Jammu And Kashmir, Former Cm Farooq Abdullah, Lok Sabha Secretariat, Applied For Leave, Psa On Farooq Abdullah, Farooq Abdullah In Custody

Jammu And Kashmir, Former Cm Farooq Abdullah

लोकसभा के संपर्क में हैं PSA के तहत हिरासत में बंद फारूक अब्दुल्ला

गिरफ्तारी के बाद फारूक अब्दुल्ला तीन बार लोकसभा को छुट्टी के लिए अर्जी दे चुके हैं

20-02-2020 21:07:00

गिरफ्तारी के बाद फारूक अब्दुल्ला तीन बार लोकसभा को छुट्टी के लिए अर्जी दे चुके हैं

हिरासत में होने के बावजूद जम्मू और कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला का लोकसभा से संपर्क लगातार बना हुआ है. गिरफ्तारी के बाद वो तीन बार लोकसभा को छुट्टी के लिए अर्जी दे चुके हैं.

हालांकि, हिरासत में होने के बावजूद फारूक अब्दुल्ला का लोकसभा से संपर्क लगातार बना हुआ है. गिरफ्तारी के बाद वो तीन बार लोकसभा को छुट्टी के लिए अर्जी दे चुके हैं. सूचना के अधिकार (RTI) के तहत इंडिया टुडे की ओर से दाखिल याचिका पर लोकसभा सचिवालय ने अपने जवाब में ये खुलासा किया है.

कोरोना वायरस: दिल्ली के सभी निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम्स में 20 प्रतिशत बेड कोविड-19 के लिए - BBC Hindi कोरोना संक्रमण: तब्लीग़ी जमात से जुड़े सवाल पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा- ''बहुत हुआ'' महाराष्ट्र सरकार सौतेली मां बनकर भी सहारा देता तो वापस नहीं आते श्रमिक : सीएम योगी

ये भी पढ़ें-  वारिस पठान का भड़काऊ बयान, कहा- हम 15 करोड़ 'मुस्लिम' 100 करोड़ लोगों पर भारी लोकसभा सचिवालय की ओर से जवाब में कहा गया है, 'डॉ. फारूक अब्दुल्ला, एमपी ने सदन की बैठक में हाजिरी से छुट्टी के लिए तीन बार आवेदन दिया- '05-08-2019 से 06-08-2019, 18-11-2019 से 13-12-2019 और 31-01-2020 से 11-02-2020'. इसके मायने ये है कि PSA के तहत हिरासत में होने के बाद भी पूर्व मुख्यमंत्री ने दो बार छुट्टी के लिए अर्जी दी.

इंडिया टुडे ने छुट्टी के लिए दी अर्जी की प्रति मांगी जिसे सचिवालय ने देने से इनकार कर दिया. इसका कारण ये बताया गया, 'उनकी हाजिरी से छुट्टी का आवेदन सदन से सदस्यों की गैर हाजिरी पर बनी कमेटी के विचाराधीन है, क्योंकि मामला विचाराधीन है इसलिए छुट्टी के आवेदन की प्रति इस स्थिति में उपलब्ध नहीं कराई जा सकती.'

RTI के तहत याचिका में हमने ये भी सवाल किया था कि फारूक अब्दुल्ला कितने समय से सदन से गैरहाजिर हैं? लोकसभा सचिवालय ने इसके जवाब में कहा, 'डॉ. फारूक अब्दुल्ला की ओर से 17वीं लोकसभा के सभी सत्रों में हाजिरी रजिस्टर पर हस्ताक्षर करने या नहीं करने की जानकारी लोकसभा की वेबसाइट पर उबलब्ध है. www.loksabha.nic.in ........ आवेदक (RTI) हालांकि ये संज्ञान में ले कि डॉ फारूक अब्दुल्ला, एमपी ने किसी विशिष्ट दिन पर सदन की बैठक में हिस्सा लिया हो और उन्होंने हाजिरी रजिस्टर पर हस्ताक्षर नहीं किए हों या करना भूल गए हों.'

ये भी पढ़ें- Coronavirus पर वैज्ञानिकों को बड़ी सफलता, जल्द तैयार हो सकती है वैक्सीन या तो लोकसभा सचिवालय का ये स्टैंडर्ड जवाब है जो सदन में हाजिरी को लेकर पूछे गए किसी सवाल के जवाब में दिया जाता है या लोकसभा को जानकारी नहीं है कि सदन के दूसरे सबसे बुजुर्ग 82 वर्षीय सदस्य, जो श्रीनगर क्षेत्र की नुमाइंदगी करते हैं, को सरकार ने घर नहीं छोड़ने की अनुमति नहीं दे रखी है. दोनों ही सूरतों में उस RTI एक्ट का मकसद नाकाम रहता है, जिसे इसी सदन ने कानून बनाने के लिए वोट दिया.   

हमने RTI याचिका में एक और सवाल में मौजूदा लोकसभा के उन सांसदों के नाम जानने चाहे थे जिनकी ओर से भी छुट्टी के लिए अर्जी दी गई. इस सवाल का जवाब ये मिला, 'सदन की बैठक से सदस्यों की गैर हाजिरी पर बनी कमेटी की ओर से सदस्यों की छुट्टी के मामलों पर विचार और निरीक्षण किया जाता है. 17वीं लोकसभा के दौरान जिन सदस्यों ने छुट्टी के लिए आवेदन दिया, लोकसभा ने जिन्हें मंजूरी दिया और छुट्टी किस कारण से ली गई, ये सभी जानकारी विस्तार के साथ लोकसभा की वेबसाइट पर उपलब्ध है www.loksabha.nic.in'

जब हम बताए गए वेबसाइट पेज पर गए तो हमें पांच अलग-अलग सांसदों के नाम मिले जिन्होंने छुट्टी के लिए आवेदन किया था और उनकी छुट्टी मंजूर की गई. डॉ. फारूक अब्दुल्ला का नाम इन पांच सांसदों में नहीं था. इन पांच में से एक नाम अतुल कुमार सिंह उर्फ अतुल राय का था, जिन्होंने जेल हिरासत में होने की वजह से छुट्टी के लिए आवेदन दिया था.

