Coronavaccine, America, Coronavirus, Covid-19, Breakthrough, İnfections, Delta Variant, Vaccination

Coronavaccine, America

टीके के साथ सावधानी भी जरूरी: अमेरिका में वैक्सीन लगवाने के बावजूद हो रहा कोरोना, एक्सपर्ट्स ने 3 कारण बताए; तीनों मामलों में भारत की हालत खराब

टीके के साथ सावधानी भी जरूरी: अमेरिका में वैक्सीन लगवाने के बावजूद हो रहा कोरोना, एक्सपर्ट्स ने 3 कारण बताए; तीनों मामलों में भारत की हालत खराब #CoronaVaccine #America @MoHFW_INDIA

24-07-2021 09:19:00

टीके के साथ सावधानी भी जरूरी: अमेरिका में वैक्सीन लगवाने के बावजूद हो रहा कोरोना, एक्सपर्ट्स ने 3 कारण बताए; तीनों मामलों में भारत की हालत खराब CoronaVaccine America MoHFW_INDIA

अमेरिका के ओक्लाहोमा में एक शादी में 15 वैक्सीनेटेड मेहमानों को कोरोना हो गया। पिछले दिनों टेक्सास के 6 डेमोक्रेटिक सदस्य, व्हाइट हाउस की एक सहायक और स्पीकर नैन्सी पेलोसी के सहायक को भी वैक्सीन लगने के बावजूद कोरोना हो गया। पिछले कुछ सप्ताह से अमेरिका में कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने के बावजूद पॉजिटिव केस लगातार सामने आ रहे हैं।\nएक्सपर्ट्स इसकी 3 प्रमुख वजह बता रहे हैं। पहली- अमेरिका में तेज... | coronavirus - breakthrough - infections -delta CDC यानी सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल अप्रैल से वैक्सीनेशन के बावजूद गंभीर कोरोना और मौत के कुल 5500 से ज्यादा मामले रिकॉर्ड कर चुका है।

टीके के साथ सावधानी भी जरूरी:अमेरिका में वैक्सीन लगवाने के बावजूद हो रहा कोरोना, एक्सपर्ट्स ने 3 कारण बताए; तीनों मामलों में भारत की हालत खराब2 घंटे पहलेवीडियोअमेरिका के ओक्लाहोमा में एक शादी में 15 वैक्सीनेटेड मेहमानों को कोरोना हो गया। पिछले दिनों टेक्सास के 6 डेमोक्रेटिक सदस्य, व्हाइट हाउस की एक सहायक और स्पीकर नैन्सी पेलोसी के सहायक को भी वैक्सीन लगने के बावजूद कोरोना हो गया। पिछले कुछ सप्ताह से अमेरिका में कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने के बावजूद पॉजिटिव केस लगातार सामने आ रहे हैं। एक्सपर्ट्स इसकी 3 प्रमुख वजह बता रहे हैं। पहली- अमेरिका में तेजी से फैलता घातक डेल्टा वैरिएंट। दूसरी- धीमी गति से वैक्सीनेशन और तीसरा- तकरीबन सभी पाबंदियों का खत्म हो जाना। इधर, भारत में इन तीनों मामलों में हालात अमेरिका से खराब है।

सोनू सूद ने 20 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी की: आयकर विभाग - BBC News हिंदी कैप्टन अमरिंदर सिंह ने NDTV से कहा- सिद्धू पाकिस्तान समर्थक, उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता कैप्टन अमरिंदर सिंह क्या पंजाब कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन सकते हैं - BBC News हिंदी

अमेरिका में इन दिनों जितने भी लोग कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं, उनमें से 83% को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ रही है। इसका एक दूसरा पहलू ये भी है कि अस्पतालों में भर्ती हो रहे करीब 4% लोग ऐसे हैं जिनका वैक्सीनेशन हो चुका है। अपने देश की ICMR यानी इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च की तरह अमेरिका में काम करने वाली CDC यानी सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल अप्रैल से वैक्सीनेशन के बावजूद गंभीर कोरोना और मौत के कुल 5500 से ज्यादा मामले रिकॉर्ड कर चुकी है।

भारत में तीनों मामलों में हालात अमेरिका से ज्यादा खराबअमेरिका में एक्सपर्ट वैक्सीनेशन के बाद भी कोरोना होने की जिन तीन वजहों को गिना रहे हैं, उन मामलों में भारत की स्थिति और भी ज्यादा खराब है।डेल्टा वैरिएंटःभारत में इन दिनों रोज कोरोना के करीब 40 हजार नए मामले मिल रहे हैं। ICMR की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक इनमें करीब 87% डेल्टा वैरिएंट के ही मामले हैं। headtopics.com

