Coronavirus, Covid 19, Coronavaccine, Women Postponing Their Plan To Pregnant, Coronavirus, Covid 19, Corona Side Effects, Pregnant, Corona Pandemic, कोरोना का असर, कोरोना महामारी, World News İn Hindi, World News İn Hindi, World Hindi News

Coronavirus, Covid 19

कोरोना का असर: महामारी के कारण दूसरी बार मां बनने की योजना को टाल रही महिलाएं

कोरोना महामारी से पहले दोबारा मां बनने की योजना बना रही महिलाओं ने अपनी योजना को टाल दिया है।

17-09-2021 03:15:00

कोरोना का असर : महामारी के कारण दूसरी बार मां बनने की योजना को टाल रहीं महिलाएं Coronavirus Covid19 CoronaVaccine PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI

कोरोना महामारी से पहले दोबारा मां बनने की योजना बना रही महिलाओं ने अपनी योजना को टाल दिया है।

न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के ग्रॉसमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन ने ये दावा न्यूयॉर्क शहर में 1179 महिलाओं पर सर्वे के बाद किया है। इस अनुसार एक तिहाई महिलाएं महामारी से पहले दोबारा मां बनने की योजना बना रही थीं, लेकिन वायरस की दस्तक के बाद उन्होंने इसे टाल दिया है। महामारी रोग विशेषज्ञ और प्रमुख शोधकर्ता डॉ. लिंडा कां का कहना है कि महिलाएं महामारी के बीच गर्भधारण के खतरों के बारे में जान गई हैं। इस दौरा में गर्भधारण जच्चा-बच्चा दोनों के लिए खतरनाक है। अस्पतालों में संक्रमण का खतरा है। इसलिए महिलाएं इस दौर में गर्भधारण से बच रही है और ये बेहतर फैसला है।

हिंदू मंदिरों पर हमले के बाद बांग्लादेश में कई जगहों पर हिंसक प्रदर्शन - BBC News हिंदी मांडविया पर भड़कीं मनमोहन सिंह की बेटी: अस्‍पताल के बेड पर लेटे पिता की तस्‍वीर पब्लिक होने पर बोलीं- मेरे पेरेंट्स चिड़ियाघर के जानवर नहीं निहंगों को हटाने की मांग: किसान नेता बोले- हमारा आंदोलन कोई धार्मिक मोर्चा नहीं, निहंगों को यहां से चले जाना चाहिए

कोरोना टीके और माहवारी के बीच के संबंधों को समझना होगालंदन। कोरोना टीकाकरण के बाद महिलाओं की माहवारी में किसी तरह की तकलीफ होने पर तत्त्काल जांच की जरूरत है। ब्रिटिश मेडिकल जनरल ने अपने संपादकीय में ये बात इंपीरियल कॉलेज लंदन की रिप्रोडक्टिव विशेषज्ञ डॉ. विक्टोरिया माले ने लिखी है। उन्होंने लिखा है कि ब्रिटेन की मेडिसिन एंड हेल्थ केयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी के सामने अब तक 30 हजार मामले सामने आए हैं जिसमें महिलाओं ने टीकाकरण के बाद माहवारी में दिक्कत या अधिक रक्तस्राव की शिकायत की है।

महिलाओं को लेकर सतर्कता जरूरीडॉ. माले का कहना है कि टीके से प्रजनन क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ने का अब तक कोई संकेत नहीं मिला है। हां महिलाओं की शिकायत पर सतर्क होने की जरूरत है। संपादकीय में ये भी स्पष्ट लिखा है कि टीके के बाद माहवारी में अनियमितता देखी गई है। headtopics.com

