अल-अक़्सा मस्जिद: फिर हुई हिंसा, इसराइल के ख़िलाफ़ बोले सऊदी और तुर्की - BBC News हिंदी

अल-अक़्सा मस्जिद: फिर हुई हिंसा, इसराइल के ख़िलाफ़ बोले सऊदी और तुर्की

09-05-2021 08:07:00

अल-अक़्सा मस्जिद: फिर हुई हिंसा, इसराइल के ख़िलाफ़ बोले सऊदी और तुर्की

रमज़ान के महीने में अल-अक़्सा मस्जिद के पास इसराली सुरक्षाकर्मियों और फ़लस्तीनियों के बीच हुई हिंसा को लेकर सऊदी अरब, पाकिस्तान, तुर्की और कई मुल्कों ने कड़ी आपत्ति जताई है.

शनिवार को क्या हुआ?शनिवार को हज़ारों मुसलमान अल-अक़्सा मस्जिद के दमस्कस गेट पर लायलात-अल-कदर यानी रमज़ान की सबसे पवित्र रात को प्रार्थना के लिए जुटे.शनिवार की सुबह इसराइली पुलिस ने मस्जिद की तरफ़ जाती दर्जनों बसों को रास्ते में रोक लिया था.27 साल के महमूद अल-मरबुआ ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से कहा, "वो हमें नमाज़ करने नहीं देना चाहते. हर दिन लड़ाई होती है, हर दिन झड़पें होती हैं."

Tokyo Olympics Live: भारत की शेरनियों ने रचा इतिहास, ऑस्ट्रेलिया को हराकर पहली बार हॉकी के सेमीफाइनल में Tokyo Olympics LIVE: भारतीय महिला टीम ने रचा इतिहास, पहली बार पहुंची ओलंपिक सेमीफाइनल में ओलंपिक में इतिहास रचने के बाद बोलीं पीवी सिंधु- रियो में सिल्वर से टोक्यो में ब्रॉन्ज जीतना था ज्यादा कठिन

वीडियो कैप्शन,यरुशलम पर क्यों है विवाद?कई देशों ने चिंता ज़ाहिर कीइसराइल के प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने कहा कि उनका देश क़ानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए ज़िम्मेदारी के साथ काम कर रहा है.फ़लस्तीनी नेता महमूद अब्बास ने इस बात की निंदा करते हुए इसराइल के हमले को 'गुनाह' बताया है.

अमेरिका, यूरोपीय संघ, रूस और संयुक्त राष्ट्र ने शनिवार को बढ़ती हिंसा पर "गहरी चिंता" व्यक्त की है.तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन ने इसराइल के रवैये की निंदा की है. उन्होंने एक ट्वीट में लिखा, "हम अल-अक्सा मस्जिद पर इसराइल के जघन्य हमले की निंदा करते हैं, जो कि दुर्भाग्य से हर रमज़ान के दौरान किए जाते हैं. तुर्की अपने फ़लस्तीनी भाइयों और बहनों से साथ हर मुश्किल घड़ी में खड़ा रहेगा." headtopics.com

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने हिंसा की निंदा करते हुए लिखा, "अल अक्सा मस्जिद, जिस पर इसराइल ने कब्ज़ा कर रखा है. वहाँ निर्दोष लोगों पर रमज़ान के महीने में हमले की मैं निंदा करता हूं. इस तरह की क्रूरता मानवता और मानवाधिकार क़ानून की भावना के़ ख़िलाफ़ है. हम फ़लस्तीन के साथ खड़े हैं. "

सऊदी और संयुक्त अरब अमीरात मे भी हिसा की निंदा की है.समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़, सऊदी अरब के विदेश मंत्री ने अल-अरबिया चैनल पर प्रसारित एक बयान में कहा, "सऊदी अरब इसराइल द्वारा दर्जनों फ़लस्तीनी परिवारो को उनके घरों से बेदखल करने की योजना को ख़ारिज करता है."

अरब देशों ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील की है कि वो इस मामले में दखल दें ताकि उस इलाक़े से किसी को नहीं हटाया जाए.संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि इसराइल को किसी को भी वहाँ से हटाने से बचना चाहिए और प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ "बल प्रयोग में अधिकतम संयम" बरतना चाहिए.