धीमा वैक्सीनेशन :अमेरिका में 23 जुलाई तक 49% आबादी को वैक्सीन की पूरी डोज दी जा चुकी है। वहीं भारत में केवल 6.4% लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज दी गई थी।ढीली पाबंदियां :अमेरिका में CDC ने वैक्सीन की सभी डोज लेने वालों को मास्क न पहनने की छूट के साथ सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भी नियम काफी ढीले कर दिए हैं। वहां लॉकडाउन भी नहीं है। वहीं, भारत में मास्क न पहनने की छूट तो नहीं दी गई है, लेकिन स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार मास्क पहनने वालों की तादाद 74% कम हो चुकी है। तकरीबन सभी राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां खत्म कर दी गई हैं। हर जगह भारी भीड़ है।

मास्क की छूट खत्म हो, वैक्सीनेशन के बाद भी कोरोना फैला सकते हैं लोग: एक्सपर्टवैक्सीन लगवाने के बाद भी कोरोना होने का मतलब यह नहीं है कि वैक्सीन काम नहीं कर रही हैं, बल्कि यह है कि वैक्सीन की कामयाबी बीमारी से बचाव को लेकर उठाए गए कदमों पर निर्भर करती है।

वैक्सीन लगवाने के बाद कोई भी पूरी तरह वायरस से सुरक्षित नहीं होता है। उल्टा वैक्सीनेशन के बाद बिना लक्षणों वाला पॉजिटिव शख्स दूसरों को कोरोना फैला सकता है। यानी वो कोरोना का कैरियर भी बन सकता है।अमेरिका में कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) की सलाह के उलट वैक्सीन लगवा चुके लोगों को भी घरों के भीतर और भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे मॉल या कन्सर्ट हॉल में मास्क पहनना चाहिए।

इसके बावजूद CDC ने स्थानीय प्रशासन को कोरोना फैलने के हिसाब से मास्क को लेकर नीति में बदलाव की छूट दे रखी है। इसी आधार पर कैलिफोर्निया और लॉस एंजिल्स काउंटी में स्वास्थ्य अधिकारी इंडोर मास्किंग की ओर लौटना चाहते हैं।शायद इसी वजह से भारत में इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (ICMR) की सलाह पर देश भर में वैक्सीन की दोनों डोज लगवाने वालों को भी मास्क पहनना जरूरी है। headtopics.com

कानूनी ढांचे पर छलका CJI का दर्द: चीफ जस्टिस रमना बोले- देश में अब भी गुलामी के दौर की न्याय व्यवस्था, यह भारत के हिसाब से ठीक नहीं कैप्टन के इस्तीफे के बाद Punjab में कितनी बढ़ गईं Congress की मुश्किलें, समझिए नोटबंदी का नहीं हुआ असर: NCRB की रिपोर्ट में खुलासा, महाराष्ट्र में एक साल में 83.61 करोड़ रुपए के फर्जी नोट बरामद हुए, देश में नकली करेंसी बरामदगी 190 प्रतिशत बढ़ी

डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित लोग ज्यादा फैला सकते हैं कोरोनाकोरोना के डेल्टा वैरिएंट को लेकर बहुत ज्यादा जानकारी नहीं है। इसे लेकर एक्सपर्ट्स में अनिश्चितता है। हालांकि यह भी कोरोना के दूसरे वैरिएंट्स की तरह आमतौर पर बंद जगहों पर सांस के साथ फेफड़ों के भीतर पहुंचता है। मगर डेल्टा वैरिएंट कोरोना के मूल वायरस से दोगुनी तेजी से फैलता है।

डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित शख्स में कोरोना के मूल वैरिएंट के मुकाबले 1000 गुना ज्यादा वायरस होते हैं। इसका मतलब यह नहीं कि ऐसा शख्स गंभीर रूप से बीमार होगा, बल्कि इसके मायने यह हैं कि डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित शख्स लंबे समय तक ज्यादा लोगों को बीमार कर सकता है।

आखिर क्यों वैक्सीनेटेड लोग हो रहे संक्रमित?भारी मात्रा में डेल्टा वैरिएंट से सामना होनावैक्सीनेटेड शख्स का सामना अगर कोरोना वायरस की कम मात्रा से होता है तो उसे आमतौर पर संक्रमण नहीं होगा। मगर अगर उसका सामना डेल्टा वैरिएंट के भारी मात्रा से हुआ तो वैक्सीन से तैयार उसका इम्यून सिस्टम वायरस को रोक नहीं पाएगा। ऐसे हालात में अगर जल्द से जल्द ज्यादातर आबादी को वैक्सीन की सभी डोज नहीं लगीं तो वायरस को फैलने के लिए काफी बड़ी आबादी मिल जाएगी।

