Narendramodi, Mannkibaat, Nationfirst, Narendra Modi Live, Mann Ki Baat Live, Pm Modi Live, Pm Modi, Coronavirus, Vaccination, Delta Plus Varient, Tokyo Olympics, Corona Third Wave

Narendramodi, Mannkibaat

मोदी के मन की बात: PM बोले- भारत जोड़ो अभियान चलाएं; हमें नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट के मंत्र के साथ आगे बढ़ना है

मोदी के मन की बात: PM बोले- भारत जोड़ो अभियान चलाएं; हमें नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट के मंत्र के साथ आगे बढ़ना है #NarendraModi #MannKiBaat #Nationfirst

25-07-2021 09:23:00

मोदी के मन की बात: PM बोले- भारत जोड़ो अभियान चलाएं; हमें नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट के मंत्र के साथ आगे बढ़ना है NarendraModi MannKiBaat Nationfirst

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सुबह 11 बजे मन की बात कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया। यह इस रेडियो प्रोग्राम का 79वां एपिसोड है। मोदी ने रविवार को ओलिंपिक जाने वाले खिलाड़ियों को चीयर करने की बात कही, तो कारगिल के शहीदों को भी याद किया। मोदी ने आजादी के 75 साल पूरे होने पर नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट का नारा भी दिया। साथ ही कहा कि गांधी के भारत छोड़ो अभियान की तर्ज पर देश के लोग भारत ज... | Narendra Modi Live ; Mann Ki Baat Live , PM Modi Live, PM Modi, Coronavirus , Vaccination , Delta Plus Varient , Tokyo Olympics , Corona Third Wave

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सुबह 11 बजे मन की बात कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया। यह इस रेडियो प्रोग्राम का 79वां एपिसोड है। मोदी ने रविवार को ओलिंपिक जाने वाले खिलाड़ियों को चीयर करने की बात कही, तो कारगिल के शहीदों को भी याद किया। मोदी ने आजादी के 75 साल पूरे होने पर नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट का नारा भी दिया। साथ ही कहा कि गांधी के भारत छोड़ो अभियान की तर्ज पर देश के लोग भारत जोड़ो अभियान चलाएं।

चीन ने क्रिप्टोकरेंसी को अवैध घोषित किया, बिटकॉइन पर लगाया प्रतिबंध - BBC Hindi पंजाब में नेतृत्व बदलाव के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने की सचिन पायलट से मुलाकात चीन ने सीमा विवाद पर भारत से की शांतिपूर्ण समाधान की पेशकश, कहा- मुद्दों को विवाद नहीं बनने देना चाहिए - BBC Hindi

कार्यक्रम में मोदी ने आंध्र प्रदेश, ओडिशा, तमिलनाडु समेत देशभर में इनोवेटिव काम कर रहे लोगों की तारीफ की। वोकल फॉर लोकल पर जोर देते हुए उन्होंने लोगों से हैंडलूम और खादी का इस्तेमाल करने की अपील की। मोदी ने कहा कि जो देश के लिए तिरंगा उठाता है, ऐसे लोगों की देश भक्ति की भावना हमें जोड़ती है। कल करगिल विजय दिवस भी है। यह भारत की सेना के शौर्य का प्रतीक है। मैं चाहूंगा कि आप करगिल की गाथा जरूर पढ़े। वीरों को नमन करें।

ओलिंपिक खिलाड़ियों को चीयर करने लिए के विक्ट्री पंच कैंपनमोदी ने कहा, 'दो दिन पहले टोक्यो में भारतीय खिलाड़ियों को देखकर देश रोमांचित हो उठा था। पूरे देश ने इनसे कहा कि विजयी भव:।' सोशल मीडिया पर इनके सपोर्ट के विक्ट्री पंच कैम्पेन शूरू हो चुका है। headtopics.com

आजादी के 75 साल का साक्षी बनना सौभाग्य की बातइस साल देश आजादी के 75वें साल में प्रवेश कर रहा है। ये हमारा सौभाग्य है कि जिस आजादी के लिए देश ने सदियों का इंतजार किया, उसके 75 वर्ष होने के हम साक्षी बन रहे हैं। 12 मार्च को बापू के साबरमती आश्रम से 'अमृत महोत्सव' की शुरूआत हुई थी। इसी दिन बापू की दांडी यात्रा को पुनर्जीवित किया गया था, तब से जम्मू-कश्मीर से लेकर पुडुचेरी तक, गुजरात से लेकर पूर्वोत्तर तक, देश भर में अमृत महोत्सव से जुड़े कार्यक्रम चल रहे हैं।

