China, India, Australia, Ocean, Indopacificocean, Indo Pacific, İndia Australia Relations, İndia Australia İndo Pecific, World News İn Hindi, World News İn Hindi, World Hindi News

China, India

हिंद-प्रशांत क्षेत्र भारत से सहयोग बढ़ाएगा आस्ट्रेलिया, चीन को चित करने की है तैयारी

हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन को चित करने के लिए ऑस्ट्रेलिया भारत जैसे देशों के साथ सहयोग बढ़ाएगा।

29-09-2020 02:05:00

हिंद-प्रशांत क्षेत्र भारत से सहयोग बढ़ाएगा आस्ट्रेलिया, चीन को चित करने की है तैयारी China India Australia Ocean IndoPacific Ocean

हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन को चित करने के लिए ऑस्ट्रेलिया भारत जैसे देशों के साथ सहयोग बढ़ाएगा।

लिंडा ने कहा, हिंद प्रशांत क्षेत्र में हाल ही में हिंद महासागर में भारतीय नौसेना के साथ हुए युद्धाभ्यास का मकसद चीन को सचेत करना था। भारत और उस जैसे अन्य देशों के साथ ऑस्ट्रेलिया हिंद प्रशांत क्षेत्र में समग्र इस क्षेत्र में व्यापक और रणनीतिक भागेदारी कायम करना चाहता है। ताकि चीन की दादागीरी को जरूरी जवाब दिया जा सके और उसके मंसूबों को पूरा होने से रोका जा सके।

Gaya: संबित पात्रा बोले- लालू ने बिहार की जनता से जमीन हड़प कर संपत्ति बनाई Gaya: संबित पात्रा बोले- पिता लालू यादव के नक्शेकदम पर चल रहे हैं तेजस्वी राजद्रोह केस में कंगना रनौत को मुंबई पुलिस का समन, बहन रंगोली को भी किया तलब

भारतीय नौसेना और ऑस्ट्रेलियाई रॉयल नेवी ने पिछले हफ्ते दो दिवसीय युद्धाभ्यास सफलतापूर्वक पूरा किया। हिंद महासागर के उत्तर पूर्वी हिस्से में हुए इस युद्धाभ्यास में दोनों देशों ने अपने हथियारों का परीक्षण किया।साथ ही हवाई जहाज रोधी अभ्यास और हेलिकॉप्टर संचालन को अंजाम दिया। भारत और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं का यह पहला बड़ा युद्धाभ्यास है। यह जून में दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग बढ़ाने को लेकर हुए करार का हिस्सा है।

लिंडा ने कहा, भारत के साथ हमारे संबंधों का यह सबसे बेहतरीन दौर है। हमारे रिश्ते पहले से और मजबूत हुए हैं। हमारी सैन्य साझेदारी भी बढ़ी है। उन्होंने कहा, भविष्य में हमारी साझेदारी और मजबूत होगी।गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और भारत समेत कई महा शक्तियां हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षित, मुक्त व्यापार की पैरवी कर रहे हैं जबकि चीन इस क्षेत्र में लगातार सेना बढ़ा रहा है।

ऑस्ट्रेलिया की रक्षामंत्री लिंडा रेनॉल्ड ने कहा, हम हिंद प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षित और मुक्त व्यापार के पक्षधर हैं और चीन की कैसी भी दादागीरी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। चीन अपने दमखम के जरिये संसाधनों से समृद्ध इस व्यापारिक क्षेत्र में अपना दबदबा कायम करने की फिराक में है।

विज्ञापनलिंडा ने कहा, हिंद प्रशांत क्षेत्र में हाल ही में हिंद महासागर में भारतीय नौसेना के साथ हुए युद्धाभ्यास का मकसद चीन को सचेत करना था। भारत और उस जैसे अन्य देशों के साथ ऑस्ट्रेलिया हिंद प्रशांत क्षेत्र में समग्र इस क्षेत्र में व्यापक और रणनीतिक भागेदारी कायम करना चाहता है। ताकि चीन की दादागीरी को जरूरी जवाब दिया जा सके और उसके मंसूबों को पूरा होने से रोका जा सके।

भारतीय नौसेना और ऑस्ट्रेलियाई रॉयल नेवी ने पिछले हफ्ते दो दिवसीय युद्धाभ्यास सफलतापूर्वक पूरा किया। हिंद महासागर के उत्तर पूर्वी हिस्से में हुए इस युद्धाभ्यास में दोनों देशों ने अपने हथियारों का परीक्षण किया।साथ ही हवाई जहाज रोधी अभ्यास और हेलिकॉप्टर संचालन को अंजाम दिया। भारत और ऑस्ट्रेलिया की नौसेनाओं का यह पहला बड़ा युद्धाभ्यास है। यह जून में दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग बढ़ाने को लेकर हुए करार का हिस्सा है।

