जीवनसंवाद, Jeevansamvad, Jeevan Samvad, Dayashankar Mishra, Motivatoonal Talk, जीवन संवाद, दयाशंकर मिश्रा, मोटिवेशनल टॉक

जीवनसंवाद, Jeevansamvad

#जीवनसंवाद : जिसके होने से फर्क पड़ता है!

#जीवनसंवाद: कोरोना के बीच हमारे पास पहले की तुलना में थोड़ा अवकाश है. अगर हम जीवन रक्षक सेवाओं से नहीं जुड़े हैं तो हमारे पास अवसर है कि हम उन चीजों की तरफ़ देखें जो इस भाग-दौड़ में कहीं पीछे छूट गई हैं. #JeevanSamvad

31-03-2020 20:32:00

जीवनसंवाद : कोरोना के बीच हमारे पास पहले की तुलना में थोड़ा अवकाश है. अगर हम जीवन रक्षक सेवाओं से नहीं जुड़े हैं तो हमारे पास अवसर है कि हम उन चीजों की तरफ़ देखें जो इस भाग-दौड़ में कहीं पीछे छूट गई हैं. JeevanSamvad

#JeevanSamvad: मशीन की तरह उलझा मन धीरे-धीरे अपनी सुगंध खोने लगता है. प्रेम, स्नेह और वात्सल्य के पौधों को समय की खुराक नियमित रूप से मिलनी ही चाहिए. जीवन में तनाव को थामने में सबसे अधिक भूमिका इनकी ही होती है. | jeevan-samvad News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

Share this:दयाशंकर मिश्रअपने काम में हम कई बार इतने अधिक व्यस्त हो जाते हैं कि जिनके लिए हम 'सब' कर रहे होते हैं , उनका साथ होते हुए भी छूटने लगता है. हम उनसे दूर होने लगते हैं, जिनके लिए सब कुछ कर रहे होते हैं. हसरतों का चक्रव्यूह कुछ ऐसा ही होता है कि हम उसमें जितना उलझते जाते हैं, वह हमें उतना ही अधिक आकर्षक लगता है. हमें कहां रुकना है, यह तय नहीं कर पाते.

गुजरात में केमिकल प्लांट में धमाका, 5 की मौत, 57 घायल दलित छात्रा ने ऑनलाइन क्लास नहीं कर पाने के चलते की 'आत्महत्या' बंगाल के श्रमिकों के लिए CM ममता बनर्जी की मांग पर BJP के कैलाश विजयवर्गीय भड़के, कहा-'दीदी' क्‍यों नहीं दे रहीं मदद..

इस प्रक्रिया में कई बार हम भूल जाते हैं कि हम किसके लिए हैं. मशीन की तरह उलझा मन धीरे- धीरे अपनी सुगंध खोने लगता है. प्रेम, स्नेह और वात्सल्य के पौधों को समय की खुराक नियमित रूप से मिलनी ही चाहिए. जीवन में तनाव को थामने में सबसे अधिक भूमिका इनकी ही होती है.

कोरोना के बीच हमारे पास पहले की तुलना में थोड़ा अवकाश है. अगर हम जीवन रक्षक सेवाओं से नहीं जुड़े हैं तो हमारे पास अवसर है कि हम उन चीजों की तरफ़ देखें जो इस भाग-दौड़ में कहीं पीछे छूट गई हैं. ऐसे रिश्ते जिनके बिना जीवन संभव नहीं है, लेकिन हम उनके लिए साथ रहते हुए भी समय नहीं निकाल पा रहे हैं. बच्चों के लिए ही तो माता-पिता सारे चाहे और अनचाहे काम करते हैं. हाड़तोड़ परिश्रम करते हैं. यथासंभव जतन करते हैं.

सरस जीवन में बाधा वहां से ही शुरू होती है, जहां हम सुविधा को ही सब कुछ मान लेते हैं. मुझे पटना, बिहार से डॉक्टर राजेश रंजन ने लिखा है कि वह अपने इकलौते बेटे के लिए सुविधाएं जुटाने के काम में कुछ इस तरह जुटे कि उन्हें ध्यान ही नहीं रहा कि एक अच्छे पिता के लिए बच्चे के साथ बिताए गए समय की भी उतनी ही उपयोगिता है, जितनी संसाधन की. 'जीवन संवाद' के बच्चों के लिए होने वाले सत्रों में बच्चे अक्सर इस बात की शिकायत करते हैं कि माता-पिता उनके लिए सुविधाएं जुटाने के फेर में कई बार ऐसे उलझते हैं कि उनको ही भूलने लगते हैं.