सऊदी अरब ने यरुशलम से फ़लस्तीनियों को हटाकर उसे अपनी संप्रभुता का हिस्सा बनाने की इसराइल की योजना को नकार दिया है. सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय की तरफ़ से शनिवार को पूरे मामले पर बयान जारी किया गया है. सऊदी अरब ने एकतरफ़ा कार्रवाई और अंतरराष्ट्रीय समझौतों के उल्लंघन की निंदा की है. सऊदी अरब ने कहा कि वो फ़लस्तीनियों के साथ खड़ा है. सऊदी ने कहा कि उसकी पूरी कोशिश है कि फ़लस्तीनियों के लिए 1967 के बॉर्डर के आधार पर एक स्वतंत्र मुल्क बने. headtopics.com

'विपक्ष तो बोलेगा, आपको सुनना होगा' : संसद में हंगामे के लिए ओवैसी ने सरकार को ठहराया जिम्मेदार टोक्यो ओलंपिक: भारत की महिला हॉकी टीम ने रचा इतिहास, ऑस्ट्रेलिया को हराकर सेमी फ़ाइनल में पहुँची - BBC Hindi IT ऐक्ट की रद्द हो चुकी धारा 66A के तहत दर्ज मामलों पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र व राज्यों से मांगा जवाब

इमेज स्रोत,Reutersक्या है विवाद?अल-अक़्सा मस्जिद परिसर जो कि पुराने यरुशलम शहर में है, उसे मुसलमानों की सबसे पवित्र जगहों में से एक माना जाता है. लेकिन इस जगह पर यहूदियों का पवित्र माउंट मंदिर भी है.यहाँ पहले भी हिंसा होती रही है. शुक्रवार रात को रमज़ान के आख़िरी जुम्मे के मौक़े पर हज़ारों लोग यहां जमा हुए, जिसके बाद हिंसा शुरू हुई.

शुक्रवार का दिन पिछले कई सालों में हिंसा के मामले में सबसे ख़राब दिनों में से एक रहा.1967 के मध्य पूर्व युद्ध के बाद इसराइल ने पूर्वी यरुशलम को नियंत्रण में ले लिया था और वो पूरे शहर को अपनी राजधानी मानता है.हालांकि अंतरराष्ट्रीय समुदाय इसका समर्थन नहीं करता. फ़लस्तीनी पूर्वी यरुशलम को भविष्य के एक आज़ाद मुल्क की राजधानी के तौर पर देखते हैं.

पिछले कुछ दिनों से इलाक़े में तनाव बढ़ा है. आरोप है कि ज़मीन के इस हिस्से पर हक़ जताने वाले यहूदी फलस्तीनियों को बेदख़ल करने की कोशिश कर रहे हैं.इमेज स्रोत,Reutersअल-अक़्सा मस्जिदअक्टूबर 2016 में संयुक्त राष्ट्र की सांस्कृतिक शाखा यूनेस्को की कार्यकारी बोर्ड ने एक विवादित प्रस्ताव को पारित करते हुए कहा था कि यरुशलम में मौजूद ऐतिहासिक अल-अक़्सा मस्जिद पर यहूदियों का कोई दावा नहीं है.

यूनेस्को की कार्यकारी समिति ने ये प्रस्ताव पास किया था. इस प्रस्ताव में कहा गया था कि अल-अक़्सा मस्जिद पर मुसलमानों का अधिकार है और यहूदियों से उसका कोई ऐतिहासिक संबंध नहीं है. यहूदी उसे टेंपल माउंट कहते रहे हैं और यहूदियों के लिए यह एक महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल माना जाता रहा है. headtopics.com

और पढो: BBC News Hindi »

आज की पॉजिटिव खबर: गुजरात के किसान ने बंजर जमीन पर 10 साल पहले ऑर्गेनिक खजूर लगाए, अब हर साल 35 लाख रुपए की कमाई

जहां तापमान ज्यादा हो, पानी की कमी हो, दूसरी फसलों की खेती न के बराबर होती हो, उन जगहों पर ऑर्गेनिक खजूर की खेती की जा सकती है। इसमें लागत भी कम होगी और बढ़िया आमदनी भी होगी। गुजरात के पाटन जिले के रहने वाले एक किसान निर्मल सिंह वाघेला ने इसकी पहल की है। करीब 10 साल पहले उन्होंने अपनी जमीन के बड़े हिस्से में ऑर्गेनिक खजूर के प्लांट लगाए थे। अब वे प्लांट तैयार हो गए हैं और उनसे फल निकलने लगे हैं। इ... | Farmer of Gujarat started farming of organic dates on barren land, earning Rs 35 lakh in first year itself