संस्कृति मंत्रालय के राष्ट्रगान अभियान से जुड़ने की अपीलPM ने कहा कि स्वाधीनता सेनानियों को याद करते हुए सरकार और सामाजिक संगठनों की तरफ से लगातार इससे जुड़े कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। ऐसा ही एक आयोजन इस बार 15 अगस्त को होने जा रहा है, ये राष्ट्रगान से जुड़ा एक प्रयास है। सांस्कृतिक मंत्रालय की कोशिश है कि इस दिन ज्यादा से ज्यादा भारतवासी मिलकर राष्ट्रगान गाएं, इसके लिए एक वेबसाइट भी बनाई गई है -

इसकी मदद से आप राष्ट्रगान गाकर, उसे रिकॉर्ड कर पाएंगे।आजादी का अमृत महोत्सव राजनीतिक कार्यक्रम नहींमोदी ने कहा कि अमृत महोत्सव' राजनीतिक नहीं, बल्कि सभी भारतवासियों का कार्यक्रम है। ये भावना है, अपने स्वाधीनता सेनानियों के मार्ग पर चलना, उनके सपनों का देश बनाना । जैसे, देश की आजादी के मतवाले, स्वतंत्रता के लिए एकजुट हो गए थे, वैसे ही हमें देश के विकास के लिए एकजुट होना है।

मोदी ने फिर वोकल फॉर लोकल का नारा दोहरायाउन्होंने कहा कि रोज के कामकाज करते हुए भी हम राष्ट्र निर्माण कर सकते हैं, जैसे वोकल फॉर लोकल। हमारे देश के स्थानीय उद्यमियों, आर्टिस्टों, शिल्पकारों, बुनकरों को सपोर्ट करना, हमारे सहज स्वभाव में होना चाहिए। 7 अगस्त को आने वाला नेशनल हैंडलूम डे, एक ऐसा अवसर है जब हम प्रयास पूर्वक भी ये काम कर सकते हैं । इस दिन के साथ बहुत ऐतिहासिक पृष्ठभूमि जुड़ी हुई है। इसी दिन, 1905 में स्वदेशी आंदोलन की शुरूआत हुई थी। हमारे देश के ग्रामीण और आदिवासी इलाकों में हैंडलूम कमाई का बहुत बड़ा साधन है । ये ऐसा क्षेत्र है जिससे लाखों महिलाएं, लाखों बुनकर, लाखों शिल्पी जुड़े हुए हैं। आप स्वयं कुछ-न-कुछ खरीदें, और अपनी बात दूसरों को भी बताएं। headtopics.com

अफ़ग़ानिस्तान में फिर दी जाएगी मौत और हाथ-पैर काटे जाने की सज़ा: तालिबान - BBC News हिंदी UPSC ने जारी किए सिविल सर्विस एग्जाम-2020 के नतीजे, 761 उम्मीदवार हुए पास मोदी-बाइडेन मुलाकात: US प्रेसिडेंट बोले- मैंने 15 साल पहले कह दिया था, 2020 तक भारत-अमेरिका सबसे करीबी देश होंगे

खादी स्टोर से एक दिन में एक करोड़ से ज्यादा बिक्रीसाल 2014 के बाद से ही 'मन की बात' में हम अक्सर खादी की बात करते हैं । ये आपका ही प्रयास है कि आज देश में खादी की बिक्री कई गुना बढ़ गई है। क्या कोई सोच सकता था कि खादी के किसी स्टोर से एक दिन में एक करोड़ रुपए से अधिक की बिक्री हो सकती है !, लेकिन आपने ये भी कर दिखाया है। मेरा आपसे आग्रह है कि ग्रामीण इलाकों में बन रहे हैंडलूम प्रोडक्ट जरूर खरीदें और उसे #MyHandloomMyPride के साथ शेयर करें।

