Jabalpur, Madhyapradesh, Vhpleader, Madhya Pradesh, Mp News, Jabalpur, Jabalpur News, Jabalpur News Today, Jabalpur Madhya Pradesh, Coronavirus Update, Jabalpur Hospital, Remdesivir İnjections, Vhp Leader Sarbjit Singh Mokha, Police Filed A Case Against Owner, Mp Latest News, Madhya Pradesh News, Jabalpur Police Raid On City Hospital, Fake Remedisvir İnjection To Corona Patient, Fake Remeddivir İn Vhp Leader Hospital, City Hospital Owner Sarbjit Singh Mokha, City Hospital Jabalpur, City Hospital İnjected Fake Remedisvir İnjection, जबलपुर, नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन रैकेट, विश्व हिंदू परिषद, वीएचपी नेता, सरबजीत सिंह मोखा, मध्यप्रदेश की खबरें, जबलपुर कोरोना मरीज, रेमडेसिविर इंजेक्शन, Vishwa Hindu Parishad, Sarabjeet Singh Mokha, Covid-19 Patients, Gujarat Police, Fake Remdesivir, Jabalpur News İn Hindi, Latest Jabalpur News İn Hindi, Jabalpur Hindi Samachar

Jabalpur, Madhyapradesh

जबलपुर: जिंदगी बचाने के लिए लगाए 'मौत के इंजेक्शन', अस्पताल के निदेशक समेत चार गिरफ्तार

चंद रुपयों के लालच के लिए जबलपुर के एक अस्पताल के निदेशक ने अपने यहां भर्ती कोरोना मरीजों को रेमडेसिविर का नकदी इंजेक्शन

11-05-2021 06:48:00

जबलपुर : जिंदगी बचाने के लिए लगाए 'मौत के इंजेक्शन', अस्पताल के निदेशक समेत चार गिरफ्तार Jabalpur MadhyaPradesh VHPLeader

चंद रुपयों के लालच के लिए जबलपुर के एक अस्पताल के निदेशक ने अपने यहां भर्ती कोरोना मरीजों को रेमडेसिविर का नकदी इंजेक्शन

विज्ञापनप्रतीकात्मक तस्वीर (फाइल फोटो)- फोटो : Social mediaपढ़ें अमर उजाला ई-पेपरकहीं भी, कभी भी।ख़बर सुनेंख़बर सुनेंदेश भर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से कोहराम मचा हुआ है। हर रोज लाखों लोग कोरोना महामारी की चपेट में आ रहे हैं और हजारों की जान जा रही है, लेकिन कइयों के लिए यह संकट ‘अवसर’ बन गया है। लगवा दिया, जो कई मरीजों के लिए जानलेवा भी साबित हुआ। पुलिस ने नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन रैकेट मामले में अस्पताल के निदेशक सरबजीत सिंह मोखा समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

मोदी सरकार को ऑक्सीजन की कमी से मौतों का आँकड़ा देने के लिए 10 दिन की मोहलत: प्रेस रिव्यू - BBC News हिंदी जंगल की आग, झुलसाती गर्मी और बाढ़ से डूबते शहर- दुनिया में ये क्या हो रहा है? - BBC News हिंदी मीराबाई चनू सीमा पर BSF जवानों से मिलने पहुंचीं, ओलंपिक में जीता है सिल्वर मेडल

जबलपुर का सिटी अस्पताल में भी कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा है। इस अस्पताल में अप्रैल महीने के अंतिम सप्ताह में इंदौर से करीब 500 रेमडेसिविर इंजेक्शन मंगाए गए थे, जो कोरोना मरीजों को लगाए गए थे। ये इंजेक्शन अस्पताल संचालक सरबजीत सिंह मोखा ने मंगाए थे।नकली इंजेक्शन के चलते कई मरीजों की मौत: पुलिस

गुजरात पुलिस ने कुछ दिन पहले नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की सप्लाई करने वाले एक रैकेट का पर्दाफाश किया था। इस रैकेट के सदस्य सपन जैन ने पूछताछ में पुलिस को जबलपुर के सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा का भी नाम लिया। पुलिस की जांच में पता चला कि सरबजीत ने रैकेट के माध्यम से इंदौर से जबलपुर नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मंगाए। करीब 500 की संख्या में यह इंजेक्शन अस्पताल में ही खपा दिए गए, जिसके चलते कई मरीजों की जान चली गई। इस इंजेक्शन के लिए मरीजोें से मोटी रकम वसूली गई। headtopics.com