Agar is tarah israili hinsa karenge toh aate 2 saalo me duniya me badi jang hogi अल -अक्सा मस्जिद को बाबरी मस्जिद जैसा कर दो, ना रहेगी अल -अक्सा मस्जिद, ना होगी हिंसा IndiaStandsWithPalestine IndiaStandsWithPalestine हिंसा नहीं कायर इसराली सेना का निहत्थे नमाजियों पर आतंकी हमला सच बोलो Ye news bbc hindi app par kyun nhi open ho rahi subah se try kar raha hu

Naseeruddin_sah अब वक्त है जवाब देने का गुहार लगाने का नहीं है गोली का जवाब बम से देना ही होगा चाहें कहीं भी हो पूरी दुनिया में मुसलमानों हो रहे जुल्म पर चुप बैठने को वक्त नहीं है Israel एक बात समझ लेना वो इजराइल है भारत नहीं जो तुम्हारी पंचर छाप धमकियों से डर जायेगा..... वो तुम्हें 72 हूरें दिखा देगा...... और यकीन ना हो तो इतिहास उठा कर देख लो.....

Naseeruddin_sah अबे दोगले वह नमाज़ पड़ रहे थे नमाज़ पड़ते मे हमला kiya है तू भी दलाल है InshaAllah bolangay bhi aur fight bhi karayngay

जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, लश्कर के तीन आतंकी घिरेजम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, तीन लश्कर के आतंकी घिरे JammuKashmir Encounter LashkarTerrorists

BBC News plz make a documentary on kashmiri pandits also

Aaj Ki Salah: शिक्षा प्रतियोगिता में सफलता और बुद्धि के विकास के लिए आजमाएं ये उपायआज की सलाह में ज्योतिष शैलेंद्र पांडेय से जानिए शिक्षा प्रतियोगिता में सफलता और बुद्धि के विकास के लिए क्या करें. ज्योतिष के अनुसार नित्य प्रातः 'नील सरस्वती स्तोत्र' का पाठ करें. नील सरस्वती स्तोत्र के पाठ से आपको विद्या, ज्ञान प्राप्त होगा. इससे आपको लाभ होगा. देखें वीडियो.

ढाका प्रीमियर लीग में भाग लेने के लिए शेष PSL में नहीं खेलेंगे शाकिब अल हसनबांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन 31 मई से शुरू हो रही ढाका प्रीमियर लीग (डीपीएल) में भाग लेने के चलते पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के शेष हिस्से में नहीं खेलेंगे CricketNews ShakibAlHasan PSL

जबलपुर: जिंदगी बचाने के लिए लगाए 'मौत के इंजेक्शन', अस्पताल के निदेशक समेत चार गिरफ्तारजबलपुर: जिंदगी बचाने के लिए लगाए 'मौत के इंजेक्शन', अस्पताल के निदेशक समेत चार गिरफ्तार Jabalpur MadhyaPradesh VHPLeader दोषियों पर विधिवत कार्यवाही होनी नितांत आवश्यक है

बिहार के बक्सर के बाद अब यूपी के गाजीपुर में नदी में तैरते दिखे शवबिहार के बक्सर के बाद अब उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में गंगा के किनारे शव नजर आए. मंगलवार को गाजीपुर के गंगा तट पर कुछ शव दिखाए दिए. गाजीपुर और बक्सर के बीच करीब 55 किलोमीटर की दूरी है. बक्सर में सोमवार को करीब 100 शव पानी में तैरते हुए दिखाई दिए थे. इन लाशों को देखने के बाद बिहार के अधिकारियों ने तर्क दिया था कि यह उत्तर प्रदेश से आई हैं. अधिकारियों के अनुसार बिहार में शवों को पानी में डालने की परंपरा नहीं है. देश के हालात खराब कर दिए मोदी सरकार ने bycotmodgoverment मैली होती गंगा, रोती हुई जनता, मौत के सौदागर और तमाशेबाज प्रधान लाशों पर महल बनाने में व्यस्त! गंगा_मे_बहतीं_लाशें मोदी_है_तो_मातम_है मोदीजी_इस्तीफा_दो