DU Admission 2022: डीयू में बदलने जा रहा एडमिशन का नियम, अगले साल से इस तरह मिलेगा दाखिला

डीयू में बदलने जा रहा एडमिशन का नियम, अगले साल से इस तरह मिलेगा दाखिला #delhiuniversity #Du #DelhiNews

Delhiuniversity, Du

02-12-2021 15:40:00

डीयू में बदलने जा रहा एडमिशन का नियम, अगले साल से इस तरह मिलेगा दाखिला delhiuniversity Du DelhiNews

DU Admission 2022 अगले साल से डीयू केंद्रीय विश्वविद्यालय सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीयूसेट) के तहत दाखिले देगा। इसे लागू करने की कवायद भी शुरू हो गई है। 10 दिसंबर को होने वाली अकादमिक परिषद (एसी) की बैठक में सीयूसेट पर चर्चा होगी।

दिल्ली विश्वविद्यालय में अगले साल से दाखिले का स्वरूप बदल सकता है। अगले साल से डीयू केंद्रीय विश्वविद्यालय सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीयूसेट) के तहत दाखिले देगा। इसे लागू करने की कवायद भी शुरू हो गई है। 10 दिसंबर को होने वाली अकादमिक परिषद (एसी) की बैठक में सीयूसेट पर चर्चा होगी। डीयू में सीयूसेट लागू करने के लिए अकादमिक और कार्यकारी परिषद की अनुमति अनिवार्य है।

गंगा किनारे जहां सैकड़ों शव दफ़न किए गए थे, वहां क्या है कोरोना की तैयारी? - BBC News हिंदी

यह भी पढ़ेंडीयू प्रशासन ने बताया कि हाल ही में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों को एक सर्कुलर जारी किया है। इसमें कहा गया है कि अगामी शैक्षणिक सत्र यानी 2022-23 से सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए एक सामान्य प्रवेश परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। सभी स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा केंद्रीय विश्वविद्यालय सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीयूसेट) आयोजित की जाएगी। दिल्ली विवि भी सीयूसेट को लागू करेगा। ऐसे में अकादमिक परिषद की बैठक में इस पर विस्तार से चर्चा होगी।

यह भी पढ़ेंकोरोना संक्रमण के चलते फैसले में हुई देरीपिछले साल ही सीयूसेट से दाखिले होने थे, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते इसे लागू नहीं किया जा सका था। डीयू ने सीयूसेट के लिए विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने के लिए एक कमेटी भी गठित की थी। कमेटी की रिपोर्ट, यूजीसी के वर्तमान सकरुलर समेत विवि में इसे लागू करने पर चर्चा होगी। headtopics.com

शिक्षकों को आपत्तियह भी पढ़ेंपूर्व कार्यकारी परिषद के सदस्य राजेश झा कहते हैं कि शिक्षा व्यवस्था में सुधार की जरूरत है, लेकिन कोई भी सुधार करने से पहले उस पर विस्तृत चर्चा होनी चाहिए। सीयूसेट से कोचिंग कल्चर को बढ़ावा मिलेगा। जिन छात्रों के पास पैसा होगा, वो तो कोचिंग कर लेंगे, लेकिन जिनके पास नहीं हैं, उनका क्या होगा? इस फैसले से स्ट्रीम चेंज करने वाले छात्रों को दिक्कत होगी।

पटना से पंजाब लौट रहे सिख श्रद्धालुओं पर पत्थरबाज़ी, 20 लोगों पर एफ़आईआर - BBC News हिंदी

मान लीजिए, यदि किसी छात्र ने 12वीं में विज्ञान पढ़ा है, वह दाखिला कामर्स या मानविकी में लेना चाहता है तो उसे प्रवेश परीक्षा के दौरान दिक्कत हो सकती है। हालांकि डीयू कुलसचिव डा. विकास गुप्ता कहते हैं कि इससे छात्रों के लिए अवसर बढ़ेंगे। दाखिले की प्रक्रिया आसान होगी।

