पहले 370, अब कोरोनाः लगातार ख़तरे में कश्मीर का पर्यटन

पहले आर्टिकल 370 और अब कोरोनाः लगातार ख़तरे में कश्मीर का टूरिज्म सेक्टर

30-03-2020 01:41:00

पहले आर्टिकल 370 और अब कोरोनाः लगातार ख़तरे में कश्मीर का टूरिज्म सेक्टर

पहले से मुश्किल से जूझ रही कश्मीर की टूरिज़्म इंडस्ट्री कोरोना वायरस संक्रमण के बाद से पूरी तरह से थम गई है.

शेयर पैनल को बंद करेंइमेज कॉपीरइटMajid Jahangir /BBCपिछले साल 5 अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर के खास दर्जे को खत्म कर दिया था. उसके बाद के छह महीने कश्मीर के टूरिज्म सेक्टर के लिए बुरे रहे, लेकिन जब कारोबार धीरे-धीरे पटरी लौटना शुरू हुआ तो कोरोना की दस्तक ने हालात बद से बदतर कर दिए.

दलित छात्रा ने ऑनलाइन क्लास नहीं कर पाने के चलते की 'आत्महत्या' कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट का नाम अब श्यामा प्रसाद मुखर्जी ट्रस्ट हुआ, केंद्र सरकार ने दी मंजूरी अब श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट, सरकार ने लिया फैसला

भारतीय प्रशासित कश्मीर में बसंत के मौसम ने दस्तक दे दी है. बादाम के पेड़ों में फूल आ गए हैं, सरसों के खेत लहलहा रहे हैं, चेरी और ट्यूलिप के फूल खिल रहे हैं. लेकिन, ऐसे खुशनुमा मौसम में भी कश्मीर में सैलानी नदारद हैं. कोरोना वायरस के चलते कोई भी इस वक्त कश्मीर नहीं आना चाहता.

पहले से मुश्किल से जूझ रही कश्मीर की टूरिज़्म इंडस्ट्री कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद पूरी तरह से थम गई है.पिछले साल 5 अगस्त के बाद से अगले करीब छह महीने तक कश्मीर की टूरिज्म इंडस्ट्री में कोई गतिविधि नहीं हुई.पहले आर्टिकल 370 खत्म करने से डूबा कारोबार

इमेज कॉपीरइटImage captionबरामुला श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग5 अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू और कश्मीर को खास दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को वापस ले लिया था और पूरे राज्य को लॉकडाउन कर दिया था.भारत सरकार ने जम्मू और कश्मीर राज्य को दो हिस्सों में बांट कर इन्हें केंद्र शासित इलाकों में तब्दील कर दिया.

स्पेशल स्टेटस को खत्म किए जाने के बाद से कश्मीर में भारी सुरक्षा लॉकडाउन कर दिया गया और इसके चलते टूरिस्ट्स के आगमन में गिरावट आई.कश्मीर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के मुताबिक, कश्मीर की अर्थव्यवस्था 5 अगस्त के बाद से करीब 18,000 करोड़ रुपये के नुकसान का शिकार हो चुकी है.

5 अगस्त के बाद के छह महीनों में अकेले होटल सेक्टर को ही 3,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.हाउस बोट्स पड़ी हैं खालीइमेज कॉपीरइटMajid Jahangir /BBCहाउस बोट ओनर्स एसोसिएशन, कश्मीर के वाइस प्रेसिडेंट अब्दुल राशिद के मुताबिक,"श्रीनगर की मशहूर डल झील में हाउस बोट्स सूनी पड़ी हैं."

राशिद बताते हैं,"हमारी हाउस बोट इंडस्ट्री सबसे बुरे दौर से गुजर रही है. आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद पांच महीने तक पहले कश्मीर लॉकडाउन रहा. इस दौरान हमें बड़ा नुकसान उठाना पड़ा. 2014 में कश्मीर में भयानक बाढ़ आई और इसकी वजह से भी हमारे कारोबार को तगड़ा नुकसान उठाना पड़ा था. इसके बाद 2016 में उथल-पुथल के चलते कश्मीर छह महीने तक बंद रहा जिससे हमारी अर्थव्यवस्था को झटका लगा."