लिंडा ने कहा, भारत के साथ हमारे संबंधों का यह सबसे बेहतरीन दौर है। हमारे रिश्ते पहले से और मजबूत हुए हैं। हमारी सैन्य साझेदारी भी बढ़ी है। उन्होंने कहा, भविष्य में हमारी साझेदारी और मजबूत होगी। और पढो: Amar Ujala »

स्पेशल रिपोर्ट: हाथरस कांड में 40 लोग बताएंगे 14 सितंबर की कहानी

हाथरस गैंगरेप कांड की जांच लगातार जारी है. SIT को मिले एक्सटेंशन में टीम ने जांच तेज कर दी है. एसआईटी अब उस रात के कई पहलुओं पर जांच कर रही है जिस रात के अंधेरे में पीड़िता का शव जलाया गया था. टीम ने गांव व आस-पास के 40 लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया है जो उस समय मौके पर मौजूद थे. पीड़िता के गांव के 40 लोगों से पूछताछ कल से ही शुरु हो गई है. एसआईटी की टीम ये जानने में लगी है कि 14 सितंबर को क्या हुआ था. पुलिस की लापरवाही पर के बारे में भी लोगों से पूछा जा रहा है. बता दें कि राज्य सरकार के द्वारा जिस एसआईटी का गठन किया गया था, उसने इस पूरे मामले में पूछताछ तेज कर दी है. देखिए स्पेशल रिपोर्ट.

Dear कृपया मस्कुलर डिस्ट्रॉफी के लिए न्यूज़ चलाओ, हम प्रतिदिन मर रहे हैं और हर साल बहुत बच्चों को अपनी जान गंवानी पड रही है, कृपया मदद करो

Redmi 9A का 6 जीबी रैम और 128 जीबी वेरियंट हुआ लॉन्च, जानें कीमतRedmi 9A को इस नए वेरियंट को फिलहाल चीन में पेश किया गया है। साथ ही इस बात की भी फिलहाल कोई जानकारी नहीं है कि यह वेरियंट भारत अमर उजाला!!ये तो चीनी प्रोडक्ट है अतः इसका प्रचार प्रसार क्यों कर रहे हो!

माइनस 40 डिग्री में भी जवाब देने की तैयारी में भारत, चीन सीमा के पास तैनात किए विध्वंसक टैंकमाइनस 40 डिग्री में भी जवाब देने की तैयारी में भारत, चीन सीमा के पास तैनात किए विध्वंसक टैंक India China Border PMO India DefenceMin India adgpi PMOIndia DefenceMinIndia adgpi 👍

72 हजार अमेरिकी रायफल समेत 2290 करोड़ रुपये की हथियार खरीद को केंद्र ने दी मंजूरी72 हजार अमेरिकी रायफल समेत 2290 करोड़ रुपये की हथियार खरीद को केंद्र ने दी मंजूरी India narmy ArmsforArmy USrifles rajnathsingh rajnathsingh Kya ssari duniya ke hathiyaar kharodige aur china pak ko attack bhi nahi karoge.Take iver Axai chin and pok to justify these purchases rajnathsingh Yudh k poore chance h China k sath.... Sarkar ko pta h last m Yudh kra lnge China k sth aur agle 5year bhi pkke rajnathsingh AcharyaPramodk

खत्म करना होगा चीन का बाजारविनिर्माण क्षेत्र में भारत के लिए प्रबल संभावनाएं हैं। अगर भारत अपने विनिर्माण क्षेत्र को मजबूत बना लेता है और विदेशी कंपनियों को मौका देता है तो इस क्षेत्र में चीन को आसानी से टक्कर दी जा सकती है और वहां से होने वाले आयात को एकदम खत्म किया जा सकता है। Now you get the point

चीन के सरकारी मीडिया को डर, भारत चला सकता है पहली गोली - BBC News हिंदीचीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि भारत की तरफ़ से चली गोली के 'असहनीय परिणाम' होंगे. Sale india me ghuspaith karoge to 100 percent goli marenge यह डर अछा लगा सनातन विरोधी सामाज विरोधी देश विरोधी मिडिया बीबीसी भक्तों.. बोलो “चीन”

समुद्र में चीन को साफ संदेश, ऑस्‍ट्रेलिया, रूस के बाद जापान ने भी भारत संग मिलाई तालभारत न्यूज़: India Japan Joint Navy Exercise: भारत और जापान के बीच एक-दूसरे के बेस एक्‍सेस करने का ऐतिहासिक समझौता होने के बाद पहली बार सैन्‍य अभ्‍यास हो रहा है। चीन के मंसूबों को समझते हुए भारतीय नौसेना ने उत्‍तरी अरब सागर और हिंद महासागर क्षेत्र में दूसरे देशों संग सहयोग बढ़ाया है।