Budget 2019, Budget - Tax, Nirmala Sitharamam, Budget, Budget News, Budget News Hindi, Budget News İn Hindi, Budget News 2019, बजट 2019, आम बजट 2019, बजट की खबरें

Budget 2019, Budget - Tax

निर्मला सीतारमण कल पेश करेंगी अपना पहला बजट, इन क्षेत्रों को गति देने पर होगा जोर

निर्मला सीतारमण कल पेश करेंगी अपना पहला बजट, इन क्षेत्रों को गति देने पर होगा जोर...

04-07-2019 18:17:00

निर्मला सीतारमण कल पेश करेंगी अपना पहला बजट, इन क्षेत्रों को गति देने पर होगा जोर...

वैश्विक स्तर पर नरमी और मानसून की चिंता के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण राजग सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट शुक्रवार को पेश करेंगी. बजट में राजकोषीय घाटे को काबू में रखने के साथ आर्थिक वृद्धि तथा रोजगार सृजन को गति देने पर सरकार का जोर रह सकता है. राजकोषीय स्थिति मजबूत करने के लिये कर दायरा बढ़ाने और अनुपालन बेहतर करने के इरादे से 10 करोड़ रुपये से ज्यादा कमाने वालों पर 40 प्रतिशत की एक नई दर से कर लगाया जा सकता है. नौकरीपेशा लोगों के लिये महत्वपूर्ण आयकर के मोर्चे पर कर स्लैब में बदलाव की उम्मीद की जा रही है. 2019-20 के अंतरिम बजट में 5 लाख रुपये तक की आय पर कर छूट देने की घोषणा की गयी थी. फिलहाल 2.5 लाख रुपये से 5 लाख रुपये की आय पर 5 प्रतिशत, 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक की आय पर 20 प्रतिशत और 10 लाख रुपये से ऊपर आय पर कर की दर 30 प्रतिशत है.

यह बजट वैश्विक आर्थिक नरमी और मौसम विभाग के देश के कुछ भागों में बारिश सामान्य से कम रहने की आशंकाओं के बीच आ रहा है. पिछले वित्त वर्ष 2018-19 में आर्थिक वृद्धि दर पांच साल के न्यूनतम स्तर 6.8 तक गिर गई. चालू वित्त वर्ष के दौरान इसे फिर से सात प्रतिशत से ऊपर पहुंचाने का दारोमदार बजट पर होगा. 

उत्तर प्रदेश : थाने आई महिला और उसकी बेटी के सामने अश्लील हरकत करने वाला SHO बर्खास्त कार्ति चिदंबरम का ट्वीट- UP से निकलेगा कांग्रेस की वापसी का रास्ता, प्रियंका बनें CM कैंडिडेट चीन के खिलाफ अमेरिका की घेराबंदी, समंदर में उतारे तीन जंगी जहाज! देखें

संसद में बृहस्पतिवार को पेश 2018-19 की आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि 2024-25 तक 5,000 अरब डालर की अर्थव्यवस्था बनने के लिये सतत रूप से 8 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि दर हासिल करने की जरूरत होगी. इसमें निजी क्षेत्र का निवेश, मांग और निर्यात बढ़ाने पर खास जोर दिया गया है.

आर्थिक वृद्धि को गति देने के लिये वित्त मंत्री निवेश आकर्षित करने के इरादे से नियमों को उदार बनाने के प्रस्ताव कर सकती हैं. सरकार के समक्ष एक तरफ राजकोषीय स्थिति को मजबूत बनाने की जरूरत होगी तो दूसरी तरफ चुनावों में जनता से किये गये वादों को पूरा करने की दिशा में पहल करनी होगी. 

भारतीय जनता पार्टी ने आम चुनावों से पहले जारी घोषणापत्र में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ सभी किसानों को देने और लघु एवं सीमांत किसानों को 60 साल की आयु के बाद पेंशन देने का वादा किया गया है. हालांकि, मोदी सरकार ने दूसरे कार्यकाल की पहली मंत्रिमंडल की बैठक में इस दिशा में पहल कर दी है.

सरकार को हवाईअड्डों, रेल मार्गों और राष्ट्रीय राजमार्गों के क्षेत्र में निवेश बढ़ाने की पहल जीएसटी के तहत पंजीकृत सभी छोटे व्यापारियों को 10 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा, किसान क्रेडिट कार्ड की तरह पंजीकृत व्यापारियों को व्यापारी क्रेडिट कार्ड आदि देने की घोषणा की है. 

