भारत का मंगलयान: छह महीने के अंतरिक्ष मिशन ने पूरे किए सात साल - BBC Hindi

भारत का मंगलयान: छह महीने के अंतरिक्ष मिशन ने पूरे किए सात साल

26-09-2021 13:20:00

भारत का मंगलयान: छह महीने के अंतरिक्ष मिशन ने पूरे किए सात साल

भारत के मंगलयान मिशन ने बड़ी सफलता हासिल करते हुए मंगल ग्रह की परिक्रमा के सात साल पूरे कर लिए हैं.

5:27मोदी की मौजूदगी मेें हुई क्वॉड बैठक पर चीनी मीडिया क्या कह रहा?Getty ImagesCopyright: Getty Imagesअमेरिका, जापान, भारत और ऑस्ट्रेलिया के नेताओं ने क्वॉड शिखर सम्मेलन के तहत बीते शुक्रवार को बैठक की थी. क्वॉड समूह देशों के नेताओं की यह पहली व्यक्तिगत मुलाक़ात थी.

हिंदू मंदिरों पर हमले के बाद बांग्लादेश में कई जगहों पर हिंसक प्रदर्शन - BBC News हिंदी राहुल गांधी बोले- पार्टी नेताओं ने दबाव बनाया तो दोबारा कांग्रेस प्रमुख बनने के बारे में सोचेंगे 'कोई पछतावा नहीं': सिंघु बॉर्डर पर क्रूर हत्या की जिम्मेदारी लेने वाले 'निहंग' ने कहा

ग्लोबल टाइम्स ने इस मुलाक़ात को चीन के संदर्भ में रेखांकित किया है.ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक़, शुक्रवार को वॉशिंगटन में क्वॉड देशों ने चीन को ‘रोकने’ के लिए आपसी संबंधों की मज़बूती के लिए बैठक की.लेकिन जानकारों का कहना है कि बैठक के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने अनुवाद उपकरण में ख़राबी की शिकायत की. यह उभरते हुए चीन-विरोधी गुट के भविष्य का सूचक भी था. अमेरिका की घटती क्षमता और वैश्विक परिस्थितियों में आए बदलाव के कारण चीन विरोधी यह गुट किसी भी तरह से कारगर साबित नहीं होगा.

वॉशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक़, शुक्रवार को हुई क्वॉड देशों की इस बैठक की उद्घोषणा में मुख्य रूप से वैक्सीन, जलवायु, तकनीकी और अंतरिक्ष सहयोग सहित दूसरे अन्य मुद्दों का ज़िक्र किया गया. पत्रकारों ने चीन या बीजिंग जैसे शब्द नहीं सुने लेकिन क्वॉड ‘समूह के ज़्यादातर एजेंडे का सब-टेक्स्ट चीन’ था. headtopics.com

Getty ImagesCopyright: Getty Imagesअमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि क्वॉड समूह के देश मौजूदा समय में"कोविड से लेकर जलवायु की चुनौतियों और उभरती प्रौद्योगिकी से जुड़ी प्रमुख चुनौतियों का सामना करने के लिए एक मंच पर आ रहे हैं."उन्होंने बैठक की शुरुआत में कहा, “हम जानते हैं कि हमें हमारा लक्ष्य कैसे प्राप्त करना है और इसके लिए हम हर चुनौती के लिए तैयार भी हैं."

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने बाइडन की टिप्पणी को ही दोहराते हुए कहा,"हम एक स्वतंत्र हिंद-प्रशांत क्षेत्र में विश्वास करते हैं, क्योंकि यही एक मज़बूत, स्थिर और समृद्ध क्षेत्र प्रदान कर सकता है."जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने भी इस बैठक में भाग लिया. उन्होंने कहा कि क्वॉड चार देशों की"एक अति महत्वपूर्ण" पहल है"जो समान मौलिक मूल्यों को साझा करते हैं और क़ानून के शासन के आधार पर हिंद-प्रशांत क्षेत्र में एक स्वतंत्र और खुले अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को साकार करने के लिए सहयोग करते हैं."