वैक्सीन से पैदा हुए एंटीबॉडीज की ताकत कितनी है?वैक्सीनेटेड शख्स कभी संक्रमित होगा या नहीं, यह इस बात निर्भर करेगा कि टीकाकरण के बाद रक्त में एंटीबॉडी कितने ज्यादा बढ़ गए हैं? वो एंटीबॉडी कितने ताकतवर हैं? और वैक्सीनेशन के बाद पैदा हुए एंटीबॉडी समय के साथ कितने कम हो गए? तीनों स्थितियों में वैक्सीन से तैयार इम्यून सिस्टम को कोरोना होने के तुरंत बाद ही पहचानना होगा ताकि ज्यादा नुकसान न हो सके। headtopics.com

जिन्हें वैक्सीन नहीं लगी, वो भी बरत रहे लापरवाहीन्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन के चीफ एडिटर डॉ. एरिक जे रुबिन का कहना है कि जिन लोगों को वैक्सीन नहीं लगी है, उनमें से ज्यादातर लोग सावधानी नहीं बरत रहे हैं। इस महामारी में हम सभी दूसरों के व्यवहार के चलते संक्रमण का शिकार हो सकते हैं। यहां दूसरों के व्यवहार का मतलब है- मास्क पहनना, भीड़ से बचना, डिस्टेंसिंग बनाए रखना, हैंड सैनिटाइजेशन जैसी बातों को अपने व्यवहार में लाना।

वैक्सीन की छतरी बारिश से बचा सकती है, चक्रवात से नहींन्यूयॉर्क में बेलेव्यू हॉस्पिटल सेंटर में संक्रामक बीमारियों के स्पेशलिस्ट डॉ. सेलनी गौंडर का कहना है कि वैक्सीन उतनी ही सुरक्षा देती हैं, जितना एक छतरी बारिश में देती है, लेकिन अगर आप इस छतरी के साथ हरिकेन यानी चक्रवात में बाहर चले जाएंगे तो भीग तो जाएंगे ही। बिल्कुल यही हालात डेल्टा वैरिएंट ने बनाए हुए हैं।

पंजाब के बाद CG का नंबर!: मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को हटाए जाने के सख्त फैसले के बाद सबकी निगाहें छत्तीसगढ़ पर; यहां भी CM बदले जाने की है चर्चा Russia to hold elections to lower house of its Parliament from Friday - NewsOnAIR - चीन पर विकिपीडिया का आरोप: कंटेंट नियंत्रित कर हमारी नींव हिलाने की कोशिश - BBC News हिंदी

वैक्सीन सीट बेल्ट जैसी, लगी हो तो भी सेफ ड्राइविंग जरूरीबोस्टन में ब्रिघम एंड वूमेन हॉस्पिटल में एपिडेमोलॉजिस्ट डॉ. स्कॉट ड्राइडन पीटरसन कहना है कि यह ठीक वैसा ही है जैसे सीट बेल्ट जोखिम कम करती है, लेकिन सावधानी से ड्राइव करने की जरूरत है। हम अभी भी यह पता लगा रहे हैं कि डेल्टा वैरिएंट के इस दौर में सावधानी से ड्राइव करने का मतलब क्या है और हमें क्या करना चाहिए?

ब्रेक थ्रू इंफेक्शन को रोकने के लिए बूस्टर डोज जरूरीन्यूयॉर्क में रॉकफेलर यूनिवर्सिटी में एक इम्यूनोलॉजिस्ट मिशेल सी का कहना है कि जब तक लोगों को एक निश्चित समय के बाद बार-बार बूस्टर डोज नहीं देंगे तो वैक्सीनेशन के बाद होने वाले संक्रमण को नहीं रोका जा सकता।

लोगों को समझाना होगा- कोई वैक्सीन 100% कारगर नहींह्यूस्टन के बैलोर कॉलेज ऑफ मेडिसिन में जेनेटिसिस्ट (आनुवंशिकीविद्) क्रिस्टन पंथागनी का कहना है कि स्वास्थ्य अधिकारियों को जनता को यह समझने में मदद करना चाहिए कि वैक्सीन केवल वही कर सकती हैं जिसके लिए वो बनाई गई है। यानी लोगों को गंभीर रूप से बीमार होने से बचाना। किसी भी वैक्सीन से 100% कारगर होने की उम्मीद नहीं करनी चाहिए। यह बहुत बड़ी उम्मीद है।

और पढो: Dainik Bhaskar »

खबरदार: मुख्यमंत्री ने दिया इस्तीफा, पंजाब कांग्रेस में विवाद सुलझा या उलझा?

पंजाब में अगामी विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. राज्‍यपाल ने उनका इस्‍तीफा मंजूर कर लिया है. कैप्टन ने इस्तीफा देने के बाद मीडिया के साथ वार्ता के दौरान कहा- वो अपमानित महसूस कर रहे थे. हालांकि, कैप्टन ने अपने अगले कदम को लेकर सस्पेंस रखा है. लेकिन, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को डेंट लगना लगभग तय है. क्योंकि कैप्टन कांग्रेस के दिग्गज नेता हैं. और करीब कुल साढ़े नौ साल पंजाब में मुख्यमंत्री रह चुके हैं. देखें वीडियो.

