Pegasus, Pegasussnoopgate, सुप्रीम कोर्ट न्यूज, सुप्रीम कोर्ट, पेगासस जासूसी केस, पेगासस, पेगास मामले की जांच, Supreme Court News, Pegasus Snooping Case, Pegasus Matter, Letter To Cji, Chief Justice Of India, भारत Samachar

Pegasus, Pegasussnoopgate

Pegasus Case: 500 से ज्यादा हस्तियों ने चीफ जस्टिस को लिखा पत्र, सुप्रीम कोर्ट से पेगासस मामले की जांच की मांग

500 से ज्यादा हस्तियों ने चीफ जस्टिस को लिखा पत्र, सुप्रीम कोर्ट से पेगासस मामले की जांच की मांग via @NavbharatTimes #Pegasus #PegasusSnoopgate

29-07-2021 18:38:00

500 से ज्यादा हस्तियों ने चीफ जस्टिस को लिखा पत्र, सुप्रीम कोर्ट से पेगासस मामले की जांच की मांग via NavbharatTimes Pegasus Pegasus Snoopgate

पेगासस मुद्दे पर 500 से ज्यादा प्रसिद्ध हस्तियों ने सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रमना को पत्र लिखकर जांच की गुहार लगाई है। खत में कहा गया है कि मामले में जिस तरहसे सवाल खड़े हो रहे हैं, उसे सुप्रीम कोर्ट ही देख सकता है।

के चीफ जस्टिस को लेटर लिखकर मामले में दखल देने की गुहार लगाई है। लेटर में कहा गया है कि पेगासस स्पाईवेयर का इस्तेमाल कर जर्नलिस्टों , विरोधी दल के नेताओं व अन्य के फोन के जरिए जासूसी की गई है।खत के जरिए तमाम सवाल उठाते हुए चीफ जस्टिस से गुहार लगाई गई है कि सुप्रीम कोर्ट मामले की जांच करे कि क्या किसी भारतीय संस्थान या कंपनी ने पेगागस की खरीद की थी? अगर ऐसा है तो फिर उसका पेमेंट कैसे किया गया? खत में यह भी जांच की मांग की गई है कि अगर पेगासस की खरीद हुई है तो किसकी जासूसी करनी है, यह कैसे तय हुआ। उस जानकारी से क्या फायदा हुआ है। इस तरह के टारगेट का जस्टिफिकेशन क्या है? जर्नलिस्ट, राजनेताओं, वकीलों, मानवाधिकार एक्टिविस्टों और सुप्रीम कोर्ट स्टाफ के निजता के उल्लंघन के मामले में कौन सी संवैधानिक अथॉरिटी निगरानी कर रहा है।

राज्य प्रायोजित आतंकवाद अल्पसंख्यकों के ख़िलाफ़ भेदभाव बढ़ाता है: यूएन में भारत - BBC Hindi हवाई सफर के दौरान भारतीय प्रधानमंत्रियों की चार बार ली गई थी तस्‍वीर', देखें PHOTOS अमेरिका में पीएम मोदी से बात कर खुश हुए CEOs, बोले- आउटस्टैंडिंग, भारत से पार्टनरशिप पर गर्व

Mamta Banerjee News: मोदी सरकार पर ममता का प्रहार- पेगासस ने सबकी जान खतरे में डाल दी, यह इमरजेंसी से भी गंभीर मामलालेटर में कहा गया है कि सिर्फ सुप्रीम कोर्ट पर लोगों का भरोसा है खासकर महिलाओं का भरोसा है। ऐसे में जो सवाल उठ रहे हैं, उसे सुप्रीम कोर्ट ही देख सकता है। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस को लिखे लेटर में कहा गया है कि सीजेआई रंजन गोगोई पर सेक्शुअल हरैसमेंट का आरोप लगाने वाली महिला स्टाफ के मोबाइल की भी हैकिंग हुई है। मानवाधिकार ऐक्टिविस्ट को भी इसका शिकार बनाया गया है।