चाइना फ़ॉरेन अफ़ेयर्स यूनिवर्सिटी में इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंटरनेशनल रिलेशन्स में प्रोफ़ेसर ली हैडोंगे ने ग्लोबल टाइम्स से कहा, हालांकि इन चारों देशों के नेताओं ने चीन को लेकर कुछ नहीं कहा और ना ही उन्होंने ज़ाहिर तौर पर चीन के साथ मौजूदा गतिरोध का ज़िक्र किया लेकिन इस शिखर सम्मेलन का एजेंडा चीन पर ही केंद्रित था. यह एक ऐसी पहल है, जिसका उद्देश्य विशेष रूप से पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में सहयोग के बैनर तले विवादों और टकराव को बढ़ाना है.

Getty ImagesCopyright: Getty Imagesउन्होंने कहा कि वीक्सीन की आपूर्ति पर सहयोग और महामारी से निपटने के उपायों जैसे मुद्दों की आड़ में अमेरिका समेत क्वॉड के अन्य तीन देश अपने असली उद्देश्य को छिपाना चाहते हैं. ऐसा करके वे अंतरराष्ट्रीय समर्थन हासिल करना चाहते हैं लेकिन चीन और अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इस तरह की निम्न-स्तरीय रणनीति देखी है. headtopics.com

मांडविया पर भड़कीं मनमोहन सिंह की बेटी: अस्‍पताल के बेड पर लेटे पिता की तस्‍वीर पब्लिक होने पर बोलीं- मेरे पेरेंट्स चिड़ियाघर के जानवर नहीं शरद पवार बोले- BSF की ताकत बढ़ाने के मामले पर करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात सिंघु बॉर्डर से ग्राउंड रिपोर्टः शुक्रवार को सिंघु बॉर्डर पर क्या-क्या हुआ - BBC News हिंदी

ली के मुतबिक़, अमेरिका क्वॉड के चारों सदस्यों के बीच एकजुटता और समन्वय दिखाना चाहता है क्योंकि वह चीन के साथ प्रतिस्पर्धा को बढ़ाने की कोशिश कर रहा है.ली ने कहा,"चीन और अमेरिका के बीच पहले से ही तनावपूर्ण प्रतिस्पर्धा है. ऐसे में बाइडन, चीन के साथ टकराव से बचना चाहते हैं और चीन के ख़िलाफ़ उकसावे की कार्रवाई कर रहे हैं. लेकिन तथ्य यह है कि वह नाजुक स्थिति को संभालने में असमर्थ है."

Getty ImagesCopyright: Getty Imagesअमेरिकी मीडिया के मुताबिक़, चार देशों के नेताओं के बीच हुई इस बैठक में अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन भी शामिल हुए.ली कहते है कि ब्लिंकन की उपस्थिति ने यह दिखा दिया है कि वह ब्लिंकन ही हैं जो क्वाड समूह को आगे बढ़ा रहे हैं.

शिन्हुआ विश्वविद्यालय में अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के फेलो सुन चेंगहाओ के मुताबिक़ ने ग्लोबल टाइम्स से कहा है कि चीन का बिल्कुल उल्लेख नहीं होना भी क्वॉड देशों के बीच के गतिरोध को प्रदर्शित करता है. हो सकता है कि वे सभी देश चीन के उदय को न चाहने के समान विचार वाले हों लेकिन चीन के प्रति उनकी नीतियां एक-दूसरे से अलग हो सकती हैं.

हालांकि शिखर सम्मेलन काफी सार्थक बताया गया लेकिन बैठक के दौरान जो बाइडन ने अपने एक कर्मचारी से कहा कि उनका अनुवादक उपकरण काम नहीं कर रहा है. यह बात उन्होंने माइक पर कही, जिसे अन्य नेताओं ने सुना भी.सुन के मुताबिक़, क्वाड शिखर सम्मेलन बाइडन प्रशासन का नवीनतम क़दम है लेकिन अलग-अलग सहयोगियों के साथ, अलग-अलग गठबंधनों का अच्छा असर नहीं होगा क्योंकि अमेरिका का ध्यान केंद्रित नहीं है. इसने उसके सहयोगियों के बीच असंतोष को बढ़ाया भी है. headtopics.com

क्वाड शिखर सम्मेलन से पहले ही अमेरिका ने ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के साथ ऑकस डील की घोषणा की थी. इस पर फ्रांस ने नाराज़गी जतायी और अपने राजदूतों को इन सहयोगी देशों से वापस बुला लिया था.विश्लेषकों का कहना है कि ऑकस ने क्वाड शिखर सम्मेलन पर असर तो ज़रूर डाला है क्योंकि जापान और भारत ऑकस में साझेदार नहीं है जबकि ऑस्ट्रेलिया है.