इसके अलावा उद्योग जगत की सभी कंपनियों के लिये कार्पोरेट कर की दर 25 प्रतिशत पर लाने की मांग है. फिलहाल 250 करोड़ रुपये तक के कारोबार वाली कंपनियों के लिये कंपनी कर की दर 25 प्रतिशत है जबकि अन्य के लिये 30 प्रतिशत पर है. विशेषज्ञों के अनुसार बजट में सरकार खाद्य सब्सिडी को सीमित करने के लिये कदम उठा सकती है. इसके साथ रोजगार सृजित करने वाली नई इकाइयों को प्रोत्साहित करने और केवल वित्तीय सहायता के लिये काम कर रही छोटी इकइयों को हतोत्साहित करने के लिये कदम उठाया जा सकता है. 

बजट में अनुसूचित जाति/जनजाति, अन्य पिछड़े वर्गों या आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लोगों द्वारा आरंभ किये गये उद्यमों को सहायता प्रदान की भी पहल कर सकती हैं. आम चुनावों के लिये जारी घोषणापत्र में भाजपा ने इसका वादा किया था. इसके अलावा जल संरक्षण पर सरकार के जोर तथा 2024 तक हर घर को नल से पानी उपलब्ध कराने की महत्वकांक्षी योजना के साथ बजट में इस दिशा में कुछ ठोस कदम उठाये जाने की संभावना है.

सिंधिया बोले- कमलनाथ और दिग्विजय को मिर्ची लग रही है, क्योंकि कुर्सी चली गई भारत के खिलाफ पाकिस्तान और चीन के इस कदम को जर्मनी-अमेरिका ने रोका - World AajTak कैसे पतंजलि की दवा ‘कोरोनिल’ अब इम्यूनिटी बूस्टर के रूप में बिकेगी

इस बार बजट में स्टार्टअप को प्रोत्साहन देने के लिये उनके लिये कर नीति को और युक्तिसंगत बनाने का प्रस्ताव किये जाने की उम्मीद है. और पढो: NDTVIndia »

Incentivise women / families in taxation, who have one child. De-incentivise who have more than two children. Population control measures are required for true development. Khadao mantri tu rafale ghotle ki kimat wasul rahi hai ये बजट संविधान के अनुच्छेद 14;15 की धज्जियां उड़ाने वाला होगा? शुभकामनाएं

नए Redmi 7A पर मिलेगी 1,000 रुपये की छूट, कंपनी दे रही 2 साल की वारंटीशाओमी ने भारत में अपना एक बजट स्मार्टफोन Redmi 7A लॉन्च कर दिया है। इससे पहले रेडमी 7ए को चीन में लॉन्च किया था। रेडमी 7ए पिछले

बीयर की बोतल पर महात्मा गांधी की तस्वीर पर विवादइसराइली कलाकार और ब्रिवरेज कंपनी पर कार्रवाई करने की पीएम मोदी और नेतन्याहू से अपील. Very very bad 😡😥🇮🇳 👀😡😡😡 बहुत खूब पहले तो नोटो पर थे अब माल पर भी पहुंच गये मोहनदास करमचंद गांधी 😀😁😜

Why Mumbai is Facing such Problem in Every Monsoon? - रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा वीडियो - हिन्दी न्यूज़ वीडियो एनडीटीवी ख़बररवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा हिन्दी न्यूज़ वीडियो। एनडीटीवी खबर पर देखें समाचार वीडियो रवीश कुमार का प्राइम टाइम : क़ुदरत के निशाने पर आ गई है मुंबई, बारिश और चक्रवात का ख़तरा अगले 48 घंटे में मुंबई और महाराष्ट्र में भारी से भारी बारिश होने की आशंका जताई गई है. मंगलवार को मुंबई, पुणे सहित महाराष्ट्र भर में दीवार गिरने से 31 लोगों की मौत हो गई. पुणे में पिछले हफ्ते दीवार गिरने से 17 लोगों की मौत हो गई थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बारिश के कारण महाराष्ट्र भर में दीवार गिरने से 46 लोगों की मौत हुई है. मुंबई में ही बारिश के कारण अलग-अलग दुर्घटनाओं में 25 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. पुराना अनुभव अब काम नहीं आएंगे. मुंबई की बारिश कभी भी धोखा दे सकती है. मुंबई में समंदर के अलावा नदियों और दलदली ज़मीन का अपना एक सिस्टम बना हुआ था. हम धीरे-धीरे उन पर कब्ज़ा करते चले गए. ये प्राकृतिक सिस्टम महानगर की सुरक्षा के उपकरण थे. अपने आस पास देखिए. प्राकृतिक आपदाओं का स्केल बड़ा होता जा रहा है. बीएमसी की तैयारी तबाही के असर को कुछ कम कर सकती है मगर तबाही नहीं टाल सकेगी. जिन लोगों की बनाई नीतियों के ये परिणाम हैं उन पर बीएमसी का ज़ोर नहीं चलेगा. अब देखिएगा. यहां से भाषा बदलेगी. उस भाषा को ग़ौर से नोट कीजिए. जब आप पूछेंगे कि इस तबाही का ज़िम्मेदार कौन है, कैसे इस तबाही से बचें तो जवाब आएगा हम सबको मिलकर सामूहिक रूप से जिम्मेदारी उठानी होगी. जब भी लापरवाही का स्तर हद से ज्यादा हो जाता है, लापरवाही सामूहिक बताई जाने लगती है और उन्हें बचा लिया जाता है जो कुर्सी पर बैठते हैं. बजट पास करते हैं, योजनाएं बनाते हैं. आम लोग ज़िम्मेदार हो जाते हैं. दुःखद सब ज्यादा हो रहा है मरने वालों की संख्या मोदीराज में ही क्यों