चक्रवात 'निसर्ग' की वजह से मुंबई एयरपोर्ट शाम 7 बजे तक के लिए बंद RSS के दफ्तर में कोरोना की एंट्री, सहप्रचार प्रमुख और कुक वायरस से संक्रमित चीन पर चोट: 53 दवाओं के उत्पादन में आत्मनिर्भर बनेगा भारत, मोदी सरकार ने बनाया प्लान

उन्होंने कहा,"हमारी इंडस्ट्री एक बेहद बुरे वक्त का सामना कर रही है. आप ख़ुद जाकर इस कारोबार से जुड़े लोगों की तकलीफ को देख सकते हैं."राशिद कहते हैं कि पिछले छह-सात महीनों में इस कारोबार से जुड़े ज्यादातर लोगों ने बाज़ार से पैसे उधार लिए थे और उन्हें एक अच्छे सीजन की उम्मीद थी. उन्हें लग रहा था कि वे अच्छी कमाई करेंगे और अपने कर्ज चुका देंगे.

यह पूछे जाने पर कि जब कारोबार बंद पड़ा है तो इससे जुड़े लोग क्या कर रहे हैं, राशिद ने कहा,"वे कुछ नहीं कर रहे हैं. हमारे हाउस बोट कारोबार की हालात बेहद खराब है. हमें नहीं पता कि हमें कल खाना मिल पाएगा या नहीं. हमारे पास होटल या कोई दूसरा बिजनेस नहीं है. हम पूरी तरह से अपनी हाउस बोट पर निर्भर हैं. हमें ट्रस्ट्स और एनजीओ से मदद की दरकार है."

इमेज कॉपीरइटImage captionअनंतनाग शहर का नज़ाराश्रीनगर की डल झील में आठ सौ से ज्यादा हाउस बोट्स हैं. कश्मीर आने वाले टूरिस्ट्स के लिए हाउस बोट में ठहरना सबसे पसंदीदा काम होता है.राशिद ने कहा कि गुजरे महीनों में लंबे चले शटडाउन और इंटरनेट को बंद किए जाने के बाद धीरे-धीरे उनका कामकाज पटरी पर लौटना शुरू हुआ था.

उन्होंने कहा,"हम अपने ग्राहकों को बताने लगे थे कि कश्मीर में अब चीजें सामान्य हो गई हैं. साथ ही हम उन्हें यह भी समझा रहे थे कि कश्मीर में अब कानून और व्यवस्था की कोई दिक्कत नहीं है. इंटरनेट की दिक्कत तकरीबन खत्म हो चुकी है और हम अपने कस्टमर्स से संपर्क कर पा रहे हैं. लेकिन, कोरोना के अचानक आने से हमारी जिंदगियां थम सी गई हैं."

जम्मू और कश्मीर की यूनियन टेरिटरी (यूटी) में अब तक कोविड-19 के कुल चार मामले सामने आए हैं. इनमें से एक कश्मीर घाटी से है जबकि तीन जम्मू क्षेत्र से है.श्रीनगर और कश्मीर के दूसरे हिस्सों में प्रशासन ने सख्त पाबंदियां लागू की हैं ताकि लोगों को आवाजाही से रोका जा सके.

सभी कारोबारी प्रतिष्ठान, शैक्षिक संस्थान और दफ्तर बंद हैं. सड़क पर कोई सार्वजनिक वाहन मौजूद नहीं है. प्रशासन ने गुजरे सोमवार को ऐलान किया था कि अगले आदेश तक सभी सार्वजनिक पार्कों और बागों को बंद रखा जाए.सरकार ने विदेशी टूरिस्ट्स के कश्मीर में आने पर रोक लगा दी है.