यूपी में प्रवासी श्रमिक व कामगारों को रोजगार व सामाजिक सुरक्षा देने के लिए बनेगा 'माइग्रेशन कमीशन' Rang De India, A Campaign By Rang De and NDTV महाराष्ट्र सरकार सौतेली माँ ही बन जाती, तो वापस न आते प्रवासी मजदूर: योगी

ये भी पढ़ें- दिल्ली: PM मोदी से मिले राम मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी, अयोध्या आने का दिया न्योता इस सवाल के जवाब में कि कोई सदस्य कितने समय तक सदन से गैर हाजिर रह सकता है, लोकसभा सचिवालय ने कहा, 'भारत के संविधान के अनुच्छेद 101(4) के मुताबिक ’60 दिन के वक्त तक अगर  संसद के किसी भी सदन का कोई सदस्य बिना सदन की अनुमति के सभी बैठकों से गैर हाजिर रहता है, तो सदन उसकी सीट रिक्त घोषित कर सकता है. इन 60 दिनों की गणना में उन दिनों को शामिल नहीं किया जब सदन की बैठक चार दिन से अधिक तक स्थगित रहती है.'



और पढो: आज तक

Ab arjiya hi de sakte hai rasgulla khane ka samay gaya Jail Mei thikk hai

पीएम मोदी के लोकसभा में जोरदार भाषण के दौरान ZEE NEWS रहा नंबर-1बार्क (BARC) की रैंकिंग के मुताबिक छह फरवरी को दोपहर 12:30-2:30 बजे के दौरान 18.5% की रेटिंग के साथ सबसे ज्‍यादा टीवी दर्शकों ने ZeeNews पर उस भाषण को लाइव देखा गया. sudhirchaudhary ZeeNews sudhirchaudhary यदि बात से भी न बने बात तो बंगालादेशी घुसपैठियों को मारो लाठी और लात। तब बनेगी बात शाहीनबाग़ ZeeNews sudhirchaudhary Congrats zee news मुझे पूरी उम्मीद बहुत जल्द zee news 1 होगा ZeeNews sudhirchaudhary बहुत-बहुत बधाई जी न्यूज़।

गुजरात: छात्राओं के अंडरगारमेंट्स जांचने के मामले में प्रिंसिपल समेत चार निलंबितभुज के श्री सहजानंद गर्ल्स इंस्टिट्यूट के हॉस्टल में छात्राओं के पीरियड्स जांचने के लिए उनके अंडरगारमेंट्स उतारने को मजबूर करने की बात सामने आई थी. संस्था के ट्रस्टी का कहना है कि बरसों से चल रही रुढ़िवादी परंपरा के नियम अब छात्राओं के लिए स्वैच्छिक होंगे, इनके पालन के लिए उन पर दबाव नहीं डाला जाएगा. Gujrat_Model isliye teri rating kam h!!!! AAP ने जीती हुई 63 सीटो मे से 38 सीटो पर EVM से ज्यादा VVPAT मे वोट निकले फिर भी कांग्रेस भाजपा ने उसका विरोध नही किया क्यो

कांग्रेस के दो दिग्गज जवाहरलाल नेहरू और सरदार पटेल के बीच राजनीतिक रिश्तों में कटुता थीAnalysis : कांग्रेस के दो दिग्गज जवाहरलाल नेहरू और सरदार पटेल के बीच राजनीतिक रिश्तों में कटुता थी jawaharlalNehru SardarPatel IndianPolitics Awadheshkum Awadheshkum फिर भी उनमें निजी घृणा नहीं थी। Awadheshkum ✔️गांधी अंधभक्त था नेहरू का 🤣🤣🤣 Awadheshkum इन तस्वीर को देख के अन्ना जी की याद आती है जिसके दोनों तरफ दो विचारधारा के लोग बैठे हुए थे हूबहू स्थिति में ArvindKejriwal DrKumarVishwas 😉 अब इसमें कौन केजरू है आप सब अंदाज़ लगाइए 😂😂

बाजार में लौटी रौनक, 335 अंकों की बढ़त के साथ 41,000 के पार खुला सेंसेक्ससप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन यानी बुधवार को शेयर बाजार में जोरदार बढ़त के साथ खुला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख

बिहार: तेजस्वी यादव के समर्थन में शरद यादव, सीएम पद के लिए बताया सही उम्मीदवारशरद यादव ने कहा कि आरजेडी बिहार की सबसे बड़ी पार्टी है और इस पार्टी ने पहले ही तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर दिया है, जो सही भी है. CM kaisa ho tejesbi Bhai jaisa ho Acche din coming soon🤣🤣 तेजस्वी चुनाव का चेहरा नहीं बल्कि बलि का बकरा है।

चेन्नई में CAA के खिलाफ सड़कों पर लोग, सचिवालय के बाहर प्रदर्शनचेन्नई के कलिवानर आरंगम से सचिवालय तक मार्च निकाल रहे प्रदर्शनकारियों की मांग है कि तमिलनाडु विधानसभा भी सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पारित करे. Akshayanath It's illeterate people doing? Ha ha Akshayanath CAA main Muslim ko v shamil karo... sabhi protest khatm ho jayenge Akshayanath Follow me 💯% follow back