Tokyoolympics

Tokyoolympics

Tokyo Olympics: जल गया था हाथ... पिता नहीं दे रहे थे साथ, मुश्किलों से भरा रहा है पूजा रानी का सफर

मुश्किलों से भरा रहा है पूजा रानी का सफर ! #TokyoOlympics

28-07-2021 17:35:00

मुश्किलों से भरा रहा है पूजा रानी का सफर ! TokyoOlympics

भारतीय मुक्केबाज पूजा रानी ने अपने ओलंपिक अभियान की शानदार शुरुआत की है. उन्होंने अपने पहले मुकाबले में जीत हासिल की है. बुधवार को 75 किलो मिडिलवेट कैटेगरी के राउंड-16 मुकाबले में उन्होंने अपने से अल्जीरिया की इचरक चाईब को 5-0 से करारी शिकस्त दी.

2/8इस जीत के साथ पूजा रानी ने क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली. वह मेडल जीतने से एक कदम दूर हैं.  30 साल की पूजा का सामना 31 जुलाई को तीसरी रैंक हासिल चीन की ली कियान से होगा.3/8पूजा दो बार एशियन चैम्पियनशिप में गोल्ड जीतने के सफर में इस चीनी मुक्केबाज को हरा चुकी हैं. अगर पूजा ली कियान के खिलाफ जीत दर्ज करती हैं, तो उनका पदक जीतना तय हो जाएगा.

RAIL ROKO Andolan Today : किसानों का रेल रोको आंदोलन आज, 6 घंटे तक ट्रेनें रोकने का ऐलान युवराज सिंह की गिरफ़्तारी और ज़मानत: विवादों से रहा है पुराना नाता - BBC News हिंदी चीन का अंतरिक्ष से हाइपरसोनिक मिसाइल परीक्षण, अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसियाँ हैरान - BBC Hindi

 (Photo-Getty Images)4/8पूजा रानी ने मार्च 2020 में आयोजित एशिया/ओसनिया ओलंपिक क्वालिफायर के सेमीफाइनल में पहुंचकर टोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल किया था. इसके साथ ही वह टोक्यो खेलों के लिए क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय बॉक्सर बन गई थीं. 5/8चौथी वरीय पूजा ने क्वार्टर फाइनल में थाईलैंड की पॉरनिपा चुटी को 5-0 से हराकर यह उपलब्धि हासिल की. हालांकि टूर्नामेंट के सेमीफाइनल पूजा चीनी मुक्केबाज ली कियान से हार गई थीं, जिसके चलते उन्हें कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा.

(Photo-Getty Images)6/8पूजा रानी का करियर मुश्किलों से भरा रहा है. वह कंधे की चोट से जूझती रहीं, जिससे उनका करियर खत्म होने का भी डर बना हुआ था. उनका हाथ भी जल गया था. वित्तीय सहयोग की कमी के बावजूद वह यहां तक पहुंची हैं.7/8पूजा रानी ने एक इंटरव्यू में बताया था, मैं 2016 रियो ओलंपिक में जगह नहीं बना पाई थी. उस समय ऐसा लगा था कि मेरा करियर खत्म हो गया जाएगा और मैं दोबारा रिंग में नहीं उतर पाऊंगी, क्योंकि उसी साल दिवाली के दौरान पटाखे जलाते हुए मेरा दायां हाथ जल गया था, जिससे उबरने में छह महीने लगे और अगले ही साल 2017 में मेरे कंधे में चोट आ गई थी.' headtopics.com

(Photo-Getty Images)8/8 और पढो: आज तक »

India Today Conclave 2021: Pankaj Tripathi, Richa Chadha, Sanya Malhotra, Aparna Purohit on OTT boom in India

On Day 2 of India Today Conclave 2021, actors Pankaj Tripathi, Richa Chadha, Sanya Malhotra, and Head of India Originals, Amazon Prime Video, Aparna Purohit spoke about the OTT boom India witnessed especially in the year 2020. They also spoke about how this is the golden age of entertainment, the kind of content they would like to watch in the future, and the kind of content that don't make the cut.