मुंबई एयरपोर्ट पर लैंडिंग के दौरान फेडएक्स विमान रनवे पर फिसला, देखें VIDEO Remove China Apps को प्ले-स्टोर से हटाने पर गूगल पर लगा पक्षपात का आरोप, सोशल मीडिया पर छिड़ी बहस गिलगित-बाल्टिस्तान में तोड़े गए बौद्ध स्मारक, भारत ने पाकिस्तान को चेताया

होटलों में बुकिंग्स कैंसिल हुईंइमेज कॉपीरइटMajid Jahangir /BBCकोरोना को देखते हुए कश्मीर के होटलों में सभी बुकिंग्स कैंसिल हो चुकी हैं. होटल मालिकों का कहना है कि अगर इस तरह के हालात बने रहे तो वे अपने स्टाफ को कैसे सैलरी दे पाएंगे.होटेलियर्स क्लब, कश्मीर के चेयरमैन मुश्ताक अहमद ने बीबीसी को बताया कि यह सेक्टर पूरी तरह से बैठ गया है.

अहमद ने कहा,"कोरोना वायरस के पहले कुछ बुकिंग्स कैंसिल हुई थीं, लेकिन अब 100 फीसदी बुकिंग्स कैंसिल हो चुकी हैं. हमारा धंधा पूरी तरह से ठप्प पड़ गया है. हमें नहीं पता कि आगे क्या होगा. हमें नहीं पता कि आने वाले दिनों में हम अपने एंप्लॉयीज को कैसे सैलरी दे पाएंगे. हम एक सीमा तक ही चीजें झेल सकते हैं. आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद होटल इंडस्ट्री को करीब 3,000 करोड़ रुपये का लॉस हुआ है."

रेस्टोरेंट्स के भी हालात खराबपहलगाम के एक रेस्टोरेंट के मैनेजर जाविद अहमद ने कहा कि पहलगाम के खूबसूरत इलाके में इस बार एक भी टूरिस्ट नजर नहीं आ रहा है.उन्होंने कहा,"हमारे यहां 26 एंप्लॉयीज हैं और उनकी नौकरियां दांव पर लगी हुई हैं. अगर ऐसे हालात जारी रहे तो रेस्टोरेंट मालिक कैसे सैलरी दे पाएंगे?"

पहलगाम के होटल हिलटॉप के सीनियर मैनेजर मुनीब अहमद ने कहा कि उनके पास जितनी भी बुकिंग्स थीं वे सब कैंसिल हो चुकी हैं. उन्होंने कहा कि इन बुकिंग्स के कैंसिल होने की वजह से उन्हें 5 लाख रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है.जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद यह पहला टूरिस्ट सीजन था.

सरकार ने कश्मीर में टूरिस्ट्स को लाने के लिए देश के दूसरे शहरों में आक्रामक तरीके से रोड शो किए थे.शिकारों में सैर करने वाले नदारदइमेज कॉपीरइटMajid Jahangir /BBCश्रीनगर की डल झील के शिकारे वालों को भी ऐसे ही हालात से दो-चार होना पड़ रहा है. शिकारा वाले टूरिस्ट्स को डल झील की सैर कराते हैं.

शिकारा एसोसिएशन के प्रेसिडेंट गुलाम अहमद मीर का कहना है कि 5 अगस्त से ही टूरिस्ट्स कश्मीर नहीं आ रहे हैं और शिकारे खाली पड़े हुए हैं.मीर के मुताबिक,"पहले सरकार ने राज्य के खास दर्जे को हटाने से पहले ही टूरिस्ट्स को कश्मीर छोड़कर जाने के लिए कह दिया. अब कोरोना ने पूरी दुनिया को अपनी गिरफ्त में ले लिया है. जाहिर है कि इसका हमारी इंडस्ट्री पर बुरा असर पड़ना था."

गुलमर्ग के एक स्थानीय फोटोग्राफर मुहम्मद शफी ने तंगमर्ग में अपने घर से फोन पर बीबीसी को बताया कि चीजें सुधरने लगी थीं, लेकिन तब तक कोरोना वायरस की खबर आ गई. तब से मैंने काम के लिए गुलमर्ग जाना बंद कर दिया.शफी ने बताया,"मुझे पिछले दो महीने से चार-पांच सौ रुपये रोजाना की कमाई हो जाती थी. अब मेरी कमाई बंद हो गई है. मैं अपने घर बैठा हूं. गुलमर्ग बंद पड़ा है. वहां कोई नहीं जा रहा. जीवित रहना हमारी प्राथमिकता है."

