किसी भी सरकार से नहीं आया बातचीत का न्यौता, चढ़ूनी बोले- आंदोलन पहले की तरह रहेगा जारी

किसी भी सरकार से नहीं आया बातचीत का न्यौता, चढ़ूनी बोले- आंदोलन पहले की तरह रहेगा जारी, SKM की मीटिंग में आगे की रणनीति पर फैसला

Farmer Protest, Farm Laws

06-12-2021 18:48:00

किसी भी सरकार से नहीं आया बातचीत का न्यौता, चढ़ूनी बोले- आंदोलन पहले की तरह रहेगा जारी, SKM की मीटिंग में आगे की रणनीति पर फैसला

किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा कि बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि हमारा आंदोलन आगे की तरह ही चलता रहेगा और कल होने वाली संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में आगे की रणनीति को लेकर चर्चा की जाएगी।

किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि हमें सरकार ने बातचीत को लेकर नहीं बुलाया है और यह आंदोलन पहले की तरह जारी रहेगा। (एक्सप्रेस फोटो)पिछले एक साल से भी अधिक समय से दिल्ली की सीमा पर चल रहा किसान आंदोलन आगे भी जारी रहेगा। यह ऐलान किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने किया है। किसान नेता चढ़ूनी ने कहा कि हमें किसी भी सरकार से बातचीत का न्यौता नहीं आया है और यह आंदोलन पहले की तरह ही जारी रहेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा की अगली मीटिंग में आगे की रणनीति पर फैसला लिया जाएगा।

और पढो: Jansatta »

Etah की जनता किसके माथे पर बांधेगी जीत का सहरा? जॉय ई-बाईक रिपोर्टर ने जाना

उत्तर प्रदेश के चुनावों को लेकर आज जॉय ई-बाईक रिपोर्टर यूपी के एटा पहुंची हैं. इस एटा में दो बार हिंदू माहसभा, 6 बार भारतीय जनता पार्टी, एक बार यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, जिन्होंने बीजेपी से अलग होकर अपनी पार्टी बनाई, 2009 का विधानसभा चुनाव लड़ा और एटा से जीत भी हासिल की. अब बीते दो बार से उनके बेटे राजवीर सिंह एटा से बीजेपी के टिकट पर जीत रहे हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी में कमाल का प्रदर्शन किया था और यहां की चारों की चारों विधानसभा सीटें अपने नाम कर ली थी. लेकिन 2022 के चुनाव में एटा में क्या होगा, ये जानने के लिए नकलीं जॉय ई-बाईक रिपोर्टर. देखें. और पढो >>

कार में रखी पानी की बोतल बनी मौत की वजह, इंजीनियर की हादसे में गई जानदरअसल दिल्ली के रहने वाले इंजीनियर अभिषेक झा दोस्त के साथ कार से ग्रेटर नोएडा की तरफ जा रहे थे. इसी दौरान अभिषेक की गाड़ी सड़क किनारे खड़ी ट्रक से जा टकरायी जिस वजह से उनकी जान चली गई जबकि उनका दोस्त बुरी तरह घायल है. पुलिस ने हादसे का कारण कार में मौजूद पानी की एक बोतल को बताया है. TanseemHaider Ye kaise hua pani ki botal se jaan kaise chali gai koi mujhe bhi samjhayega TanseemHaider Lekin jo bhi hua bahut bura huaa kash Asia nhi hota to uski jaan nhi jati सात्विक सत्य शिखर पार्टी के सक्षम श्री शिव मिश्र ही इस बार उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री

