WHO की ये गाइडलाइंस पहले आती, तो कोरोना से बच सकती थी लाखों लोगों की जान

WHO ये काम पहले करता तो कोरोना से न मरते लाखों लोग

Who, World Health Organization

26-09-2021 18:48:00

WHO ये काम पहले करता तो कोरोना से न मरते लाखों लोग

विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) ने वायु गुणवत्ता को लेकर नई गाइडलाइंस बनाई हैं. अगर इन गाइडलाइंस का पालन सभी देश करें तो हर साल लाखों लोग मौत के मुंह में न जाते. उनकी असामयिक मौत को टाला जा सकता है. 15 साल से इस नई गाइडलाइंस का इंतजार था. ऐसा दावा किया जा रहा है कि अगर यह गाइडलाइंस पहले बनी होती तो शायद कोरोना काल में लाखों लोगों को बचाया जा सकता था.

1/9विश्व स्वास्थ्य संगठन ने (WHO) वायु गुणवत्ता को लेकर नई गाइडलाइंस बनाई हैं. अगर इन गाइडलाइंस का पालन सभी देश करें तो हर साल लाखों लोगों को मौत के मुंह में नहीं जाते. उनकी असामयिक मौत को टाला जा सकता है. 15 साल से इस  नई गाइडलाइंस का इंतजार था. ऐसा दावा किया जा रहा है कि अगर यह गाइडलाइंस पहले बनी होती तो कोरोना काल में लाखों लोगों को बचाया जा सकता था.

Virat Kohli Test Captaincy: 'टीम के प्रति बेईमान नहीं हो सकता', पढ़ें कोहली ने कप्तानी छोड़ते हुए क्या कहा

(फोटोःगेटी)2/9प्रदूषण के सबसे छोटे कण यानी PM 2.5 जिन्हें पर्टिकुलेट मैटर कहा जाता है. ये बेहद घातक होते हैं. ये आपके फेफड़ों के ऊतक यानी टिश्यू तक प्रवेश कर सकते हैं. साथ ही खून की नसों में भी. इनकी वजह से लोगों को दमा, दिल संबंधी बीमारियां और अन्य सांस संबंधी बीमारियां हो सकती हैं. नई गाइडलाइंस को 15 सालों से अपडेट नहीं किया गया था.

(फोटोः गेटी)नई गाइडलाइंस  में कहा गया है कि PM 2.5 को घटाकर 10 माइक्रोग्राम्स प्रति क्यूबिक मीटर से पांच माइक्रोग्राम्स प्रति क्यूबिक मीटर पर लाना होगा. साल 2016 में पूरी दुनिया में 41 लाख से ज्यादा असामयिक मौतें हुई थीं. इनमें से आधी मौतें खराब वायु गुणवत्ता, वायु प्रदूषण और PM 2.5 की वजह से हुई थीं. अगर साल 2021 की नई गाइडलाइंस लागू होती हैं तो उससे PM 2.5 की मात्रा में 80 फीसदी की गिरावट होगी. हर साल करीब 33 लाख लोगों को मरने से बचाया जा सकेगा. headtopics.com

4/9इस नई गाइडलाइन में ऐसी व्यवस्थाएं की गई हैं कि जिसमें अलग-अलग देशों की सरकारें अपने मुताबिक कुछ परिवर्तन भी कर सकती हैं. नियमों में बदलाव अपने देश के पर्यावरण और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को देखते हुए किये जा सकते हैं. इसमें घर के बाहर के प्रदूषण और घर के अंदर का प्रदूषण भी शामिल है. साथ ही PM 10 जो कि पीएम 2.5 से बड़ा होता है, ओजोन, नाइट्रोजन ऑक्साइड, सल्फर डाईऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड पर भी नजर रखी जा सके.