70 फीसदी टूरिज्म खत्मइमेज कॉपीरइटMukhtar Ahmedकश्मीर टूरिज्म के डायरेक्टर निसार अहमद वानी ने बीबीसी को बताया कि कोरोना वायरस का बुरा असर केवल कश्मीर के टूरिज्म पर ही नहीं पड़ा है, बल्कि पूरी दुनिया इससे जूझ रही है.वानी ने कहा,"इस वक्त सबसे बड़ी चीज लोगों की जिंदगियां बचाना है. कोरोना के बाद 70 फीसदी टूरिज्म खत्म हो गया."

और पढो: BBC News Hindi »

कश्मीर भी खतरा बना रहा है काफी समय तक। टूरिज्म मतलब पत्थर फेंकने वाले नहीं आ पा रहे या पत्थर की सप्लाई बंद हो गई Tum chutye ko yahi sab dikhta hai . बीबीसी वालो तुम टेंशन मत लो अपना इंग्लैंड संभालो...दुसरो के काम मे उंगली करना छोड़ दो। पर्यटन संसार की सबसे बुरी बला है यह प्रदूषण अनावश्यक खर्च और अश्लीलता फैलाने में सबसे बड़ा योगदान करती है इंसान को चाहिए इस लत को शीघ्र समाप्त करें।

कश्मीर का टूरिज्म खतरे में दिख गया लाखों hindu कश्मीरी पंडितों के साथ जो अत्याचार हुआ बीबीसी हिंदी कभी उनके बारे में विस्तार से नहीं लिखा शर्म आना चाहिए आपको अपने आप को बीबीसी हिंदी न्यूज़ कहते हुए Bjp ki wjha se desh khatre mei hai tourism chhodo कश्मीर क्या अब तो पूरेदेश पर ही सकंट है 😩😩 Kashmir deserve much better treatment & remove of article 370 was a step to reach that point. In past 4 decade kashmir was entirely ruined due to terrorism. Now go n check the fact it's a better place to leave in. BycottBBC BBCFakeNewsChannel StopWatchingBBC

inki bebsi par Rona aata hai पूरा देश ही खतरे में है अंधे!! Kutte ki dum kabhi sidhi nahi hoti . What about our studies Bklol news ! Kash ye news portal bnd ho jae Aur sbhi bbc ke journalist ko goliyon se bhun diya jae Toh dil ko shanti ho jae😅😅 Kyun bhadka rahe ho iss desh ke logon ko. BBC ho na to apne desh mein jhako humara peecha chhodo. Itna dum hai to China ki reporting kyun nahin ki jab Corona phela

🙏🏻🙏🏼🙏🇵🇾🌹 जब दुनिया सलामत रहेगी तो बहुत टूरिज्म आएगा। न डल झील कहीं जा रही है न ताजमहल। जहां का प्रधानमंत्री मनहूस हो वहां ऐसा ही होता है मोदी का जहां जहां प्रभाव पड़ेगा वहां वहां तबाही मचाता जाएगा Tamam mulko ne jo Zulm kiya Kashmir per na bol kar unke gharo me ked hone pr aj khud ked he unko mehsoos karo or upper se un per goliye barsai jati thi kuch bhook se mar jaya karte the.

अपना देश सम्भाल ले भाई, हमें माफ़ करो🙏 सबकुछ सही हो जाएगा यदि देश के गद्दार पत्रकारों को लात मारकर के भगा दिया जाए, जब खबर देगा नकारात्मकता से भरा हुआ देगा।...... लज्जा नही आती अरे पूरा देश परेशान हैं तुमको ट्युरिज्म की पड़ी है,और न केवल देश अपितु पूरा विश्व तो अक्ल से पैदल कौन आएगा घुमने फिरने.. सब कुछ ठीक हो जाएगा।

कभी कश्मीरी पंडितों के बारे में भी बताओ सब को कश्मीर ने ये हालात खुद निर्माण किये है आतंकियों को शरण देकर विकास का ज्ञान व अहंकार कोरोना से लड़ने में असमर्थ कर दिया वो घूमेंगे क्या? BBC walo chale jao tourism bachane kashmir .... help them if you got some balls 😜 Bakchodi karwalo bas Bbc humare desh bycott kar dena chaiye

