संजयपाटिल, भाजपा, ईडी, Sanjaypatil, Bjp, Ed

संजयपाटिल, भाजपा

ईडी मेरे पीछे नहीं पड़ेगी, क्योंकि मैं भाजपा सांसद हूं: संजय पाटिल

ईडी मेरे पीछे नहीं पड़ेगी, क्योंकि मैं भाजपा सांसद हूं: संजय पाटिल #संजयपाटिल #भाजपा #ईडी #SanjayPatil #BJP #ED

27-10-2021 01:30:00

ईडी मेरे पीछे नहीं पड़ेगी, क्योंकि मैं भाजपा सांसद हूं: संजय पाटिल संजयपाटिल भाजपा ईडी SanjayPatil BJP ED

हाल में भाजपा नेता हर्षवर्धन पाटिल ने कहा था कि उन्हें भाजपा में रहते हुए अच्छी नींद आती है, क्योंकि किसी तरह की पूछताछ नहीं होती. यह बयान उस दिन आया था, जब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने आरोप लगाया था कि विपक्ष को निशाना बनाने के लिए सीबीआई, ईडी तथा एनसीबी जैसी केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है.

मुंबई:महाराष्ट्र के सांगली से भारतीय जनता पार्टी के लोकसभा सदस्य संजय पाटिल ने रविवार को कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) उनके पीछे नहीं पड़ेगा, क्योंकि वह भाजपा के सांसद हैं.उन्होंने सांगली में एक समारोह को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की.पाटिल ने हल्के-फुल्के लहजे में कहा, ‘ईडी मेरे पीछे नहीं पड़ेगी, क्योंकि मैं भाजपा का सांसद हूं. हमें दिखावे के लिए 40 लाख रुपये की महंगी कार खरीदने के वास्ते कर्ज लेना पड़ता है. हमने कितना कर्ज ले रखा है, यह देखकर ईडी को हैरानी होगी.’

कैटरीना कैफ और विक्की कौशल की 'शाही शादी' की तैयारी में जुटा राजस्थान - BBC News हिंदी बिहार: 16 लोगों की आंखें क्यों निकाली गईं, अब क्या है उनका हाल - BBC News हिंदी पाकिस्तान में श्रीलंकाई नागरिक को भीड़ ने जलाया, इस्लाम की कथित तौहीन का मामला - BBC News हिंदी

हाल में भाजपा नेताहर्षवर्धन पाटिलने कहा था कि उन्हें भाजपा में रहते हुए अच्छी नींद आती है, क्योंकि किसी तरह की पूछताछ नहीं होती.बीते 13 अक्टूबर को एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा था, ‘हमें भी भाजपा में जाना था. उन्होंने (मंच पर अपने बगल में बैठे विपक्ष के किसी व्यक्ति का जिक्र करते हुए) मुझसे पूछा था कि मैं भाजपा में क्यों शामिल हुआ? मैंने उनसे कहा कि वे अपने नेता से पूछें कि मैं भाजपा में क्यों गया. (भाजपा में) सब कुछ आसान और शांतिपूर्ण है. मुझे गहरी नींद आती है, क्योंकि कोई पूछताछ नहीं होती है.’

यह बयान उसी दिन आया था, जब राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्षशरद पवारने आरोप लगाया था कि विपक्ष को निशाना बनाने के लिए सीबीआई, ईडी तथा एनसीबी जैसी केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है.महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री अजित पवार से जुड़ी कंपनियों पर आयकर विभाग के छापों का जिक्र करते हुए राकांपा अध्यक्ष ने बीते 13 अक्टूबर (बुधवार) को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि एजेंसी के अधिकारी बुधवार को छठे दिन छापे की कार्रवाई कर रहे हैं, जो बहुत असामान्य है. headtopics.com

पुणे जिले के इंदापुर से पूर्व विधायक हर्षवर्धन पाटिल ने 2019 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया था.महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ महा विकास आघाड़ी गठबंधन में शामिल शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस आरोप लगाती रही हैं कि केंद्र की भाजपा नीत सरकार उनके नेताओं के खिलाफ केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है.

इसी तरह के आरोप देश के अन्य हिस्सों में, खासकर चुनावों से पहले विपक्षी दलों द्वारा भी लगाए गए हैं.(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ) और पढो: द वायर हिंदी »

इतिहास में पहली बार ट्रेन से चला प्याज: 220 टन लाल प्याज किसान व्यापारियों ने सीधे असम भेजा, 1836km का सफर करेगा

राजस्थान के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब यहां होने वाली प्याज को ट्रेन से किसी दूसरे राज्य में भेजा गया है। पहली बार अलवर की प्याज रेल से असम भेजा गया है। पूरे प्रदेश में इससे पहले कभी भी प्याज को मालगाड़ी से ट्रांसपोर्ट नहीं किया गया। किसान रेल के जरिए किसानों की उपज को भेजने की उत्तर पश्चिम रेलवे ने यह शुरुआत की है। | उत्तर पश्चिम रेलवे के क्षेत्र में किसान रेल की अलवर से शुरूआत, 220 टन प्याज अलवर से असम भेजी

सच कहा लूटने के संवैधानिक अधिकारों से संपन्न यह क्षुद्र बुद्धि राजनेता सच बोल रहा है । संसद में इन्हें भेजनेवाली जनता त़ो कृतार्थ हुई होगी । सत्य है! ED , CBI , NCB , CID etc...ZINDA LAASHON KE PEECHE NAHI PADTI..