इस शख्स ने शौकिया तौर पर शुरू की खेती, अब कमाते हैं 1 लाख रुपये महीना– News18 हिंदीहैदराबाद में काम कर रहे 32 वर्षीय सॉफ्टवेयर इंजीनियर पुल्लीचार्ला हनुमा रेड्डी हर सप्ताह होने वाली दो दिन की छुट्टी में अपने पैतृक गांव जाते हैं और अपनी खेती करते हैं. इसके जरिए वो 12 लाख रुपये सालाना कमाते हैं.

RSS मानहानि केस: राहुल गांधी को 15 हजार रुपये के मुचलके पर मिली जमानतRSS द्वारा राहुल गांधी पर किए गए मानहानि मामले में गांधी को शिवाड़ी कोर्ट से 15000 के मुचलके पर जमानत मिल गई है। RahulGandhi INCIndia फैसला कयों नहीं किया गया, तारीख पर तारीख कयों ले रहे हो, कोर्ट और देश का पैसा बर्बाद कर रहे हैं RahulGandhi INCIndia और कितनी जमानत पे बहार रहेगा यह बंदा ? RahulGandhi INCIndia राहुल का भी अब जमानत का सिलसिला चलता रहेगा जैसे चिदंबरम का चल रहा है। जय हो भारत माता की

मानहानि के मामले में कोर्ट से जमानत मिलने के बाद बोले राहुल गांधी- आक्रमण हो रहा है, मजा आ रहा हैगौरतलब है कि राहुल ने एक दिन पहले ही एक भावुक पत्र लिखकर पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दिया था. कांग्रेस नेता पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक कार्यकर्ता ने 2017 में बेंगलुरू की पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को आरएसएस से जोड़ने को लेकर मानहानि का मामला दर्ज कराया था. आरएसएस ध्रुतिमन जोशी ने अपनी याचिका में कहा था कि लंकेश की हत्या के मुश्किल से 24 घंटों के बाद ही राहुल गांधी ने हत्या के लिए आरएसएस और उसकी विचारधारा को जिम्मेदार ठहरा दिया था. महाराष्ट्र में राहुल गांधी के खिलाफ किसी आरएसएस कार्यकर्ता द्वारा दायर की गई यह दूसरी याचिका है. इससे पहले 2014 में, एक स्थानीय कार्यकर्ता राजेश कुंते ने महात्मा गांधी की हत्या के लिए कथित रूप से आरएसएस पर आरोप लगाने के लिए राहुल के खिलाफ याचिका दायर की थी. वह मामला ठाणे में भिवंडी अदालत में लंबित है. Great ...RG 👍👍👍 इसने ना सुधरने की कसम खा ली है

टिकटॉक के ये सितारे अब कहां दिखाएंगे अपना टैलेंट ग्लोबल टाइम्स ने लिखा- भारत और चीन जवानों को बैच में हटाने पर राजी हुए, कमांडर लेवल की तीसरी बैठक में फैसला हुआ टिकटॉक बैन पर बोलीं नुसरत जहां- ये नोटबंदी की तरह, बेरोजगारों का क्या होगा? चीनी दूतावास बोला- ऐप्स बैन से हम चिंतित, WTO के नियमों का है उल्लंघन 80 करोड़ से ज़्यादा लोगों को नवंबर तक मुफ़्त अनाज मिलेगा- पीएम मोदी राहुल ने विदेशों में भारतीय नर्सों से कोरोना पर की चर्चा, कल वीडियो होगा जारी प्रधानमंत्री अपने संबोधन में चीन की बात करने से भी डर रहे हैं- कांग्रेस कोरोनिल: योग गुरु रामदेव की ‘कोरोना की दवाई’ का सच CM कैप्टन अमरिंदर की गुजारिश- प्रियंका के फैसले पर फिर से विचार करे केंद्र पीएम मोदी को जून महीने में छठ की याद क्यों आई PM मोदी के भाषण पर बोले ओवैसी- चीन पर बोलना था, चना पर बोल गए, ईद भी भूले