आइएमए ने फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर्स के लिए की कोविड-19 बूस्टर डोज देने की मांग

आइएमए ने फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर्स के लिए की कोविड-19 बूस्टर डोज देने की मांग #ima #boosterdose #NationalNews

İma, Boosterdose

06-12-2021 19:10:00

आइएमए ने फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर्स के लिए की कोविड-19 बूस्टर डोज देने की मांग ima boosterdose NationalNews

देश भर में covid-19 के खिलाफ तेजी से टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। नए वैरिएंट के बढ़ते खतरे को देखते हुए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ( IMA ) ने फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर्स के लिए कोविड-19 का बूस्टर डोज देने की मांग की है।

देश भर में covid-19 के खिलाफ तेजी से टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर्स के लिए कोविड-19 का बूस्टर डोज देने की मांग की है। देश में ओमिक्रोन वैरिएंट ने दस्तक दे दी है, ऐसे में नया संकट सिर पर मंडराने लगा है, कई कोविड-19 वैक्सीन निर्माताओं ने ओमिक्रोन वैरिएंट से लड़ने के लिए अपनी-अपनी वैक्सीन की क्षमता का आकलन करना शुरू कर दिया है, जिससे जरुरत पड़ने पर नए डोज दिए जा सके।

यह भी पढ़ेंआइएमए की मांगनए वैरिएंट के बढ़ते खतरे को देखते हुए आइएमए ने स्वास्थ्य कर्मियों के फ्रंट लाइन वर्कर्स की सुरक्षा को प्राथमिकता पर ध्यान दे की मांग की है। आइएमए के अध्यक्ष डा जे ए जयलाल ने समाचार एजेंसी एएनआइ से हुई बातचीत में बताया, 'यह महत्वपूर्ण है कि सभी स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन कार्यकर्ताओं को उनकी प्रतिरक्षा बढ़ाने के लिए वैक्सीन बूस्टर खुराक दी जाए।' जयलाल ने कहा कि इस साल NEET-PG की काउंसलिंग में हुई देरी के चलते चिकित्सा सुविधाओं को पहले से ही मैन पावर की कमी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया। आइएमए अध्यक्ष ने कहा, 'एनईईटी-पीजी काउंसलिंग में देरी के कारण हमारे पास जनशक्ति की कमी है, पीएम को इस देरी को रोकने के लिए हस्तक्षेप करना चाहिए।'

यह भी पढ़ेंबता दें कि भारत ने 16 जनवरी, 2021 को राष्ट्रव्यापी कोविड -19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत की थी, जिसके पहले चरण में केवल स्वास्थ्य कर्मियों को ही टिका दिया गया था, जबकि दूसरे चरण, जो 2 फरवरी, 2021 को शुरु हुआ उसमें फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी शामिल करने के लिए टीकाकरण अभियान को बढ़ाया गया था। headtopics.com

Bal Thackrey Birth Anniversary: सीएम उद्धव ठकरे ने कहा- शिवसेना ने भाजपा के साथ रहकर 25 साल बर्बाद कर दिये

और पढो: Dainik jagran »

सरकार: 2017 में BJP के भारी बहुमत से जीत के बाद Yogi Adityanath कैसे चुने गए CM?

मार्च 2017 की बात है. फागुन की पूरनमासी से पहले ही यूपी में बीजेपी की पूरनमासी हो गई. यूपी के बड़े बड़े लड़ैया मोदी के आगे ढेर हो गए. प्रचंड बहुमत से बीजेपी को जीत मिली थी, जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी. लेकिन इसके बाद चुनना था एक ऐसा चेहरा जो इस भारी भरकम जनादेश के साथ न्याय कर सकता था, उत्तर प्रदेश का नया मुख्यमंत्री. चर्चा थी तीन नामों की - यूपी के सीएम रह चुके राजनाथ सिंह, गाज़ीपुर से तत्कालीन सांसद मनोज सिंहा और तब के यूपी बीजेपी अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य. लेकिन जो फैसला लिया गया वो कयासों से बिलकुल उलट था. घोषणा हो गई एक ऐसे नाम की जिनकी किसी ने चर्चा ही नहीं की थी. बाकि तो छोड़िए, खुद योगी आदित्यनाथ को नहीं मालूम था कि उनकी बारी ऐसे आ जाएगी. देखें सरकार. और पढो >>