गांधी के भारत छोड़ो की तर्ज पर भारत जोड़ो अभियान चलेबात जब आजादी के आंदोलन और खादी की हो तो पूज्य बापू का स्मरण होना स्वाभाविक है। जैसे बापू के नेतृत्व में भारत छोड़ो आंदोलन चला था, वैसे ही आज हर देशवासी को भारत जोड़ो आंदोलन का नेतृत्व करना है। नेशन फस्ट, आलवेज फस्ट के मंत्र के साथ ही हमें आगे बढ़ना है।

मन की बात के लिए सुझाव भेजने वाले 75% लोग 35 साल से कम उम्र केकुछ दिन पहले ही MyGov की ओर से मन की बात के श्रोताओं को लेकर एक स्टडी की गई। इस स्टडी में ये देखा गया कि मन की बात के लिए सन्देश और सुझाव भेजने वालों में प्रमुख रूप से कौन लोग हैं। स्टडी के बाद ये जानकारी सामने आई कि संदेश और सुझाव भेजने वालों में से करीब-करीब 75 प्रतिशत लोग, 35 वर्ष की आयु से कम के होते हैं यानि भारत की युवा शक्ति के सुझाव मन की बात को दिशा दे रहे हैं।

मन की बात का कैरेक्टर कलेक्टिव और पॉजिटिवमन की बात में हम पॉजिटिव बातें करते हैं, इसका कैरेक्टर कलेक्टिव है। सकारात्मक विचारों और सुझावों के लिए भारत के युवाओं की ये सक्रियता मुझे आनंदित करती है। आप लोगों से मिले सुझाव ही 'मन की बात' की असली ताकत हैं। आप कई तरह के विचार भेजते हैं। हम सभी पर तो नहीं चर्चा कर पाते हैं, लेकिन उनमें से बहुत से आइडियाज को मैं सम्बंधित विभागों को जरुर भेजता हूं, ताकि उन पर आगे काम किया जा सके। headtopics.com

आंध्र के साई प्रनीथ और ओडिशा के ईसाक मुंडा की तारीफमोदी ने कहा कि मैं आपको साई प्रनीथ जी के प्रयासों के बारे में बताना चाहता हूं। साई प्रनीथ जी, एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं, आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं। पिछले वर्ष उन्होंने देखा कि उनके यहां मौसम की मार की वजह से किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ा था। मौसम विज्ञान में उनकी दिलचस्पी बरसों से थी। इसलिए अब वे अलग-अलग डेटा सोर्सेस से वेदर डेटा खरीदते हैं, उसका विश्लेषण करते हैं और स्थानीय भाषा में अलग-अलग माध्यमों से किसानों के पास जरूरी जानकारी पहुंचाते हैं ।

इसी तरह ओडिशा के संबलपुर जिले के गांव में रहने वाले ईसाक मुंडा जी कभी एक दिहाड़ी मजदूर थे, अब वे एक इंटरनेट सेंसेशन बन गए हैं। अपने यूट्यूब चैनल से काफी पैसे कमा रहे हैं। वे वीडियोज में स्थानीय व्यंजन, पारंपरिक खाना बनाने के तरीके, अपने गांव, अपनी लाइफ स्टाइल, परिवार और खान-पान की आदतों को दिखाते हैं।

एनडीए की परीक्षा में इस साल से ही बैठेंगी लड़कियां, पर सामने हैं ये चुनौतियां - BBC News हिंदी भास्कर LIVE अपडेट्स: हफ्ते में दूसरी बार राहुल-प्रियंका से मिले सचिन पायलट, पंजाब के बाद अब राजस्थान में बड़े फेरबदल की अटकलें तेज PM का अमेरिका दौरा LIVE: व्हाइट हाउस में मोदी-बाइडेन की मीटिंग शुरू, US प्रेसिडेंट बोले- दोनों देशों के बीच संबंध मजबूत करने को तत्पर