भाजपा दो सीटों पर पिछड़ी, दो पर सीधी टक्करमुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की प्रतिष्ठा का सवाल बन चुके अर्की, जुब्ब्ल कोटखाई और फतेहपुर विधानसभा हलकों के अलावा संसदीय हलका मंडी जैसे उपचुनावों में जीत हासिल करना बेशक लाजमी हो गया है।

उत्तर प्रदेश चुनाव: भाजपा को किसान आंदोलन का खौफ, पश्चिम अगर बिगड़ेगा तो पूरब ऐसे करेगा भरपाईउत्तर प्रदेश चुनाव: भाजपा को किसान आंदोलन का खौफ, पश्चिम अगर बिगड़ेगा तो पूरब ऐसे करेगा भरपाई UPElections2022 kisanandolan मूल रूप से ये चंद आढ़तिया आंदोलन हैं ❓ - देश में किसान केवल पंजाब हरियाणा और एक यूपी का हिस्से में ही हैं❓क्या सभी जाति किसान सिख पगड़ी धारण करते हैं ❓ क्या अधिकांश खालिस्तानी या भिण्डरा फोटो टी शर्ट पहनते हैं। देश के किसी अन्य हिस्से में यह आन्दोलन नहीं देखा जा रहा है

लखीमपुर खीरी: तिकुनिया कांड में दो और गिरफ्तारी, भाजपा की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत पर पहली कार्रवाईलखीमपुर खीरी: तिकुनिया कांड में दो और गिरफ्तारी, भाजपा की शिकायत पर पहली कार्रवाई LakhimpurKheriCase Tikuniacase BJP 4India INCIndia

ममता बनर्जी के गोवा दौरे से पहले गरमाई राजनीति, टीएमसी ने भाजपा पर बैनर फाड़ने का लगाया आरोपममता बनर्जी की तस्वीर वाले बैनर व फ्लेक्स फाड़ने का भाजपा पर लगाया आरोप28 अक्टूबर को गोवा के दौरे पर जाने वाली हैं ममता। ममता बनर्जी के दौरे से पहले वहां के दौरे पर गए सौगत राय ने कहा हम इस घटना को लेकर राज्यपाल के पास जा रहे हैं। Neechata ke liye TMC jaani jaati hai naki BJP देश मे प.बंगाल जेसी जनता नहीं है,जो अवैध मजहबी घुसपैठियों को संरक्षण/समर्थन करने वालो को वोट देकर अपने लिये गड्डा खोदे,प.बंगाल सुभाषचंद्र बोस, खुदीराम बोस,श्यामाप्रसाद मुकर्जी, विवेकानंद की भूमि मे कैसे घुसपैठियों की धर्मशाला बन गया,वहाँ लोगों वह शौर्य कहॉ चला गया। Tmc खुद बंगाल में बीजेपी के सपोर्टर,कार्यकर्ता,नेता लोगो पर खुल्ले आम हमले,हिंसा करती है,पुलिस तमाशबीन बने देखते है,यहां गोआ में अभी तो सिर्फ पोस्टर फाड़े है,आगे देखो क्या क्या होता है।

सामना में शिवसेना ने BJP का किया घेराव, कहा- भाजपा खुद को समझने लगी है जांच एजेंसियों का आका, याद दिलाया इतिहासशिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रकाशित एक संपादकीय में कहा गया है कि ड्रग्स मामले में 25 करोड़ रुपये मांगे जाने के आरोप एक बड़ी समस्या का केवल छोटा-सा हिस्सा है। सोनिया के तलवे चाटने वाले नीच

ग्राउंड रिपोर्ट: पृथ्वीपुर उपचुनाव में मुद्दों पर हावी जाति, कांग्रेस सहानुभूति तो भाजपा परिवारवाद को मुद्दा बनाकर परिवर्तन के लिए लगा रही जोरमध्यप्रदेश में उपचुनाव का चुनावी शोर अब अंतिम दौर में है। 30 अक्टूबर को होने वाले मतदान से पहले चुनाव प्रचार के आखिरी दौर में अब प्रचार अभियान अपने चरम पर है। 2023 के विधानसभा चुनाव से पहले सेमीफाइनल के तौर पर देखे जा रहे उपचुनाव में पूरे प्रदेश की निगाहें निवाड़ी जिले की पृथ्वीपुर विधानसभा सीट पर टिकी हुई है। इसका पहला कारण निवाड़ी का उत्तर प्रदेश सीमा से सटे होना और दूसरा इस सीट पर इतिहास में कांग्रेस का बोलबाला बने रहना।