बोलेरो नियो ने अपनी जड़ों का अहसास कराया: गुरमीत चौधरी

जब एक सफर ने... गुरमीत चौधरी को बना दिया 'बोलेरो नियो' का दीवाना, देखें कैसा रहा उनका अनुभव

Mahindra Bolero Neo, Mahindra

30-11-2021 09:51:00

जब एक सफर ने... गुरमीत चौधरी को बना दिया 'बोलेरो नियो' का दीवाना, देखें कैसा रहा उनका अनुभव

बोलेरो नियो,महिंद्रा के दूसरे मॉडल्स की तरह दमदार है और कठिन व खराब सड़कों पर भी यात्रा को आसान बना देती है। महिंद्रा बोलेरो नियो को नदी की ओर घुमाते गुरमीत चौधरी की आंखें चमक उठीं। यह पल एक्टर गुरमीत चौधरी के लिए घर वापसी जैसा रहा, क्योंकि उन्हें इस यात्रा के जरिए एक बार फिर अपनी जड़ों से जुड़ने का मौका मिला।

उनके लिए यह यात्रा बहुत खास रही। हालांकि, बिजी शेड्यूल के बावजूद, जितना संभव हो सका, उन्होंने पटना और भागलपुर की यात्रां के दौरान लोगों के साथ वक्त गुजारा। रोजमर्रा की जिंदगी में आमतौर पर वह काम के चलते ऐसा नहीं कर पाते हैं, लेकिन इस बार यह चीजें इसलिए संभव हो सकीं,क्योंकि उनके साथ बोलेरो नियो थी, जिसने उन्हें अपने बचपन की यादों को ताजा करके एक बार फिर से पुरानी यादों के बीच लैटने का मौका दिया।

बीजेपी क्या योगी और मौर्य को सुरक्षित सीटों से मैदान में उतार रही है? - BBC News हिंदी

अभिनेता गुरमीत कहते हैं कि पटना वापस आना पुरानी यादों और खूबसूरत पलों का पिटारा खोलने जैसा है। भले ही मेरी सबसे यादगार भूमिका मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की रही, लेकिन मुझे यह स्वीकार करना होगा कि मैं काफी शरारती बच्चा रहा हूं। हालांकि, समय के साथ यह सब बदल गया। गुरमीत आज अपने पिता की तरह बन गए हैं, जो सेना के अनुशासित व्यक्तियों में से थे और उन्होंने यह सुनिश्चित किया कि वह अपने बेटों को वह शारीरिक और मानसिक तौर पर मजबूत बनाएंगे, ताकि उन्हें जीवन में आने वाली कई कठनाइयों और बाधाओं से उबरने में मदद मिल सके।

कुछ इसी तरह बोलेरो नियो भी है, जो महिंद्रा के दूसरे मॉडल्स की तरह दमदार है और कठिन व खराब सड़कों पर भी यात्रा को आसान बना देती है। यह उबड़-खाबड़ रोड और सकरे रास्तों को आत्मविश्वास के साथ पार कराती है और आपको ऐसा लगता है कि जैसे आप एक शानदार रोड से गुजर रहे हैं। छोटे शहर के लड़के से लेकर जाने-माने अभिनेता तक के सफर में गुरमीत टेलीविजन और बड़े पर्दे पर जलवा बिखेर चुके हैं। पर्दे पर देखने पर भले ही उनका यह सफर आसान लगे, लेकिन असल में यह मेहनत भरा रहा है। गुरमीत कहते हैं कि जीवन में कुछ भी असंभव नहीं है। headtopics.com

आम तौर पर बिहारियों को बेहद मेहनती माना जाना जाता है और जब भी कड़ी मेहनत करने की बात आती है, तो मैं उन लोगों से अलग नहीं हूं। अपने घर के करीब गंगा के सबसे लंबे पुलों में से एक- प्रतिष्ठित गांधी सेतु पर बोलेरो नियो की ड्राइविंग करते हुए वह कहते हैं कि यह बहुत जरूरी है कि हमारा ध्यान नहीं भटकना चाहिए और उम्मीद का साथ नहीं छोड़ना चाहिए। भले ही आपके पास कुछ भी न हो।

अमेरिका: यहूदी पूजा स्थल में लोगों को बंधक बनाने वाले से पुलिस कर रही बातचीत - BBC Hindi

गुरमीत आगे कहते हैं कि मैंने अपने जीवन में ज्यादातर सिडेन ही चलाई हैं, लेकिन एसयूवी के लिए मेरा झुकाव हमेशा रहा है। महिंद्रा की गाड़ियों से जुड़ाव बचपन से रहा है। इसका श्रेय हमारे ग्रामीण इलाकों और मेरे पिता की सेना की पृष्ठभूमि को जाता हैं। वह कुल्हड़ वाली चाय की सौंधी खूसबू और पुरानी बातों को याद करते हुए वह कहते हैं कि हमारे पास महिंद्रा की एक वैन हुआ करती थी, जो एक स्कूल बस होने के साथ घूमने फिरने में भी काम आती थी। अब बोलेरो नियो ने इस विरासत को बखूबी संभाला है। इसे ड्राइव करने के दौरान मुझे सुखद महसूस होता है।