MoHFW_INDIA साहब आप से निवेदन है कि जयपुर जिले की चाकसू तहसील में पुलिस। थाने के सामने और नगरपालिका चाकसू के पास लाभियो की धर्मशाला जिसमे कॉलेज भी हैं वहा सुबह 7 बजे से 10th , 12th, 11th classes की कोचिंग सेंटर चल रहे है वहा पर करीब 200 बच्चो के लगभग आ रहे हैं कोरोना का कोई डर नहीं हैं MoHFW_INDIA Dainik Bhaskar सोशल मीडिया के मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - समीर श्रीवास्तव

टोक्यो ओलंपिक में कोरोना संक्रमण के मामले अब 100 के पार, 19 नए मामलेटोक्यो ओलंपिक में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़कर 100 से अधिक हो गए. आयोजकों ने शुक्रवार को 19 नए मामले सामने आने की घोषणा की.

दिल्‍ली में 24 घंटों में आए कोरोना के 58 नए मामले, एक व्‍यक्ति की मौतदिल्‍ली में कोरोना के नए मामलों की संख्‍या में लगातार कमी आ रही है. देश की राजधानी में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 58 नए मामले दर्ज किए गए जबकि एक शख्‍स की मौत कोरोना संक्रमण के कारण हुई. Justice4ECoR_SC_ST_ALP SKMondalIES AshwiniVaishnaw DRMKhurdaRoad EastCoastRail EastShramik agm_ecor jyotsnadevi33 BapiSaradar5 Bapi42567399 Kamalpr78404791 PMOIndia Training training training training training do training do training do

केंद्र ने लोकसभा में बताया: कोरोना रोधी टीकाकरण अभियान में अब तक खर्च हुए 9725 करोड़केंद्र ने लोकसभा में बताया: कोरोना रोधी टीकाकरण अभियान में अब तक खर्च हुए 9725 करोड़ LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI

कोरोना दुनिया में: अमेरिका में तीन महीने बाद एक दिन में 60 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज, ब्राजील-इंडोनेशिया में 1,440 से ज्यादा नई मौतेंअमेरिका में कोरोना मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। गुरुवार को यहां 61,651 नए केस दर्ज हुए। अब यहां कोरोना के कुल मामले 3 करोड़ 52 लाख से ज्यादा हो गए हैं। एक दिन में कोरोना के चलते सबसे ज्यादा मौतों में ब्राजील और इंडोनेशिया सबसे आगे रहे। ब्राजील में 1,444 और इंडोनेशिया में 1,449 मौतें हुईं। | Coronavirus Outbreak World Cases & Vaccination LIVE Updates; USA India Brazil France Russia Turkey UK Argentina novel corona covid 19 death toll World today Italy Germany coronavirus news

देश के कई हिस्सों में बाढ़ से तबाही: महाराष्ट्र में बाढ़ से जुड़े हादसों में 136 मौतें, कर्नाटक के 7 जिलों में रेड अलर्ट; गोवा के कई शहर पानी में डूबेमहाराष्ट्र में शनिवार को भी बारिश का कहर जारी है। गुरुवार शाम से लेकर अब तक बारिश से जुड़ी अलग-अलग घटनाओं में 136 लोगों की मौत हो चुकी है। बुरी तरह प्रभावित ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी, सतारा, सांगली और कोल्हापुर जिलों से 8 हजार से ज्यादा लोगों को NDRF, नेवी और आर्मी ने रेस्क्यू किया है। 200 से ज्यादा गांवों का प्रमुख इलाकों से संपर्क टूट गया है। | heavy rain in maharashtra: NDRF, Army and Navy have rescued more than 8 thousand people so far, 129 people died in the state; Red alert of rain for the next two days in many districts नर्सेज भर्ती 2018 को अस्थायी पदस्थान को 1 साल से ऊपर हो गया फ़ाइल मंत्री RaghusharmaINC के पास पड़ी है वो ध्यान नही दे रहे है मंत्री जी आम नर्सेज को कार्य बहिष्कार के लिए मजबूर नही करें 12000 नर्सेज में बहुत आक्रोश है ajaymaken RahulGandhi SachinPilot ashokgehlot51

कोरोना टीकाकरण: भारत बायोटेक केंद्र को 50 करोड़ खुराकों की आपूर्ति करने के लिए प्रतिबद्धकोरोना टीकाकरण: भारत बायोटेक केंद्र को 50 करोड़ खुराकों की आपूर्ति करने के लिए प्रतिबद्ध LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI भाग, झोंपडी के