मुझे एक छोटी कहानी याद आ रही है. संभव है, आपने पहले सुनी भी हो. यह लोक कथा जैसी है. लोक कथा का कोई एक लेखक नहीं होता. स्कूल में प्रिंसिपल साहब के सख्त रवैये और कठोर व्यवहार के कारण बहुत कम लोग उनके आसपास जाने की हिम्मत करते थे. एक दिन एक युवा शिक्षक ने उनके व्यवहार से दुखी होकर स्कूल छोड़ने का मन बनाया. उसका इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया. अंतिम दिन वह एक गुलदस्ते और दिल के आकार के तीन छोटे-छोटे कार्ड के साथ पहुंचा. उसने वह कार्ड देते हुए प्रिंसिपल से कहा, 'मैंने आपके साथ काम करके बहुत कुछ सीखा. आप मेरे जीवन में बहुत खास हैं. यह तीन कार्ड आपके लिए हैं. पहला कार्ड आप रख लीजिएगा. बाकी दो उसे दे दीजिए, जो आपके जीवन में सबसे खास हो. जिससे आप गहरा प्रेम करते हैं. लेकिन जिससे आपने कभी अपना प्रेम प्रकट न किया हो. उससे कहिए कि एक कार्ड वह रख ले और एक कार्ड को उसी तरह आगे बढ़ाएं जैसे मैं कर रहा हूं.' यह कहकर वह युवक चला गया. प्रिंसिपल बहुत देर तक सोचते रहे. कार्ड किसे दिया जाए. कुछ सोच कर वहां उठे और घर के लिए रवाना हो गए.

घर पहुंच कर उन्होंने अपने बेटे को बुलाया. उसे वह कार्ड देते हुए कहा, मेरे बेटे मैं अक्सर ही तुमसे कठोरता से पेश आता हूं. लेकिन तुमने मुझसे कभी कुछ नहीं कहा. तुम्हारे नंबर कम आते हैं, तुम पढ़ने में कमजोर हो. इसलिए मैं अक्सर ही तुम पर गुस्सा करता हूं, नाराज रहता हूं. लेकिन तुम्हारे व्यवहार में आज तक मेरे प्रति नाराजगी नहीं दिखी. इसलिए मुझे लगता है तुम ही वह हो जो मुझे सबसे अधिक प्रेम करता है. प्रिंसिपल साहब ने ऐसा कहते हुए नम आंखों से बेटे को गले लगा लिया.

बेटा रोने लगा. बहुत देर तक सुबकने के बाद भी जब उसके आंसू नहीं थमे, तो प्रिंसिपल पिता ने उससे कहा क्या बात है बेटे ! तुम इतना क्यों रो रहे हो. बेटे ने कहा, मैं बहुत निराश हो चुका था. मुझे लगता था कि मैं आपकी अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर पा रहा हूं. मेरे कारण आपको बहुत कष्ट होता है. इसलिए मैं सोच रहा था कि आज रात को मैं अपना जीवन समाप्त कर लूंगा. अगर आज आपने अपना प्रेम मुझ पर जाहिर ना किया होता. मुझे इस तरह प्यार ना किया होता तो संभव है मैं जीवन को खतरे में डाल देता. उसका जवाब सुनकर प्रिंसिपल को गहरा सदमा लगा. लेकिन कुछ ही पलों में वह स्वयं को संभालते हुए बेटे की तरफ बढ़ गया और उसे गले से लगा लिया. वह मन ही मन अपने युवा शिक्षक को आशीर्वाद दे रहे थे जो उन्हें जीवन की सबसे बड़ी शिक्षा देकर चला गया था.

RSS के दफ्तर में कोरोना की एंट्री, सहप्रचार प्रमुख और कुक वायरस से संक्रमित सबसे ज़्यादा कमाई करने वाले राज्य ही मुसीबत में, कैसे उबरेगी अर्थव्यवस्था अब श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट, सरकार ने लिया फैसला

मैं बहुत विनम्रता से आपसे अनुरोध करना चाहता हूं कि अपने अव्यक्त प्रेम को रोकिए मत. आपका जिससे भी अनकहा प्रेम, अनुराग है. उसे कह दीजिए. यह कोई भी हो सकता है. आपका बेटा/बेटी भाई/बहन/माता/ पिता/दोस्त/ सहकर्मी/ शिक्षक/पड़ोसी कोई भी.अगर आप ऐसा कर पाएं तो अपने अनुभव साझा कीजिएगा. अगर कोई परेशानी आ रही हो तो लिखिएगा. हम मिलकर रास्ता निकालेंगे.

