Unga, Un General Assembly, General Debate Unga, General Debate United Nations, General Debate Unga 2019, World News İn Hindi, World Hindi News

Unga, Un General Assembly

यूएन महासभा में क्या होता रहता है, जानें महासभा की मुख्य छह समितियों के बारे में

यूएन महासभा में क्या होता रहता है, जानें महासभा की मुख्य छह समितियों के बारे में @UN

10.10.2019

यूएन महासभा में क्या होता रहता है, जानें महासभा की मुख्य छह समितियों के बारे में UN

संयुक्त राष्ट्र महासभा के उच्चस्तरीय सप्ताह (जनरल डिबेट) के दौरान जगमगाती चकाचौंध के बीच दुनिया भर के लोगों और मीडिया

चूंकि बहुत सारा कामकाज पूरा करना होता है, इसलिए महासभा के प्रयासों को समितियों के जरिए अमल में लाया जाता है। इन समितियों में मुद्दों पर विचार-विमर्श होता है, एक आम-सहमति बनाने की कोशिश की जाती है। जरूरत पड़े तो मतदान भी कराया जाता है और आखिर में सिफारिशें 193 सदस्य देशों से बनी एसेंबली प्लेनरी को अंतिम निर्णय के लिए भेजी जाती हैं। एजेंडा के कुछ विषयों पर भी जनरल एसेंबली प्लेनरी में विचार किया जाता है, जैसेकि फलस्तीन का मुद्दा।

तीसरी समिति - सामाजिक, मानवीय सहायता, मानवाधिकार और सांस्कृतिक एजेंडा विषय

मुख्य समितियों के अलावा महासभा की नौ साख समितियां भी होती हैं। ये समितियां सदस्य देशों के प्रतिनिधियों के आधिकारिक पहचान संबंधी मामलों और दस्तावेजों को देखती है। एक जनरल कमेटी होती है जो महासभा सामान्य प्रगति की समीक्षा करती है। इनके अलावा अनेक सहायक समितियां भी होती हैं। इन सहायक समितियों में सभी सदस्य देशों के प्रतिनिधियों की शिरकत जरूरी नहीं होती।

एक अनौपचारिक बैठक अनेक कारणों से हो सकती है। इस तरह की बैठकों में सचिवालय के अधिकारी या तकनीकि विशेषज्ञ भी जानकारियां पेश कर सकते हैं, सिविल सोसायटी के सदस्यों के साथ संवाद, सलाह मश्वरिया सौदेबाजी भी हो सकती है। कमेटी का कोई भी निर्णय अनौपचारिक बैठकों में नहीं लिया जा सकता। अनौपचारिक कमेटियों में आमतौर पर अनुवाद सेवाएं भी नहीं होती हैं जोकि कोई समझौता होने के लिए स्वभाविक रूप से अनिवार्य है। औपचारिक व अनौपचारिक बैठकों के अलावा कुछ बैठकें मुक्त और बंद भी हो सकती हैं।

का ध्यान इसी पर केंद्रित हो जाता है। मगर जब ये सप्ताह समाप्त होने के साथ ही चकाचौंध कुछ धीमी पड़ती है तो महासभा का विस्तृत कामकाज जारी रहता है जो ये सदन अपनी मुख्य समितियों के माध्यम से करती है। यूएन महासभा मुख्य रूप में विचार-विमर्श और चर्चा का केंद्र है और इस विश्व संगठन का बहुत सारा कामकाज इन्हीं समितियों के जरिए किया जाता है।

इन समितियों का प्रचलित नाम पहली समिति, दूसरी समिति... इसी तरह छठी समिति तक होता है। इसलिए इनके नाम से ये जानकारी नहीं मिल पाती है कि कौन सी समिति क्या काम करती है। लेकिन ये समितियां निरस्त्रीकरण से लेकर पूर्व औपनिवेशिक क्षेत्रों को स्वतंत्र करना, आर्थिक प्रगति से लेकर मानवीय सहायता तक, जैसे मुद्दों पर हर सप्ताह काम करती हैं, चकाचौंध से दूर। उनके इस काम में शामिल होता है- राजनैतिक नेताओं और संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ नेताओं द्वारा घोषित नीतियों को असली दुनिया में लागू करने के लिए तैयार करना।