मद्रास के 3D प्रिंटेड हाउस को बड़ा इनोवेशन बतायाप्रधानमंत्री ने कहा कि IIT मद्रास के एलुमनी द्वारा स्थापित एक स्टार्टअप ने एक 3D प्रिटेंड हाउस बनाया है । 3D प्रिटिंग करके घर का निर्माण, आखिर ये हुआ कैसे ? दरअसल इस स्टार्ट अप ने सबसे पहले 3D प्रिंटर में एक, 3 डामेंशनल डिजाइन को फीड किया और एक विशेष प्रकार के कॉन्क्रीट के माध्यम से लेयर बाय लेयर एक 3D स्ट्रक्चर फैब्रिकेट कर दिया । एक समय था जब छोटे-छोटे कंट्रक्शन के काम में भी वर्षों लग जाते थे, लेकिन आज टेक्नोलज्ञॅजी की वजह से भारत में स्थिति बदल रही है। कुछ समय पहले हमने दुनियाभर की ऐसी इनोवेटिव कंपनी को आमंत्रित करने के लिए एक ग्लोबल हाउसिंग टेक्नोलरॅजी चैलेंज लॉन्च किया था।

ये देश में अपनी तरह का अलग तरह का अनोखा प्रयास है, इसलिए हमने इन्हें लाइट हाउस प्रोजेक्ट का नाम दिया । फिलहाल देश में 6 अलग-अलग जगहों पर लाइट हाउस प्रोजेक्ट पर तेजी से काम चल रहा है। इन लाइट हाउस प्रोजेक्ट में मॉडर्न टेक्नोलज्ञॅजी और इनोवेटिव तौर-तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है। इससे निर्माध का समय कम हो जाता है। साथ ही, जो घर बनते हैं वो अधिक टिकाऊ, किफायती और आरामदायक होते हैं । मैंने हाल ही में ड्रोन के जरिए इन प्रोजेक्ट की समीक्षा भी की और कार्य की प्रगति को लाइव देखा।

मणिपुर में सेब उगाने की कोशिश की तारीफ कीआपने अंग्रेजी की एक कहावत सुनी होगी – “To Learn is to Grow” यानि सीखना ही आगे बढ़ना है। जब हम कुछ नया सीखते हैं, तो हमारे लिए प्रगति के नए-नए रास्ते खुद-ब-खुद खुल जाते हैं । जब भी कहीं लीग से हटकर कुछ नया करने का प्रयास हुआ है, मानवता के लिए नए द्वार खुले हैं, एक नए युग का आरंभ हुआ है और आपने देखा होगा जब कहीं कुछ नया होता है तो उसका परिणाम हर किसी को आश्चर्यचकित कर देता है। अगर मैं आपसे पूछूं कि वो कौन से राज्य हैं, जिन्हें आप सेब के साथ जोड़ेंगे? तो जाहिर है कि आपके मन में सबसे पहले हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड का नाम आएगा। पर अगर मैं कहूं कि इसमें आप मणिपुर को भी जोड़ दीजिये तो शायद आप आश्चर्य से भर जाएंगे। कुछ नया करने के जज्बे से भरे युवाओं ने मणिपुर में ये कारनामा कर दिखाया है। आजकल मणिपुर के उखरु जिले में सेब की खेती जोर पकड़ रही है। यहां के किसान अपने बागानों में सेब उगा रहे हैं । सेब उगाने के लिए इन लोगों ने बाकायदा हिमाचल जाकर ट्रेनिंग भी ली है।

टीएस रिंगफमी यंग ये पेशे से एक एरोनॉटिकल इंजीनियर हैं। उन्होंने अपनी पत्नी टीएस एंजेल के साथ मिलकर सेब की पैदावार की है। इसी तरह, आउग्सी शिमरे ऑगस्टिना ने भी अपने बागान में सेब का उत्पादन किया है। अवुन्गशी दिल्ली में जज्ञॅब करती थीं । ये छोड़ कर वो अपने गाँव लौट गई और सेब की खेती शुरू की । मणिपुर में आज ऐसे कई सेब उत्पादक हैं, जिन्होंने कुछ अलग और नया करके दिखाया है । हमारे आदिवासी समुदाय में बेर बहुत लोकप्रिय रहा है । आदिवासी समुदायों के लोग हमेशा से बेर की खेती करते रहे हैं, लेकिन कोरोना महामारी के बाद इसकी खेती विशेष रूप से बढ़ती जा रही है। त्रिपुरा के उनाकोटी के ऐसे ही 32 साल के मेरे युवा साथी हैं बिक्रमजीत चकमा । उन्होंने बेर की खेती की शुरूआत कर काफी मुनाफा भी कमाया है और अब वो लोगों को बेर की खेती करने के लिए प्रेरित भी कर रहे हैं।