और पढो: BBC News Hindi »

India Today Conclave 2021: Taj Palace Hotel, New Delhi on 8th and 9th October

India Today Conclave 2021 - Check out the full details and schedule of India Today Conclave event to be held at Taj Palace Hotel, New Delhi on 8th and 9th October 2021.

IndiaWantsBSPGovt जय हिन्द!Initiative and Innovation NATION🇮🇳 🇮🇳 जय_हिन्द_जय_भारत Fgggggv view from guv byvfcffff

कृषि कानूनों को रद करने के लिए भारत बंद के समर्थन में उतरे विपक्षी दलकांग्रेस और माकपा से लेकर राकांपा और तृणमूल कांग्रेस सरीखे विपक्षी दलों ने किसान संगठनों के 27 सितंबर को बुलाए गए भारत बंद के समर्थन का एलान कर इस मुद्दे पर सरकार की राजनीतिक घेरेबंदी पर फोकस बढ़ाने के इरादे स्पष्ट कर दिए हैं। विपछि दल नही दलाल . भारत_बंद_नहीं_रहेगा 👈🏾 . RakeshTikaitBKU INCIndia BJP4India AamAadmiParty देश को होने वाले नुकसान से गद्दारो को क्या मतलब?

राहुल गांधी से चर्चा के बाद पंजाब कैबिनेट के मंत्रियों के नाम तय : सूत्रपंजाब में मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने अपने मंत्रिमंडल के लिए नामों को अंतिम रूप दे दिया है. सूत्रों के मुताबिक, चन्‍नी ने राहुल गांधी के साथ मिलकर के पंजाब कैबिनेट के मंत्रियों  के नाम तय किए हैं. कैबिनेट में बदलाव को  लेकरबातचीत के लिए चन्‍नी तीन बार दिल्‍ली आए थे. कितना भी सीएम बना लो गुलामी नहीं जाएगी क्या राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष हैं या पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष आखिर क्यों उनसे पूछ कर कैबिनेट का विस्तार किया जाएगा यह एक गुलामी वाली सोच है

कैडिला हेल्थकेयर ने ZyCoV-D वैक्सीन के उत्पादन के लिए शिल्पा मेडिकेयर के साथ किया समझौताकैडिला हेल्थकेयर ने कहा कंपनी ZyCoV-D तकनीक को शिल्पा बायोलाजिकल प्राइवेट लिमिटेड (SBPL) को ट्रांसफर करेगी। समझौते के तहत SBPL वैक्सीन के दवा पदार्थ के निर्माण के लिए जिम्मेदार होगी जबकि कैडिला हेल्थकेयर पैकेजिंग वितरण और मार्केटिंग के लिए जिम्मेदार होगी।

सहकारिता सम्मेलन में अमित शाह: भारत के संस्कारों में सहकारिता, समृद्धि हमारा नया मंत्रसहकारिता सम्मेलन: अमित शाह को मंत्रालय का पहला मंत्री बनने पर गर्व, बोले- सहकार से समृद्धि हमारा मंत्र AmitShah CooperativeConference Delhi

CoronaVirus India Update : भारत में कोविड-19 के 29,616 नए मामले, 290 मरीजों की मौतनई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के 29,616 नए मामले आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3 करोड़ 36 लाख 24 हजार 419 पर पहुंच गई जबकि एक्टिव मरीजों की संख्या में 1,280 की वृद्धि हुई। संक्रमण का इलाज करा रहे मरीजों की कुल संख्या 3,01,442 हो गई है।

'आईए, भारत में कोरोना वैक्सीन बनाइए' : UN में पीएम मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातेंप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) के 76वें सत्र को संबोधित किया. पिछले वर्ष महासभा का सत्र कोविड-19 महामारी के कारण डिजिटल तरीके से आयोजित किया गया था. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में जहां पाकिस्तान पर निशाना साधा, वहीं कोरोना महामारी को लेकर भी भारत और विश्व के प्रयासों का जिक्र किया. इसके साथ ही उन्होंने कोरोना वैक्सीन निर्माताओं को भारत में आकर वैक्सीन निर्माण के लिए आमंत्रित किया. Lol Adar punawala bhag gya Britain ayega kon Excellent Jaichand got some words to show our Jaichandi keep going.