विस्तार जामा नेटवर्क जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार न्यूयॉर्क में दोबारा मां बनने की इच्छा रखने वाली माएं महामारी की भयावह स्थिति देख दोबारा गर्भधारण से कतरा रही हैं।विज्ञापनन्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के ग्रॉसमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन ने ये दावा न्यूयॉर्क शहर में 1179 महिलाओं पर सर्वे के बाद किया है। इस अनुसार एक तिहाई महिलाएं महामारी से पहले दोबारा मां बनने की योजना बना रही थीं, लेकिन वायरस की दस्तक के बाद उन्होंने इसे टाल दिया है। महामारी रोग विशेषज्ञ और प्रमुख शोधकर्ता डॉ. लिंडा कां का कहना है कि महिलाएं महामारी के बीच गर्भधारण के खतरों के बारे में जान गई हैं। इस दौरा में गर्भधारण जच्चा-बच्चा दोनों के लिए खतरनाक है। अस्पतालों में संक्रमण का खतरा है। इसलिए महिलाएं इस दौर में गर्भधारण से बच रही है और ये बेहतर फैसला है।

कोरोना टीके और माहवारी के बीच के संबंधों को समझना होगालंदन। कोरोना टीकाकरण के बाद महिलाओं की माहवारी में किसी तरह की तकलीफ होने पर तत्त्काल जांच की जरूरत है। ब्रिटिश मेडिकल जनरल ने अपने संपादकीय में ये बात इंपीरियल कॉलेज लंदन की रिप्रोडक्टिव विशेषज्ञ डॉ. विक्टोरिया माले ने लिखी है। उन्होंने लिखा है कि ब्रिटेन की मेडिसिन एंड हेल्थ केयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी के सामने अब तक 30 हजार मामले सामने आए हैं जिसमें महिलाओं ने टीकाकरण के बाद माहवारी में दिक्कत या अधिक रक्तस्राव की शिकायत की है।

महिलाओं को लेकर सतर्कता जरूरीडॉ. माले का कहना है कि टीके से प्रजनन क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ने का अब तक कोई संकेत नहीं मिला है। हां महिलाओं की शिकायत पर सतर्क होने की जरूरत है। संपादकीय में ये भी स्पष्ट लिखा है कि टीके के बाद माहवारी में अनियमितता देखी गई है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

10तक: सियासत के लिए भी नमक की तरह इस्तेमाल होते हैं किसान!

देश की सियासत में किसान नमक की तरह इस्तेमाल होता है. जरूरत के हिसाब से सियासी दल उसका इस्तेमाल अपने हित के हिसाब से करते हैं. लखीमपुर खीरी का ही उदाहरण लीजिए जहां पहुंचने के लिए विपक्षी दलों में आज होड़ मच गई. मुश्किल में फंसी जनता का हाल जानना हर दल का फर्ज और हक दोनों है लेकिन जनता को कब कितना भाव दिया जाएगा ये चुनाव पर निर्भर करता है. यूपी में चुनाव है तो सभी दलों को किसानों की चिंता है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भी लखीमपुर खीरी आने को तैयार हैं, लेकिन उनके ही राज्य में पिछले 5 महीनों से आदिवासी किसान आंदोलन कर रहे हैं, उनकी सुध लेने का न तो मुख्यमंत्री को वक्त मिला है और न ही उनकी पार्टी के नेतृत्व ने उनके लिए आवाज उठाई है. देखें 10तक.

कोरोना महामारी से प्रभावित वर्ष 2020 में अपराध के मामले 28 प्रतिशत बढ़े: एनसीआरबीराष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा जारी आंकड़ों अनुसार, साल 2020 में कोविड नियमों का उल्लंघन करना प्रमुख अपराधों की श्रेणी में रहा. कुल 66,01,285 संज्ञेय अपराध दर्ज किए गए, जिसमें आईपीसी के तहत 42,54,356 मामले और विशेष एवं स्थानीय क़ानून के तहत 23,46,929 मामले दर्ज किए गए.

