Bengalviolence, Bengalburning, Bengalelection 2021, Kolkata-General, West Bengal Assmbly Election 2021, West Bengal Election 2021, West Bengal Politics, Bjp Mla In West Bengal, Bengal Violence, Central Security, Home Ministry, West Bengal News

Bengalviolence, Bengalburning

Bengal Violence: हिंसा के मद्देनजर बंगाल में भाजपा के सभी 77 विधायकों को मिलेगी केंद्रीय सुरक्षा

हिंसा के मद्देनजर भाजपा के सभी 77 विधायकों को मिलेगी केंद्रीय सुरक्षा #BengalViolence #BengalBurning #BengalElection2021

10-05-2021 20:34:00

हिंसा के मद्देनजर भाजपा के सभी 77 विधायकों को मिलेगी केंद्रीय सुरक्षा BengalViolence BengalBurning BengalElection2021

बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से भाजपा नेताओं कार्यकर्ताओं और समर्थकों पर लगातार हमले की शिकायतें केंद्र सरकार को मिल रही है। इसी के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य के सभी नवनिर्वाचित विधायकों को सुरक्षा देने का निर्णय लिया है।

बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से भाजपा नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों पर लगातार हमले की शिकायतें केंद्र सरकार को मिल रही है। हमले का आरोप सभी मामलों में राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रसे कार्यकर्ताओं व समर्थकों पर लग रहे हैं।पिछले दिनों तो केंद्रीय मंत्री के काफिले पर भी हमला किया गया था। इसी हमले के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य के सभी नवनिर्वाचित विधायकों को सुरक्षा देने का निर्णय लिया है। बताते चलें कि चुनाव बाद हो रही हिंसा के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय की टीम बंगाल में है, जो विभिन्न इलाकों का दौरा कर रही है। 

कोरोना महामारी की दूसरी लहर अभी ख़त्म नहीं हुई: डॉ वीके पॉल - BBC Hindi कल से दिल्ली में उत्तर प्रदेश के बीजेपी सांसदों की बड़ी बैठक UP: कल्याण सिंह की हालत अभी नाजुक, लाइफ सेविंग सपोर्ट सिस्टम पर हैं पूर्व CM

बंगाल में भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं को बनाया जा रहा है निशानाबता दें कि आज ही नंदीग्राम में सीएम ममता बनर्जी को हराने वाले सुवेंदु अधिकारी को भाजपा विधायक दल के नेता चुना गया है। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बंगाल में भाजपा विधायकों के लिए एक बड़ा फैसला लिया। राज्य में चुनाव के बाद की हिंसा को देखते हुए हर विधायक को केंद्रीय सुरक्षा प्रदान करने का निर्णय लिया है।

और पढो: Dainik jagran »

जानिए UP Cabinet Expansion में किन-किन समीकरणों का रखा जा सकता है ध्यान? देखें शंखनाद

संगठन की ओर से 25,26 और 30 जुलाई की तारीख का प्रस्ताव भी दिया गया है. जिस पर योगी आदित्यनाथ फैसला करेंगे .जाहिर सी बात है कि मंत्रिमंडल विस्तार में उन सारे समीकरण को ध्यान में रखा जाएगा, जिसे साधकर यूपी में जीत की राह आसान हो सके. संजय निषाद के सांसद बेटे प्रवीण निषाद को मोदी कैबिनेट में शामिल किए जाने की चर्चा थी,लेकिन उन्हें जगह नहीं मिली तो अब निषाद वोटों को जोड़े रखने के लिए संजय निषाद कैबिनेट में शामिल किए जा सकते हैं. निषाद समाज के अलावा राजभर समाज पर भी योगी सरकार की नजर है, जिसका पूर्वांचल में काफी दबदबा है. देखें वीडियो.

77 लोग तो बच जाएंगे। मगर जिनको सुरक्षा नही उनका क्या होगा? इसका पक्का इलाज करना होगा। सुरक्षा सबकी जरूरी है। लंगड़ी बुढ़िया का खेला खत्म नहीं हुआ है। लेकिन काटे पीटे तो भाजपा के वोटर जा रहे हैं,उनकी सुरक्षा के लिए क्या किया अब तक। और इनके पीछे घूमने वाले को कौन बचाएगा वो तो मारे जायेंगे आज केंद्र में भाजपा की सरकार हैं केंद्रीय सुरक्षा दे रहे हैं। कलको केंद्र में भाजपा की सरकार ना रहे तो बंगाल की ये भाजपा विधायक निष्क्रिय या अन्य दलों में शिफ्ट इन्हें स्वाभिलंब बनाये अपने पैरों पर खड़ा होने दें। वरना बंगाल में भाजपा कभी विस्तार नहीं कर सकता इनका भय राजनीति है।

और कार्यकर्ताओं को? Marte to gareeb and laachar hain, unhe kaun protection dega But why not condemning huge violence and death of innocent people, brutal attacks, molestation of women, firing houses and looting shops are not democracy in West Bengal. भाजपा शासित राज्यों में संक्रमण का प्रभाव नहीं..गजबे. गैर भाजपा शासित राज्यों में संक्रमण का विकराल रूप धारण कर रहा है.. BJP4India बताए त्रासदी का जिम्मेदार कौन..सबका-विकास-विश्वास-साथ ने सबका विनाश कर दिया..ईश्वर भाजपा को सदबुधि दे..प्राणियों का कल्याण करे..ॐ नम: शिवाय जय हिंद!

और कार्यकर्ताओं को साहब बंगाल के अलावा भी देख लीजिए

और आम जन को क्या मिलेगा ।। भाजपा का समर्थन करने का परिणाम हिंसा क्या केवल वहीं उनके हिस्से आएगा ओके