Shashitharoor, Politics, Majority Members Of Committee, Removal Of Shashi Tharoor, It Standing Committee, Monsoon Session

Shashitharoor, Politics

IT स्टैंडिंग कमेटी में तकरार बढ़ी, बीजेपी सांसदों ने चेयरमैन पद से शशि थरूर को हटाने के लिए लिखा पत्र

#ShashiTharoor ने की तीन अफसरों पर कार्यवाही की मांग, बीजेपी सांसदों ने लोकसभा स्पीकर को लिखा पत्र | #Politics | @Rahulshrivstv

30-07-2021 10:55:00

ShashiTharoor ने की तीन अफसरों पर कार्यवाही की मांग, बीजेपी सांसदों ने लोकसभा स्पीकर को लिखा पत्र | Politics | Rahulshrivstv

वहीं, शशि थरूर ने उन तीन मंत्रालयों के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, जो 28 जुलाई को पैनल की बैठक में शामिल नहीं हुए थे. शशि थरूर ने कहा कि बैठक में शामिल होने से अंतिम समय में इनकार करना सदन की अवमानना के बराबर है.

जानकारी के मुताबिक, 28 जुलाई को तीनों केंद्रीय मंत्रालयों से कोई अधिकारी कमेटी के सामने नहीं आया. तीनों मंत्रालयों ने कह दिया कि उनके अधिकारी दूसरे काम में बिजी हैं. इस बैठक में बीजेपी और सहयोगी पार्टियों के 11 सांसद पहुंचे थे, लेकिन उन्होंने अटेंडेंस नहीं लगाई. ऐसे में उनके बैठे रहने के बावजूद कोरम पूरा नहीं हो सका.

Lucknow Rain: चंद घंटों की बारिश में शहर में सैलाब सा नजारा! देखें क्या हैं हालात विराट कोहली ने टी20 वर्ल्ड कप के बाद, टी20 की कप्तानी छोड़ने का एलान किया - BBC Hindi Ayodhya Ram Mandir: बुनियाद भरने का काम खत्म, पहली बार सामने आईं मंदिर निर्माण की तस्वीरें

वहीं, बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे के नेतृत्व में पार्टी सांसदों ने बैठक का बहिष्कार कर दिया था. दुबे का कहना था कि समिति के सदस्यों की सहमति से एजेंडा तय किया जाना चाहिए, लेकिन शशि थरूर खुद एजेंडा तय करते हैं. साथ ही एजेंडा सदस्यों को एडवांस में मिलना चाहिए, लेकिन नहीं दिया गया. बता दें कि थरूर ने जो बैठक बुलाई थी उसका एजेंडा सिनेमैटोग्राफी संशोधन विधेयक 2021 पर चर्चा करने से जुड़ा था. इस विधेयक को लोकसभा में पास करने की तैयारी है.

Live TV और पढो: आज तक »

गुजरात में सियासी भूचाल, कौन होगा अगला मुख्यमंत्री? देखें दंगल में बड़ी बहस

गुजरात में शनिवार को बड़ा सियासी उलटफेर हुआ है. विजय रुपाणी (Vijay Rupani) ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) के पद से इस्तीफा (Resign) दे दिया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी आलाकमान को आभार प्रकट किया. कुछ देर पहले ही रुपाणी ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मुलाकात करते हुए उन्हें इस्तीफा सौंप दिया. गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रुपाणी के इस्तीफा देने के बाद अब यह सवाल उठने लगा है कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? देखें दंगल में बड़ी बहस.

Rahulshrivstv One of the most educated leader in india

किसान की बेटी के डॉक्टर बनने का सपना पूरा करने में मदद की तेंदुलकर नेदिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने फिर से परोपकार की अपनी भावना दिखाते हुए एक गरीब किसान की बेटी दीप्ति विश्वासराव का चिकित्सा की पढ़ाई करने का सपना पूरा करने में मदद की FarmerDaughter SachinTendulkar DiptiVishvasrao sachin_rt DasharathDipti

सफलता: गुजरात एटीएस की गिरफ्त में 2500 करोड़ की ड्रग्स के मामलों में वांछित आरोपीसफलता: गुजरात एटीएस की गिरफ्त में 2500 करोड़ की ड्रग्स के मामलों में वांछित आरोपी Gujarat ATS =CrimeNews Drugs

कंगना की मुश्किलें बढ़ीं: कंगना रनोट के खिलाफ राइटर आशीष कौल ने दायर की अवमानना याचिकाएक्ट्रेस कंगना रनोट के खिलाफ कुछ महीनों पहले राइटर आशीष कौल ने कॉपी राइट के उल्लंघन का आरोप लगाया था। अब इस मामले में आशीष कौल ने कंगना के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में अवमानना याचिका दायर की है। इस मामले में आशी कौल के एडवोकेट अदनान शेख और योगिता जोशी ने कहा, 'हमने जावेद अख्तर को एक पत्र दिया और उनके जवाब से पता चला कि पासपोर्ट आवेदन के दौरान कंगना ने जो फैक्ट्स बताए हैं, वह गलत हैं और यह एक गंभीर अ... | Writer Ashish Kaul files contempt petition against Kangana Ranaut Bechari Bhakti Karti Rehgyi Shys Pegasus Ka Result hai 😂😂 Badiya hua 😂🤪🕺

पेगासस जासूसी मामले में 500 लोगों और समूहों ने सुप्रीम कोर्ट से हस्तक्षेप की मांग कीभारत के प्रधान न्यायाधीश एनवी रमना को 500 से अधिक लोगों और समूहों ने पत्र लिख कर कथित पेगासस जासूसी मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा फौरन हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है। उन्होंने एनएसओ के पेगासस स्पाइवेयर की बिक्री हस्तांतरण और उपयोग पर रोक लगाने की भी मांग की है।

अमेरिकी मैगजीन का खुलासा: दानिश सिद्दीकी की पहचान के बाद तालिबान ने की नृशंस हत्याअमेरिकी मैगजीन का खुलासा: दानिश सिद्दीकी की पहचान के बाद तालिबान ने की नृशंस हत्या USmagazine DanishSiddique Afghanistan नफरत का बाजार कितना गर्म है धर्म के नाम पर यहाँ तो कुछ लोग मौत पर जश्न मना रहे थे...जबकि हत्या का कारण उनका भारतीये होना था का वर्षा जब कृषि सुखाने napak kayrana harkat

इटावा : यमुना में मछलियों की मौत, ‍नदी में सिल्ट बढ़ने से ऑक्सीजन की कमीलखनऊ। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में स्थित यमुना नदी में हजारों की संख्या में मछलियों की मौत हो गई। मछलियों की मौत से पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। हालांकि अभी मछलियों की मौत का कारण सामने नहीं आया है।