भारत में कोरोना वायरस, कब मिलेगी कोरोना महामारी से निजात, Kab Khatm Hoga Coronavirus, Covid-19 May Be Live For 2-3 Years, Covid-19 İn İndia Update, Covid-19 Crisis, Coronavirus Pandemic, Coronavirus India Update, Coronavirus Cases İn İndia Latest Update, Coronavirus Cases İn India Covıd-19, भारत Samachar

भारत में कोरोना वायरस, कब मिलेगी कोरोना महामारी से निजात

Covid-19: कोरोना से जल्दी पीछा छूटने वाला नहीं, एक्सपर्ट्स बोले- कम से कम 2-3 सालों के लिए भारत को करनी होगी तैयारी

कोरोना से जल्दी पीछा छूटने वाला नहीं, एक्सपर्ट्स बोले- कम से कम 2-3 सालों के लिए भारत को करनी होगी तैयारी ऐप में डाउनलोड और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें : via @NavbharatTimes

22-04-2021 20:03:00

कोरोना से जल्दी पीछा छूटने वाला नहीं, एक्सपर्ट्स बोले- कम से कम 2-3 सालों के लिए भारत को करनी होगी तैयारी ऐप में डाउनलोड और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें : via NavbharatTimes

भारत न्यूज़: कोरोना वायरस का कहर जल्दी खत्म होने वाला नहीं है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, इससे छुटकारा मिलने में काफी लंबा समय लग सकता है। भारत को तो कम से कम 2-3 सालों के लिए खुद को तैयार करने की जरूरत है।

Subscribeकोरोना वायरस का कहर जल्दी खत्म होने वाला नहीं है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, इससे छुटकारा मिलने में काफी लंबा समय लग सकता है। भारत को तो कम से कम 2-3 सालों के लिए खुद को तैयार करने की जरूरत है।Oxygen Shortage in Bhopal: 'वो अंदर तड़प रहे हैं', कोरोना मरीज पिता का हाल बताते हुए रो पड़ा बेटा

इसराइल ने गज़ा सीमा पर भेजी सेना, टैंक; ज़मीनी कार्रवाई की तैयारी - BBC News हिंदी मोदी के मंत्री बोले- कुछ चीज़ें नियंत्रण से बाहर हैं...क्या हम फांसी लगा लें? - BBC Hindi मोदी सरकार का बनाया क़ानून कोरोना त्रासदी में बना रोड़ा - BBC News हिंदी

Subscribeहाइलाइट्स:स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, कोरोना वायरस इतनी जल्दी नहीं जाएगाविशेषज्ञों के मुताबिक, भारत को 2-3 सालों तक के लिए खुद को तैयार करने की जरूरतएक्सपर्ट्स के मुताबिक जब तक दुनिया के पास कोरोना खत्म करने वाली ओरल दवा नहीं उपलब्ध होगी, यह पूरी तरह नहीं जाएगा

नई दिल्लीभारत कोरोना महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है और देश के लिए जीवन रक्षक ऑक्सिजन गैस और प्रमुख दवाओं को उपलब्ध कराना एक बड़ी चुनौती बनी हुई है। इस बीच शीर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि भारत को कम से कम अगले दो से तीन वर्षों तक के लिए खुद को तैयार करने की जरूरत है। headtopics.com

विशेषज्ञों ने गुरुवार को कहा कि जब तक हमारे पास ऐसी ओरल दवा उपलब्ध नहीं हो जाती, जो वायरस का खात्मा कर सके, तब तक देश को एक लंबी दौड़, यानी कम से कम अगले 2-3 वर्षों के लिए खुद को तैयार करने की आवश्यकता है।युवक ने ऑक्सीजन नहीं मिलने की शिकायत की तो आपा खो बैठे केंद्रीय राज्य मंत्री, कहा- ‘ऐसे बोला तो दो खाओगे’

एक्सपर्ट्स ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों को मौजूदा डरावनी स्थिति के विपरीत अगले कुछ वर्षों के लिए एक अच्छी तरह से चाक-चौबंद योजना बनाने की जरूरत है, क्योंकि महामारी के एक मौसमी फ्लू जैसी बीमारी के तौर पर रहने की संभावना है।मेदांता-द मेडिसिटी में संक्रामक रोग विशेषज्ञ नेता गुप्ता ने आईएएनएस से कहा, 'भविष्य एक रहस्य बना हुआ है। अगर स्ट्रेन संक्रामक बने रहते हैं तो कोविड लंबे समय तक जारी रह सकता है और यह आने वाले वर्षों में हम पर जोरदार प्रहार कर सकता है।'