लखीमपुर खीरी में केले से फाइबर बनाने के काम का भी जिक्रमुझे उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किए गए एक प्रयास के बारे में भी पता चला है। कोरोना के दौरान ही लखीमपुर खीरी में एक अनोखी पहल हुई है। वहां महिलाओं को केले के बेकार तनों से फाइबर बनाने की ट्रेनिंग देने का काम शुरू किया गया । वेस्ट में से बेस्ट करने का मार्ग। केले के तने को काटकर मशीन की मदद से बनाना फाइबर तैयार किया जाता है जो जूट या सन की तरह होता है । इस फाइबर से हैंडबैग, चटाई, दरी, कितनी ही चीजें बनाई जाती हैं। इससे एक तो फसल के कचरे का इस्तेमाल शुरू हो गया, वहीं दूसरी तरफ गांव में रहने वाली हमारी बहनों बेटियों को - आय का एक और साधन मिल गया।

बनाना फाइबर के इस काम से एक स्थानीय महिला को चार सौ से छह सौ रुपये प्रतिदिन की कमाई हो जाती है | लखीमपुर खीरी में सैकड़ों एकड़ जमीन पर केले की खेती होती है । केले की फसल के बाद आम तौर पर किसानों को इसके तने को फेंकने के लिए अलग से खर्च करना पड़ता था। अब उनके ये पैसे भी बच जाते है यानि आम के आम, गुठलियों के दाम ये कहावत यहां बिल्कुल सटीक बैठती है। एक ओर बनाना फाइबर से प्रोडक्ट बनाये जा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ केले के आटे से डोसा और गुलाब जामुन जैसे स्वादिष्ट व्यंजन भी बन रहे हैं। कर्नाटक के उत्तर कन्नड़ और दक्षिण कन्नड़ जिलों में महिलाएं यह अनूठा कार्य कर रही हैं । ये शुरूआत भी कोरोना काल में ही हुई है । इन महिलाओं ने न सिर्फ केले के आटे से डोसा, गुलाब जामुन जैसी चीजें बनाई बल्कि इनकी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर पर शेयर भी किया है । जब ज्यादा लोगों को केले के आटे के बारे में पता चला तो उसकी मांग भी बढ़ी और इन महिलाओं की आमदनी भी लखीमपुर खीरी की तरह यहाँ भी इस इनोवेटिव आइडिया को महिलाएं ही लीड कर रही हैं।

वैक्सीनेशन कराने पर मुफ्त छोले-भटूरे खिलाने वाले स्टॉल की तारीफचंडीगढ़ के सेक्टर 29 में संजय राणा जी फूड स्टॉल चलाते हैं और साईकिल पर छोले-भटूरे बेचते हैं । एक दिन उनकी बेटी रिद्धिमा और भतीजी रिया एक आइडिया के साथ उनके पास आई। दोनों ने उनसे कोरोना वैक्सीन लगवाने वालों को फ्री में छोले-भटूरे खिलाने को कहा। वे इसके लिए खुशी-खुशी तैयार हो गए, उन्होंने तुरंत ये अच्छा और नेक प्रयास शुरू भी कर दिया। संजय राणा जी के छोले-भटूरे मुफ़्त में खाने के लिए आपको दिखाना पड़ेगा कि आपने उसी दिन वैक्सीन लगवाई है। वैक्सीन का मैसेज दिखाते ही वे आपको स्वादिष्ट छोले-भटूरे दे देंगे । कहते हैं, समाज की भलाई के काम के लिए पैसे से ज्यादा, सेवा भाव, कर्तव्य भाव की ज्यादा आवश्यकता होती है। हमारे संजय भाई, इसी को सही साबित कर रहे हैं।

तमिलनाडु के नीलगिरि में AmbuRx प्रोजेक्ट की चर्चा कीएक और काम कि चर्चा आज करना चाहूंगा। ये काम हो रहा है तमिलनाडु के नीलगिरि में वहां राधिका शास्त्री जी ने AmbuRx प्रोजेक्ट की शुरूआत की है । इसका मकसद है, पहाड़ी इलाकों में मरीजों को इलाज के लिए आसान ट्रांसपोर्ट उपलब्ध कराना । राधिका कून्नूर में एक कैफे चलाती हैं। उन्होंने अपने कैफे के साथियों से फंड जुटाया। नीलगिरी पहाड़ियों पर आज 6 AmbuRx सेवारत हैं और दूरदराज के हिस्सों में इमरजेंसी के समय मरीजों के काम आ रही हैं । एम्बुरेक्स में स्ट्रेचर, ऑक्सीजन सिलिंडर, फस्ट एड बॉक्स जैसी कई चीजों की व्यवस्था है।