कोरोना वैक्सीन की बूस्टर शाट लगाने की योजना को लेकर केंद्र सरकार ने दिया यह जवाबकेंद्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वैक्सीन की बूस्टर शाट उसकी योजना में शामिल नहीं है और फिलहाल लोगों को दो खुराक देना मुख्य प्राथमिकता है। आइसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि दोनों खुराक देना आवश्यक है और इसमें कोई कोताही नहीं होनी चाहिए। सरकार ने स्पष्ट किया है कि वैक्सीन की दो डोज के बाद किसी बुस्टर शॉट लगाने की जरूरत नहीं है,मिडिया माडर्ना की वैक्सीन बेचने की एजेंडेबाजी कर रही है,छपने के पहले बिकने का यह अनुपम उदाहरण है,भी अछूता नहीं है इससे,प्रिंट मीडिया-इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में पिट कर अब यहाँ आ गए.. शिक्षक_ट्रांसफर_पोर्टल_चालू_करो ChouhanShivraj JM_Scindia Indersinghsjp माननीय घनघोर अंधेरा है हमको इसी में से जाना है कभी एकांत में अपने अंतर्मन से पूछिये कि क्यों आपने ट्रांसफर वंचितों के साथ न्याय नहीं किया? पारदर्शिता से पोर्टल पुनः चालू करके अंधेरा दूर कीजिये सरकार

School Reopen News: कोरोना की संभावित तीसरी लहर के बीच दिल्ली वालों ने कर दिया कमालसरकारी स्कूलों के छात्र शुरू से ही आफलाइन कक्षाओं के इंतजार में थे। स्कूल खुलने की घोषणा होते ही स्कूलों में उनकी बढ़ी हुई संख्या भी इस बात का प्रमाण है कि छात्रों के पास इंटरनेट कनेक्टिविटी तो दूर स्मार्टफोन तक की सुविधा नहीं है। Jai Jai.🌼🙏

Covid-19 & Dengue LIVE Updates: भारत में आज कोरोना के 27 हजार से ज्यादा नए मामलेकोरोना वायरस के मामलों में गिरावट का ट्रेंड दिख रहा है। पिछले 78 दिन से रोजाना सामने आने वाले मामलों की संख्या 50 हजार से कम देखी गई है। जम्मू-कश्मीर में 50% क्षमता के साथ 10वीं और 12वीं की ऑफलाइन क्लास शुरू कर दी गई हैं। केरल से गोवा आने वाले यात्रियों को पांच दिन क्वारंटीन रहना होगा। इसके बाद RTPCR टेस्ट होगा, तभी निकलने की अनुमति होगी। इस बीच कई राज्‍यों में डेंगू पांव पसार रहा है। दिल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश, मध्‍य प्रदेश समेत कई राज्‍यों में डेंगू के मामले तेजी से बढ़े हैं। दिल्ली में इस बार लगातार बारिश हो रही है। मच्छर बढ़ गए हैं और इसकी वजह से डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया का खतरा भी बढ़ गया है। डॉक्टरों का कहना है कि सितंबर से अक्टूबर के बीच डेंगू का पीक सीजन होता है। भारत में कोव‍िड-19 और डेंगू को लेकर ताजा अपडेट्स के लिए बने रहिए हमारे साथ।

NCRB 2020: लॉकडाउन के दौरान क्राइम ग्राफ में गिरावट, कोरोना नियमों के उल्लंघन में वृद्धिफेक करेंसी के मामलों पर अगर नजर डाली जाए तो साल 2020 के दौरान नकली भारतीय मुद्रा नोटों (FICN) के तहत 92,17,80,480 मूल्य के कुल 8,34,947 नोट जब्त किए गए, जबकि वर्ष 2019 में ₹ 25,39,09,130 ​​मूल्य के 2,87,404 नोट जब्त किए गए थे.

दिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 28 नए मामले, एक मरीज की हुई मौतदिल्ली में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 28 नए मामले, एक मरीज की हुई मौत Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITC4Assam AITC4Delhi AITC4Bihar AITC4Jharkhand AITC4Tripura AITC4UP AITC4Gujarat AITCofficial AITC_Parliament BanglarGorboMB