यह भी पढ़ेंबता दें कि डीयू कार्यवाहक कुलपति प्रो. पीसी जोशी ने 50 प्रतिशत सीयूसेट और 50 प्रतिशत बारहवीं के अंकों को आधार बनाकर डीयू में दाखिले देने की वकालत की थी। इसके लिए बकायदा, यूजीसी को रिपोर्ट भी सौंपी गई थी।

और पढो: Dainik jagran »

कोरोना में जमकर लूट: प्राइवेट अस्पतालों ने 3 गुना ज्यादा बिल बनाए तो बीमा कंपनियों ने एक महीने में 1287 करोड़ ज्यादा वसूले

परिवार के सदस्य को खोने के बाद उसकी लाश के साथ यदि आपको लाखों का बिल थमा दिया जाए तो आप कैसा महसूस करेंगे? यह सोचने भर से रूह कांप जाती है। पर क्या आप जानते हैं कि जब आप अस्पतालों में बेड ढूंढ रहे थे और ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए लाइन में लगे थे, तो प्राइवेट अस्पताल और इंश्योरेंस कंपनियां कितना मुनाफा कमा रही थीं। | Coronavirus disease (COVID-19) Treatment How Many Indians Do Not Have Health Insurance? Know People With Health Insurance 2022 IRDAI के मुताबिक, महामारी के दौरान अस्पतालों ने इंश्योरेंस कंपनियों से तीन गुना ज्यादा हेल्थ क्लेम का पैसा वसूला

अब ऐसे वैसो लिप्ट ना करना

मुजफ्फरपुर में मोतियाबिंद के ऑपरेशन में गड़बड़ी, 65 में से 15 लोगों की निकालनी पड़ी आंखजानकारी के लिए बता दें कि बीते 22 नवंबर को मुजफ्फरपुर के आई हॉस्पिटल में 65 लोगों का मोतियाबिंद का ऑपरेशन हुआ था. जिसमें ज्यादातर लोगों की आंखों में इंफेक्शन हो गया.

जो सीरिया में पांच साल में हुआ, अफगानिस्तान में पांच महीने में हो गयाः रिपोर्ट | DW | 02.12.2021संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय सहायता में कटौती से अफगान अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है. दो दशक चले युद्ध और आंतरिक कलह की वजह से देश की अर्थव्यवस्था पहले ही कमजोर हो चुकी थी. Afghanistan सब अमेरिका जैसे महान देश की देन है

4 साल की 'मोगली गर्ल', जिसने खूंखार जानवरों के बीच जंगल में गुजारे दिनबच्ची जंगल में पालतू कुत्ते के साथ घास के बिस्तर पर सोती और जीवित रहने के लिए जंगली जामुन खाती थी. काफी खोजबीन के बाद उसे करीब दो हफ्ते के बाद जंगल से जिंदा बाहर निकालने में सफलता हासिल हुई. JusticeForRailwayStudent railway_exam_calander railway_hay_hay ❤️❤️❤️

उत्तर भारत में बर्फबारी से दिल्ली और NCR में बढ़ेगी ठंड, पारा और गिरेगानई दिल्ली। दिल्ली और एनसीआर में अब ठंड तेजी से बढ़ेगी और न्यूनतम तापमान गिरेगा। दिल्ली-एनसीआर समेत समूचे उत्तर भारत में ठंड धीरे-धीरे बढ़ रही है, वहीं पहाड़ी राज्यों में शुमार उत्तराखंड व हिमाचल प्रदेश के साथ केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल लद्दाख और जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी ने न्यूनतम और अधिकतम पारे में कमी लाना शुरू कर दिया है।

कोरोना वायरस: दक्षिण अफ्रीका में संक्रमण बेलगाम एक हफ्ते में 400 फीसदी बढ़ाकोविड के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की पहचान के बाद से दक्षिण अफ्रीका में कोविड से संक्रमण के मामलों में 403 फीसदी की भयानक वृद्धि

असम में बढ़ रही है पुलिस हिरासत में मौतों की तादाद | DW | 02.12.2021असम में एक छात्र नेता की पीट-पीट कर हत्या के मामले का मुख्य अभियुक्त सड़क हादसे में मारा गया है. इसे लेकर बीती मई से अब तक कुल 28 लोगों की पुलिस हिरासत में मौत हो चुकी है. PoliceBrutality CustodialDeaths Assam HumanRights