Indianrailways, Travel, Re, Indian Railways, Railway News, Travel Advisory, Festival Special Trains, Railway Festival Special Trains, Ticket Reservation, Rail Passengers, Covid-19 Precautions, Railway Station, रेलवे, स्पेशल ट्रेन, रेल यात्रा

Indianrailways, Travel

त्योहार के सीजन में कर रहे ट्रेन से सफर? इन बातों का रखें ध्यान वर्ना होगा एक्शन

ट्रेन से सफर करते समय रखें इन बातों का ध्यान.... #IndianRailways #Travel #RE

29-10-2020 03:30:00

ट्रेन से सफर करते समय रखें इन बातों का ध्यान.... IndianRailways Travel RE

रेलवे ने कहा है कि रेल यात्रियों से अनुरोध किया जाता है कि सभी फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन ें पूरी तरह से आरक्षित ट्रेनें हैं. कोई भी यात्री बिना कंफर्म टिकट के रेलवे स्टेशनों पर नहीं पहुंचे. कोविड -19 (Covid-19) के संक्रमण को रोकने के लिए सभी यात्रियों से सावधानी बरतने और सुरक्षित यात्रा करने की अपील की जा रही है.

स्टोरी हाइलाइट्सरेल यात्रियों के लिए रेलवे की गाइडलाइंसरेलवे ने यात्रियों से की सुरक्षित यात्रा की अपीलइंडियन रेलवे (Indian Railway) ने त्योहार के सीजन में ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों के लिए कुछ नियम बनाए हैं. सभी रेल यात्रियों को रेलवे के नियमों का पालन करना अनिवार्य है.अगर यात्री इन नियमों का पालन नहीं करेंगे तो उन पर तुरंत एक्शन लिया जाएगा.

किसानों के प्रदर्शन की एक और रात, दिल्ली के बॉर्डर पर ही जमे हुए हैं अधिकतर किसान लॉकडाउन में घर जमाई बना दामाद तो साली को ले भागा, पकड़े जाने पर लड़की ने खाया जहर कृषि कानून के विरोध में आर-पार के मूड में किसान, आंदोलन की 10 बड़ी बातें

रेलवे ने कहा है कि रेल यात्रियों से अनुरोध किया जाता है कि सभी फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें पूरी तरह से आरक्षित ट्रेनें हैं. कोई भी यात्री बिना कंफर्म टिकट के रेलवे स्टेशनों पर नहीं पहुंचे. बता दें कि यात्रियों की सुविधा के लिए सभी महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों पर पर्याप्त आरक्षण काउंटर (Reservation counter) खुले हैं. जहां से यात्री टिकट रिजर्वेशन करा सकते हैं.

देखें: आजतक LIVE TVइंडियन रेलवे द्वारा यात्रियों की सुविधा के लिए अहम जानकारी....- रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में बिना आरक्षित टिकट यात्रियों पर नजर रखने के लिए व्यवस्था की गई है.- रिजर्वेशन काउंटर-यात्री टिकट सुविधा केंद्रों को यात्रियों की आवश्यकता को पूरा करने के लिए खोला गया है.

- रेलवे स्टेशनों पर नियमित रूप से घोषणा की जा रही है. जिससे यात्रियों को सूचित किया जा सके कि ये सभी ट्रेनें पूरी तरह से आरक्षित ट्रेनें हैं.IndianRailways Awareness Programme- कोविड -19 (Covid-19) के संक्रमण को रोकने के लिए सभी यात्रियों से सावधानी बरतने और सुरक्षित यात्रा करने की अपील की जा रही है.

- ठीक से मास्क पहनें.- सोशल डिस्टेंस बनाए रखें.- कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों को रेलवे क्षेत्र में प्रवेश करने या ट्रेन में सवार होने की अनुमति नहीं है.- रेलवे स्टेशन पर स्वास्थ्य जांच टीम द्वारा यात्रा करने से इनकार करने के बाद ट्रेन में चढ़ना अपराध है.इसके लिए दंड भी देना पड़ सकता है.

- सार्वजनिक स्थान पर थूकना भी एक दंडनीय अपराध है.रेलवे के अनुसार कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने वाले यात्रियों पर रेलवे अधिनियम 1989 (Railway Act-1989.) के तहत एक्शन लिया जाएगा. और पढो: आज तक »

पश्चिम बंगाल: बीजेपी-टीएमसी में क्यों छिड़ी है आर-पार की जंग?

पश्चिम बंगाल में चुनाव की आहट तेज हो गई है. एक तरफ ममता बनर्जी की सरकार है तो दूसरी तरफ बीजेपी के दावे दमदार हैं. वैसे तो बंगाल के चुनाव में दो दावेदार कांग्रेस और लेफ्ट फ्रंट भी हैं. असली लड़ाई टीएमसी औ बीजेपी में ही छिड़ी है. सबसे बड़ी बात ये है कि जीत के दावे दोनों कर रहे हैं. इन दावों से टकराकर हिंसक चिंगारी भी फूट रही है. बीजेपी ने उत्तर पूर्व के तमाम राज्यों में अपनी सरकार बना ली है. बीजेपी इधर बिहार में नीतीश कुमार के साथ सरकार बनाने जा रही है. बीच में बचा बंगाल जहां अपना झंडा फहराने की उसकी तमन्ना है. वहां आज भी ममता बनर्जी का व्यापक असर है. ऐसे में दोनों पार्टियों की जंग काफी तीखी होती जा रही है. देखिए दस्तक, चित्रा त्रिपाठी के साथ.

