसआई, 14 पुलिसकर्मी, व डेढ़ प्लाटून पीएसी लगाई गई है। भूपतवाला में 4 एसआई, 9 पुलिसकर्मी, व एक प्लाटून पीएसी लगाई गई है। वहीं पुरकाजी में खानपुर बॉर्डर पर 2 एसआई, 8 पुलिसकर्मी व पीएसी की एक प्लाटून तैनात है।बॉर्डर से लौटाए गए कांवड़िए headtopics.com

शुक्रवार को श्यामपुर बॉर्डर से कांवड़ियों के पांच वाहन लौटाए गए हैं। नारसन, चिड़ियापुर, श्यामपुर, भगवानपुर से 120 वाहनों को वापस लौटाया गया। ये लोग हरिद्वार आ रहे थे और इनके पास आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट नहीं थी। बॉर्डर पर जब वाहन स्वामियों से टेस्ट करवाने के लिए कहा गया तो उन लोगों ने मना कर दिया। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि कांवड़ियों के सीमा पर प्रवेश करने पर उनके खिलाफ आपदा अधिनियम का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

भास्कर एक्सप्लेनर: जानिए उन चेहरों के बारे में जो बने जेट 2.0 के पंख; पर पिक्चर अभी बाकी है क्योंकि न तो स्लॉट्स हैं और न ही प्लेन, पार्किंग स्पेस भी बड़ी समस्या

अप्रैल 2019 से बंद पड़ी जेट एयरवेज फिर से उड़ने की तैयारी कर रही है। एयरलाइन के नए मैनेजमेंट ने दावा किया है कि 2022 की पहली तिमाही में इसकी घरेलू उड़ान शुरू हो जाएगी। वहीं, 2022 की तीसरी या चौथी तिमाही में इंटरनेशनल ऑपरेशन्स भी शुरू हो जाएंगे। | Jet Airways To Resume Domestic operations, starting with service In first quarter of 2022 2019 and How Many Employees Are There In Jet Airways Now? में नरेश गोयल की जेट एयरवेज का ऑपरेशन बंद कर दिया गया था। कंपनी दिवालिया होने के कगार पर थी। लेकिन, अब इसे दोबारा शुरू करने की बात कही जा रही है। दरअसल, इसी साल जून में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT)

Farmers Protests: केंद्र सरकार खुले मन से किसान संगठनों से वार्ता को तैयार : नरेंद्र सिंह तोमरFarmers Protests जंतर-मंतर पर जहां आंदोलनकारी किसान संगठनों की किसान संसद लगी वहीं संसद परिसर में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि उन्हें वार्ता में खुले मन से आना चाहिए। सरकार इसके लिए पूरी तरह तैयार है। nstomar माेदीके तलवे चाटते रहाे भाेसडिके गाेदी मिडिया nstomar बार्ता नहीं तीनों कानून वापसी चाहिए अगली सरकार किसानों की सरकार होनी चाहिए किसान नेताओं के नेतृत्व में बिपक्षी पार्टीयों को एकजुट होना चाहिए अभी नहीं तो फिर कभी नहीं किसान एकता जिंदाबाद nstomar दैनिक जागरण दुनियां का नंबर 1 बिक कर छपने वाला अखबार बना

आंध्र प्रदेश: कोरोना के डर से 15 महीने से बंद परिवार को पुलिस ने बचायाभारत समेत वैश्विक स्तर पर कोरोना का डर इस तरह हावी है कि आंध्र प्रदेश में एक पड़ोसी की कोविड-19 से मौत के बाद एक परिवार

IND vs ENG: भारत को लगा बड़ा झटका, स्टार खिलाड़ी चोटिल, इंग्लैंड सीरीज से बाहरइंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम को एक और बड़ा झटका लगा है। दरअसल, स्पिन गेंदबाज वाशिंगटन सुंदर अंगूठे में चोट के कारण इंग्लैंग कौन खिलाड़ी हूँ बाहर बताओ

ICICI बैंक का ग्राहकों को झटका, 1 अगस्त से होंगे 3 बड़े बदलावनई दिल्ली। ICICI बैंक ने 1 अगस्त से अपने नियमों में बड़ा बदलाव करने का फैसला किया है। इसके तहत बैंक के एटीएम से कैश निकालने से लेकर चेकबुक के नियम भी बदल जाएंगे।

दिल की सेहत को लक्षणों से समझें: पैर में सूजन, थकान और सांस लेने में दिक्कत को नजरअंदाज न करें क्योंकि पिछले 20 साल में सबसे ज्यादा मौतें हदय रोगों से हुईंविश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, पिछले 20 सालों में दुनिया में होने वाली मौतों का सबसे बड़ा कारण हृदय से जुड़े रोग हैं। जब हृदय की मांसपेशियां रक्त को पर्याप्त मात्रा में पम्प नहीं कर पाती हैं तब हृदय रोगों की शुरआत होती है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। जैसे कि रक्त वाहिकाओं का सिकुड़ना, हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट का धीरे-धीरे कमजोर हो जाना या फिर हार्ट का कठोर हो जाना। ऐसा होने पर उसमें न तो प... | formula to protect heart from cardiovascular disease know how to stay heart healthy ड्यूटी के दौरान कोरोनावायरस से निधन हुए पुलिसकर्मियों को कोरोना शहीद का दर्जा दिया जाय, इसे आकस्मिक निधन या साधारण निधन सरकार न माने, एक वर्ष हो गए कोरोनाशहीद के लिए शासन के पास कोई योजना या नियम नही है। इन्हे इग्नोर न करो। मै_भारतीय_दिव्यांग_हूं। RightToCoronaWarrior एक तो टैक्स चोरी उपरसे सिनाजोरी। Respected sir I was complain to Mr. Sarad singh (E) district division officers, but Mr. Sarad sir not take any action. Mr. Kaushlendra a forjery frady involved as a pump attend postbin dhobiya tunki rewa office. He is retairment on 30.07.2021,so plz take immediately action.

इंद्रकांत त्रिपाठी केस: 9 महीने से फरार पूर्व एसपी, पुलिस को अंदेशा- नेपाल भागाकेस की बात करें तो महोबा जिले के कबरई कस्बे के निवासी क्रेसर कारोबारी इंद्र कांत त्रिपाठी को बीते साल 8 सितंबर को गोली लगी थी. उन्हें संदिग्ध हालात में कार के अंदर घायल पाया गया था.