नगालैंड की घटना की कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश, सेना ने बताया 'अफसोसजनक'नगालैंड की घटना की कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश, सेना ने बताया अफसोसजनक ऑनलाइन मोबाइल गेम पर प्रतिबंध लगाओ बच्चों के भविष्य के लिए onlinegame Sena ke bhi double standards hain...j.k main same thing..but koi afsos nahi ..par nagaland main..hua toh afsosjanak..kyoki bjp ko per jamaane hain udhar...😠

पैरा स्पेशल फोर्सेज के खिलाफ नगालैंड पुलिस ने स्वत: दर्ज की FIR, मर्डर के लगाए आरोपनगालैंड पुलिस ने शनिवार शाम नागरिकों पर गोलीबारी के सिलसिले में भारतीय सेना के 21 पैरा विशेष बलों के खिलाफ स्वत: संज्ञान लेते हुए प्राथमिकी दर्ज की है, जिसमें 13 लोगों की मौत हो गई थी. Godi media is zulm ko nahi dekhyga पता नही कितने सालों से हमारे कश्मीरी भाईयों पे इससे भी बर्बरता से हत्यायें होती आ रही लेकिन किसी भी अखबार या न्यूज़ चैनल वाले ऐसे कभी नही लिख पाते हैं।। टैब ना कहा जाता है कि हम दो भारत मे रहते हैं।। गलत को गलत कहने का हिम्मत रखो नही तो गुलामी वाला तमगा तो है ही है

स्कूल सेवा आयोग ने कलकत्ता हाई कोर्ट के निर्देश पर एक शिक्षक की नियुक्ति खारिज कीनौवीं व दसवीं कक्षा के शिक्षकों की नियुक्ति में भ्रष्टाचार को लेकर प्रशांत दास नामक व्यक्ति ने मुकदमा दायर किया था। जिसके बाद एसएससी (School Service Commission) ने कलकत्ता हाई कोर्ट ( Calcutta High Couurt) के निर्देश पर मुर्शिदाबाद में एक शिक्षक की नियुक्ति खारिज कर दिया।

मुनव्वर फ़ारूक़ी के साथ खड़े होना कलाकारों की अभिव्यक्ति की आज़ादी के पक्षधरों का कर्तव्य है‘हिंदुत्ववादी’ संगठनों की अतीत की अलोकतांत्रिक करतूतों के चलते उनकी कार्रवाइयां अब किसी को नहीं चौंकातीं. लेकिन एक नया ट्रेंड यह है कि जब भी वे किसी कलाकार के पीछे पड़ते हैं, तब लोकतांत्रिक होने का दावा करने वाली सरकारें, किसी भी पार्टी या विचारधारा की हों, कलाकारों की अभिव्यक्ति की आज़ादी के पक्ष में नहीं खड़ी होतीं, न ही उन्हें संरक्षण देती हैं. वायर का कहने का अर्थ यह है बाकी विदूषक भी फारुखी की तरह हिन्दू धर्म का अपमान करें, 59 हिन्दू तीर्थयात्रियों को जिंदा जलाने पर विदुषिकी करें। क्योंकि हिन्दू केवल शोर मचा सकते हैं 'सर तन से जुदा' नही करते। 😂😂😂😂🤪🤪🤪 तुम हो ना😢😢

कोविड-19: देश में पिछले 24 घंटे के दौरान 8,895 नए मामले आए सामनेदेश में कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्‍या भी बीते दिन के मुकाबले में कमी रही है. पिछले 24 घंटे में 6,918 लोग कोरोना से ठीक होने में कामयाब रहे हैं. इसके चलते कोरोना से ठीक होने वाले कुल लोगों की संख्‍या बढ़कर 3,40,60,774 हो गई है.

45 साल की सास ने 27 साल के दामाद पर लगाया रेप का आरोप, आरोपी फरारमहाराष्ट्र से एक समाज को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां एक सास ने अपनी से आधी उम्र के दामाद पर रेप का केस दर्ज कराया है. 😃😃😃