Madhyapradesh, Subashchandrabosejayanti, Bjp Mp, Shankar Lalwani, Netaji Subhash Chandra Bose, Mamata Banerjee, Netaji Subhash Chandra Bose Jayanti 2021, Netaji Subhash Chandra Bose Birthday, Netaji Jayanti Celebration, Congress, Madhya Pradesh Congress, İndore Bjp Mp, Shankar Lalwani News, Blood Donation, भाजपा सांसद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, शंकर लालवानी, ममता बनर्जी, नेताजी जयंती, Bhopal News İn Hindi, Latest Bhopal News İn Hindi, Bhopal Hindi Samachar

Madhyapradesh, Subashchandrabosejayanti

मध्यप्रदेश: मंच पर 'नेताजी' का नाम भूले सांसद, कहा- हम मना रहे हैं चंद्रशेखर बोस की जयंती

कार्यक्रम में इंदौर के सांसद शंकर लालवानी भी हिस्सा लेने के लिए पहुंचे। लेकिन अपने संबोधन के दौरान वे 'नेताजी' की जयंती

24-01-2021 09:15:00

मध्यप्रदेश: मंच पर 'नेताजी' का नाम भूले सांसद, कहा- हम मना रहे हैं चंद्रशेखर बोस की जयंती MadhyaPradesh subashchandrabosejayanti ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 iShankarLalwani

कार्यक्रम में इंदौर के सांसद शंकर लालवानी भी हिस्सा लेने के लिए पहुंचे। लेकिन अपने संबोधन के दौरान वे 'नेताजी' की जयंती

सांसद ने कहा, 'नेताजी ने अंग्रेजों की नौकरी छोड़कर देश सेवा के लिए काम किया। देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी। जब अंग्रेजी सेना उनके पीछे पड़ी तो वेश बदलकर देश से बाहर गए और वहां पर अपनी सेना खड़ी की। उन्होंने वहां आजाद हिंद फौज की रचना की। इस सेना ने भारत में अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए। ऐसे नेताजी चंद्र शेखर आजाद... चंद्र शेखर बोस की हम जयंती मना रहे हैं। इस मौके पर यही कहूंगा कि जिस प्रकार उन्होंने देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर किए। उसी प्रकार से हमें अपने शहर और देश के उत्थान के लिए पसीना बहाना चाहिए।'

मोदी का पाँच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था का सपना 2025 तक हो सकेगा पूरा? - BBC News हिंदी सावरकर भारत में हीरो क्यों और विलेन क्यों - BBC News हिंदी क़तर में शूरा काउंसिल की सिफ़ारिशें भारतीय कामगारों की मुश्किलें बढ़ाएगी? - BBC News हिंदी

इसे लेकर कांग्रेस ने उनपर निशाना साधा है। पार्टी ने अफने ट्वीटर अकाउंट पर सांसद लालवानी का एक वीडियो साझा करते हुए लिखा, 'ये हैं इंदौर के बीजेपी सांसद, इन्हें नेता जी सुभाष चंद्र बोस का नाम तक नहीं मालूम।'सांसद ने युवाओं से की रक्त दान की अपील

सांसद ने मालवा संस्कृति मंच से रक्तदान की अपील की। उन्होंने कहा कि युवाओं को रक्तदान के लिए आगे आना चाहिए। देश में कई बार ऐसी विषम परिस्थितियां बन जाती हैं कि रक्त की जरूरत पड़ती है। रक्त दान से समाज को समस्या का समाधान मिल सकता है। उन्होंने खुद भी रक्तदान किया। headtopics.com

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के मौके पर देशभर में काफी कार्यक्रम हुए। बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपी ने बढ़-चढ़कर इसमें हिस्सा लिया। वहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आठ किलोमीटर पदयात्रा की। इसी कड़ी में मध्यप्रदेश के इंदौर में भी नेताजी की जयंती के मौके पर समारोह आयोजित किए गए।

विज्ञापन पर उनका नाम भूल गए। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने नेताजी की जगह अमर शहीद चंद्र शेखर आजाद का नाम ले लिया। हालांकि आभास होने पर सांसद ने तुरंत अपनी गलती सुधार ली।सांसद ने कहा, 'नेताजी ने अंग्रेजों की नौकरी छोड़कर देश सेवा के लिए काम किया। देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी। जब अंग्रेजी सेना उनके पीछे पड़ी तो वेश बदलकर देश से बाहर गए और वहां पर अपनी सेना खड़ी की। उन्होंने वहां आजाद हिंद फौज की रचना की। इस सेना ने भारत में अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए। ऐसे नेताजी चंद्र शेखर आजाद... चंद्र शेखर बोस की हम जयंती मना रहे हैं। इस मौके पर यही कहूंगा कि जिस प्रकार उन्होंने देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर किए। उसी प्रकार से हमें अपने शहर और देश के उत्थान के लिए पसीना बहाना चाहिए।'

इसे लेकर कांग्रेस ने उनपर निशाना साधा है। पार्टी ने अफने ट्वीटर अकाउंट पर सांसद लालवानी का एक वीडियो साझा करते हुए लिखा, 'ये हैं इंदौर के बीजेपी सांसद, इन्हें नेता जी सुभाष चंद्र बोस का नाम तक नहीं मालूम।'ये हैं इंदौर के बीजेपी सांसद, और पढो: Amar Ujala »

क्यों बार-बार प्रकृति दिखा रही है रौद्र रूप, Chamoli में क्या टल सकता था हादसा?

फिर से खुदा बनाएगा कोई नया जहां, दुनिया को यों मिटाएगी 21वीं सदी. देवभूमि उत्तराखंड गंगा की उद्गम स्थल है. यमुना भी यहीं से निकली है. देश में बिजली भी यहीं से पहुंचती है और मैदानी भूमि में पानी की आपूर्ति यहीं से निकली नदियों से होती है. लेकिन आज की तारीख में अगर कोई त्रासदी दिखती है, उस त्रासदी की गलतियों की बात होती है तो वे गलतियां केवल आज की नहीं हैं. आपदा का आना, भूकंप का आना, कभी ग्लेशियर का टूटना तो कभी धरती का कांप जाना, क्या इंसानों के लिए आपदा का अलार्म नहीं है? आखिर क्या संदेश जाना चाहती है प्रकृति, देखें खास दस्तक, श्वेता सिंह के साथ.

ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 iShankarLalwani Esme badi bat kiya hai...bahut Sare neta padhe likhe nahi hai ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 iShankarLalwani पढ़ा और रटा कुछ और था,जयकरे किसी और के लगाएं थें... गांधीजी को पहली बार राष्ट्रपिता कहने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस को तो पढ़ा ही नहीं है इसलिए भूल तो होनी थी

ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 iShankarLalwani बहुत कुछ भूल चुके हैं भूलना इनकी आदत बन चुका है ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 iShankarLalwani जिनके हाथ में सत्ता दी है यदि उनका मानसिक स्तर ऐसा हो तो आप क्या उम्मीद कर सकते हैं ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 iShankarLalwani कई हैं ऐसे :) क्या करें ऐसे मूर्ख जीत भी जाते हैं।

ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 iShankarLalwani Ye kya denge longaun ko gyan. ChouhanShivraj OfficeOfKNath digvijaya_28 iShankarLalwani 😆😆 neta sab se jyada ki ummid lga bhi nhi skte