दयाशंकर मिश्रईमेल : dayashankarmishra2015@gmail.com अपने सवाल और सुझाव इनबॉक्‍स में साझा करें: और पढो: News18 India »

DayashankarMi खुदा, अल्लाह, ईश्वर, भगवान् जो की एक अदृश्य शक्ति है को जिसने भी देखा हैअपने अंदर ही देखा है क्योंकि उसको आत्मा को एकाग्र करके आत्मा की आखो से ही देखा जा सकता है कबीर साहिब, रवि दास जी, मीरा बाई, दादू दयाल, गुरु नानक जी, शिरडी वाले साई बाबा इसके उद्धारहण है DayashankarMi If ''1400 Gathering in Nizamuddin'' will result as much as 35 gone positive as per news .. Then what will happen to those gatherings which taken place right after lock down in different states ....lacks if gathering and countless I can say .. we must pray .please

DayashankarMi 100%✓ true DayashankarMi DayashankarMi DayashankarMi Corona ki medicine ki pic mere pas hai yeh asli hai ya nhi. Yeah जीव विज्ञान mai hai.......

पलायन कर रहे मज़दूरों ने कहा, बीमारी से भी मरना है और भूख से भीवीडियो: कोरोना वायरस के कारण हुए देशव्यापी लॉकडाउन के बाद दिल्ली-एनसीआर में रहने वाले दिहाड़ी मज़दूर अपने-अपने घर जाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गईं बसों में जगह पाने के लिए देर रात भटकते रहे. गाजियाबाद के कौशाम्बी बस अड्डे पर मज़दूरों से विशाल जायसवाल की बातचीत. जब सरकार दे रही है तब प्रोपोगंडा की क्या ज़रूरत है। अब तो sdm सीलमपुर स्कैंडल खुल ही गया है। योगीआदित्यनाथ कोरोना मंदिर_धन_लाओ_कोरोना_भागाओं सलमान_शाहरुख_आमिर_दान_करो bigbDaanKaro वास्तविकता यही है

लॉकडाउन से हाइवे पर फंसे हजारों ट्रक, टूट सकती है देश की सप्लाई चेनलॉकडाउन की वजह से फंसे राकेश राम अपने कई साथी ट्रक ड्राइवरों के लिए भोजन तैयार कर रहे हैं. ये सभी ड्राइवर यूपी के जौनपुर, इलाहाबाद और वाराणसी के रहने वाले हैं. अपने पास बचे-खुचे पैसों से जैसे-तैसे कुछ सामान खरीदा और भूख मिटा रहे हैं. ड्राइवरों का कहना है कि साथ खाने से पैसा और संसाधन बचेगा. manogyaloiwal दिल्ली चुनाव में दिल्ली की गली गली में वोट मांगने वाले हमारे ग्रह मंत्री जी कहाँ है manogyaloiwal ramayan nai dekh rahe ye log? manogyaloiwal Team i'am also facing issue in my salary where my organization didn't paid salary for february month, now this lockdown happened so iam not able to expecting the march salary as well my owners hd putten my number in blacklist amd not responding now

कोरोना वायरस से अमरीका में जा सकती है दो लाख लोगों की जान - BBC Hindiअमरीकी सरकार में संक्रामक बीमारी के विशेषज्ञ डॉ एंथोनी फाउची ने चेताया है कि अमरीका में कोरोना वायरस एक से दो लाख लोगों की जान ले सकता है. Kyon ki waha tumhare jaise suar channtwale jyada hai क्योंकि वहां मोदी नहीं है ...... PM As Everyone reap what they sow. Everyone eventually have to face up to the consequences of their actions