विराट कोहली ने किया टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ने का एलान - BBC News हिंदी

(फोटोः रॉयटर्स)5/9ये गाइडलाइन 76वीं संयुक्त राष्ट्र आमसभा में जारी की गई. इस सभा में कोविड-19 और जलवायु परिवर्तन पर चर्चा हो रही थी. नई गाइडलाइन बनाने वाली टीम की टेक्नीकल प्रमुख डोरोटा जारोसिन्सका इस नई गाइडलाइंस के सहारे हम तीन मोर्चों पर सफलता हासिल करेंगे. पहला तो लोगों की सेहत सुधरेगी. दूसरा वायु गुणवत्ता में सुधार आएगा. इसके अलावा तीसरा मोर्चा होगा जलवायु संकट से संघर्ष में फायदा.

(फोटोःगेटी)6/9डोरोटा जारोसिन्सका ने सीएनएन से बात करते हुए कहा कि दुनिया भर को तत्काल इन गाइडलाइंस को लागू करना चाहिए. इसकी वजह से लाखों लोगों की जान बचाई जा सकती है. साथ ही कोरोनावायरस और कोविड-19 संक्रमण से लड़ने में तेजी से सफलता पाई जा सकती है. क्योंकि कोविड-19 संक्रमण में वायु प्रदूषण एक महत्वपूर्ण कारण बनकर सामने आया था. जिसका जिक्र कई स्टडीज में किया जा चुका है.

(फोटोः रॉयटर्स)7/9PM 2.5 और PM 10 जीवाश्म ईंधन यानी पेट्रोल, डीजल आदि जलने, जंगली आग, कृषि से बचे हुए पदार्थों आदि से निकलता है, जिसकी वजह से दमा, दिल संबंधी बीमारियां, क्रोनिक ब्रोनकाइटिस समेत कई तरह की सांस संबंधी दिक्कतें होती हैं. इन समस्याओं के साथ अगर किसी को कोविड-19 का संक्रमण होता है तो उसकी स्थिति और भी ज्यादा गंभीर हो जाती है. headtopics.com

Republic Day: गणतंत्र दिवस समारोह अब 24 नहीं 23 जनवरी से मनाया जाएगा, सुभाष चंद्र बोस जयंती भी होगी शामिल

(फोटोः रॉयटर्स)8/9हाल ही में हुई एक स्टडी के मुताबिक अमेरिका में लगी जंगली आग की वजह से साल 2020 में कोविड-19 के मामलों में तेजी से इजाफा हुआ था. क्योंकि हवा में पर्टिकुलेट मैटर की मात्रा बढ़ गई थी. खास तौर से पश्चिमी अमेरिका में क्योंकि वहीं पर सबसे ज्यादा आग लगी थी. सबसे ज्यादा तापमान भी रिकॉर्ड किया गया था. यह स्टडी

नाम के जर्नल में प्रकाशित हुई थी.(फोटोः रॉयटर्स)9/9स्क्रिप्स इंस्टीट्यूशन ऑफ ओशियानोग्राफी के क्लाइमेट चेंज एपिडेमियोलॉजिस्ट तारिक बेनमार्निया ने कहा कि इस बात के कई प्रमाण है कि कम से कम प्रदूषण में भी घातक पीएम 2.5 का स्तर बढ़ा हुआ रहता है. काफी ज्यादा नाइट्रोजन डाईऑक्साइड भी निकलता है, जो कि सेहत के लिए नुकसानदेह है. इसलिए जरूरी है कि वायु गुणवत्ता को लेकर नई गाइडलाइन को जल्द से जल्द दुनियाभर में लागू किया जाए.

