Shashidhar Reddy, शशिधर रेड्डी, कांग्रेस, कांग्रेस अध्यक्ष, कांग्रेस अध्यक्ष बने राहुल गांधी

Shashidhar Reddy, शशिधर रेड्डी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बोले- राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद पार्टी कैडर में चिंता बढ़ रही है, अब जल्द...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बोले- राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद पार्टी कैडर में बढ़ रही है चिंता , अब जल्द...

7/14/2019
NoAds

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बोले- राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद पार्टी कैडर में बढ़ रही है चिंता , अब जल्द...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक एम शशिधर रेड्डी ने कहा है कि राहुल गांधी के इस्तीफे के मद्देनजर पार्टी का नया अध्यक्ष चुनने के लिए प्रक्रिया तेज की जानी चाहिए और पार्टी के लोगों में विश्वास भरने के लिए अंतरिम अध्यक्ष की नियुक्ति की जानी चाहिए. रेड्डी अविभाजित आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एम चन्ना रेड्डी के पुत्र हैं. उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि इसे तेज किए जाने की आवश्यकता है, क्योंकि जमीनी स्तर से फीडबैक यह है कि पार्टी कैडर में चिंता बढ़ रही है. नेतृत्व का जो खालीपन प्रतीत हो रहा है, उसे लंबे समय तक नहीं चलने दिया जाना चाहिए.’

रेड्डी ने कहा, ‘कथित खालीपन को जारी नहीं रहने दिया जाना चाहिए, खासकर तब, जब भाजपा अन्य दलों के लोगों को तोड़ने के लिए धन-बल और डराने-धमकाने, सभी तरीकों का इस्तेमाल कर रही है.' उन्होंने कहा, ‘‘जब मैं जमीनी स्तर पर लोगों से बात करता हूं तो वे कहते हैं कि हमें क्या करना चाहिए...(हम कहां जा रहे हैं). यह सवाल निचले स्तर के कांग्रेस कैडर और कार्यकर्ताओं के मन में नहीं उठना चाहिए. क्योंकि वे आधार हैं.'' आपको बता दें कि एक दिन पहले ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति और मशहूर कारोबारी रॉबर्ट वाड्रा ने राहुल गांधी के इस्तीफे के फैसले की तारीफ की थी.

टिप्पणियांअपने फेसबुक पेज पर रॉबर्ट वाड्रा ने लिखा कि राहुल, मुझे आपसे सीखने को बहुत कुछ मिला है. हमारे देश में लगभग 65 प्रतिशत युवा (45 साल से कम उम्र के) हैं, जो आपके मार्गदर्शन में विश्वास रखते हैं .रॉबर्ट वाड्रा के मुताबिक राहुल गांधी ने अपने बेहद साहसिक और दृसंकल्पित व्यक्तित्व का परिचय दिया है. रॉबर्ट वाड्रा ने लिखा कि आपका जमीनी स्तर पर काम करने का और देश की जनता से और करीबियों से जुड़ने का निश्चय बहुत ही सराहनीय है. (इनपुट-भाषा)

और पढो: NDTVIndia

Nautanki!

राहुल गांधी के समर्थन में आए रॉबर्ट वाड्रा, अध्यक्ष पद छोड़ने की तारीफ कीतारीफ तो करेंगे ही,उनकी बीवी को जो काँग्रेस का अध्यक्ष बनाना है। वक़्त आ गया है कि मध्यप्रदेश सरकार 'बेटी बचाओ योजना' के साथ साथ 'बेटा बचाओ योजना' भी शुरू कर दे। राघव_जोशी RSS काग्रेस मणिशंकर और सिद्धू को पाकिस्तान भेजकर वहा से वुलाकर काग्रेस का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दे शायद काग्रेस जी जाऐ

Exclusive: केवल मुस्लिम ही अल्पसंख्यक नहीं - NDTV से बोले केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवीमोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की भविष्य की योजनाओं को लेकर केंद्रीय अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने एनडीटीवी से खास बातचीत की. अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति योजना के सवाल पर उन्होंने बताया कि पीएम मोदी की अगुवाई में दूसरी बार बीजेपी को मिली ऐतिहासिक जीत के बाद देश में अफवाहें फैलाई जाने लगी, अल्पसंख्यकों को गुमराह करने के अभियान चलाए गए. उन्होंने कहा डेवलेपमेंट विदआउट डिसक्रिमिनेशन यानी की बिना भेदभाव के विकास, डेवलेपमेंट विद डिग्निटी यानी कि सम्मान के साथ सशक्तिकरण के फार्मूले के साथ मोदी सरकार काम कर रही है. Even hindus are minorities. 🤦🏻‍♂️ किसी ने तो सच बोलने की हिम्मत दिखाई-जिनकी आबादी लगभग तीस करोड़ है वो अल्पसंख्यक कैसे हो गए?इतनी आबादी तो पाकिस्तान जैसें देश की है। Phir kaun hai