प्रोग्राम से रेडियो की पॉपुलैरिटी बढ़ीकेंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने 19 जुलाई को राज्यसभा में बताया था कि प्रसार भारती ने अब तक अपने ऑल इंडिया रेडियो और दूरदर्शन नेटवर्क और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मन की बात प्रोग्राम के 78 एपिसोड प्रसारित किए हैं। ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BARC) के आंकड़ों के मुताबिक, 2018 से 2020 के दौरान रेडियो प्रोग्राम के दर्शकों की कुल संख्या लगभग 6 करोड़ से 14.35 करोड़ तक होने का अनुमान है।

और पढो: Dainik Bhaskar »

हल्ला बोल: मिलेंगे दो महाबली, 'आतंकिस्तान' में खलबली!

आज अमेरिका में दुनिया के दो महाबलियों की मुलाकात होनी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रेसिडेंट जो बाइडेन से मिलने वाले हैं. इस मुलाकात में कई मुद्दों को लेकर बात होगी लेकिन सबसे अहम मुद्दा होगा आतंकवाद का. और आतंक के माई-बाप तालिबान और पाकिस्तान का. अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ प्रधानमंत्री मोदी की दमदार मुलाकात के बाद अब बारी है. सबसे बड़ी मुलाकात की. ये पहला मौका होगा जब बतौर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ प्रधानमंत्री मोदी की मुलाकात होगी. मोदी और बाइडेन की मुलाकात में दोनों देशों के आपसी पांच मुद्दों के अलावा कुछ अहम मसलों पर चर्चा की उम्मीद है. ये ऐसे मुद्दे हैं जिनसे भारत और अमेरिका, दोनों के हित जुड़े हैं. देखें हल्ला बोल का ये खास एपिसोड.

But in bengal election Mr. M was addressing all hindu population n saying come out all hindu and vote for BJP. What was that Bharat jod SHAME Baba jane man ki baat Japnaam Japnaam Please help me sir please contact me 7857920051 Saheb ne Bharat ko itney Darindagi se toda hai,ke ushe Jodne mai kai Saal Langege.inhe itihaas Hitler ke shrini mai Rakhkhenga.

समझ में नहीं आता है कि 'ये' चाहते क्या है? 😂😂😂 भाग रे 7 sal bits diya nakarapanti अगर थोड़ी सी भी हो तो कभी Live press conference kijiye And this time try to answer real and live questions by yourself not by your home minister. हमे नहीं सुनना आपके मन की बात, Instead you should hear Public grievances. In this country nation comes later our PM comes First 😹

narendramodi पहले इस विचार पर खुद विचार कीजिए। सर अच्छे शब्द बोलने से आप बदलाव नहीं ला सकते, अपने जीवन में भी उन शब्दों को सार्थक करना पड़ता है।

मोदी के मन की बात LIVE: PM बोले- भारत जोड़ो अभियान चलाएं; हमें नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट के मंत्र के साथ आगे बढ़ना हैप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को सुबह 11 बजे मन की बात कार्यक्रम के जरिए देश को संबोधित किया। यह इस रेडियो प्रोग्राम का 79वां एपिसोड है। मोदी ने रविवार को ओलिंपिक जाने वाले खिलाड़ियों को चीयर करने की बात कही, तो कारगिल के शहीदों को भी याद किया। मोदी ने आजादी के 75 साल पूरे होने पर नेशन फर्स्ट, ऑलवेज फर्स्ट का नारा भी दिया। साथ ही कहा कि गांधी के भारत छोड़ो अभियान की तर्ज पर देश के लोग भारत ज... | Narendra Modi Live ; Mann Ki Baat Live , PM Modi Live, PM Modi, Coronavirus , Vaccination , Delta Plus Varient , Tokyo Olympics , Corona Third Wave narendramodi IndianOlympians सोशल मीडिया के मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - समीर श्रीवास्तव narendramodi IndianOlympians

Bjp ke khilap bolna aapko mahenga pd raha hai kya ab apne desh me aisa hi honga. You said nation first we said me first क्यों जोड़े जो टूटा ही नहीं है 😂 Fir bhrashtachar ko bhadawa kyu dete ho? Hello, Watch this video to understand the 'PowerOf_CommonMan. Today, Modi is thinking that he is stronger & can do any thing to this our Nation. But fate is something else for every Arrogant person.