Mandla News: युवकों ने जनसहयोग से शुरू किया ऑक्सीजन बैंक, जरूरतमंदों को मुफ्त में उपलब्ध करा रहे सिलिंडरउन्होंने कहा कि इसके लिए आदर्श स्थिति ओरल दवाएं होंगी, जो प्रभावी रूप से वायरस को मार सके और ओपीडी के आधार पर इनका उपयोग करना भी सुरक्षित हो। तब तक मास्क, हाथ की स्वच्छता और सामाजिक दूरी हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण हैं और यह हमारे जीवन का एक हिस्सा होना चाहिए।

शिकॉगो में इलिनोइस यूनिवर्सिटी के रिसर्चरों के अनुसार, कोविड-19 फ्लू की तरह मौसमी हो सकता है। हैदरबाद के केआईएमएस अस्पताल में वरिष्ठ पल्मोनोलॉजिस्ट वी. रमन प्रसाद के अनुसार, कोविड अब किसी भी अन्य संचारी रोग की तरह समुदाय में हमेशा के लिए रहने वाला है। headtopics.com

कॉलर ट्यून पर चिढ़ा HC: केंद्र से पूछा- कॉल करने पर वैक्सीन लगवाने का मैसेज सुनाई देता है, जब वैक्सीन ही नहीं तो कैसे लगेगी? ईदः भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश में कोरोना से फ़ीका पड़ा त्योहार - BBC News हिंदी जवाबदेही से बच नहीं सकता चुनाव आयोग, अप्रैल की शुरुआत में कोविड के दैनिक मामले पहुंच गए थे एक लाख के पार

Lucknow Coronavirus Update: कोरोना से कराह रहे लखनऊ में गुड न्‍यूज, 24 घंटे में ज्‍यादा लोग ठीक हुए, नए केस कम आएप्रसाद ने आईएएनएस से कहा, 'किसी भी देश के लिए एकमात्र विकल्प अपने अधिकांश लोगों का टीकाकरण करना है, ताकि बीमारी की गंभीरता कम हो और यह जानलेवा न रह सके। दो-तीन वर्षों के बाद, यह सामान्य हो सकता है और हम कोविड मामलों की छिटपुट तेजी देख सकते हैं, जैसे स्वाइन फ्लू।'

भारत में कोरोनावायरस के कई वेरिएंट सामने आए हैं और देश संक्रमण के अधिक घातक रूपों का सामना कर रहा है। यहां तक कि देश को ट्रिपल-म्यूटेंट के खतरे ने भी घेर लिया है।Pfizer ने भारत सरकार को बिना फायदे के Coronavirus Vaccine देने की पेशकश कीइ1617 वैरिएंट पहली बार महाराष्ट्र में पता चला, इसमें दो अलग-अलग वायरस वेरिएंट - ई484क्यू और एल452आर जैसे म्यूटेशन हैं। तीसरा म्यूटेंट डबल म्यूटेंट से विकसित हुआ है, जहां तीन अलग-अलग कोविड स्ट्रेन ने मिलकर एक नया वेरिएंट तैयार किया है। इनमें से दो ट्रिपल-म्यूटेंट महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ से एकत्र नमूनों में पाए गए हैं।

जयपुर चेस्ट सेंटर के वरिष्ठ पल्मोनोलॉजिस्ट शुभ्रांशु ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि चीजों को सामान्य होने में लगभग एक-दो साल लग सकते हैं, बशर्ते हम ज्यादा से ज्यादा लोगों का टीकाकरण करें और सामाजिक दूरियां बनाए रखें।Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

देश में बेकाबू Coronavirus संक्रमण, क्या संपूर्ण Lockdown ही विकल्प? देखें शंखनाद

दिल्ली में कोरोना बेकाबू है. मामले बढ रहे हैं. मौत का आंकडा बढ़ रहा है. उस पर से ऑक्सीजन की कमी. ऑक्सीजन के मसले को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को जोरदार फटकार लगाई. कोर्ट ने यहां तक कह दिया कि आप आंखें मूंद सकते हैं हम नहीं. दिल्ली में लॉकडाउन की मियाद बढ़ रही है. कोरोना के नए केस में भी मामूली कमी दिख रही है लेकिन ये कहना मुश्किल है कि दिल्ली में संक्रमण की चेन टूट रही है. आखिर तमाम दावों के बीच भी कोरोना संक्रमण की दिल्ली और देश के तमाम हिस्सों में क्यों नहीं थम रही है रफ्तार, देखें शंखनाद.

