दिल्ली विश्वविद्यालय के VC ने भी माना, राज्यों के बोर्ड नहीं करते एक जैसी मार्किंग, ऐडमिशन प्रॉसेस की समीक्षा ज़रूरी

डीयू के वीसी ने माना, ऐडमिशन प्रक्रिया में कमियां, सुधार की ज़रूरत

Delhi University, Du Admission

27-11-2021 07:30:00

डीयू के वीसी ने माना, ऐडमिशन प्रक्रिया में कमियां, सुधार की ज़रूरत

दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति ने कहा है कि अगले साल से ऐडमिशन प्रक्रिया में कुछ बदलाव करने पर विचार किया जा रहा है। हालांकि फाइनल फैसला बैठक के बाद ही लिया जाएगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति योगेश सिंह। फोटो- एक्सप्रेसदिल्ली विश्वविद्यालय के वीसी योगेश सिंह ने शुक्रवार को कहा कि जिस प्रक्रिया के तहत यूनिवर्सिटी में ऐडमिशन किए जाते हैं, उसमें कुछ ख़ामियां भी हैं जिनमें सुधार की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि राज्यों के अलग-अलग बोर्ड अपने हिसाब से मार्किंग करते हैं। कहीं उदारवादी व्यवस्था है तो कहीं बहुत ही कड़ी मार्किंग होती है। ऐसे में ऐडमिशन प्रक्रिया में इस बात पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी है।

ब्रिटेन के एक शहर में मंदिर पर लगा ताला, हिंदू समुदाय में निराशा - BBC Hindi

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ को दिए गए एक इंटरव्यू में सिंह ने कहा, ‘मौजूदा सिस्टम में कई कमियां हैं। हम छात्रों के प्रदर्शन को इस तरह से केवल मार्क्स के भरोसे नज़र अंदाज नहीं कर सकते। उदाहरण के तौर पर उत्तर प्रदेश बोर्ड में मार्किंग काफी कड़ी होती है। ऐसे में उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है। अगर वे दिल्ली यूनिवर्सिटी में ऐडमिशन लेना चाहते हैं तो उन्हें पूरा मौका नहीं मिल पाता है।’

Also ReadUPTET 2021: यूपी टीईटी परीक्षा में शामिल होने से पहले पढ़ लें ये अहम बातें, बाद में हो सकती है परेशानीउन्होंने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय इस बात पर विचार कर रहा है कि अगले साल ऐडमिशन किस तरह से किया जाए। 10 दिसंबर को होने वाली अकैडमिक काउंसिल की मीटिंग के बाद इस बात का फैसला किया जाएगा। headtopics.com

योगेश सिंह ने कहा, ‘पहला विकल्प यह है कि मौजूदा सिस्टम चलता है। वहीं दूसरा ऑप्शन यह है कि सभी बोर्ड के मार्क्स का नॉर्मलाइजेशन किया जाए। मान लीजिए एक बोर्ड में टॉपर 90 प्रतिशत वाला है औऱ दूसरे में 70 प्रतिशत वाला ही टॉपर है। हमें सभी को 100 फीसदी नॉर्मलाइज करना होगा फिर मेरिट लिस्ट निकालनी होगी। हालांकि यह तरीका आसान नहीं है। BITS इसी नियम के तहत ऐडमिशन लेता है।’

UP में कांग्रेस का CM उम्मीदवार कौन? प्रियंका गांधी बोलीं- मेरे सिवा कोई और चेहरा दिखता है क्या?

सिंह ने कहा कि अगला विकल्प एंट्रेंस टेस्ट है। यह अच्छा विकल्प है या नहीं, ये तो अभी मैं नहीं कह सकता। लेकिन बैठक में इस विकल्प पर भी चर्चा की जाएगी। इस महीने के आखिरी तक आखिरी फैसला ले लिया जाएगा ताकि छात्रों को तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिल जाए।

और पढो: Jansatta »

गोल्डन गर्ल को गिफ्ट मिली कस्टमाइज्ड XUV-700: हाइड्रोलिक सीट से सीधे गाड़ी में बैठ पाएंगी अवनी, रिमोट से कंट्रोल होगी सीट, आनंद महिंद्रा ने दी बधाई

टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड मेडल जीत देश का नाम रोशन करने वाली अवनी लेखरा को आनंद महिंद्रा ने स्पेशल कार गिफ्ट करने का वादा किया था। बुधवार को आनंद महिंद्रा ने अपना वादा पूरा करते हुए अवनी को स्पेशल कस्टमाइज्ड XUV-700 कार गिफ्ट की। जिसमें अवनी के लिए स्पेशल हाइड्रोलिक सीट लगाई गई है ताकि अवनी आसानी से कार में चढ़ और उतर सकें। इस कार की कीमत करीब 28 लाख रुपए बताई जा रही है। | Avni will be able to sit in the car directly from the hydraulic seat, Anand Mahindra tweeted and congratulated

दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के घर पहुंचीं सोनिया गांधी, स्वास्थ्य के बारे में ली जानकारीदिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के घर पहुंचीं सोनिया गांधी, स्वास्थ्य के बारे में ली जानकारी SoniaGandhi Manmohansingh आज ही मिलना था? बधाई देने गई थी क्या 26/11 की😠😠 फिर से एक मूक-बधिर प्रधानमंत्री पैदा हो रहा है

हिमालय के नीचे प्लेटों के खिसकने से उत्तराखंड में ग्लेशियर ने बदला था रास्ताः स्टडीहिमालय की गोद में स्थित उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में करीब 10 से 20 हजार साल पहले टेक्टोनिक हलचल की वजह से एक बड़े ग्लेशियर ने अपना रास्ता बदल लिया. ये कोई एक बार में होने वाली घटना नहीं थी. टेक्टोनिक हलचल और जलवायु परिवर्तन की वजह से धीरे-धीरे एक अनजान ग्लेशियर ने रास्ता बदलकर पहाड़ के दूसरी तरफ मौजूद ग्लेशियर का हाथ थाम लिया. इस समय इस अनजान ग्लेशियर की लंबाई 5 किलोमीटर है.

ग्रीनपार्क में लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे, बाबर के फैंस ने ऐसे निकाला गुस्सा; देखें Videoसोशल मीडिया पर कुछ पाकिस्तानी फैंस ने आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 में भारत के खिलाफ मैच का भी हवाला दिया। उस मैच में पाकिस्तानी टीम ने बिना एक भी विकेट गंवाए मैच अपने नाम कर लिया था।

तुर्की : इस्तांबुल में महिला प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागेतुर्की के इस्तांबुल में महिला प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। महिलाओं को हिंसा से बचाने

गुरुग्राम में फिर विवाद, नमाज पढ़ने के दौरान दूसरे पक्ष ने लगाए 'जय श्रीराम' के नारेगुरुग्राम के सेक्टर 37 में मुस्लिम समुदाय के लोग नमाज अदा करने के लिए जुटे थे. इस दौरान कुछ हिंदू समूह के लोगों द्वारा व्‍यवधान डालने की कोशिश की गई. तनाव उस वक्‍त बढ़ गया जब हिंदू संगठनों ने वहां पर एक प्रार्थना की. मुट्ठी भर लोगों ने देश का माहौल ख़राब कर रखा है, लेकिन हमारे अमन पसंद हिंदू समाज के बाक़ी लोगों को आगे आकर मुसलमानों का साथ देना चाहिए आख़िर हिंदू मुस्लिम भाईचारे की बातें क्या सिर्फ हवा हवाई है? BJP Needs riots जब एक पक्श रस्ता रोक कर नमाज पढने लगे तो विवाद नहि पर कोई जय श्रीराम के नारे लगाए तो विवाद!!ndtv आदतन अपारधी है सुधरेगा नहिं!

कोरोना के नए वैरियंट के कारण भारत का दक्षिण अफ्रीका दौरे पर मंडराए संकट के बादलसाउथ अफ़्रीका में इस सप्ताह कोविड-19 का नया प्रकार सामने आया है। साउथ अफ़्रीका को यात्रा करने वालों के लिए यूके की लाल सूची में जोड़ा जाना है और अन्य देशों से यात्रा प्रतिबंध भी लगने की उम्मीद है।