राहुल गांधी बोले- हम कहीं नहीं जा रहे...पेगासस को खरीदा था या नहीं, केंद्र सरकार दे जवाबइस खत में कहा गया है कि उम्मीद की जाती है कि सुप्रीम कोर्ट ऑफिस इस मामले में नोटिस लेने में कोई देरी नहीं करेगा और लोगों के अधिकार की रक्षा के लिए जो सवाल उठे हैं, उसे देखेगा। लेटर लिखने वालों में ऐक्टिविस्ट अरुणा राय, हर्ष मंदर, अंजली भारद्वाज, वकील वृंदा ग्रोवर, जूमा सेन, प्रतीक्षा बक्शी, शिक्षाविद व साइंटिस्ट जोया हुसैन, रोमिला थापर, लेखक अरुंधति राय, राजनेता मनोज झा, जर्नलिस्ट अनुराधा भसीन आदि शामिल हैं। इसके अलावा रिटायर सरकारी अधिकारी, रिटायर आर्म्ड फोर्स के अधिकारी और अन्य शामिल हैं। headtopics.com

सांकेतिक तस्वीरNavbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

95 साल की ड्राइवर दादी: पोती को कार चलाते देख बोलीं- मुझे भी ड्राइविंग करनी है, 3 महीने में सीखा कार चलाना, ड्राइविंग लाइसेंस के लिए किया आवेदन

देवास से करीब 7 किलोमीटर दूर बिलावली गांव में 95 साल की रेशम बाई इस तरह कार दौड़ाती हैं कि जैसे कोई अनुभवी ड्राइवर गाड़ी चलाता है। इस उम्र में उन्होंने पोती को कार चलाते देख महज 3 माह में ड्राइविंग सीख ली। आमतौर पर युवा ही दोपहिया-चार पहिया वाहन दौड़ाते हुए दिखाई देते हैं। ऐसे में दादी की ड्राइविंग देखने लायक है। | पोती को कार चलता देख दादी का भी कार चलाने का हुआ मन, ट्रेक्टर भी चला चुकी हैं दादी, एंड्राइड फोन की भी शौक़ीन हैं दादी

इन्हीं हस्तियों को सुझाव है कि कम से कम इस जासूसी से ही भय खाओ।गलत काम करना छोड़ दो।ऐसा क्या है जिसके भेद खुलने का डर सता रहा है?एक काल्पनिक भूत पेगासस का इनके दिमागों में घुसगया है।इलाज सर्वोच्च न्यायालय के पास तो क्या लुकमान हाकिम के पास भी नहीं है इसमें manojkjhadu को छोड़कर सभी फूंके हुए कारतूस हैं जो जंग लगी बंदूक से गोली चलाना चाहते हैं।

अवार्ड वापसी गैंग फिर सक्रिय हो गया 500 क्या 5000भी मिल जायेंगे-ये बड़ी हस्ती बने कैसे हैं? घरबंद सब कहाँ होते? is any one of them having any worth to tap their phone? Those are suspecting their phone tapped why not they are yet complained to police ? Let them handover theirs phone and enquiry should be completed by agencies to conclude the facts.

जिसको चोट लगी है वो अपनी चोट तो दिखाये तभी तो डॉक्टर साहब इलाज करेंगे।चोट कहाँ लगी है पता नहीं और चिल्लाये जा रहे हैं दर्द हो रहा है, दर्द हो रहा है। Ye sab 500 jaichand hai Jo gulami ki mansiktha rakthe hai सोशल मीडिया के मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - समीर श्रीवास्तव

सुप्रीम कोर्ट: सनातन वैदिक धर्म के अनुयायियों ने सच्चर कमेटी की वैधता को दी चुनौती सुप्रीम कोर्ट : सनातन वैदिक धर्म के अनुयायियों ने सच्चर कमेटी की वैधता को दी चुनौती SupremeCourt SanatanVaidikDharma Followers SacharCommittee Report

दवा जमाखोरी: सुप्रीम कोर्ट का गंभीर फाउंडेशन के ख़िलाफ़ कार्यवाही पर रोक लगाने से इनकारकोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच दिल्ली में ‘फैबीफ्लू’ नाम की दवाई की किल्लत होने पर पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने 21 अप्रैल को घोषणा की थी कि उनके संसदीय क्षेत्र के लोग उनके दफ्तर से नि:शुल्क यह दवा ले सकते हैं. इस घोषणा पर सोशल मीडिया सहित राजनीतिक हलकों में हुए विरोध और दवा की जमाखोरी के आरोपों के बाद उनके ख़िलाफ़ अदालत में याचिका दायर की गई थी.