Always negative news . बनिया कभी देशभक्त नहीं होता है | वह राष्ट्रीय संकट को भी व्यापार बना देता है | Kashmir barbad hogya h....carona se pahle hi Kashmir k dalle poore desh ki nhi pdi tujhe Tujhe to bs aag lgana h dange krana h Sach nhi bolta tu jis news m log bhadke vo news dikhata h कहाँ का टूरिज्म सेक्टर बढा है.... नफरत व असंतोष फैलानें का कार्य न करिए | विदेशी एजेंटो से सावधान रहे हिन्दुस्तान

Kasmiri pandito ki baduaa hai...Sab mare ge kasmir wale. इसके लिए मोदी सरकार जिम्मेवार है वो सब छोड़ बीबीसी ये बता काश्मीरी पंडितों को कब बसा रहा है कश्मीर मे । उनकी तकलीफ कभी याद आती है हरामखोर साले जिहादीयो का हमदर्द । Mc...bc... Don't try to play politics here. Army is taking care of Kashmiri people by sending food, medical supplies and even giving them free education. What has BBC done!!! Next time, I'll destroy your headquarters & it will be reported as Taliban attack. BREAKING NEWS!!

कोई बात नही अपनी गैंग की रंडियों, अपनी मा ,बहन बेटियो को भेज बहुत सारे ढूढ रहे है तेरा धंधा पूरा हो जाएगा,तेरी मा इग्लैंड मर रहा है सब ताकत धरा का धारा रह गया,एड्स की औलाद यहां डेली टूरिज्म,होटल,जाति, धर्म का नंगा खेल कर रहा है,सरकार को ऐसे समय मे तुम लोगो की कब्र खोदनी चाहिए Nature is doing a balancing act, bear with it, it is teaching us how to live with nature. The man had played and exploited enough of nature, now nature is playing with man, let us see who wins?

कश्मीर ही नही पूरे देश पर खतरा साबित हो रहे है.... मनहूस बीबीसी वालो तुम टेंशन मत लो अपना इंग्लैंड संभालो...दुसरो के काम मे उंगली करना छोड़ दो। coronavirusindia जेसी करनी वैसी ही भरनी। Agar hindustan sambhal gya tu kashmir fhir se chamke ga.. Hindustan ka taaj ju hai kasmir bhi kashmiri bhi .. बस कश्मीर ही दिखा दोगलो ?

Bbc londan. Wahe ka news bato Bhai abhi..India ka India dekh lega Mai 1 baat janna chahta hu ki kya 370 se Kashmir k tourism me fark pada hai. तो ? इन सालों ko टूरिज्म की पड़ी है Corona to bahana hai asli rona to 370 pe hai

कश्मीर में कोरोना वायरस से दूसरी मौत, इलाज के दौरान शख्स ने तोड़ा दमएक सरकारी अधिकारी ने आजतक को बताया कि आज सुबह 4 बजे चेस्ट डिजीज अस्पताल में पीड़ित ने आखिरी सांस ली. एक डॉक्टर ने कहा कि बीमार व्यक्ति शनिवार को ही कोरोना पॉजिटिव पाया गया था. इस व्यक्ति को एमएमएचएस अस्पताल ये यहां रेफर किया गया था. क्या जेल में एक मीटर की दूरी होगी? क्या वहाँ कोई मास्क होगा? क्या उनको इतने अधिक संख्या में शुद्ध भोजन मिलेगा? क्या इनके लिए ज़िम्मेदार बिहार सरकार होगी? उत्तरप्रदेश सरकार ने क़ैदियों को रिहा किया है, बिहार सरकार भी करे। NitishKumar narendramodi yadavtejashwi laluprasadrjd Is loakdown increase in india 😷😷

कोरोना ने खत्म किया प्रदूषण, लेकिन लॉकडाउन के बाद हवा पहले से भी बदतर हो जाएगी!इतिहास गवाह रहा है जब-जब दुनिया ने आर्थिक संकट झेले हैं, उसके बाद पूरी दुनिया की जलवायु खराब हुई, आखिर क्या है कारण और कैसे इससे बच सकते हैं lockdown coronavirus covid19 DelhiClimate ClimateChange बढ़ती हुई टेक्नोलॉजी बराबर बढ़ती हुई बेरोजगारी, बढ़ती हुई महामारी तथा प्रदूषण।।