पुलिस ने आईपीसी की कई धाराओं में मामला दर्ज कर फरार चल रहे सरबजीत सिंह समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अभी पता लगा रही है कि आरोपी सरबजीत के अस्पताल में 500 इंजेक्शन का ही इस्तेमाल हुआ या इससे अधिक भी मंगाए गए?वीएचपी ने पद से हटायाआरोपी सरबजीत सिंह नर्मदा मंडल का विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) अध्यक्ष भी है। नकली इंजेक्शन रैकेट नाम आने के बाद वीएचपी ने आरोपी सरबजीत को अध्यक्ष पद से हटा दिया है।

विस्तारदेश भर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से कोहराम मचा हुआ है। हर रोज लाखों लोग कोरोना महामारी की चपेट में आ रहे हैं और हजारों की जान जा रही है, लेकिन कइयों के लिए यह संकट ‘अवसर’ बन गया है। लगवा दिया, जो कई मरीजों के लिए जानलेवा भी साबित हुआ। पुलिस ने नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन रैकेट मामले में अस्पताल के निदेशक सरबजीत सिंह मोखा समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

विज्ञापनजबलपुर का सिटी अस्पताल में भी कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा है। इस अस्पताल में अप्रैल महीने के अंतिम सप्ताह में इंदौर से करीब 500 रेमडेसिविर इंजेक्शन मंगाए गए थे, जो कोरोना मरीजों को लगाए गए थे। ये इंजेक्शन अस्पताल संचालक सरबजीत सिंह मोखा ने मंगाए थे।

नकली इंजेक्शन के चलते कई मरीजों की मौत: पुलिसगुजरात पुलिस ने कुछ दिन पहले नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की सप्लाई करने वाले एक रैकेट का पर्दाफाश किया था। इस रैकेट के सदस्य सपन जैन ने पूछताछ में पुलिस को जबलपुर के सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत सिंह मोखा का भी नाम लिया। पुलिस की जांच में पता चला कि सरबजीत ने रैकेट के माध्यम से इंदौर से जबलपुर नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मंगाए। करीब 500 की संख्या में यह इंजेक्शन अस्पताल में ही खपा दिए गए, जिसके चलते कई मरीजों की जान चली गई। इस इंजेक्शन के लिए मरीजोें से मोटी रकम वसूली गई। headtopics.com

बीजेपी के मंत्री बोले- नेहरू के 15 अगस्त 1947 के भाषण के चलते बिगड़ी है इकोनॉमी, बढ़ी है महंगाई! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 अगस्त को लॉन्च करेंगे डिजिटल पेमेंट सॉल्यूशन e-RUPI Assam Mizoram dispute: सीमा पर शांति, गुवाहाटी ने नगालैंड और अरुणाचल से शांति वार्ता की

पुलिस ने आईपीसी की कई धाराओं में मामला दर्ज कर फरार चल रहे सरबजीत सिंह समेत चार को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अभी पता लगा रही है कि आरोपी सरबजीत के अस्पताल में 500 इंजेक्शन का ही इस्तेमाल हुआ या इससे अधिक भी मंगाए गए?वीएचपी ने पद से हटायाआरोपी सरबजीत सिंह नर्मदा मंडल का विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) अध्यक्ष भी है। नकली इंजेक्शन रैकेट नाम आने के बाद वीएचपी ने आरोपी सरबजीत को अध्यक्ष पद से हटा दिया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

आज की पॉजिटिव खबर: गुजरात के किसान ने बंजर जमीन पर 10 साल पहले ऑर्गेनिक खजूर लगाए, अब हर साल 35 लाख रुपए की कमाई

जहां तापमान ज्यादा हो, पानी की कमी हो, दूसरी फसलों की खेती न के बराबर होती हो, उन जगहों पर ऑर्गेनिक खजूर की खेती की जा सकती है। इसमें लागत भी कम होगी और बढ़िया आमदनी भी होगी। गुजरात के पाटन जिले के रहने वाले एक किसान निर्मल सिंह वाघेला ने इसकी पहल की है। करीब 10 साल पहले उन्होंने अपनी जमीन के बड़े हिस्से में ऑर्गेनिक खजूर के प्लांट लगाए थे। अब वे प्लांट तैयार हो गए हैं और उनसे फल निकलने लगे हैं। इ... | Farmer of Gujarat started farming of organic dates on barren land, earning Rs 35 lakh in first year itself