(फोटोः WHO)पिछली गैलरी

और पढो: AajTak »

Cricket Adda LIVE | INDvsSA आखिर क्यों टूट गया सीरीज़ जीतने का सपना ? #ViratKohli #NikhilNa #RahulRawat

Cricket Adda LIVE | INDvsSA आखिर क्यों टूट गया सीरीज़ जीतने का सपना ? #ViratKohli #NikhilNa #RahulRawat

Startups में Invest करने की सोच रहे, तो एक्सपर्ट की इस सलाह पर जरूर करें गौरStartups के IPO शेयर बाजार में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। निवेशकों में उनके प्रति अच्छा उत्साह भी देखा गया है। निवेश में स्थापित सत्य है कि जो कंपनी खुद लगातार लाभ कमाने में सक्षम नहीं हो वह निवेशकों को लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न नहीं दे सकती है।

सीएम उद्धव ठाकरे ने दी सिनेमाघर खोलने की इजाजत तो, अक्षय ने ऐसे किया रिएक्टसुपरस्टार अक्षय कुमार ने सिनेमाघर खुलने की खुशी में बताया कि अब वे अपनी मोस्ट अवेटेड फिल्म 'सूर्यवंशी' सिनेमाघरों में कब लाएंगे। अक्षय कुमार ने सीएम उद्धव ठाकरे के इस ऐलान के बाद एक पोस्ट किया।

Global Citizen Live: सरकार को भरोसेमंद साथी मानें तो गरीबी से लड़ाई संभव- प्रधानमंत्री मोदीGlobal Citizen Live प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीबी को खत्म करने के लिए सरकारों को भरोसेमंद साथी के तौर पर देखने की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार वह भरोसेमंद साथी है जो उन्हें गरीबी के दुष्चक्र को हमेशा तोड़ने के लिए सक्षम बुनियादी ढांचा देंगे।

पहली बार इसे देखकर धोखा खा सकते हैं: कोरोना से पिता का निधन हुआ, बेटे को उनकी याद सताने लगी तो सिलिकॉन का स्टैच्यू बनवा लियाअपने पिता को सम्मान देने और उन्हें हमेशा अपने पास रखने की मंशा के साथ सांगली जिले में एक बेटे ने अपने इंस्पेक्टर पिता का सिलिकॉन का स्टैच्यू बनवाया है। यह प्रतिमा सोफे पर बैठी हुई मुद्रा में है और इसे देख आप एक बार धोखा खा सकते हैं। मूर्ति पर नजर आने वाला रंग, रूप, बाल, भौहें, चेहरा, आंखें और शरीर का लगभग हर हिस्सा देखने में किसी जीवित व्यक्ति की तरह ही दिखाई देता है। | Maharashtra Police Inspector Silicon Statue Made By His Son In Sangli DGPMaharashtra ਕਿਆ ਬਾਤ ਕਮਾਲ ਦੀ ਸੋਚ ਬਾਈ ਦੀ

सख्ती: नहीं मानी RBI की बात, तो मुंबई के इस बैंक पर लगा 79 लाख रुपये का जुर्मानाभारती रिजर्व बैंक ने मुंबई के अपना सहकारी बैंक पर 79 लाख रुपये से ज्यादा का जुर्माना लगाया है। अपना सहकारी बैंक ने एनपीए

PM Modi Biden Meet : पहली बार मिले तो गर्मजोशी से बाइडन ने किया मोदी का स्वागत, जानें किन मुद्दों पर क्‍या बात हुईपीएम मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ द्विपक्षीय बैठक की। इस बैठक में बाइडन ने कहा कि आने वाले वक्‍त में दो सबसे बड़े लोकतंत्र भारत और अमेरिका के बीच रिश्तों में मजबूती गहराई और निकटता तय है। narendramodi JoeBiden होमगार्ड्स_विभाग- एक वैतनिक स्टाफ हैं जो, कमांडेंट इस्पेक्टर बीओ हवलदार,चपरासी,नाई,मोची, धोबी, फालवर,आदि सब नियमित है। अवैतनिक होमगार्ड्स स्टाफ(स्वयंसेवक) जवान है जो 1962-63 से आज तक नियमित क्यो नही किया गया है? होमगार्ड्स_को_नियमित_करें - PMOIndia