Lockdown: घर पहुंचने से पहले थमा जिंदगी का सफर, पैदल चलते-चलते मजदूर की मौतLockDown घर पहुंचने से पहले थमा जिंदगी का सफर, पैदल चलते-चलते मजदूर की मौत narendramodi PMOIndia myogioffice narendramodi PMOIndia myogioffice Desh ka durbhagya hai narendramodi PMOIndia myogioffice Kaya hoga iss desh ka lockdown ka matlab tha log jha hai vahi rehe lekin ye kaya ho reha hai sub nikal pade bina soche samjhe 🙏 narendramodi PMOIndia myogioffice दुखद😥

दिल्ली से घर को निकले मजदूरों ने बताया दर्द- कोरोना से बाद में मरते, भूख से पहले मर जाते, इसलिए पैदल ही चल पड़ेकोरोना संकट के बीच बंदी के चलते दिल्ली में दिहाड़ी मजदूरी करने वाले हजारों लोग पैदल ही अपने घरों की ओर रवाना हो गए हैं। यह सरकार और सरकारी सिस्टम से लोगों का उठा भरोसा है वरना साथ तो हर कोई देता

शरणार्थी शिविरों में कोरोना से ज्यादा भूख से मरने का खौफसीरिया के युद्ध से जर्जर एक बस्ती में डॉक्टरों ने देखा कि लोग कोरोना वायरस से जैसी लगने वाली बीमारी से मर रहे हैं, लेकिन कहा है राहुल भईया कम से कम यही नेक काम कर देते, Govt ko is विषय को गंभरतापूर्वक से लेने की जरूरत है। Abhi corona ka khauf dekha nahi hai kya hota hai

इंजिनियर ने लोगों से कोरोना फैलाने को कहा, इन्फोसिस ने नौकरी से निकालाChennai/Bangalore News: घर से बाहर निकलकर छींकने और कोरोना वायरस फैलाने की अपील करने वाले एक सॉफ्टवेयर इंजिनियर को इन्फोसिस ने नौकरी से निकाल दिया है। इस इंजिनियर को पुलिस ने भी गिरफ्तार कर लिया है। जेहादी कौम का पूर्ण रूप से बहिष्कार हो.... नाम भी बता देते इंजियर का

निसर्ग: मुंबई में 129 साल के बाद आएगा चक्रवाती तूफ़ान दिल्ली BJP अध्यक्ष पद से मनोज तिवारी की छुट्टी, आदेश कुमार गुप्ता को मिली जिम्मेदारी BJP विधायक ने सोनू सूद से मांगी मदद तो अलका लांबा ने जमकर लताड़ा, कहा- देश में इन्हीं की सरकार फिर भी मदद, शर्म हो तो... कोरोना अपडेटः प्रधानमंत्री मोदी बोले, कोरोना महामारी विश्वयुद्ध के बाद आया सबसे बड़ा संकट है - BBC Hindi राहुल का ट्वीट- क्या भारतीय सीमा में नहीं घुसा कोई चीनी सैनिक? स्पष्ट करे सरकार पीएम केयर्स फंड पर बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका को केंद्र ने ख़ारिज करने का अनुरोध किया अनुष्का शर्मा ने शेयर की फोटो, पति विराट कोहली ने किया ये कमेंट BHIM ऐप यूज़र्स सावधान, 70 लाख भारतीयों के निजी डेटा पर सेंध लगने का दावा लड़की को दूसरा नाम बता पंजाब से मेरठ लाकर किया मर्डर, काट दिया था टैटू वाला बाजू, 1 साल बाद सुलझी गुत्थी लद्दाख में चीन की घुसपैठ की खबरों पर राहुल गांधी ने सरकार से पूछा सवाल, कहा- क्या इस बात की कर सकते हैं पुष्टि कि... अश्वेत की मौत पर अमेरिका में उबाल : ट्रंप की धमकी- अगर हिंसा नहीं रुकी तो भेजेंगे सेना