दोषियों पर विधिवत कार्यवाही होनी नितांत आवश्यक है

'जिंदगी' के लिए दांव पर जिंदगी, चेन्नई के नेहरू स्टेडियम में रेमडिसिविर के लिए उमड़ी भीड़चेन्नई। अस्पताल में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित भर्ती अपने परिजनों की जिंदगी बचाने के लिए लोग अपनी जिंदगी भी दांव पर लगाने में नहीं चूक रहे हैं। रेमडिसिविर इंजेक्शन के लिए चेन्नई के नेहरू स्टेडियम में इतनी भीड़ जुट गई कि सोशल डिस्टेंसिंग की ही धज्जियां उड़ गईं।

सावधान: टीकाकरण के पंजीकरण के लिए आ रहे फर्जी संदेशों से यूजर्स के फोन में सेंधसावधान: टीकाकरण के पंजीकरण के लिए आ रहे फर्जी संदेशों से यूजर्स के फोन में सेंध Vaccination Coronavaccine CowinApp PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI वेक्सीन के लिए जो भीड़ है उसको बाटने के लिए ज्यादा से ज्यादा कैम्प की जरुरत है, जनसंख्या बहुत है। स्कूल, कॉलेज, में भी केम्प लग सकता है वेक्सीन का। PMOIndia myogiadityanath myogioffice dmgbnagar dm_ghaziabad AmitShah RSSorg BJP4India BjornLomborg MoHFW_INDIA aajtak

जिस रेमडेसिविर के लिए मारामारी, MP में नकली इंजेक्शन से ठीक हो गए 90% कोरोना मरीजमध्य प्रदेश में गुजरात के एक गैंग ने नकली रेमडेसिविर इंजक्शन सप्लाई कर दिए थे। हैरान करने वाली बात यह है कि जिनको ये इंजेक्शन दिए गए, उनमें से 90 फीसदी लोग ठीक भी हो गए। that means , there is no use of Remdsvir ... कैसी बचकाना विष्लेषण किया है आपने ! वो 90%लोग नकली रेमडेसेविर से ठीक नहीं हो गये, अपने आप ठीक हो गये। कोरोना का यही सच है कि 90 % लोग बिना किसी दवा के भी ठीक हो जाते हैं, सारी समस्या 10% लोगों की होती है, जिन्हे आक्सीजन, बेड, आईसीयू या वेंटिलेटर की जरूरत होती है। brajeshlive Pl be scientific in your analysis

असम एनआरसी के पुनर्सत्यापन के लिए कोऑर्डिनेटर ने सुप्रीम कोर्ट का रुख़ कियाअसम एनआरसी के समन्वयक हितेश शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में एक आवेदन दायर कर दावा किया है कि एनआरसी अपडेट करने की प्रक्रिया में कई गंभीर, मौलिक और महत्वपूर्ण त्रुटियां सामने आई हैं, इसलिए इसके पुन: सत्यापन की आवश्यकता है. सत्यापन का कार्य संबंधित ज़िलों में निगरानी समिति की देखरेख में किया जाना चाहिए.

कोविड-19 के मरीजों के लिए DRDO द्वारा विकसित 2-DG दवा अगले सप्ताह होगी लॉन्चअधिकारियों ने बताया कि कोविड मरीजों के लिए 2डीजी की 1000 खुराक का पहला बैच अगले हफ्ते की शुरुआत में ही लॉन्च करने की योजना है. उन्होंने बताया कि हम इसके उत्पादन को तेज कर रहे हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा कोविड मरीजों के लिए यह उपलब्ध हो सके. बताते चलें कि इस दवा को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की लैब इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन एंड अलाइड साइंस (INMAS) ने हैदराबाद के डॉ. रेड्डी लेबोरेटरी के साथ मिलकर तैयार किया है. 2-डीजी दवा पाउडर के रूप में पैकेट में आती है, इसे पानी में घोल कर पीना होता है. आखीर देश की जनता की जिंदगी बचाने में परम् आदरणीय, महान स्वातंत्र्यता सेनानी, भारत के प्रथम लाडले प्रधानमंत्री , सभी देशवासी और अंधभक्तों के चाचा स्व.जवाहरलाल नहेरुजी का बनाया DRDO ही काम आया, इसे बोलते है नहेरुजी का विजन । जलती चिता और मरते लोगों को देखकर घर में बंद एक मजदूर से रहा नहीं गया तो उसने अपने दिल की आवाज बाहर निकाल दी प्लीज दोस्तों आप भी उसकी आवाज सुने और जहां तक हो सके इसको शेयर करिए क्योंकि हर व्यक्ति के लिए यह सॉन्ग है और जलती चिता और मरते लोगों को देखकर घर में बंद एक मजदूर से रहा नहीं गया तो उसने अपने दिल की आवाज बाहर निकाल दी प्लीज दोस्तों आप भी उसकी आवाज सुने और जहां तक हो सके इसको शेयर करिए क्योंकि