हम भारत जोड़ें आप इतने सालों से क्या भारत को तोड़ रहे थे 😀😀😀😀 100 chuha chap kar billi chali Hajj ko? Ye desh ko barbaad kar ke hi manega जब भी आते है बस नया मंत्र दे के चले जाते है मोदी बाबा।।

पीएम मोदी के संबोधन 'मन की बात' से जुड़ी धन की बात - BBC News हिंदी'मन की बात' से होने वाली कमाई में भारी गिरावट आई है, सरकार का कहना है कि इस संबोधन का मक़सद जनता के साथ संवाद है, न कि विज्ञापनों से कमाई. India ko fakir bana diya saath saal me . इस बेशर्म के बारे में क्या कहें 😡 2 शर्माजी बता रहे उनकी करीब 35 40करोड़ की जम़ीन रेवाड़ी पास मां खेत परकी, काम कहती कहावत है - 'हालि मवालि' ! मतलब किसान जमीन हीन या छिन गई जम़ीन तो हालि हो जाता जम़ीदार का और जब जम़ीदार भी सब सत् निकाल नलायक कर दे तो मवालि कहलाता! मतबल मोदी सरकार किसान को का बना दी - बतारि!😭

nikhilkumarIND उनके नेशन का मतलब भाजपा होता है भारत नहीं फेकू चाचा की मन की बात 😡😡🤣🤣🤣बस और ना सुनाओ यार हमारे कान फट जाऐंग अभी अब हममें कोई भी सहनशीलता नही रही 👎🏽👎🏽👎🏽👎🏽👎🏽👎🏽👎🏽SSC_GD_AGE_Relaxation SSC_GD_AGE_Relaxation हर बार की तरह इस बार भी मन की बकवास फेंकने की बात 🤪🤪🤪🤪🤪🤪😛😛😛😛😛😛😅😅🤣🤣😅🤣😂😂🤣😅😅😆😆😆😆

nationfirst देश का बोज... Laaz (Petrol) Sharm (Diesel) ⛽ Sab Bech Khayie...?

पेगाससः PK के साथ मेरी मीटिंग्स की मोदी सरकार ने कराई जासूसी- CM ममताबकौल दीदी, 'मैंने कहा था कि कुछ दिन पहले मैं पीके और अन्य लोगों के साथ बैठक में थी। सरकार ने उस बैठक की जासूसी की। प्रशांत किशोर ने अपने फोन का ऑडिट किया और पता चला कि हमारी एक बैठक के बारे में सरकार को पता था।'

प्रसंशा: स्वच्छ ऊर्जा को लेकर पीएम मोदी के प्रयासों की अमेरिका में सराहनाअमेरिका ने भारत में कोविड-19 वैश्विक महामारी की चुनौतियों के बीच स्वच्छ ऊर्जा को लगातार बढ़ावा देने की मुहिम पर ध्यान छापा पडने से डर गये क्या? Wow journalism ka Bhoot utar gaya

आंदोलन के दौरान किसानों की मौत पर बोले कृषि मंत्री- सरकार के पास कोई रिकॉर्ड नहींकृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने राज्यसभा में लिखित उत्तर में कहा, ‘‘इन कृषि कानूनों के कारण किसानों के मन में पैदा हुई आशंकाओं के कारणों का पता लगाने के लिए कोई अध्ययन नहीं कराया गया है।’’

भाजपा अध्‍यक्ष ने पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों और प्रदेश अध्यक्षों के साथ बैठक की, जानें वजहभारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (BJP President JP Nadda) ने शुक्रवार को राष्ट्रीय पदाधिकारियों और पार्टी के प्रदेश अध्यक्षों के साथ बैठक की। अभी तक इस बैठक को लेकर विस्‍तृत जानकारी सामने नहीं आई है। bihar_needs_physical_teachers bihar_needs_physical_teachers