दुल्हन की विंडो शॉपिंग: कपड़ों की तरह देखे जा रहे रिश्ते, शादी फिक्स होने के बाद भी और दिखाओ-और दिखाओ की डिमांडमैट्रिमोनियल साइट पर शादी के लिए लड़की ढूंढ रहे एक शख्स ने डिमांड रखी कि उसे 5 फुट 2 इंच से 5 फुट 6 इंच लंबी लड़की चाहिए। उसने अपनी दुल्हन के लिए ब्रेस्ट साइज, उसकी कमर और पैरों का साइज भी सामने रखा। लड़के की मांग के अनुसार दुल्हन को कुत्तों से प्यार होना चाहिए और उसकी उम्र 18 से 26 साल के बीच होनी चाहिए। विज्ञापन में बताया गया है कि एक ऐसी दुल्हन चाहिए जो 80% तक कैजुअल और 20% तक फॉर्मल कपड़े पहनन... | मैट्रिमोनियल साइट शादी डॉट कॉम के रोमांटिक संबंधों को लेकर किए गए सर्वे में सामने आया है कि कई लोग शादी फिक्स होने के बाद भी कहते हैं कि कोई और अच्छा रिश्ता है तो बताएं।

जयप्रकाश चौकसे का कॉलम: क्या विवाह गुरिल्ला युद्ध की तरह है; मौका मिलते ही पति या पत्नी अपने साथी की कमजोर नब्ज दबाने की कोशाश में रहते हैंताजा खबर है कि एक पति ने अपनी पत्नी को इसलिए तलाक दे दिया क्योंकि वह बड़ी प्राशासनिक अफसर नहीं बन पाई। वैसे उस महिला ने पढ़ाई तो बहुत की थी परंतु उसे परिणाम आने पर कम अंक मिले इसलिए वह असफल रही। अत: ऐसे प्रकरणों के आधार पर कहा जा सकता है कि संबंध तोड़ना कुछ लोगों के लिए एक मखौल बन गया है। | Is marriage like guerrilla warfare; As soon as the opportunity arises, the husband or wife tries to suppress the weak pulse of his partner.

हल्द्वानी में होगी प्रधानमंत्री मोदी की पहली जनसभा, सीएम बोले-पीएम देंगे हजारों करोड़ की सौगातदेहरादून के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 24 दिसंबर को जनसभा हल्द्वानी में होगी। खटीमा में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यह स्पष्ट किया। साथ ही जनता को हल्द्वानी आने के लिए आमंत्रण भी दिया। हल्द्वानी में पीएम की यह पहली सभा होगी।

स्कूल सेवा आयोग ने कलकत्ता हाई कोर्ट के निर्देश पर एक शिक्षक की नियुक्ति खारिज कीनौवीं व दसवीं कक्षा के शिक्षकों की नियुक्ति में भ्रष्टाचार को लेकर प्रशांत दास नामक व्यक्ति ने मुकदमा दायर किया था। जिसके बाद एसएससी (School Service Commission) ने कलकत्ता हाई कोर्ट ( Calcutta High Couurt) के निर्देश पर मुर्शिदाबाद में एक शिक्षक की नियुक्ति खारिज कर दिया।

मुनव्वर फ़ारूक़ी के साथ खड़े होना कलाकारों की अभिव्यक्ति की आज़ादी के पक्षधरों का कर्तव्य है‘हिंदुत्ववादी’ संगठनों की अतीत की अलोकतांत्रिक करतूतों के चलते उनकी कार्रवाइयां अब किसी को नहीं चौंकातीं. लेकिन एक नया ट्रेंड यह है कि जब भी वे किसी कलाकार के पीछे पड़ते हैं, तब लोकतांत्रिक होने का दावा करने वाली सरकारें, किसी भी पार्टी या विचारधारा की हों, कलाकारों की अभिव्यक्ति की आज़ादी के पक्ष में नहीं खड़ी होतीं, न ही उन्हें संरक्षण देती हैं. वायर का कहने का अर्थ यह है बाकी विदूषक भी फारुखी की तरह हिन्दू धर्म का अपमान करें, 59 हिन्दू तीर्थयात्रियों को जिंदा जलाने पर विदुषिकी करें। क्योंकि हिन्दू केवल शोर मचा सकते हैं 'सर तन से जुदा' नही करते। 😂😂😂😂🤪🤪🤪 तुम हो ना😢😢