प्रथम समिति - निरस्त्रीकरण और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित एजेंडा विषय

चौथी समिति - इसे विशिष्ट राजनैतिक व उपनिवेश स्वतंत्रता समिति भी कहा जाता है, ये उन विषयों पर चर्चा करती है जिन पर पहली समिति में चर्चा नहीं होती है।

प्रत्येक समिति अपने आप में संपूर्ण होती है और महासभा के सभी 192 सदस्य देश हर समिति के भी सदस्य होते हैं। हर एक सदस्य को एक वोट हासिल होता है यानी यहां सभी सदस्य देश बराबर हैं।

एक अनौपचारिक बैठक अनेक कारणों से हो सकती है। इस तरह की बैठकों में सचिवालय के अधिकारी या तकनीकि विशेषज्ञ भी जानकारियां पेश कर सकते हैं, सिविल सोसायटी के सदस्यों के साथ संवाद, सलाह मश्वरिया सौदेबाजी भी हो सकती है। कमेटी का कोई भी निर्णय अनौपचारिक बैठकों में नहीं लिया जा सकता। अनौपचारिक कमेटियों में आमतौर पर अनुवाद सेवाएं भी नहीं होती हैं जोकि कोई समझौता होने के लिए स्वभाविक रूप से अनिवार्य है। औपचारिक व अनौपचारिक बैठकों के अलावा कुछ बैठकें मुक्त और बंद भी हो सकती हैं।

और पढो: Amar Ujala

केंद्र सरकार के एलान के बाद बाजार में जोरदार उछाल, सेंसेक्स में 630 अंकों की बढ़तबुधवार को शेयर बाजार में जोरदार बढ़त देखने को मिली। दोपहर करीब 2:55 बजे बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स ऐसा लग रहा है एक scam ओर पनप रहा है सरकार के एलानो पर मन्दी के नाम पर।

सुरजेवाला के गढ़ में अमित शाह की रैली आज, कैथल में मांगेंगे BJP के लिए वोटयै महेश शाह आजकाल कांहा है? अमित शाह बतायेगे देश को Predicted sentence for kaithal rally:- 370 , no word for development Welcome to you hariyana me aap ka savagat he dill se fir ekbar bjp

मुंबई लोकल में लगी आग, धुएं के गुबार के बीच जान बचाने के लिए भागे लोगनवी मुंबई के वाशी में एक लोकल ट्रेन में आग से अफरातफरी मच गई. आग की वजह शार्ट सर्किट बताई गई है. सैकड़ों यात्री बाल बाल बचे हैं. ट्रेन को खाली कराया गया है. ट्रेन पनवेल की तरफ जा रही थी. nehabatham03 shwetajhaanchor Wo pakistan wali khabar chalao maza aata hai😁😂😂😂

डब्ल्यूएचओ के नए अध्ययन में हुआ खुलासा, प्रसव के दौरान महिलाओं के साथ होता है दुर्व्यवहारडब्ल्यूएचओ के नए अध्ययन में हुआ खुलासा, प्रसव के दौरान महिलाओं के साथ होता है दुर्व्यवहार WHO WHOSEARO UN UN_Women UNICEF PMOIndia realDonaldTrump MinistryWCD

हांगकांग प्रदर्शनकारियों की सहायता के आरोप में चीन के निशाने पर एप्पल | DW | 09.10.2019चीन ने एप्पल कंपनी के ऊपर 'टॉक्सिस एप्प' के माध्यम से हांगकांग में हो रहे विरोध-प्रदर्शन में सहायता करने का आरोप लगाया है.

LIC के इस प्लान में कम अवधि में निवेश कर पाएं चार गुना फायदाLIC Jeevan Labh: लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (LIC) भविष्य और वर्तमान को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग पॉलिसी मुहैया कराती है। अगर कोई ग्राहक इस प्लान को लेता है तो उसे और भी कई तरह के फायदे मिलते हैं।

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

10 अक्तूबर 2019, गुरुवार समाचार

पिछली खबर

डब्ल्यूएचओ के नए अध्ययन में हुआ खुलासा, प्रसव के दौरान महिलाओं के साथ होता है दुर्व्यवहार

अगली खबर

संयुक्त राष्ट्र के सामने नकदी का गंभीर संकट, महासचिव गुटेरेश ने सदस्य देशों को सचेत किया