आप में अच्छा प्रदर्शन किया हमारे हिंदुस्तान का नाम रोशन किया इसमें किसी भी मीडिया वालों का कोई योगदान नहीं

कोरोना वैक्सीन पर स्टडी: फाइजर और एस्ट्राजेनेका की दो डोज के बाद तेजी से बढ़ता है एंटीबॉडी का लेवल, लेकिन 2 से 3 हफ्ते बाद उतनी ही रफ्तार से घटता भी हैफाइजर और एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने के 6 हफ्ते बाद शरीर से एंटीबॉडी का लेवल कम होने लगता है। 10 हफ्ते बाद यह 50% तक पहुंच जाता है। लैंसेट जनरल में प्रकाशित एक स्टडी में यह दावा किया गया है। रिसर्चर्स के मुताबिक, यह स्टडी 18 साल और इससे ज्यादा उम्र के 600 लोगों पर किया गया। इसमें पुरानी बीमारी वालों समेत महिलाओं और पुरुषों को शामिल किया गया। भारत में एस्ट्राजेनेका वैक्सीन क... | Coronavirus Pfizer Astrazeneca; Vaccine Antibody Levels May reduced By Over 50 Per Cent After Doses डोज लेने के 2-3 महीने में घट सकता है फाइजर, एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की एंटीबॉडी का स्तर जब NIOS विद्यार्थियों को प्रमोट किया जा चुका है।RBSE विद्यार्थियों को प्रमोट कर चुकी है तो राजस्थान स्टेट ओपन के विद्यार्थियों को अभी तक प्रमोट क्यों नहीं किया गया है?कृपया उन्हें दोयम दर्जे के विद्यार्थी ना समझें। ashokgehlot51 GovindDotasra RahulGandhi priyankagandhi Dainik Bhaskar सोशल मीडिया के मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - समीर श्रीवास्तव स्कूल अतिथि शिक्षक मध्यप्रदेश को न्याय दिलाने में मदद कीजिए 🙏

दिल्ली में ममता की विपक्षी दलों से मेल-मुलाकात, क्या कहती है क्रोनोलॉजी?ममता बनर्जी की दिल्ली में मेल-मुलाकात की क्रोनोलॉजी ऐसी है कि मंगलवार पहले वो हवाला कांड का खुलासा करने वाले पत्रकार विनीत नारायण और सियासत के चाणाक्य कहे जाने वाले प्रशांत किशोर और कांग्रेस नेता कमलनाथ से मिलीं. इसके बाद उन्होंने पीएम मोदी से भेंट की. वहीं, बुधवार को ममता विपक्षी नेताओं से मिलेंगी, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ होने वाली बैठक पर सभी की निगाहें हैं.

असम-मिजोरम सीमा विवाद: ब्रिटिश काल से चला आ रहा है यह मामला, जानिए विस्तार सेअसम-मिजोरम सीमा विवाद: ब्रिटिश काल से चला आ रहा है यह मामला, जानिए विस्तार से Assam Mizoram BorderDispute Violence HMOIndia HMOIndia कोई नेहरू जी वाला एंगल निकालते

स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से ऑक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों का डेटा मांगा : सूत्रकेंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों का डेटा मांगा है. सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. एक असंवेदनशील सरकार ही हो सकती है जो अब जा के ऐसा डेटा मांग रही है, कोई दूसरी सरकार होती तो अब तक पीड़ित परिवारों को मद्त का ऐलान कर चुकी होती। स्वास्थ्य मंत्रालय को अब नींद खुला.. तो पहले सदन में बाँसुरी बजाई थी क्या

ऑक्सीजन की कमी से मौत पर किरकिरी के बाद एक्शन में केंद्र, राज्यों से मांगे आंकड़ेऑक्सीजन की कमी के कारण हुई मौतों के मसले पर सियासी हंगामा बरपा तो केंद्र सरकार अब हरकत में आ गई है. सूत्रों की मानें तो सरकार ने अब राज्यों से ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई मौतों के आंकड़े मांगे हैं.

'ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं', केंद्र ने फजीहत हुई तो राज्यों से मांगा आंकड़ाहरदोई जिले के गोपामऊ क्षेत्र से भाजपा विधायक श्याम प्रकाश ने सरकार के बयान के विपरीत ऑक्सीजन की कमी से सैकड़ों लोगों के मारे जाने का दावा किया है।