निजामुद्दीन मरकज़ से निकाले गए लोगों में से 441 में Coronavirus से लक्षण: अरविंद केजरीवालCoronavirus: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज कहा कि निजामुद्दीन मरकज में से जिन लोगों को निकाला गया है उनमें से बहुत सारे मामले पॉजिटिव सामने आ सकते हैं. मरकज में 12-13 मार्च के आसपास एक फंक्शन के लिए लोग इकट्ठे हुए थे. काफी लोग चले गए थे, कुछ लोग रुक गए थे.  यहां 24 केस पॉजिटिव मिले हैं. वहां से 1548 लोगों को निकाला गया. उनमें से 441 लोगों में कोरोना के लक्षण थे. उनको अस्पताल में पहुंचाया गया है. कुल 1107 को क्वारन्टीन में भेज दिया गया है. केजरीवाल ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को लेकर दिल्ली के मौजूदा हालात पर प्रेस से बात की. ArvindKejriwal Shaheen bagh walon ka bhi test karwa lo. ArvindKejriwal ISKA JIMEDAR WO KEJRIWAL HAI NA KON KON YE SUPPORT KARTA HAI KI KEJRIWAL KO RESIGN KAR DENA CHAHIYE ArvindKejriwal लाकडाउन के बाद जहां देश के सारे मस्जिद मदरसे बन्द कर दिए गए,वहीं थाना_निज़ामुद्दीन की दीवार से लगे निज़ामुद्दीन_मरकज़ में छह दिन से 1400 लोग कैसे रुक कर देश को मुसीबत में डालते रहे,और थाने वालों को खबर तक न हुई ये सोचने वाली वात है इसकी भी जाँच हो

कोरोना वायरस: क्या है भारत के सबसे उम्रदराज़ शख्स की कोरोना पर जीत की कहानीकेरल के 93 साल के एक बुजुर्ग और 88 साल की उनकी पत्नी ने हाल ही में कोरोना वायरस से जंग जीती है. well👍

कोरोना से लड़ाई: पीएम मोदी ने की सामाजिक संस्थाओं से बातचीत, योगदान को सराहाकोरोना से लड़ाई: पीएम मोदी ने की सामाजिक संस्थाओं से बातचीत, योगदान को सराहा CoronaUpdate CoronaLockdown 21daylockdown coronavirus coronavirusinIndia LadengeCoronaSe IndiaFightsCorona MoHFW_INDIA drharshvardhan PMOIndia MoHFW_INDIA drharshvardhan PMOIndia Yogdan yogdan yogdan rahat ke nam pr than than tan pal MoHFW_INDIA drharshvardhan PMOIndia apne old ho chuke pm ji ko kitni bar tweet kiya sir bahar se logo ko laana band kare..unhi k bajah se ye halat hai. par wo vote bank or kuch logo k chakkar me sab ki band baja di.samjdar hote to 100 ki jagah 1 ko pareshan hone dete. MoHFW_INDIA drharshvardhan PMOIndia pm ho ya bhikhmange....fir to dusre desho ki madad k liye apne baap ka maal samj kar dete rahe. copy paste karo lockdown. or kuch naya mat plan Krna. boodhe log Sathya jate hai to pm q bnate hai. kursi ki chah hoti tabi pudape pe politics me career.

निसर्ग: मुंबई में 129 साल के बाद आएगा चक्रवाती तूफ़ान दिल्ली BJP अध्यक्ष पद से मनोज तिवारी की छुट्टी, आदेश कुमार गुप्ता को मिली जिम्मेदारी BJP विधायक ने सोनू सूद से मांगी मदद तो अलका लांबा ने जमकर लताड़ा, कहा- देश में इन्हीं की सरकार फिर भी मदद, शर्म हो तो... कोरोना अपडेटः प्रधानमंत्री मोदी बोले, कोरोना महामारी विश्वयुद्ध के बाद आया सबसे बड़ा संकट है - BBC Hindi पीएम केयर्स फंड पर बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका को केंद्र ने ख़ारिज करने का अनुरोध किया राहुल का ट्वीट- क्या भारतीय सीमा में नहीं घुसा कोई चीनी सैनिक? स्पष्ट करे सरकार BHIM ऐप यूज़र्स सावधान, 70 लाख भारतीयों के निजी डेटा पर सेंध लगने का दावा लड़की को दूसरा नाम बता पंजाब से मेरठ लाकर किया मर्डर, काट दिया था टैटू वाला बाजू, 1 साल बाद सुलझी गुत्थी अनुष्का शर्मा ने शेयर की फोटो, पति विराट कोहली ने किया ये कमेंट लद्दाख में चीन की घुसपैठ की खबरों पर राहुल गांधी ने सरकार से पूछा सवाल, कहा- क्या इस बात की कर सकते हैं पुष्टि कि... अश्वेत की मौत पर अमेरिका में उबाल : ट्रंप की धमकी- अगर हिंसा नहीं रुकी तो भेजेंगे सेना