यूपी के दबंग विधायक की बेटी साक्षी के शादी वाले मामले में आया सगाई वाला टि्वस्‍ट, अजितेश के बारे में हुआ नया खुलासाबरेली। यूपी के बरेली से बीजेपी के दबंग विधायक राजेश मिश्रा की बेटी की दलित युवक से शादी वाले मामले में नया मोड़ आ गया है। विधायक के करीबी राजीव राणा ने दलित युवक अजितेश को लेकर कई खुलासे किए हैं। राणा का कहना है कि अजितेश की पहले भी सगाई हो चुकी है, पैसों की मांग के कारण वह टूट चुकी है। साक्षी ने एक टीवी चैनल पर कहा कि वह अब घर नहीं जाना चाहती है।

ITR Filing 2019: आयकर रिटर्न भरने की ये है अंतिम तारीख, जानें क्या है तरीकाITR Filing Last Date 2019, Income Tax Return Filing Last Date: बजट भाषण में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आधार के जरिए भी आईटीआर भरने का प्रस्ताव रखा।

खबरदार: करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान के 'डर्टी गेम' का खुलासाखबरदार में आज सबसे पहले हम जिस खबर का विश्लेषण करने वाले हैं उसे मोदी सरकार की एक बड़ी जीत के तौर पर देखा जा रहा है. दरअसल हुआ ये है कि करतारपुर कॉरिडोर को लेकर 14 जुलाई को भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाली बैठक से ठीक पहले इमरान सरकार ने पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी यानी PSGPC से कुख्यात खालिस्तानी आतंकवादी गोपाल चावला समेत चार खालिस्तानी नेताओं को बाहर का रास्ता दिखा दिया है. आजतक की टीम ने पाकिस्तान के उस आधिकारिक लेटर की जांच की है, जिसमें PSGPC के नये सदस्यों के नाम दर्ज हैं. इस जांच में सामने आया है कि पाकिस्तान ने PSGPC से गोपाल चावला को निकालकर उसी के भरोसेमंद खालिस्तानी गुर्गों को भर लिया है. देखें खबरदार.

बेबाक बोल- अमर बेलराहुल गांधी को विरासत सौंपनी हो या फिर अखिलेश यादव को, खास राजनीतिक दलों में अचानक से युवाओं को नेतृत्व देने की हलचल मच जाती है। पिता की गद्दी पर संतान के काबिज होते ही भारतीय राजनीतिक दलों की ‘युवा नेतृत्व’ की जरूरत पूरी हो जाती है। इसके साथ ही इन संतानों को पहली महिला प्रधानमंत्री, सबसे कम उम्र का प्रधानमंत्री या सबसे कम उम्र के सांसद का खिताब भी मिल जाता है। आजाद लोकतांत्रिक भारत में भी राजा का बेटा राजा वाली सामंती प्रवृत्ति को पूरे समाज का मौन समर्थन मिला हुआ है। आज कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक राजनीतिक दलों में वंश की अमरबेल फल-फूल रही है। हंगामा तभी उठता है जब वारिस नाम कमाने में नाकाम होता है। आज अगर राहुल गांधी वंशवाद के खलनायक हैं तो उसी समय जगनमोहन रेड्डी नायक क्यों माने जा रहे, यह समझने की कोशिश करता बेबाक बोल।

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

14 जुलाई 2019, रविवार समाचार

पिछली खबर

वर्ल्‍ड कप में हार के साइड इफेक्‍ट! टीम इंडिया का साथ छोड़ने की तैयारी में ओप्‍पो– News18 हिंदी

अगली खबर

Mi A3 के स्पेसिफिकेशन हुए लीक
वर्ल्‍ड कप में हार के साइड इफेक्‍ट! टीम इंडिया का साथ छोड़ने की तैयारी में ओप्‍पो– News18 हिंदी Mi A3 के स्पेसिफिकेशन हुए लीक