बोलेरो नियो महिंद्रा के सबसे अच्छे अनुभव को नए अवतार में पेश करती है, जो मजबूती, ताकत और आत्मविश्वास से भरपूर है। इसके साथ ही इसमें नयापन भी देखने को मिलता है। गुरमीत कहते हैं कि हमें समय के साथ बदलना चाहिए, लेकिन अपनी जड़ों से भी जुड़े रहना जरूरी है।

मैं हमेशा उन पलों को महत्व देता हूं, जिन्होंने मुझे आगे बढ़ने में मदद की और मेरा हौसला बढ़ाया। आज मैं जो भी हूं, उसके लिए दिल से अपने अतीत का शुक्रिया अदा करता हूं। मैं अपने अतीत से इस जुड़ाव को और मजबूती देने के लिए यहां आता रहूंगा। मेरा यह सफर काफी कुछ बोलेरो नियो जैसा ही है, जो अपनी प्रतिष्ठित विरासत को आगे बढ़ा रही है। सही मायने में बोलेरो नियो वर्तमान और भविष्य के बीच की मजबूत कड़ी के जैसी है। headtopics.com

भाजपा में शामिल हो सकती हैं मुलायम की बहू अपर्णा यादव, इंटरनेट मीडिया पर चर्चाओं ने पकड़ी तेजी

और पढो: NBT Hindi News »

वो 20 मिनट जब PM मोदी सन्न रह गए, देखिए #DNA LIVE Sudhir Chaudhary के साथ

कानपुर...गावस्कर की नाराजगी पर मीडिया सेंटर को लिफ्ट का गिफ्ट: UPCA ने 24 घंटे के अंदर कराया भूमि पूजन; कमिश्नर बोले-आपसे ही कराना था, इसलिए लेट हुएग्रीन पार्क की मीडिया गैलरी की बहुप्रतीक्षित लिफ्ट के मामले ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोर ली हैं। भारत और न्यूजीलैंड टेस्ट मैच से पहले यहां लिफ्ट न लगाने से पूर्व कप्तान व इंटरनेशनल कमेंटेटर सुनील गावस्कर नाराज थे। उन्होंने शनिवार को यूपीसीए और खेल निदेशक को आड़े हाथ लिया। जिसके बाद रविवार को यूपीसीए हरकत में आया। जिला प्रशासन के साथ मिलकर मीडिया सेंटर में लिफ्ट लगवाने की प्रक्रिया शुरू ... | UPCA and administration did Bhoomi Pujan in a hurry, Gavaskar launched the Today Bio Bubble. Kanpur ग्रीन पार्क की मीडिया गैलरी की बहुप्रतीक्षित लिफ्ट के मामले ने अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोर ली है। ❣️

Brahmastra Release Date: रणबीर और आलिया की जोड़ी इस दिन उतरेगी परदे पर, ‘सर्कस’ से होगा ‘फोन भूत’ का मुकाबलाBrahmastra Release Date: रणबीर और आलिया की जोड़ी इस दिन उतरेगी परदे पर, ‘सर्कस’ से होगा ‘फोन भूत’ का मुकाबला aliaa08 karanjohar RanveerOfficial foxstarhindi DharmaMovies KatrinaKaif ranbirkapoor BrahmastraFilm Brahmastra

Filmy Wrap: ब्रह्मास्त्र की रिलीज डेट घोषित और मौनी रॉय इस तारीख को करेंगी शादी, पढ़ें मनोरंजन की 10 बड़ी खबरेंFilmy Wrap: ब्रह्मास्त्र की रिलीज डेट घोषित और मौनी रॉय इस तारीख को करेंगी शादी, पढ़ें मनोरंजन की 10 बड़ी खबरें brahmastrareleasedate Roymouni BeingSalmanKhan SidhartShukla KatrinaKaif SonuSood JanhviKapoor TanishaaMukerji TOP10ENTERTAINMENT

मन की बात में पीएम मोदी ने बताया flying boat का सच, सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी तस्वीरनई‍ दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात में मेघालय की फ्लाइंग बोट का जिक्र किया। उन्होंने प्रकृति की सुंदरता का वर्णन करते हुए तस्वीर का सच भी बताया।

मैं प्रोड्यूसर के सभी पैसे लौटा दूंगा; 'उरी' के रिलीज होने से पहले आदित्य को लग रहा था डरयामी गौतम ने एक इंटरव्यू में बताया कि उन्हें आदित्य धर की दो बातों ने काफी प्रभावित किया था और इन्हें सुनने के बाद ही उन्होंने शादी करने का फैसला किया था।

CJI on Diabetes Care : डायबिटीज मरीजों को सब्सीडी दे सरकार, गरीबों का दुश्मन है मधुमेह: चीफ जस्टिस रमणचीफ जस्टिस एनवी रमण ने कहा है कि डायबिटीज मरीजों को उनके इलाज में सरकार की तरफ से सब्सिडी और उसका सपोर्ट मिलना चाहिए। सीजेआई ने डायबिटीज को गरीबों का दुश्मन बताया।