'कम से कम कंघी तो कर लेते', सुप्रीम कोर्ट जज ने वकील को लगाई फटकार Supreme Court News : जस्टिस अब्‍दुल नजीर की अदालत में स्‍यूसाइड और पीड़‍ित के लिखे स्‍यूसाइड नोट से जुड़ा एक मामला आया था। सुनवाई के दौरान वकील का मोबाइल बार-बार बजता रहा। एक और वकील को उन्‍होंने बेतरतीब बालों के लिए फटकारा। रफ टफ के खेल फटी जिंस पर हम समाज मे किसी को बोल सकते? ये फैशन सा!🙏 मेरी होने वाली बहू के ,पापा को पसन्द नही! हम पति पत्नि को ऑब्जेक्शन नही! क्योकि 2 2 जब तक कोर्टस नैतिकता स्तर सरकार का नही सुधार पाते जनता का नही सुधरना और वकील जज ,भी- मानव! सो समस्या बनी रहनी! शर्माजी 2दशक आगाह कर हारे! आज यह पतन हर स्तर पर! 3 3 शर्मा जी बताते बेडइन्टेशन ऐसा GM NWR का बच्चो को TSPऐरिया होते प्रवेश बंद दादागिरी रेल हायर सेकण्डरी स्कूल मे,आबूरोड़! गरीब बच्ची तक!! शर्माजी के लाखों रोक रखे पिता ईलाज खर्च के! 3साल मे 3तो वारदात हम 2नो से सुपर फास्ट रेल बर्थ नही कारण TTE नही 35000₹मोबाइल लुटा चेनपुर 6 7 4

धनबाद जज की कथित हत्या पर बार प्रमुख ने सुप्रीम कोर्ट से की सीबीआइ जांच की मांग, कहा- यह न्यायपालिका के लिए खतरनाकन्यायमूर्ति रमना ने कहा कि हाई कोर्ट ने पुलिस और जिला अधिकारियों को नोटिस जारी किया है। मुख्य न्यायाधीश ने कहा वे गुरुवार को इस मामले की सुनवाई कर रहे हैं। उन्हें इस मामलो को संभालने दें। इस स्तर पर हमारे हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है। विचार इस पर कीजिये कि ऐसा हुआ क्यों? जब जजों की यह हालत है तो आम आदमी की क्या औकात है, न्यायपालिका को सबसे पहले अपराधियों और राजनेताओं के गठजोड़ को खत्म करने की तरफ ध्यान देना चाहिए, फिर अपराधी ,प्रशासन और पुलिस की तरफ।

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की पहल से 20 साल से अलग पति-पत्नी आए साथ, जानें क्‍या है पूरा मामला20 साल चली कानूनी लड़ाई में फंसे पति-पत्नी को बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने वापस रिश्ते में बांधने की दिशा में बड़ी पहल की। आंध्र प्रदेश के इस जोड़े के बीच कानूनी लड़ाई 2001 में दहेज उत्पीड़न के मामले को लेकर शुरू हुई थी। यहीं बचा हैं बिकाऊ दैनिक जागरण जीस सुप्रीमकोर्ट की बात कर रहे हो ईस (48555)के ईस रीपोट की जाच कराये सुप्रीमकोर्ट के माधियम से और श्रवण कुमार सत्य वादी को न्याय दीलाने मे खड़ा होने की जरुरत है सीएम बीनडो शिकायत संख्या (48555)है पानीपत हरियाणा एक जोड़ा को और मिला दो

सुप्रीम कोर्ट में सुनाई दी जज मर्डर की गूंज, SC बार एसोसिएशन प्रमुख ने की CBI जांच की मांगजज उत्तम आनंद धनबाद शहर में गैंगस्टर अमन सिंह समेत 15 से ज्यादा माफियाओं का केस देख रहे थे और हाल ही में उन्होंने कई गैंगस्टर की जमानत याचिका ठुकराई थी. उनकी पत्नी ने अज्ञात के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है. होने वाला गृह मंत्री मिल गया Matlab? कोंग्रेसी ढगबंघन ने मार दिया