ट्रेन से सफर करते समय रखें इन बातों का ध्यान.... IndianRailways Travel

1997 से बंद पड़े लोहट चीनी मिल के कर्मचारियों को अब तेजस्वी यादव से है उम्मीदबिहार का लोहट चीनी मिल 1997 से बंद है. ये 1914 में चालू हुआ था. आज़ादी से पहले बिहार में 33 चीनी मिल थे. आज़ादी के बाद 28 बचे रह गए. उनमें 17 बंद पड़े हैं. लोहट उन्हीं में से एक है. यहां के कई कर्मचारी आज भी मिल के कलपुर्जों की ‘ओगरवाही’ यानि रखवाली कर रहे हैं. 1997 se 2020 me ab Randtv pata chala kya Ravish Kumar paida nahi hua tha 1990 से बिहार उद्योग और उद्योपतियों से विहीन हुवा बाप ने बन्द करवाये बेटे चालू करवाएगा ऐसा ही लिख देते बेहद घटिया रिपोर्ट है. यह मामला दलगत है ही नहीं, राजद या भाजपा कोई कुछ नहीं कर सकता.

बिहार चुनाव से गायब है ये बड़ा मुद्दा, जिससे हर साल मचता है हाहाकारइस साल भी बाढ़ के चलते राज्य में करीब 83 लाख लोगों को विस्थापित होना पड़ा है। इनमें से कई अभी भी राहत कैंपों में रह रहे हैं। बाढ़ के चलते करीब 7.54 लाख हेक्टेयर कृषि जमीन बर्बाद हुई है।

शाहरुख के लिए क्यों खास है मन्नत, खुद गौरी ने किया है जिसका इंटीरियरबताया जाता है कि शाहरुख खान ने मन्नत को खरीदने में काफी मेहनत की थी. उन्होंने साल 2001 में नरिमन के दुबाश से ये बंगला खरीदा था. शाहरुख ने ये बंगना 13.32 करोड़ की कीमत में खरीदा था, जिसकी आज की कीमल 200 करोड़ से भी ज्यादा है. कमाल है की पत्रकारिता का। थोड़ा शाहरुख के टॉयलेट के बारे में भी विस्तार से बतावें। संभव हो तो शाहरुख टॉयलेट कैसे करते हैं, किस समय करते हैं, कितनी देर करते हैं, टॉयलेट यूज़ करते समय वो और क्या-क्या करते हैं उसका भी विस्तार पूर्वक वर्णन करें। घटिया_पत्रकारिता Public Relations Channel For Stars Rhea Chakraborty Interview, And Now This. JusticeForSushantSinghRajput CBITraceSSRKillers CBIBreakSilenceInSSRCase उसमें में क्या करू ? ये कोई न्यूज़ हे तकवालो ? वो aroonpurie शाहरुख़ का पालतू होगा हम नहीं .. तैमूर की टट्टी के बाद ये नया ड्रामा !!

साफ हवा के मामले में क्यों चीन है भारत से आगे | DW | 27.10.2020स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर – 2020 रिपोर्ट में सामने आया कि वायु प्रदूषण से होने वाली सालाना मौतों में चीन और भारत अव्वल देश हैं. ऐसा हाल क्यों है, जानने के लिए पढ़िए हृदयेश जोशी की रिपोर्ट- AirPollution China India hridayeshjoshi

बिहार चुनाव: वोट देने वालों से सोनू की अपील- बटन उंगली से नहीं दिमाग से लगानाइस बीच एक्टर सोनू सूद ने भी बिहार की जनता को एक खास संदेश दिया है. उन्होंने सभी से दिमाग लगा वोट देन की अपील की है. उन्होंने अपने सपनों के बिहार के बारे में भी विस्तार से बताया है. AajTak thank for contacting Support. We are available on from 9 am to 6 pm. Also you can email us at allinoneinsurancesolutionpointgmail.com We will revert to you at the earliest Thanks अच्छी सुझाव और मतदान के लिए प्रेरणा है। धन्यवाद 🙏

Bihar Election 2020 : क्या बिहार में ‘जाति के ऑक्सीजन’ के बिना संभव नही है 'राजनीति' ?बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar chunav news) पहले चरण का मतदान 28 अक्टूबर को होना है। चुनाव प्रचार के दौरान ऐसा लग रहा था कि इस बार का चुनाव पहले के सभी चुनाव से बिल्कुल ही अलग होगा। क्योंकि इस बार चुनाव प्रचार में राजनेता जातिगत समीकरणों से ऊपर उठकर विकास, बेरोजगारी और स्थानीय मुद्दे की बात कर रहे थे। लेकिन पहले चरण के मतदान के दो दिन पहले यह सारे मुद्दे गौण हो गए और एक बार फिर बिहार चुनाव में मुद्दों पर जात की राजनीति हावी हो गई। मतबल 1 और 4 RJD सामने JDU ये तो वैसा ही अभी एक निवेशक रो रहा जब 900₹ था RIL मैने लिया HUL आज HUL ... RIL ... . HUL आज भी स्मूथ काम करते 200₹नीचे RIL हवा में RIL 2200₹ साथ RIL PP 1300₹ गिफ्ट! - भइऐ रिलायंस नितिस साथ मोदी जी! तो भाव तो चलेगा रोकना बढनेदेना वेजाने JDU प्रत्याशी विजेंद्र यादव की सही मानें बिहार में तो जो मोदी पैर पकड़ता सोने सामने ऐल्युमिनियम भाव भी, चौगुना जाता 2. बाकी तो कही है ही नही क्यों कहाँ नही है ये पता है कुछ