मतलब यह कॉलर ट्यून हमे 2-3 साल झेलनी पड़ेगी ?😢 एबीपी न्यूज़ एक देशद्रोही चैनल है जनता इस चैनल को कभी भी न देखे। चाइना ने सभी बिपच्छी पार्टियों और कुछ देश द्रोही चैनलों को खरीद लिया है।एबीपी न्यूज चैनल ने हिंदुस्तान को इस्लामिक देश बनाने का मोटा सौदा किया है।हर देश प्रेमी को एबीपी चैनल का बहिसकार करना चाहिए।

कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच भारत से यात्रा पर 4 मई से रोक लगाएगा अमेरिकाभारत में कोरोनावायरस (Coronavirus Cases in India) के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. कोरोना संकट के बीच अमेरिका (America) अगले हफ्ते से भारत (India) से यात्रा पर रोक लगा रहा है. अमेरिका भारत से यात्रा पर 4 मई से रोक लगाएगा. व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को एक बयान में यह जानकारी दी. Modi ko rok lagaye sir Sanajivani for India With the mind, karma & body, who has true faith in Rama ji, he /she cannot even have trouble in his/her dream. This is real medicine for all in this corona time of second/third wave आपदा में अवसर अमेरिका भी दिखा दिया 😃

कोरोना का असर: 4 मई से भारत से अमेरिका के लिए यात्रा होगी बंदकोरोना का असर: 4 मई से भारत से अमेरिका के लिए यात्रा पर लगेगी रोक coronainIndia Covid19 IndianVariant drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia Name: Prem Prakash Age: 44 Gender- Male Blood group- A+ SpO2: 79 with oxygen support Requirement - ventilator and remedisivir Hospital: pandri medical college Attendent phone: 9399334458 Alternate number: 9811980498 drharshvardhan MoHFW_INDIA PMOIndia अविलंब बंद की जाये

गलती से ब्लॉक किया था #ResignModi को, भारत सरकार के कहने से नहीं : फेसबुकफेसबुक आमतौर पर बहुत-से कारणों से हैशटैग ब्लॉक करता रहा है, जिनमें मैनुअली ब्लॉक किए जाने के अलावा बहुत-से हैशटैग उनकी ऑटोमेटेड गाइडलाइन्स की वजह से ब्लॉक होते हैं. फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा कि यह गलती उस लेबल के साथ जुड़े कॉन्टेंट की वजह से हुई, हैशटैग की वजह से नहीं. Galati se mistake ho gya Aaj Kal galti se rally v ho ja raha Modi ka ResignModi

Oxygen Cylinder Shortage: एक पीएसए प्लांट शुरू होने में कम से कम 40 दिन लग रहेऑक्सीजन प्लांट औद्योगिक सिस्टम हैं जो ऑक्सीजन उत्पन्न करने के लिए डिजाइन किए गए हैं। वे आमतौर पर हवा को एक फीडस्टॉक के रूप में उपयोग करते हैं और इसे हवा के अन्य घटकों से तकनीक का उपयोग करअलग करते हैं।

Oppo भारत में 27 अप्रैल को लॉन्च करेगा 15 हजार से कम में नया 5G स्मार्टफोनOppo A53s 5G को भारत में 27 अप्रैल को लॉन्च किया जाएगा. इसकी जानकारी कंपनी ने ट्विटर पर दी है. मीडिया के साथ शेयर किए एक टीजर में Oppo A53s 5G में MTK700 यानी MediaTek Dimensity 700 प्रोसेसर दिए जाने की पुष्टि की है.

Truke ने भारत में लॉन्च किए तीन शानदार ईयरबड्स, कीमत 2,000 रुपये से कमTruke Buds S1 Truke Buds Q1 और Truke Fit 1+ ईयरबड्स ने भारतीय बाजार में एंट्री ले ली है। इन तीनों नए ईयरबड्स को भारतीय बाजार में स्कल कैंडी बोट शाओमी और रियलमी के ईयरफोन से कड़ी टक्कर मिलेगी।